Hindi Porn Kahani हरामी बलमा

राजा ने अपनी कमीज़ उतार और मेरी निक्केर को भी नीचे सरका दिया. मेरी शेव की हुई चूत उसकी आँखों के सामने मुस्कुरा उठी. आज उसके लंड से मेरी चूत को खुराक मिलने वाली थी. “वाह, नंदिनी, इसको तो बिल्कुल सॉफ कर रखा है. बिल्कुल मक्खन जैसी कोमल और मुलायम लगती है. सच नंदिनी, ऐसी चूत मैने कभी नहीं देखी. दिल करता है इसको चूम लूँ!” मैं भी तो यही चाहती थी.” राजा, मक्खन जैसी चूत तेरी ही तो है. चूम लो, चाट लो इस्सको. जो जी चाहे कर लो मेरे साथ. और एक बात बता, राजा भाई, और कितनी चूत देख चुके हो तुम, कितनी लड़कियो को चोद चुके हो पहले तुम. मुझे तो तुम काफ़ी अनुभवी खिलाड़ी लगते हो. सच बतायो राजा.” मेरे दिल में काई सवाल उठ रहे थे.

राजा ने मुझे बताया,” नंदिनी, तुम सच कह रही हो. मैं चुदाई करने में अनुभवी हूं और आज तक दो को चोद चुका हूँ. मुझे चुदाई की दुनिया में मेरी मम्मी की सहेली ने शुरू किया था. मम्मी की सहेली शांति कोई 37 साल की है और उसका पति विदेश में काम करता है. उसको चुदवाने की लत है और एक दिन मुझे उसने पटा लिया. मुम्मी घर पर नहीं थी और मैं घर में राज शर्मा की हिन्दी सेक्सी कहानियाँ पढ़ रहा था जब शांति आंटी ने मुझे पकड़ लिया और ब्लॅकमेल करने लगी. उसने मुझे चोदने के लिए निमंत्रित किया तो मैं मान गया, शांति आंटी ज़रा मोटी है और उसस्की चूत पर बहुत घने बाल हैं. उसने मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत में डाला तो मुझे बहुत मज़ा आया. तब से मैं उसको जब मौका मिले तो चोद लेता हूँ और वो भी बहुत मज़े ले कर चुदति है. पिछले दिनो उसने मुझे एक और आंटी से इंट्रोड्यूस करवाया है. दोनो मेरी रखैल बनी हुई हैं, लेकिन पता नहीं अगर मम्मी को पता चल गया तो शामत आ जाएगी.” राजा ने उंगली मेरी चूत में धकेल डाली और मैने अपनी चूत को और खोल दिया.

यह कहानी भी पड़े  दोस्त ने मेरे बहन की सील तोड़ी - पार्ट 2

“अब मेरा क्या करना है राजा? क्या मुझे भी आंटी की तरह चोदो गे? मुझे तो चुदाई का अनुभव नहीं है. लेकिन डर लगता है के दर्द ना हो,” मैने अपना डर ज़ाहिर करते हुए कहा. राजा ने मेरी चूत को इतनी ज़ोर से भींचा के मेरी चीख निकल गयी. ‘ डर काहे का? चूत से बच्चा निकल सकता है तो लंड क्या चीज़ है. बस तुम अपना जिस्म ढीला छ्चोड़ दो और पलंग पर लेट जाओ. फिर देखो अपने राजा भैया का कमाल. तुम ने कभी 69 किया है?” मैं नहीं जानती थी कि ये 69 क्या होता है. राजा मेरी बगल में लेट कर मेरी चूत पर ज़ुबान रख कर चाटने लगा. उस वक्त उसका लंड मेरे होंठों से टकरा रहा था. उसने अपनी कमर को मेरे मूह की तरफ धकेल दिया और उसका लंड मेरे मूह में चला गया. मुझे बहुत मज़ा आने लगा जब मैने उसका लंड चूसना शुरू कर दिया. मेरी कमर उसके मूह पर आगे पीछे हो रही थी किओं की मैं उसकी सारी ज़ुबान को चूत में ले लेना चाहती थी. तब मुझे पता चला कि 69 क्या होता है.

मेरा मूह राजा के लंड से भरा हुआ था और वो चुस्की ले कर मेरी चूत का मज़ा ले रहा था. चूमा चटाई कितनी देर चलती रही मुझे पता नहीं चला. फिर उसका लंड एकदम अकड़ गया और उसका जिस्म ऐंठ गया. उससने जल्दी से अपना लंड मेरे मूह से बाहर खींच लिया. मुझे तो मज़ा आ रहा था. राजा के लंड का नमकीन स्वाद बहुत अच्छा लग रहा था.” बस अब चुदाई शुरू करें, नंदिनी. मैं अगर लंड बाहर ना निकाल लेता तो सारी क्रीम तेरे मूह में चली जाती. तुम तैयार हो?” मैं क्या कहती. उसने मेरी टाँगों को उप्पेर उठा कर फैला दिया और मेरे चूतड़ के नीचे सिरहाना टीका दिया. फिर अपने लंड पर ढेर सारा थूक लगा कर लंड को चूत पर रख कर धक्का मारा,” ले नंदिनी, मेरी बहना, अब देख तेरा राजा भैया के जलवे दिखता है तुझे. दर्द हुआ तो बर्दाश्त कर लेना, बहुत मज़ा आए गा. लंड जितना बड़ा होता है मज़ा उतना अधिक आता है.” मैं चूत को फैलता हुआ महसूस कर रही थी. राजा का लंड एक नश्तर की तरह मेरी चूत में जा रहा था. राजा ने मेरी गांद को पकड़ रखा था.

यह कहानी भी पड़े  लाजवन्ती की चुदाई उसी की जुबानी

चुदाई शुरू हो चुकी थी लेकिन मुझे तो बस दर्द हो रहा था. वो मज़ा नहीं मिल रहा था जो मैं उम्मीद कर रही थी.. राजा ने अपना लंड धीरे से अंदर करना जारी रखा और मेरे क्लिट को सहलाने लगा. थोड़ी देर में मेरा जिस्म गन्गना उठा. लंड मेरी खुजली मिटाने लगा. चूत से जूस बह रहा था जिसके कारण चूत मुलायम हो चुकी थी. मेरी चूत अब लंड की माँग कर रही थी,” भैया और डालो मेरी चूत में..पेल डालो पूरा लंड मेरे अंदर….बहुत मज़ा आ रहा है..चोदो ज़ोर से मुझे राजा भैया.” राजा भी समझ गया कि मैं गरम हो चुकी हूँ और वो मुझे तेज़ी से चोदने लगा.” नंदिनी, ऐसे चूत नहीं चोदि मैने आज तक. तेरी तो बहुत कसी हुई है, बहुत मज़ेदार है. तुझे रोज़ चोदुन्गा, तेरी चूत को लंड से भर के रखूँगा, मेरी बहना.’

Pages: 1 2 3 4 5 6 7

error: Content is protected !!