बॉस की चूत का भोंसड़ा बनाने की स्टोरी

अब आयेज-

इसरा अपना बेड से उठी, और अलमारी की तरफ बढ़ कर गयी. उसके बाद उसने वाहा से कोल्ड क्रीम निकली, और वापस मेरे पास बेड पर आई. फिर वो मुझे किस करने लगी पागलों जैसे, और मेरे होंठ चूसने लगी, और ज़ुबान को दाँत से काटने लगी.

आ हा, कितना अछा लग रहा था यार. उसके होंठ मेरे होंठो में, और उसके दाँत मेरी ज़ुबान को जब टच करते, मैं तो ये एहसास लफ़्ज़ों में बयान नही कर सकता. आप इमॅजिन करके देख सकते हो वो एहसास. फिर 5 मिनिट्स बाद हम एक-दूसरे से अलग हुए, और ज़ोर-ज़ोर हाँफने लगे. फिर 30 सेकेंड बाद जब रिलॅक्स हुए तो उसने मुझसे कहा-

इसरा: संजय तुम छूट तो बड़े आचे से चाट-ते हो. अब देखते है छूट ठोकते कैसे हो? बाइ थे वे कितनो की छूट की चटाई और ठुकाई किए हो तुम?

मे: माँ मैने आज से पहले किसी को भी नही छोड़ा, और ना ही किसी की छूट छाती है.

इसरा: झूठे, ज़रूर तुमने चुदाई की है. तभी ना इतने आचे से मेरी छूट चाट कर मुझे सुख दिया .

मे: माँ मैने छूट तो कभी नही छाती, लेकिन आम ज़रूर चूस-चूस कर खाए है बहुत बार.

ये सुन कर वो हासणे लगी. फिर हेस्ट हुए उसने कहा-

इसरा: हाहहहा जो भी हो, तुमने आज मुझे खुश किया है. लेकिन मैं अभी आधा खुश हुई हू. मुझे पूरा खुश करो. चलो ये कोल्ड क्रीम लो, और मेरी कोमल सी छूट पर रग़ाद-रग़ाद कर लगाओ.

उसके ये कहने का देरी थी. मैं उसकी चूत में अपने सख़्त हाथो से कोल्ड क्रीम लगाने लगा. फिर आचे से कोल्ड क्रीम लगाने के बाद उसकी जांघों को फैला दिया और अपना लंड उसकी छूट के करीब लेकर चला गया. उसके बाद मैं अपने लंड का टोपा उसकी छूट में रगड़ने लगा, और वो कुछ इस तरह सिसकी लेने लगी.

इसरा: आ आ आ आहह आहह सेयेल सहला क्यूँ रहा है कुत्ते?

मई: इसी में मज़ा है माँ.

इसरा: आ अया आ कुत्ते इतना मत तडपा आहह आहह आ घुसा भी दे अब अपने घोड़े जैसे लंड को बहनचोड़.

उसके मूह से बेहन की गाली सुन कर मुझे गुस्सा आया, और मैने एक ज़ोर का झटका मार कर अपने लंड का टोपा उसकी छूट के च्छेद में घुसा दिया. और वो ज़ोर से चिल्ला दी. अछा हुआ की हम उसके फार्महाउस में थे, जहा डोर-डोर तक कोई आने-जाने वाला नही था.

इसरा: अया आ अया मम्मी पापा आ आ.

उसकी छूट से खून निकालने लगा, और आँखों से आँसू, मानो वो पानी के बगैर मछली जैसे तड़पति है, वैसे तड़पने लगी, और मुझे गालियाँ देने लगी.

इसरा: अया अया हहाा मदारचोड़, बहेनचोड़, रणडिबाज़. इतना बड़ा घुसा दिया ज़ोर से अया अया आ.

मे: आप ही ना बोली थी माँ, घुसा बहेनचोड़. अब संभलो मेरे लंड को.

इसरा: आ आ दर्द हो रहा है निकाल इसको. मैं मॅर जौंगी. बेहन के लोड निकाल ना, लग रहा है जैसे मेरी छूट में कोई जलता हुआ रोड घुसा दिया है. अयाया आ अया मम्मी जी अया. संजय निकाल दे अपनी रोड को प्लीज़ आ आ आ.

मे: माँ रिलॅक्स, इसको बर्दाश्त कर लीजिए, आपको मज़ा आएगा थोड़ी देर में.

इसरा: अयाया आ आ तो हिल मत भोंसड़ी के, चूतिया हिल मत.

उसका ये बात सुन कर मैं रुक गया और उसका दाया बूब चूसने लगा. इससे उसको थोड़ी सी राहत मिली. फिर मैं उसके निपल को चूसने और चाटने लगा, और वो कुछ ऐसे सिसकियाँ लेने लगी.

इसरा: अया अया ऐसे ही चूस. मज़ा आ रहा है. चूस मेरे आम जैसे बूब्स को. खा जेया मेरे बूब्स.

अब वो तोड़ा रिलॅक्स लगी, तो मैने फिरसे एक झटका लगाया उसे बगैर बताए, और मेरा आधा से ज़्यादा लंड उसका छूट में समा गया. वो इतना ज़ोर से चिल्ला पड़ी, की अगर हम कोई अपार्टमेंट में होते, तो उपर के 2 और नीचे का 2 फ्लोर हमारे यहा आ जाते.

इसरा: अया आ आ मदारचोड़, आज मार डालेगा क्या भद्वे. साला कुत्ता, बता कर धक्का दे सकता था ना आ आ.

मैने उसकी बात पर ध्यान नही दिया, और फिर एक और ज़ोर सा धक्का लगाया, जिससे मेरा 8.5 इंच का लंड उसकी छूट को चीरते हुए पूरा अंदर घुस गया. वो रोने लगी, मुझसे मिन्नटे करने लगी और कहने लगी-

इसरा: आ अया आआआः निकाल लो इसको प्लीज़. अया आ मैं मॅर गयी हाए मम्मी आह.

मे: बस थोड़ी देर और बर्दाश्त करिए माँ. सब ठीक हो जाएगा.

ये कह कर मैं उसका बालों को सहलाने लगा. फिर उसके होंठो में अपने होंठ रख कर चूसने लगा. उसकी जीभ काटने लगा, और नीचे से एक-दूं शांत हो गया. अब ज़रा सा भी मैने अपने लंड की मूव्मेंट नही की. सिर्फ़ उसको किस करता रहा, और उसका दोनो बूब्स को हाथो से दबाता रहा.

15 मिनिट्स तक ऐसे ही करता रहा. फिर वो हल्का-हल्का खुद से मूव करने लगी, जैसे मुझे इशारा दे रही हो की अब तुम धक्के लगा सकते हो. फिर मैने हल्का-हल्का धक्का देना शुरू किया, और वो सिसकियाँ लेती रही.

इसरा: अया आ अया ऐसे ही छोड़ो जान, आ अया अब अछा लग रहा है. छोड़ो मुझे अपनी रंडी समझ कर छोड़ो.

मे: आ माँ, आपकी छूट कितनी टाइट है. मानो किसी ने इसको आज तक ठोका ही ना हो.

इसरा: बहेनचोड़ साला, तुझसे चुड रही हू, मतलब क्या मुझे रंडी समझा है तू भद्वे. तू हॅंडसम लगा बोल कर अपनी छूट की सील तुझसे तुडवाई हू बेहन के लोड.

मे: आप सच में वर्जिन थी माँ?

इसरा: अया हा मदारचोड़. तुझे क्या लगा खून क्यूँ निकल रहा था छूतिए.

मे: सॉरी माँ अया.

इसरा: नमार्द कही का. इतनी आहिस्ते से धक्के लगा रहा है. सिर्फ़ लंड बड़ा है, दूं नही है क्या?

करके वो सिसकियाँ लेने लगी. उसका ऐसा रूप देख कर मैं जोश में आ गया, और अपना सारा दूं लगा कर ज़ोर-ज़ोर से धक्के मारने लगा, और कहने लगा-

मे: ले रंडी, इससे भी ज़्यादा ज़ोर चाहिए क्या?

इसरा: अया अया ऐसे ही छोड़ा सेयेल भद्वे.

मे: ले रंडी छिनाल आहह.

इसरा: और ज़ोर से अया अया आहह. मैं आने वाली हू अया. मैं गयी आहह.

बोल कर वो झाड़ गयी, और उसके झड़ने से छूट भीग गयी थी. तो मेरा लंड और भी आसानी से उसकी छूट में अंदर-बाहर हो रहा था, और पुर घर में उसकी सिसकियों की, और चुदाई की पच पच पच की आवाज़ गूँज रही थी. मुझे वो सब आवाज़े सुन के और भी जोश आने लगा, और मैं यू ही 20 मिनिट तक धक्के मारता रहा.

फिर मैने उससे कहा: पोज़िशन बदलते है ( हम लोग चुदाई की शुरू से लेकर अब तक मिशनरी पोज़िशन में थे. इस दौरान वो 3 बार झाड़ चुकी थी).

फिर वो मेरे उपर आ गयी, यानी की कॉवगिरल पोज़िशन में, और खूब ज़ोर-ज़ोर से मेरे लंड में चढ़ कर कूदने लगी और कहने लगी-

इसरा: अया अया अया मज़ा आ रहा है अया. अगर तू मुझे पहले मिला होता, तो हमने आज तक कितने मज़े किए होते अया आ.

ये कह कर कूदने लगी. फिर वो कहने लगी.

इसरा: अया, मैं फिरसे आने वाली हू, झड़ने वाली हू अया.

मे: मैं भी झड़ने वाला हू, कहा निकालु बोलिए?

ये कह कर हम वापस मिशनरी पोज़िशन में आ गये, और 5 मिनिट्स उसे यू ही छोड़ने का बाद जब मैं झड़ने वाला था, तो तब उसने कहा-

इसरा: बाहर निकाल ना अपने माल को मेरे मूह में. मैं तेरा सारा पानी पीना चाहती हू.

मैने ज़ोर-ज़ोर से धक्के मारने के बाद अपना लंड उसकी छूट से निकाला, और उसके बूब्स पे बैठ गया. फिर अपना लंड उसके मूह में उसके होंठो के सामने लेकर हिलने लगा. फिर ढेर सारा माल उसके मूह में निकाल दिया. वो पूरा माल पी गयी, और फिर हम उठे वाहा से.

हम वॉशरूम गये, और नहा कर वापस बेडरूम आ कर एक-दूसरे को लिपट कर सो गये. फिर मैं शाम को उठा, और अपने कपड़े पहने.

तभी उसने मुझसे कहा: कल से ऑफीस आ जाना, आंड तुम्हे मैं मॅनेजर की पोस्ट दे रही हू.

फिर उसके बाद हमने बहुत बार चुदाई की, और एक बार उसकी छ्होटी बेहान ( कज़िन ) के साथ मिल कर थ्रीसम भी किया. वो कहानी मैं अपना आने वाले पार्ट में बतौँगा. मेरे आंड इसरा के बीच और भी चुदाई की कहानी लिखूंगा.

तब तक के लिए बाइ, और आप अपना फीडबॅक ज़रूर देना. क्यूंकी आपकी फीडबॅक मेरा हॉंसला बढ़ाएगी, और मैं इससे भी अची कहानी आपको सुनौँगा अपनी लाइफ की.

यह कहानी भी पड़े  कहानी जिसमे मा ने बेटे की फॅंटेसी पूरी की


error: Content is protected !!