रेणु के साथ कार मे फुल मस्ती

फिर मैं उसकी टाँगो के बीच मे आ गया. उसकी चूत से आती हुई खुश्बू मुझे अपनी ओर खींच रही थी. मुझसे रुका न्ही गया, मैने अपना मूह उसकी चूत पर लगा लिया.

वो भी मेरा मूह अपनी चूत मे दबा कर मुझसे अपनी चूत चटवा रही थी. साली की चूत मे से रसीला पानी रुकने का नाम न्ही ले राहा था. मैं अपनी जीब से उसकी चूत चाट चाट कर चूस रहा था.

चूत को करीब 10 मिनिट चाटने के बाद मैं उठा, और उसकी चूत पर लंड रख कर रगड़ने लग गया. इससे रेणु मचलने लगी और बोली.

रेणु – बेहेन के लौडे अब डॉल भी दे.

मैं – क्या हुआ रंडी, अब देख केसे चूत फाड़ता हूँ मैं तेरी .

रेणु – फाड़ दे मेरी चूत को अपने मोटे लंड से. तेरे जैसा लंड मैने आज तक अपनी चूत मे न्ही लिया.

मैं – अच्छा ले फिर अब देख कैसे ये तेरी चूत को फाड़ता हुआ, तेरी चूत के अंदर जाएगा.

ये कहते ही मैने अपना लंड उसकी चूत के मूह पर रख कर, एक जोरदार धक्का मारा. और मेरा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ, उसकी चूत मे चला गया.

लंड अंदर जाते ही रेणु के मूह से ज़ोर से चींख निकली. वो मेरे नीचे तड़पने लग गई और बोली.

रेणु – अबे कुत्ते आराम से डाल ले, मेरी चूत फट गई है.

मैं – क्यो क्या अब क्या हुआ रंडी.

फिर मैं उसकी चूत को ज़ोर ज़ोर से चोदने लग गया. वो भी मेरा साथ देने लग गई, नीचे से अपनी गांड उठा कर मुझसे चुद रही थी.

यह कहानी भी पड़े  वियाग्रा पिल्स देकर चुदाई की

बाहर ज़ोर ज़ोर से बारिश हो रही थी. और अंदर ज़ोर ज़ोर से मेरा लंड उसकी चूत मे अंदर बाहर हो रहा था. करीब 20 मिनिट मे उसकी चूत ने 2 बार अपना पानी निकल दिया था.

फिर मैने अपना लंड बाहर निकाला, और उसके मूह मे डॉल दिया. 2 मिनिट मे उसका मूह चोदने के बाद मैने अपने लंड का पानी उसके मूह मे भर दिया.

वो मेरा सारा पानी पी गई. फिर हम दोनो वाहा से कपड़े डॉल कर वाहा से निकल गये. फिर अगले 3 साल तक मैने रेणु को अपनी रंडी बना कर रखा.

मुझे उमीद है आपको कहानी पढ़ने मे मज़ा आया होगा.
[email protected]

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2

error: Content is protected !!