यार के साथ पिछली रात के बाद अगली रात

आयेज की कहानी शुरू करते है.

शाम 6 बजे मेरी नींद खुली. मैं सिर्फ़ अंडरवेर में था. मैं बेड पर से उठा, और फ्रेश होने के लिए बातरूम चला गया. फ्रेश हो कर मैं बातरूम से बाहर आया, और अपने कपड़े पहने. थोड़ी देर बाद अभिषेक हमारे लिए 2 कप कॉफी लेकर बेडरूम में आया.

अभिषेक: गुड ईव्निंग समीर (स्माइल).

अभिषेक ने मुझे कॉफी ऑफर की. मैं बेड पर बैठ कर कॉफी पीने लगा. अभिषेक मेरे सामने खड़े हो कर कॉफी पीने लगा, और वो मेरी तरफ ही देख रहा था.

मैं: तुमने रूम कब क्लीन किया?

अभिषेक: अभी थोड़ी देर पहले, जब तुम सो रहे थे.

मैं: मुझे अब अपने घर वापस जाना चाहिए. मेरे मों दाद ऑफीस से घर आ गये होंगे.

अभिषेक: समीर, प्लीज़ 2 दिन के लिए रुक जाओ मेरे पेरेंट्स शादी से वापस आने तक (वित साद फेस).

मैं: ठीक है अभिषेक. पर मेरे पास अपने कपड़े नही है. मेरे घर से लाने होंगे.

अभिषेक: तुम अपनी कॉफी पी लो, फिर हम दोनो तुम्हारे घर जेया कर तुम्हारे कपड़े और दूसरा समान ले आते है (वित स्माइल).

हम दोनो ने अपनी कॉफी पी ली. फिर हम दोनो मेरे घर गये. मेरे दाद ऑफीस से आ कर हॉल में टीवी देख रहे थे.

दाद: गुड ईव्निंग बाय्स.

मैं: गुड ईव्निंग दाद.

अभिषेक: गुड ईव्निंग अंकल.

दाद: तुम कैसे हो अभिषेक? क्या तुम्हारे पेरेंट्स शादी से वापस आ गये?

अभिषेक: ई आम फाइन अंकल. मों दाद मंडे ईव्निंग को शादी से घर लौटेंगे. अंकल क्या समीर और 2 दिन मेरे घर रुक सकता है?

दाद (थोड़ी देर सोचने के बाद): ठीक है, पर रात को ज़्यादा मस्ती नही करना. जल्दी सो जाना.

दाद से पर्मिशन लेने के बाद हम दोनो मेरे बेडरूम में चले गये. मैं अपने कपड़े पॅक करने लगा. तभी अभिषेक ने मेरा रूम अंदर से लॉक किया.

अभिषेक ने पीछे से आ कर मुझे दबोच लिया, जब मैं पॅकिंग करने में बिज़ी था. उसने मुझे अपनी तरफ घुमाया और मेरे होंठो पर किस करने लगा. 15 मिनिट्स बाद अभिषेक ने किस तोड़ी.

मैं (धीरे आवाज़ में): अभिषेक तुम ये क्या कर रहे हो? मेरे दाद आ जाएँगे.

अभिषेक: कुछ नही होगा. मैने दरवाज़ा अंदर से लॉक किया हुआ है.

मैने हल्की सी स्माइल दी.

अभिषेक: थॅंक योउ समीर.

मैं: चलो अब छ्चोढो मुझे. मुझे पॅकिंग करनी है.

मैने अपनी पॅकिंग की, और फिर मों दाद को बाइ करके हम दोनो वापस अभिषेक के घर पहुचे. मैने अभिषेक के बेडरूम में अपनी बाग रखी. तभी फिरसे अभिषेक ने मुझे अपनी बाहों में भर लिया. हम दोनो एक-दूसरे को देख रहे थे. वो मुझे किस करने ही वाला था की मैने उसे धक्का दिया और कहा-

मैं: मुझे ज़ोर की भूक लगी है अभिषेक. तुम्हे शायद याद नही है की हमने दोपहर को खाना नही खाया है.

अभिषेक: ठीक है, बस 2 मिनिट्स. आज हम तुम्हारे फावोरिटेस चाइनीस रेस्टोरेंट जाते है.

फिर हम दोनो ने मेरे फॅवुरेट चाइनीस रेस्टोरेंट जेया कर डिन्नर किया और घर वापस आ गये. अभिषेक ने मैं गाते आंड डोर लॉक किया. मैने अभिषेक के बेडरूम में जेया कर अपने कपड़े चेंज किए, और शॉर्ट्स आंड त-शर्ट पहनी. अभिषेक ने भी अपने कपड़े चेंज किए, और बेड पर मेरे बगल में आ कर बैठ गया.

अभिषेक: तो बताओ कैसा लगा डिन्नर?

मैं: अछा था.

अभिषेक मेरे करीब आ गया था. मैं समझ गया की उसे क्या चाहिए था. मैने अभिषेक को देखा और अपने होंठ उसके होंठो के पास ले गया, और हम दोनो 15 मिनिट्स तक पॅशनेट्ली एक-दूसरे को चूमते रहे. फिर कभी चेहरे पर तो कभी गर्दन पर. 15-20 मिनिट बाद मैं रुक गया.

मैं: अभिषेक आज के लिए इतना ही बस. मैं तक गया हू, और सोना चाहता हू. गुड नाइट.

अभिषेक: ठीक है.

अभिषेक बेड पर से उठ कर वॉशरूम चला गया. वो वॉशरूम से वापस आ कर मेरे बगल में सोने लगा. तो मैने अभिषेक को रोक दिया. मैं उसका और टेस्ट लेना चाहता था.

मैं: अभिषेक यहा बेड पर नही तुम वाहा सोफे पर सो जाओ. बेड पर मैं अकेले सौंगा.

अभिषेक का मूह देखने वाला बन गया था.

अभिषेक: ठीक है, तुम सो जाओ मेरे बेड पर अकेले. और मैं वाहा सोफे पर सोता हू.

वो जेया कर सोफे पर सो गया. मैं बेड पर सो गया, और अभिषेक को देखने लगा. मुझे उसको सताने में बहुत मज़ा आ रहा था. थोड़ी देर बाद हम दोनो सो गये.

अगले दिन (सनडे) सुबह 10 बजे मेरी नींद खुली. मैने देखा की अभिषेक सोफे पर सो रहा था. मैं जल्दी से उठ कर वॉशरूम चला गया, और शवर लिया. किचन में जेया कर हम दोनो के लिए 2 कप छाई बनाई, और लेकर बेडरूम में आ गया. फिर मैं बोला-

मैं: गुड मॉर्निंग अभिषेक. चलो उठ जाओ.

अभिषेक उठ कर बैठ गया.

अभिषेक: गुड मॉर्निंग.

मैं: ये छाई लो. तो तुम्हे रात को आचे से नींद आई ना?

अभिषेक: हा, पर सोफे पर सोने से मेरी पूरी बॉडी पाईं कर रही है.

मैं खुशी से हासणे लगा. तो फिर अभिषेक भी मुस्कुराने लगा. छाई पीने के बाद अभिषेक फ्रेश होने के लिए शवर लेने चला गया. थोड़ी देर बाद हम दोनो हॉल में टीवी देख रहे थे.

अभिषेक: समीर तुम जिम जाय्न क्यूँ नही करते?

मैं: मुझे जिम करना पसंद नही. कभी उस बारे में सोचा नही.

अभिषेक: तुम मेरी जिम जाय्न करो. हम दोनो साथ में ट्रैनिंग करेंगे. जस्ट 1 मंत. तुम्हे पसंद नही आया तो छ्चोढ़ देना.

मैं: ठीक है. मैं सोचता हू इश्स बारे में.

अभिषेक: सोचना कुछ नही. तुम कल से जिम जाय्न कर रहे हो. इट’स फाइनल.

मैं: ओक बाबा, ई विल.

अभिषेक: समीर तुमने कभी लड़कियों के कपड़े पहने है? कभी मेकप किया है?

मैं: नही, क्या तुम्हे मैं एक लड़की दिखता हू?

अभिषेक: समीर तुम्हे एक बार ट्राइ करना चाहिए. तुम बहुत ब्यूटिफुल दिखोगे.

मैं: अभिषेक तुम पागल तो नही हो गये? मैं एक लड़का हू.

मंडे को मैने अभिषेक के साथ जेया कर उसकी जिम जाय्न की. शाम को अभिषेक के पेरेंट्स शादी से वापस घर आ गये.

अभिषेक 2-3 दिन से मुझे क्रॉस ड्रेसिंग करने के लिए कन्विन्स कर रहा था.

अभिषेक: समीर एक बार सिर्फ़ मेरे लिए क्रॉस ड्रेसिंग करो. सिर्फ़ एक बार.

मैं: ठीक है, जस्ट 1 टाइम ओन्ली फॉर योउ.

नेक्स्ट पार्ट क्रॉस ड्रेसिंग. स्टोरी जारी रहेगी.

यह कहानी भी पड़े  कर्जदार की बीवी से मिला चुदाई का सुख


error: Content is protected !!