बहन की कुंवारी बुर को भाई ने चोदा

भाई- चल अब तू सीधी हो जा, मैं तेरी चुत में अपना लंड डालूंगा.
उसके बाद उसने जैसे ही मेरी चुत में अपना लंड डाला, मुझे बहुत दर्द हुआ. मगर मेरे भाई को तो जैसे चुदाई का भूत सवार था. वो लंड पेलता गया. जिससे मेरी बुर से खून निकलने लगा.

वो मुझे धकापेल चोदने लगा. कुछ देर के दर्द के बाद मुझे भी मजा आने लगा और मैं चुत चुदाई का मजा लेने लगी.

उसके बाद भाई ने कुछ देर अपना लंड बाहर निकाला और लंड की मुठ मारता हुआ उसने लंड रस मेरे मुँह में डाल दिया … जिसे मैंने पी लिया.

उसके बाद अंकल मेरे ऊपर चढ़ गए और मेरी चुत में अपना लौड़ा डालने लगे. परंतु अंकल का लंड मेरी चुत में नहीं ही गया क्योंकि भाई की चुदाई से मेरी चुत अभी ढीली नहीं हुई थी और अंकल का लंड तो समझो गधे के लंड जितना बड़ा लंड था.

अंकल की बहुत कोशिश करने के बाद भी जब मेरी बुर में लौड़ा नहीं गया, तो मम्मी मेरे पास आईं और मेरी चुत को चाटने लगीं, जिससे मेरी चुत गीली हो गई.

फिर अंकल ने अपना लंड मेरी चुत पर टिकाया और एक जोरदार झटका दे दिया, जिससे अंकल का लंड मेरी चुत में पूरा अन्दर तक चला गया. उनका लंड क्या घुसा, मेरी तो आंखों की पुतलियां ही फ़ैल गईं … मेरी हालत ही खराब हो गई थी. मैं रोने लग गई.

मम्मी अंकल से बोलीं- आराम से करो यार … मेरी बेटी को दर्द हो रहा है.
पर अंकल ने उनकी एक नहीं सुनी और मेरी जोरदार चुदाई करते रहे. उधर मेरा भाई मम्मी की चुत चाटने में लग गया. इधर अंकल मुझे चोदे जा रहे थे.

यह कहानी भी पड़े  पड़ोसन आंटी की हैवानियत भरी चुदाई

दस मिनट तक ताबड़तोड़ चुदाई करने के बाद अंकल बोले- मेरा निकलने वाला है … बोल मेरी अदिति रंडी … मैं अपना माल कहां निकालूं?
मैं कराहते हुए बोली- आपने अपने मन की ही की है … अब भी क्या पूछते हो … आप मेरी चुत में ही गिरा दो … कुछ तो राहत मिलेगी.

अंकल ने ऐसे ही चोदते हुए अपना सारा वीर्य मेरी चुत में ही भर दिया. एक घंटे बाद अंकल और भाई दोनों ने मिलकर मेरी गांड की भी चुदाई की. उस दिन हम माँ-बेटी की जोरदार चुदाई हुई. मेरी तो उस दिन 4 बार चुदाई हुई … मैं बिस्तर पर नंगी बेदम सी पड़ी थी.

जब शाम हुई, तो अंकल अपने घर चले गए. अब मैं और मम्मी अपने ही घर में रंडी बन गए थे. जो भी आता है हम दोनों को चोद कर चला जाता.

पिछले दिनों भाई के 2 दोस्त आए थे, वो दोनों भी मुझे और मम्मी को चोद कर गए थे. उन दोनों के लंड से चुदने में मुझे बहुत मजा आया था.

हम सभी के खुल जाने के बाद से तो हम सब मिलकर आज भी खूब चुदाई करते हैं.

मैं इसके बाद आप सभी को एक और गंदी कहानी बताऊंगी कि कैसे मेरे भाई ने अंकल से चुदने के लिए मम्मी को मनाया था. इसमें ख़ास बात ये थी कि अंकल का लंड इतना जबरदस्त होने के बावजूद भी मेरे भाई अनिल ने आंटी को पटा कर चोद दिया था.

आपको सेक्स कहानी कैसी लगी, आप मुझे मेल करके जरूर बताइएगा.
आप सबकी प्यारी अदिति

यह कहानी भी पड़े  दोस्त की सेक्सी माँ निर्मला की चूत चुदाई

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!