बिना सिंदूर का सुहाग

मेरे मुह से आवाजे आने लगी आह्ह्ह ओह्ह्ह मर गय्य्यी आह्ह

थोडी देर बाद मुझे भी मजा आने लगा….
में बोली जानू तुमने तो मेरी जान ही निकल दी थी..फिर करीब १० मिनट बाद मेरा पानी आ गया तो में बोली अब बस करो .. वो नहीं रुका जब तक की उसका पानी नहीं निकल गया …5 मिनट बाद उसका भी पानी छुट गया ..
अब वो भी शांत होकर मेरे पास लेट गया …

.फिर थोडी देर बाद अपनी भाभी के रूम में ले जा कर बोला ये लो भाभी की भाभी की साडी p पहन लो …मुझे साडी पहन कर करने में मजा आता है मेने मना कर दिया तो बोला चलो साडी नहीं पहनी आती तो सूट पहन लो .ये रही भाभी की ड्रेसिंग इस से तयार हो जाना … और गेट बंद करके चला गया ..
मुझे तो बहुत गुस्सा आ रहा था …में सोच रही थी की मुझे जींस में ही क्यों नहीं चोद देता है…एक बार तो चोद चूका है फिर क्या दिक्कत है ….मुझे पहले तयार होने को कहता है…में तयार नहीं हुई ….
करीब १० मिनट बाद तरुण वापिस आया और बोला तुम अभी तक तयार नहीं हुई ….कब होगी …
मुझे बहुत गुस्सा आ रहा है…
ऐसा बोलते हुए…उसने जबरदस्ती मुझे सूट पहनने लगा ..और कहा अभी मुझे बहुत गुस्सा आ रहा है
फिर मुझे लगा क्यों ना उसके सामने साडी पहन कर जाऊ …जिस से वो खुश हो जाये,,,फिर मेने भाभी की साडी ली और उसे पहन कर तयार होने लगी…
फिर में ख़ुशी ख़ुशी तयार होने लगी …

उसे पहनने में करीब २० मिनट लग गए तरुण फिर गेट पर आया और गेट बजाया में बोली अभी टाइम लगेगा…
में बोली जानू में ऐसा तयार होकर औवोगी…तो तुम देखते ही रह जाओगे,
फिर में …लिप्सस्टिक …काजल ..चुडा बाकि वो सब जो धुल्हन पहनती है वो मेने पहना ….मुझे बहुत अच्छा फील हो रहा था…
मेने अपने आप को देखा तो बिलकुल दुल्हन लग रही थी…
फिर जब में पूरी तरह तयार हो गई तो गेट खोल कर बाहर आई तो तरुण भी शेरवानी पहन कर तयार था में शर्माते हुए बोली … आप बहुत सुन्दर लग रहे है…
वो बोला जान तुम तो सूट पहन कर आने वाली थी फिर साडी …इसमें तो तुम बिलकुल अप्सरा लगा रही हो…मेरा दिल खुश कर दिया तुमने
फिर हम लोग एक दुसरे को किस करते हुए बेड पर आ गए…फिर उसने कहा जान घूँघट तो रखो फिर में उसे उठओगा फिर मेने ऐसा ही किया और अपने सर पर घूँघट रख लिया…फिर वो एक दम से पीछे हटा और फिर मेरे पास आता हुआ बोला…आज हमारी सुहागरात है जिसे हम बहुत यादगार बना देगे …
में बोली पहले आप शुरू तो करो साजन फिर ही तो इसे यादगार बनायेगे ….वो बोला इतनी भी क्या जल्दी अभी तो बहुत टाइम पड़ा है आराम से करेगे …
में बोली जेसा सजन बोले वेसा ही होगा….फिर वो मेरे करीब आया और मेरा घूँघट उठाने लगा….उठाते ही बोला क्या तो सुन्दर अप्सरा लग रही हो में कुछ नहीं बोली …फिर उसने
मेरे बूब्स दबाना शुरू कर दिए…मुझे इस तरह दबाने में बहुत मजे आ रहे थे…
मेने भी आहे भरना शुरू कर दिया…ओह्ह आह्ह ….
फिर उसने मुझे एक लम्बा किस दिया …. मेने भी उसका साथ दिया….
थोडी देर बाद उसने मेरा ब्लाउज उतारा और मेरी ब्रा में से ही बूब्स दबाता रहा ..
फिर उसने मेरी ब्रा को उतारा और मेरे बूब्स को आजाद कर दिया ….
अब मेरे बूब्स के खड़े निप्पल साफ दिखयी दे रहे थे …जिसे तरुण ने मुह में लेकर आनंद दायक बना दिया…
उसे मेरे बूब्स बहुत पसंद आये और उसने उन्हें काफी देर तक मसला …जिस से ने गरम हो गई …. में इतनी गरम हो चुकी थी की मेरी चूत का पानी बाहर आने को आतुर हो चूका था … मेने तरुण से कहा जान मेरा पानी आने वाला है तो उसने पेटीकोट के अंदर मुह डाल कर मेरी पैंटी में से ही मेरा पानी चुसना शुरू कर दिया…इस से मुझे काफी अच्छा लग रहा था…
फिर थोडी देर बाद वो पेटीकोट से निकला और मेरे साडी को उतरने लगा …अब में सिर्फ पैंटी में थी,
जब वो मेरी पैंटी उतरने वाला था तो मेने कहा अब में तुम्हे नंगा करुगी …
फिर मेने उसकी शेरवानी उतर फेकी उसने अंदर कुछ नहीं पहना था …में उसे किस करने लगी..मेने उसके सिने पर बहुत देर तक किस किये…
फिर मेने उसका पायजामा उतार दिया …अब वो अंडरवियर में था वो बोला की मेरा जिमी ( लंड ) मुह में लोगी मेने मना कर दिया…
फिर मेने उसकी अंडरवियर को एक बार में खीच कर खोल दिया,,,फिर उसके जिमी के साथ खेलने लगी…जब में उसके जिमी के साथ खेल रही थी तो उसने भी मेरी पैंटी खोल दी और मेरी चूत से खेलने लगा…मुझे उसकी इस हरकत से काफी मजा आया और मेने उसे एक किस कर दिया….
अब मुझे चूत चुदवाने की वापिस इच्छा हो रही थी मेने तरुण को कहा जान अब रहा नहीं जाता प्लीज अब मेरी चूत में वापिस अपना जिमी डाल दो….
तरुण बोला जेसी आपकी इच्छा …
फिर उसने मुझे एक लम्बा किस दिया और बेड पर लेटा दिया …
और मेरी चूत के पास अपना लंड ले आया और चूत में लंड को घुसाने लगा…
अब वो आराम से घुसा रहा था ….अब मुझे थोडा दर्द हुआ
जिसे मेने सहन कर लिया …
फिर मुझे भी मजा आने लगा तो मेने कहा की जान अब
स्पीड तेज़ कर दो …
तो वो बोला अभी करता हु जान …फिर मुझे एक किस किया और उसने अपनी स्पीड बड़ा दी…
थोडी देर बाद उठा और बोला अब तुम घोडी बन जाओ मेने
मना किया तो बोला एक बार करके तो देखो …
फिर में घोडी बनी ,…
उसने मुझे घोडी में चुदाई की जिस में मुझे बहुत मजा आया …
थोडी देर में हम दोनों झड़ गए…

यह कहानी भी पड़े  भाभी की चुदाई दिवाली में

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!