दोस्त की बीबी को नाशिक में चोदा – 1

और नीलिमा के दोनों टाँगो को अपने हाथो से पकड़ कर ऊपर कर लिया और बड़े प्यार से हलके हलके चोदने लगा नीलिमा चुदाई अपनी आँखे लेती जब मैं झटका मरना बंद कर देता तो बेड पर तड़पने लगती और अपने चूतड़ो को बेड पर इधर उधर घुमाने लगती अपनी चूत को कसकर अंदर कि ओर खींचती उठकर बैठ जाती और मुझसे चिपकने लगती,अपने होठो को चबाती बार बार आँखे बंद करती और आए आ आ आ आ आ अह अह अह अह आह आआआआआ आए सस्स सस आऐईए आई आई आई आ या या या आ आ आ आह आह करती मैं झटके कि स्पीड बढ़ा दिया फट फट कि आवाजे आने लगे रूम में तो नीलिमा बोली धीरे धीरे करिये ओ [लड़की कि तरफ इसारा किया ] जाग जायेगी तब मैंने नीलिमा को बोला कि चलो मेरे कमरे में चलते है , तब नीलिमा को लेकर अपने रूम में आ गया बीच का दरवाजा लगा दिया पर 4 मिनट कि चुदाइ का मजा नहीं मिल पाया |

रूम में आते ही नीलिमा की चूत को चाटने लगा नीलिमा 2 मिनट में ही फिर से चुदाई के लिए तैयार हो गई तो नीलिमा को बेड पर लिटा दिया और दोनों टांगो को पकड़ कर उठा लिया और फिर से लण्ड पेल दिया और लण्ड के झटके देना सुरु कर दिया 3 झटको के बाद नीलिमा उठकर लगी तो मैं उसकी चुचियो को ,ओठो को चूसने लगा तो नीलिमा अपने दोनों हाथो को मेरे गले में डालकर मेरे सीने से चिपक गई फिर भी मैं धीरे धीरे चुदाई चालु रखा र्नीलिमा को बेड पर लिटाने लगा तो नीलिमा लेटने के जगह और चिपक गई सीने से तो मैं नीलिमा के कमर में डालकर उठा लिया और नीलिमा को हवा में झूला झुल्ला झूलाकर खूब तबियत से चूदाई किया नीलिमा मेरे गालो को ,गले को , कंधो को जोर जोर से काटती यहाँ तक कि कंधे पर नीलिमा के दॉत के निसान आ जाते नीलिमा जोर जोर से अपने मुह से आए ओह ओह आह आह आह आह आ आ आ आ आ अह अह अह अह आह आआआआ आ आए सस्स सस आऐईए आई आई ओह आह ओह आह ओह आह आई आ या या या आ आ आ आह आह कि आवाज निकलने लगी और जल्दी जल्दी अपने चूतड़ो को पटकने लगी इस पटका -पटकी में लण्ड बाहर हो गया तो मैं जल्दी से नीलिमा पचौरी को बेड पर पेट कि तरफ से लिटा दिया और लण्ड को पेलते हुए तबियत से झटके मारने लगा 2 मिनट तक कुछ झटके खाने के बाद नीलिमा ने अपने चूतड़ो को ऊपर उठा लिया और घोड़ी बन गई तब मैं घोड़े कि तरह पूरी ताकत से झटके मारने लगा बीच बीच में जब झटके मारना बंद कर देता तो नीलिमा अपने चूतड़ो को आगे -पीछे करने लगती लगातार 5 मिनट तक झटके खाने के बाद मैंने नीलिमा को पीठ कि तरफ लिटा दिया और नीलिमा के ऊपर चढ़ गया और फिर नीलिमा को जोर जोर के झटके मार मार कर चोदने लगा नीलीमा बड़े प्यार से झटके खाती रही और ओह ओह आह आह आह आह आ आ आ आ आ अह अह अह अह आह आआआआ आ आए सस्स सस आऐईए आई आई ओह आह ओह आह ओह आह आई आ या या या आ आ आ आ ऊ आह्ह आह सी सी स्क् कि आवाज निकलती रही और कुछ ही देर में ढेर हो गई दोनों एक साथ स्खलित हो गए घड़ी में देखा तो 11 बज गए थे हम दोनों एक साथ बाथरूम गए और फ्रेस होने के बाद एक साथ नीलिमा के रूम में सो गए नीलिमा अपनी लड़की को उठा कर अपने पास सुला लिया सुबह 5 बजे मेरी नींद खुली तो चुपके से एक वियाग्रा के टेबलेट फिर से खा लिया और नीलिमा के पास लेट गया और नीलिमा को किस करने लगा आधा घने के बाद तो नीलिमा भी जाग गई तो अपने रूम के बाथरूम में ले गया दोनों नहाने लगे नहाते नहाते नीलिमा को बाथरूम में फिर से चोद दिया फिर दोनों नहा कर बाहर आ गये तब तक नीलिमा कि लड़की जाग गई मैंने मेरी बीबी को फोन किया तबियत का हाल चाल लेने के लिए तो ओ बोली कि टीक है अभी 8 बजे तक रूम पर आ जाउगी और 8 बजे मेरा दोस्त और मेरी पत्नी दोनों होटल आ गए एक ऑटो से दोनों बहुत खुस नजर आ रहे थे मेरी बीबी के चेहरे में कही से कही बीमारी के लक्षण नहीं दिख रहे थे | मुझे मेरी बीबी पर सक हुआ पर सक को मन में दबाये रखा और हम दोनों परिवार 9 बजे नाशिक से चल दिए रास्ते भर हँसी मजाक करते हुए , साम को 7 बजे घर पहुच गए |

यह कहानी भी पड़े  पायल आंटी के गर्म दूध

 

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!