सर्विस सेंटर में लड़के के गांद मरवाने की कहानी

हेलो दोस्तों, मैं आपका मृदुल आज फिर आपको अपनी नयी कहानी बताने वाला हू. जैसे की आपको पता है मेरे बारे में. मेरा रंग गोरा और निपल्स किसी टीनेज लड़की की तरह है, और मेरी उभरी हुई मोटी गोल गांद है.

तो दोस्तों, सीधा कहानी पर आता हू. मैं पिछले वीकेंड अपनी कार की सर्विस करवाने वर्कशॉप पर गया. वर्कशॉप में कार को मेकॅनिक को हॅंडोवर करके मैं वेटिंग रूम में चला गया.

अब 4-5 घंटे मुझे वही बैठ के इंतेज़ार करना था. तो मैं फोन चलाने लगा. तभी मुझे ब्लूएड पर मेसेज आया. मेसेज भेजने वाले की लोकेशन मुझसे 3-4 मीटर की थी. उसका मेसेज था-

मेसेज: हेलो, मैं 40 साल का हू. मुझे गांद मारना पसंद है. मेरा लंड 8 इंच का है. क्या तुम मेरा लंड लोगे?

मेसेज के साथ उसने अपने लंड की फोटो भी भेजी थी. उसका लंड एक-दूं कड़क, क्लीन शेव, 8 इंच का, और गोरा था. मैने रिप्लाइ में उसके लंड के लिए हा कर दी. उसका दोबारा मेसेज आया-

मेसेज: क्या तुम वर्कशॉप में हो?

मे: हा, वर्कशॉप के वेटिंग रूम में.

मेसेज: वॉशरूम की तरफ जो स्टोर है, उसके अंदर आ जाओ.

मैं वेटिंग रूम से निकल के वॉशरूम की तरफ चला गया. स्टोर के दरवाज़े पर सेक्यूरिटी गुआर्द ने रोक लिया.

वो बोला: यहा सिर्फ़ स्टाफ के लोग ही आ सकते.

मैने उसको मेसेज करके बता दिया की गुआर्द ने नही जाने दिया. उसको मेसेज आया दोबारा,

मेसेज: गुआर्द को बोलो सर्विस के लिए गाड़ी इसी रास्ते जाती है. तुम ये देखना सर्विस के टाइम कोई डिस्टर्ब ना करे.

मैने वैसे ही गुआर्द को बोल दिया. गुआर्द मेरी बात सुन कर अजीब सी नज़रो से मुझे देखने लगा और बोला,

गुआर्द: कोई डिस्टर्बेन्स नही होगी. मज़ा लीजिए आप.

मैं स्टोर के अंदर चला गया और उसके अंदर मॅनेजर रूम में चला गया. मॅनेजर की चेर पर एक 40 साल का बंदा था पंत-शर्ट और टीए पहने हुए. गोरा रंग, आत्लेटिक बॉडी, और ग़ज़ब की स्मार्टनेस थी बंदे की.

मैं अंदर गया, वो उठा, और मुझे दीवार से लगा दिया. मैं कुछ बोल पाता इससे पहले ही उसने अपने होंठ मेरे होंठो पर रख दिए, और मुझे स्मूच करने लगा. 10 मिनिट स्मूच करने के बाद वो हटा, और बोला-

वो आदमी: कपड़े उतार दो, नही तो खराब हो जाएँगे.

मैने अपनी पंत-शर्ट उतार दी. लेकिन उसने मुझे अंडरवेर नही उतारने दिया, और बोला-

वो आदमी: ये मैं खुद उतारूँगा.

फिर उसने मुझे अपने टेबल पर लिटा दिया, और दोबारा मुझे स्मूच करने लगा. स्मूच करते हुए वो मेरे निपल्स को भी मसालने लगा. अपने होंठ मेरी गर्दन पर रगड़ते हुए वो मेरे निपल्स को चूमने लगा.

मेरे निपल्स पर वो भूखे भेड़िए की तरह टूट पड़ा. वो कभी निपल्स चूस्टा, कभी मसालने लगता, कभी निपल्स खींचता, तो कभी निपल्स पर दांतो से काट लेता. जब वो मेरे निपल्स चूस के हटा, तो मेरे निपल्स बिल्कुल लाल हो गये थे. और उन पर उसके लोवे बाइट्स भी थे.

उसने अपनी पंत उतरी, और मुझे घुटनो के बाल बिता दिया. उसने वाइट फ्रेंचिए पहनी थी. फ्रेंचिए में उसके लंड की शेप सॉफ दिख रही थी. उसने फ्रेंचिए के उपर से ही मेरे मूह के पास लंड कर दिया, और बोला-

वो आदमी: इसको प्यार करो.

मैने उसके लंड को फ्रेंचिए के उपर से ही किस किया. वो मेरे मूह को अपने अंडरवेर पर दबाने लगा. मैने उसकी फ्रेंचिए नीचे कर दी, और उसका 8 इंच का मूसल कड़क लंड मेरे सामने हवा में झूलने लगा. मैने उसके लंड के टोपे को चूमना शुरू कर दिया.

वो अपना लंड मेरे होंठो पर रगड़ने लगा, और फिर लंड को मेरे मूह में डाल दिया. पूरा लंड मेरे मूह में डाल कर वो मेरे सर को पकड़ कर छोड़ने लगा. मुझे साँस लेने में दिक्कत होने लगी, बुत वो नही रुका.

करीब 15 मिनिट्स मेरे मूह को छोड़ने के बाद वो मेरे मूह में ही झाड़ गया. उसने अपना लंड मेरे मूह से तब निकाला जब सारा माल मेरे गले के नीचे उतार गया.

वो हाँफ कर सोफे पर बैठ गया, और आँखें बंद कर ली. मैने उसके लंड को जीभ से चाट-चाट कर सॉफ किया. उसने अपना लंड मेरे मूह में डाल दिया, और मेरे मूह को छोड़ने लगा. जब उसका लंड पूरी तरह खड़ा हो गया, तो उसने अपना लंड मेरे मूह से निकाल लिया.

उसने मुझे टेबल पर उल्टा झुका दिया, और मेरी गांद पर थप्पड़ मारने लगा. फिर उसने मेरी अंडरवेर पीछे से फाड़ दी, और मेरी नंगी गांद पर थप्पड़ मार-मार कर लाल कर दी.

उसने मेरी गांद को खोल के चाटना शुरू कर दिया. उफफफ्फ़ उसकी जीभ मेरे च्छेद को टच करती तो मेरे पुर बदन में सनसनाहट होने लगती. मेरी गांद चाट-चाट कर पूरी गीली कर दी थी उसने. फिर वो अपने लंड को मेरी गांद के च्छेद पर रगड़ने लगा उफफफ्फ़.

उसने एक धक्का मारा, और अपने लंड का टोपा अंदर डाल दिया. मेरी चीख निकल गयी आहह.

वो बोला: चिल्ला मत.

लेकिन मैं दर्द से चिल्लाने लगा. उसने अपनी फ्रेंचिए उतार कर मेरे मूह में तूस दी. और एक ही झटके में पूरा लंड मेरी गांद में डाल दिया.

मेरी चीखे मूह में ही डब गयी. मुझे पीछे से छोड़ते हुए वो मेरी गर्दन को चूमने लगा. तो कभी अपने दांतो से काट भी देता. फिर उसने मुझे टेबल पर सीधा लिटा दिया, और मेरी टांगे अपने कंधो पर रख के मेरी गांद छोड़ने लगा.

आधे गाँते तक वो मुझे छोड़ता रहा. मेरी गांद छोड़ते हुए साथ ही वो मेरे निपल्स को भी चूसने लगा. एक-दूं उसने अपनी स्पीड बढ़ा ली, और वो मेरी गांद के अंदर ही झाड़ गया. फिर वो मेरे उपर गिर गया. उसकी गरम साँसे मेरी गर्दन पर लगने लगी.

थोड़ी देर बाद उसने अपना लंड मेरी गांद में से बाहर निकाला, और मेरे मूह में डाल दिया. मैने उसके लंड को अची तरह सॉफ किया, और फिर हम दोनो ने कपड़े पहन लिए. उसने मेकॅनिक को इंटरकम पर फोन करके मेरी कार के बारे में पूछा, जो रेडी हो गयी थी.

जब मैं उसके रूम से निकालने लगा, तो उसने दोबारा मुझे अपने पास खींच लिया, और मेरे मूह में अपना लंड डाल दिया. थोड़ी देर बाद वो मेरे मूह में ही झाड़ गया. उसके बाद मैं अपनी कार लेकर वाहा से निकल गया.

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी. पढ़ कर बताईएएगा आपको कैसी लगी. मेरी एमाइल ईद है

यह कहानी भी पड़े  फ्रेंड की गर्लफ्रेंड को पिज़ा डिलीवर किया


error: Content is protected !!