चोदु बाबा का चुदाई भरा इतिहास

दोस्तो मेरा नाम राज है ये तो तुम सब जानते हो, लेकिन मैं मैं चोदु बाबा राज कैसे बना ये मैं आज आपको बताउँगा.

तो बात आज से लगभग 8 साल पहले की है जब मेरी उम्र 24 साल की थी और मैं जिस कंपनी मे काम करता था, उसने मेरा ट्रांसफर बिहार कर दिया, उस वक़्त मेरी नई नई शादी हुई थी और मेरी बीबी पेट से थी इसलिए मुझे उसे छोड़ कर जाना पड़ा.

जब मैं बिहार पहुचा तो मुझे रहने के लिए एक घर और बाइक, कार और खाना पकाने वाला लड़का सारी सुविधा कंपनी ने कर के दी.

मुझे वहाँ पर सब सुख थे और सब मेरी इज़्ज़त भी करते थे क्योंकि मैं इंजिनियर था.

बस एक ही चीज़ की कमी थी वो थी चूत ऐसा नही था की मेरे आसपास चुते नही थी, बहुत सी लड़की और औरते मुझे पसंद करती थी मुझे ऑफर भी बहुत मिले लेकिन अपनी इमेज बचाने के चक्कर मे मैं कुछ कर नही पा रहा था.

एक दिन की बात है मैं साइट से जल्दी घर आया तो देखा मेरे हाउस ओनर के घर पर भीड़ लगी थी.

पूछने पर पता लगा की उनकी बेटी जुली पर भूत आया है

मुझे इन सब बातों पर यकीन नही था तभी वाहा पर एक ओझा आया और वो जुली की झाड़ फुक करने लगा और फिर पांडे जी से 1000 रुपये लेकर चला गया.

2 दिन बाद फिर ऐसा हुआ फिर एक तांत्रिक को बुलाया गया इसी तरह ये सिलसिला 1 महीने तक चलता रहा, लेकिन जुली सही नही हुई जुली ने अभी अभी जवानी मे कदम रखा था और जुली के चक्कर मे पांडे जी की आर्थिक स्थिति खराब हो चली थी और वो मुझसे भी 5000 उधार ले चुके थे.

यह कहानी भी पड़े  खून दान के बदले चूत दान

फिर मेरे दिमाग़ मे एक आइडिया आया.

पांडे जी मेरे पास जब और पैसे माँगने आए तो मैने कहा पांडे जी एक बात कहूँ तो बुरा तो नही मनोगे.

पांडेजी बोले अरे इंजिनियर साहब बोलिए आपकी बात का बुरा क्या मानना.

मैने कहा मेरे नानाजी भी एक तांत्रिक थे, और मैने बचपन मे उनके साथ बहुत सारी सिद्धिया की है, अगर आप मुझे एक मौका दे तो मैं आपकी मदद करना चाहता हूँ, लेकिन मेरे बारे मे किसी को कुछ मत कहना.

पांडे जी मेरी तरफ गौर से देखने लगे ओर फिर हा मे सर हिला कर बिना पैसे लिए चले गये.

और फिर रात को 9 बजे मैं पांडेजी के रूम मे पहुचा और जुली के सर पर हाथ रख कर आँखें बंद करके कुछ बड बड़ाने लगा ताकि वो समझे मुझे कुछ आता है.

फिर थोड़ी देर बाद मैने कहा.

पांडे जी इस लड़की पर पीपल वाले भूत का साया है और वो इसको नही छोड़ेगा.

पांडेजी और पांडे जी की बीबी दोनो डर गये और कहने लगे, अब क्या होगा हमने तो बहुत सारे तांत्रिक और ओझाओं को दिखाया लेकिन कोई कुछ नही कर पाया

मैने कहा वो सब तुम्हारे पास पैसा कमाने आए थे ये भूत बहुत ही जालिम है पहले लड़की की जान लेगा, फिर उसकी मा की और फिर तुम्हारी.

पांडेजी काँपने लगे और बोले अब जब आप इतना बता रहे है तो उपाय भी बता दो.

मुझे अंदर ही अंदर बहुत खुशी हो रही थी मेरा तीर एक दम निशाने पर लगा था.

मैने कहा उपाय बहुत कठिन है इसके लिए मुझे एक सिद्धि करके इस भूत को क़ैद करना होगा, अगर तुमको ऐतराज नही है तो

यह कहानी भी पड़े  बॉस की बीवी की कुंवारी गांड चोदी

पांडे जी ने कहा अपने परिवार की जान बचाने के लिए ऐतराज कैसा.

आपको जो करना है करो.

मैने कहा सुन लो इस सिद्धि मे मैं ओर तुम्हारी बेटी ही रहेंगे, क्योंकि कोई और अगर वहाँ पर होगा, तो वो भूत उसके शरीर मे घुस्स जाएगा और अगर वो किसी और के शरीर मे घुसेगा तो उसकी जान भी जा सकती है अब सोचलो.

पांडे जी सोचना क्या है जब ऐसी बात है तो आप बस ये बताओ पूजा के लिए क्या चाहिए और कितनी देर लगेगी पूजा मे.

मैने पांडे जी को पूजा के समान की एक लिस्ट बना कर दे दी और 3 से 4 घंटे भी लग सकते है पूजा मे ये बता दिया.

जब तक पांडेजी समान लेकर आए 10 बज चुके थे मैने पूछा पूजा आज करनी है या कल.

पांडेजी ने कहा अगर आज संभव हो तो कर दीजिए.

मैने कहा ठीक है हम आज ही कर देते है लेकिन किसी को इस पूजा के बारे मे कुछ मत कहना और ना ही कोई पूजा के दौरान घर से बाहर जाएगा और ना ही कोई घर मे आएगा.

ये कहकर मैं जुली को लेकर एक कमरे मे चला गया और फिर अंदर से कमरा बंद कर लिया,और फिर कमरे मे हवन की आग जला कर बैठ गया और ज़ोर ज़ोर से उल्टे सीधे मंत्र पड़ने लगा.

जुली गाव की सीधी साधी लड़की थी और अभी अभी जवानी की दहलीज पर दस्तक दे रही थी, मेरे अंदर का शैतान तो रुकने का नाम ही नही ले रहा था, लंड तो उछल उछल कर कह रहा था की इसको ज़मीन पर पटक कर इसकी चूत फाड़ दे, मगर मैने संतुलन बनाया.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2

error: Content is protected !!