आर्मी ऑफिसर की पत्नी की चूत चाटी और चोदी

कुछ मिनट के बाद फिर उसकी चूत ने एक बार और पानी छोड़ दिया.. जिसे मैं पूरा पी गया। थोड़ी देर बाद मैं भी उसके मुँह में झड़ गया और उसने मेरा पूरा माल एक ही बार में अन्दर निगल लिया।

अब हम दोनों सीधे लेट गए और एक-दूसरे को चूमने लगे। मैं एक हाथ से उसकी चूत सहला रहा था और वो मेरा लंड मसल रही थी। कुछ देर यूं ही मस्ती करने के बाद हम दोनों फिर से गरम हो गए और इस बार उसने अपनी चूत चोदने को कहा।

मैंने चुटकी लेते हुए कहा- आज मैं तुम्हारी चूत में भारत पाकिस्तान की सुरंग खोदूँगा।
वो ज़ोर से हँसने लगी.. जैसे मैंने कोई संता-बंता का जोक सुनाया हो- हाह हाहा.. यू आर सो फनी..

मैं भी गरम लोहे पर हथौड़ा मारने से कहाँ चूकने वाला था, मैंने अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर रखा और एक ही झटके में तोप के गोले की तरह उसकी चूत की सुरंग में पेल दिया।

वो- आअहह.. अजय लगता है तुमने तो सेक्स में पीएचडी कर रखी है.. लगता है आज तो तुम सच में पाकिस्तान की गांड में सुरंग खोद कर ही दम लोगे.. आह्हह अहहहह..

अब मैं उसकी चूत में अपना लंड आगे-पीछे करने लगा.. जिसे वो अपनी गांड उछाल-उछाल कर अपने अन्दर लेने लगी- ऊऊहह.. ईयसस्स.. अजय.. फक मी.. टू हार्ड.. आआह..

मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी.. और जोर-जोर से उसकी चूत में लंड अन्दर-बाहर करने लगा। मेरा लंड ऐसे काम कर रहा था जैसे किसी गुफा को खोदते टाइम ड्रिल मशीन को अन्दर-बाहर करते हैं, बीच में मैं उसके मम्मों को भी दबा देता था.. जिससे वो और सिहर उठती।

यह कहानी भी पड़े  चुदाई के शौक में बन गया कॉल बॉय

कुछ ही मिनट के बाद वो जोर-जोर से चिल्लाने लगी- आआआहह ऊऊऊऊ यस्स अजय फक मी हार्डर..
मैंने अपनी स्पीड दोगुनी कर दी और हम दोनों एक ही साथ झड़ गए।

क्या असीम आनन्द मिला उस वक़्त दोस्तो.. जिसने साथ में झड़ कर इस चरमसुख की प्राप्ति की हो.. वो ही इस आनन्द को समझ सकता है। हम दोनों तो जैसे जन्नत में थे।

मैं कुछ देर उसके ऊपर ही पड़ा रहा.. थोड़ी देर हम ऐसे ही चिपके हुए सोए रहे.. उसने मुझे किस किया और थैंक्स बोला।
तो मैंने कहा- मेम थैंक्स तो मुझे आपको बोलना चाहिए..

फिर मैं जाने के लिए उठा और अपने कपड़े पहने.. तो उसने मुझे पूछा- तुम्हें एटीएम पर ड्यूटी करने के कितने पैसे मिलते हैं?
मैं- 4000 रूपए!
वो 6000 रूपए मेरे हाथों में देते हुई बोली- ये रखो और आज से एटीएम की ड्यूटी पर मत जाना.. मेरे यहाँ ड्यूटी करोगे.. तो मैं तुम्हें डबल पेमेंट दूँगी।
मैंने भी ‘हाँ’ बोल दी।

उसने कहा- मैं फोन पर बता दूँगी।
फिर उसने मुझे मेरे रूम तक ड्रॉप किया और प्यारी सी स्माइल के साथ ‘थैंक्यू..’ बोलते बाय कहकर चल दी।

यह थी मेरी सच्ची चुदाई की कहानी.. आपको कैसी लगी.. अपने प्यारे सेक्सी कॉंप्लिमेंट जरूर मेल करना।
आपका अपना दोस्त अरुण

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!