उपरवाला सब देख रहा है

हेलो दोस्तो, मेरा नाम अंकित है और मेरी उमर 28 साल की है. मैं एक शादी शुदा इंसान हूँ और मेरे 2 बच्चे भी है जो की अभी छोटे ही है पर दोनो के दोनो बहोत ही शेतान भी है. मैं आज आपके लिए एक स्टोरी ले कर आया हूँ पर स्टोरी से पहले मैं आपको थोड़ा बहोत अपने बारे मे बता देता हूँ.

मेरा लॅडीस अंडरगार्मेंट्स का बिज़्नेस है और जो भी नया सैम्पल आता है वो मुझे मार्केट मे दिखाने जाना पड़ता है. ये तो मैने अपने बिज़्नेस के बारे मे आपको बताया है. चलो अब मैं थोड़ा और आपको अपने बारे मे बता देता हूँ.

मैं दिखने मे काफ़ी हैंडसम हूँ और मैं अभी भी 2 बच्चो का बाप होने के बावजूद भी दो बच्चो का बाप नही लगता हूँ. मुझे देख कर सारे ये कहते है की मैं बैचलर हूँ. पर जब वो मेरे मूह से ये सुनते है की मैं शादीशुदा हूँ और दो बच्चो का बाप हू तो हैरानी से मेरी तरफ देखते है.

वैसे मुझे भी लड़कियो को देखना बहोत ही ज़्यादा पसंद है और मैं जब भी उन्हे देखता हूँ तो मेरा लंड खड़ा हो जाता है. और तो और मेरा तो बिज़्नेस भी ऐसा है की मेरे पास लेडीज ही लेडीज आती या जाती रहती है तो उन्हे देख देख कर मेरा दिमाग़ खराब होने लग जाता है.

और जिन लेडीज के बूब्स के साइज़ बड़े होते है और ये देख कर मन करता है की बस उसके ये आम चूस डालु. ऐसे ही मैने दो तीन लेडीज को चोदा भी हुआ है क्योकि मुझे बिज़्नेस के सैम्पल को अपने कस्टमर को दिखा कर उन्हे बेचने पड़ते है तो मैने फिर ऐसे ही वही पर चोदा है.

यह कहानी भी पड़े  बदनाम रिश्ता बहन भाई का

अब चोदने की बात शुरू हुई ही है तो मैं अब आपको अपनी कहानी पर ले चलता हूँ. तो बिना कोई समये गवाए मैं आपको कहानी बताता हूँ.

ये बात आज से 6 महीने पहले की है. जब मैं बिज़्नेस की सप्लाइ के लिए नये सैम्पल ले कर दिल्ली के लिए निकल पड़ा था. मैने अपने साथ काफ़ी सारे नये नये सैम्पल ले लिए थे और वाहा पहुचते ही मैने एक होटेल मे जा कर अपने लिए एक रूम लिया.

मैं दिल्ली काफ़ी दीनो के लिए आया था इसलिए पहले से ही रूम के पैसे अड्वान्स मे ही दे दिए थे. अब मैं वाहा पहुच कर थोड़ा रूम मे जा कर रेस्ट करने लग गया. थोड़ी देर बाद मूह हाथ धो कर अपने सैम्पल ले कर निकल लिया.

मैं एक-एक करके अपने कस्टमर के पास जा कर उन्हे सैम्पल दिखाने लग गया. सबको मेरे ये नये सैम्पल काफ़ी पसंद आए और उन्होने ऑर्डर भी कर दिए. ऐसे ही मैं एक एक करके अपने कस्टमर को दिखाने लग गया.

तभी मेरी नज़र उस शॉप पर अपनी एक कज़िन साली पर पड़ी तो मैने उसे इगनोर किया पर उसने मुझे फिर भी देख लिया और देख कर बुला लिया. अब आपके माइंड मे आया होगा की मैने इगनोर क्यो किया तो ये भी मैं आपको बता देता हूँ की मैं नही चाहता था की मेरे किसी कस्टमर के सामने वो मुझसे बात करे क्योकि ऐसे फिर कस्टमर साथ लेन- देन मे प्राब्लम आती है.

अब जब उसने मुझे देख लिया और फिर बुला लिया तो मैं भी अब पीछे नही हुआ. मैं आपको उसके बारे मे बता देता हूँ. उसका नाम रिया है और उमर 26 साल है और उसका फिगर 34-28-32 है जिसको देख कर अच्छे-अच्चो का लंड खड़ा हो जाता है. अब जब उसने बुलाया तो मैने भी उससे हेलो करी और फिर उसके बाद वो मुझसे पूछने लग गई की आप ये क्या सैम्पल बेच रहे हो तब मैने उसे बताया तो वो हस्ती हुई बोली की वा मुझे तो अब काफ़ी आराम मिल जाएगा.

यह कहानी भी पड़े  मम्मी की गांड मारने की फेंटसी पूरी हुई

अब मुझे ये अच्छा नही लग रहा था की मैं उसे यही खड़े हो कर बात करू तो मैने उसे आगे चलने को कहा तो वो मेरे साथ चलने लग गई. इतने मे उसकी कार आ गई तो बोली की आओ मैं आपको ड्रॉप भी कर देती हूँ और आप मुझे सैम्पल भी दिखा देना. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

सैम्पल दिखाने के लिए मैं उसकी कार मे बैठ गया और फिर वो मुझसे पूछने लग गई की मुझे कहा जाना है तो मैने उसे अपने होटेल का नाम बता दिया. तो थोड़ी बहोत बाते करते हुए हम होटेल पहुच गये.

होटेल पहोचते ही वो बोली की अपने सैम्पल तो दिखाए ही नही तो मैं बोला की चलो आ जाओ मैं उप्पर अपने कमरे मे जा कर आपको सैम्पल दिखा देता हूँ. मेरी बात सुन कर वो मेरे साथ रूम मे आ गई. फिर मैने वाहा पर कोल्ड्रींक और कुछ स्नैक मे बर्गर ऑर्डर किया.

अब मैं उसे बैठने को कहा और एक एक करके सैम्पल दिखाने लग गया. वो एक-एक करके मेरे सैम्पल देख रही थी और उसके चेहरे को देख कर सॉफ सॉफ पता चल रहा था की उसे सैम्पल का हर एक डिज़ाइन बहोत ही पसंद आ रहा था.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2

error: Content is protected !!