जवानी के दिन है चार

हाय फ्रेंड्स, मैं अरिश आपको एक न्यू स्टोरी बताता हूँ इस स्टोरी का मैने नाम दिया है “जवानी के दिन है चार” जी हान जैसा की स्टोरी का नाम है स्टोरी भी बिल्कुल वैसी ही है मैं तो ये सोचता हूँ की मेरा जनम ही फीमेल्स की सेवा के लिए हुआ है, जिसे मेरी ज़रूरत है मुझे अपने पास बुला लेता है या आगे भी जिसको मेरी ज़रूरत हो मुझे बुला लेना मैं सेवा के लिए रेडी रहता हूँ, सो डॉन’ट बी शाइ प्लीज़ कॉल ओर मैल मी जैसी भी सेवा हो मैं करने की कोशिश करूँगा और मैं पहले अपने बारे मे आप लोगो को बता दू मेरे लॅंड का साइज़ करीब ६इंच का है, पर थोड़ा मोटा है लॅंड मे मोटी-मोटी नसे उभरी है जिससे रिब्स कॉंडम वाली फिल्लिंग आती है ऐसा मेरी फीमेल पार्ट्नर्स कहती है जो मेरे साथ सेक्स कर चुकी है और मुझे सेक्स करने से पहले सेक्स मसाज करना काफ़ी अछा लगता है और मसाज भी मैं कई तरीके से करता हूँ, लाइक ओइल से बटर से हुन्नी से जॅम एट्सेटरा से और अब स्टोरी पे आता हूँ.

तो एक बार मेरे पास एक मैल आया की मेरा पति सिटी से बाहर रहता है और किड्स हॉस्टिल मे रहते है और आई नीड सेक्स तो मैने बोला मुझे कोई प्रोब्लेम नही है पर पहले मुझे एक अपनी फोटो भेजो, फिर मैं तुम्हे अपना सेल नंबर दूँगा तुम मुझे कॉल करो जस्ट मैं चेक करना चाहता हूँ की तुम कोई मेल तो नही हो या फिर टाइम पास तो नही कर रही हो, तो उसने मुझे अपनी फोटो मैल की और मेरे से अपना फोन नंबर माँगा और मैने दे दिया और फिर हमारी फोन पे बात होने लगी और उसके कुछ दीनो के बाद हम लोग एक होटेल मे लंच पे गये, टू वी क्नोव ईच अदर उसके बाद उसने मुझसे बोला अरिश मेरे घर चलो मुझे तुम्हारी ज़रूरत है तो मैने बोला ठीक है और हम लोग चले गये और जब हम लोग उसके घर के अंदर गये जाते ही वो सोफे पे बैठ गयी और बोली अरिश थोड़ा रेस्ट ले लेते है मैं बहुत थक गयी हूँ डोंट माइंड, तो मैने बोला कोई नही तुम रेस्ट ले लो मुझे आप अपना किचेन किधर है बताओ मैं चाय बनाता हूँ.

यह कहानी भी पड़े  मेरा पहला सेक्स गर्लफ्रेंड के साथ

तो वो बोली मैं भी चाय लूँगी तुम्हारे हाथ की तो मैने बोला ओके और बोली किचेन उधर है और मैं गया और चाय बनाई फ्रिड्ज मे देखा बटर रखा है तो मैने बटर एक प्लेट मे निकाल लिया और चाय लेके बाहर आया, फिर हम लोगो ने चाय पी आफ्टर दट मैने उसे गोद मे उठा कर बेड पे लेटा दिया उसने बोला प्लीज़ थोड़ा रुक जाओ तो मैने बोला ठीक हैं तुम रेस्ट लो मैं तुम्हारी मसाज करूँगा और वो भी बटर मसाज, तो वो बोली ये क्या होता है तो मैने बोला बस तुम लेती रहो शी रिप्लाइड ओके डियर, फिर मैने उसके एक एक करके सारे कपड़े उतारे पर वो शर्मा रही थी और मुझसे लिपटी जा रही थी तो मैने भी किस्सिंग करते हुए धीरे-धीरे सारे कपड़े उतारना स्टार्ट किया, पहले सारी का पल्लू गिराया और नेक पर किस्सिंग की गाल पे फिर लीप पे फिर लीप सकिंग फिर हमारी जीभ आपस मे खेलने लगी, फिर ब्लाउस उतारा वाउ क्या बूब्स थे लग रहा था ब्रा से बाहर आने को बेताब हो.

तो मैने भी जो खुला पार्ट था उनमे किस्सिंग की फिर पीछे पीठ पे किस किया ब्रा लिनिंग मे किस करने मे दोनो को मज़ा आता है, फिर सारी और पेटिकोट भी खोल दिया और अपना भी सारा कुछ उतार दिया और अब हम सिर्फ़ उंड़र गारमेंट्स मे थे तो अब मैने उसकी लेग्स से स्टार्ट किया पहले पैर की फिंगर्स मे से होते हुए पूरी लेग्स पे बटर लगाया और जम कर मालिश की और कभी-कभी हाथ चुत पे टच होता तो वो सहर जाती और पूरी पैंटी गीली हो गाइ उसकी, कुछ तो बटर से कुछ चुत अमृत से यानी चुत के पानी से और फिर मैने हाथो पे बटर लगाया और फिर पीठ पे और पैंटी को थोड़ा नीचे कर के गॅंड पे क्या मस्त गॅंड थी मसाज करते वक़्त मैं किस्सिंग भी करता जाता था, फिर मैने ब्रा की हुक खोल दी जिससे पूरे पीठ पर मसाज करना आसान हो गया और कभी-कभी बूब्स पे भी साइड से टच हो जाता तो बड़ा मज़ा आता दोनो को और वो भी मौनिंग कर रही थी ओह्ह्ह आहह अहह अरिश तुम्हारे हाथो मे जादू है इतना बाड़िया मसाज करते हो सारी थकान मिट गयी.

यह कहानी भी पड़े  डेरे वाले बाबा जी और सन्तान सुख की लालसा-4

आहह अरिश यू आर ग्रेट और पता नही क्या क्या बड़बड़ाने लगी, फिर मैने उसको सीधा लेटाया अब बारी थी बूब्स मसाज की तो मैने बटर ले कर निप्पल को पूरा बटर से कवर कर दिया तो वो इतनी हॉट हो गयी थी की बटर मेल्ट होना स्टार्ट हो गया और मैने थोड़ा बटर उसके नॉवेल पे भी लगा दिया और बूब्स मसाज स्टार्ट कर दिया, वो तो पूरी हॉट हो चुकी थी चिल्लाने लगी आहह आह ओह्ह्ह्ह और ज़ोर से बूब्स को मसाज करो मेरे बूब्स आज लाल लाल कर दो पूरी ताक़त से मस्लो दबा दो ऐसे ये तुम्हारे ही है ऐसे आटे की तरह गुंधो और पता नही क्या क्या, फिर बोली अब डाल भी दो मैं दो बार झड़ चुकी हूँ प्लीज़ जल्दी करो पर मुझे पता है की कब डालना है और फिर मैने उसकी पैंटी उतारी वाउ क्लीन शेव्ड चुत वो भी पिंक कलर की और मैने बटर लगाया और सक स्टार्ट कर दी और पूरी चुत गीली थी, अब मैने उसकी चुत को और लेग्स को फैला दिया और चुत अंदर तक दिखाई दे रही थी बिल्कुल पिंक बटर अंदर तक लगा दिया और सक करने लगा “जवानी के दिन”.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2

error: Content is protected !!