थियेटर में डॉक्टर को छोड़ने की सेक्सी स्टोरी

सोनिया अब किस करते हुए लंड पर आ गयी, और उसे मूह में भर लिया. 10 मिनिट तक खूब दबा-दबा के चूसा, जिससे लंड फिरसे खड़ा हो गया. अब कहानी में आयेज.

अब सोनिया उठी, और लंड पर बैठ गयी. अपने हाथ से लंड को छूट में दबाने लगी. लंड एक बार में ही छूट में घुस गया. छूट में पूरा लंड जाते ही वो करहने लगी.

सोनिया: आआ एयेए अयाया.

वो धीरे-धीरे अपनी कमर उपर-नीचे करने लगी. 5 मिनिट उसने धीरे-धीरे लंड की चुदाई की. उसके बाद उसकी छूट गरम हो गयी, तो उसने स्ट्रोक फास्ट कर दिए. सोनिया अब लंड पर छूट को ज़ोर-ज़ोर से मारने लगी. मैं उसके बूब्स को मसल रहा था. 15 मिनिट बाद वो थकने लगी, तो मैने उसकी कमर पकड़ी, और उसे नीचे से झटके देने लगा.

मेरे हर झटके से वो चिल्लाने लगती थी. सोनिया को चूड़ते हुए मज़ा भी आ रहा था. वो मुझे किस करने लगती थी, जिससे वो गरम हो जाती. मैं नीचे से उसकी गांद दबा कर छोड़ने लगा. वो चिल्लाते हुए मस्ती में बोली.

सोनिया: उहह… आहह…ऑश.. उफफफ्फ़… ऑश उफफफफ्फ़ और ज़ोर से छोड़ो मुझे श, और ज़ोर से छोड़ो मुझे रोहित. ऑश डियर, और ज़ोर से छोडई करो मेरी आह. सोनिया के अंदर बहुत आग थी.

फूच फूच पक पक स्लॉप स्लॉप स्लॉप स्लॉप की आवाज़ के साथ डॉक्टर सोनिया की आ ऊ उफफफ्फ़ आवाज़ से कमरा गूओंज्ने लगा. हम दोनो चुदाई की मस्ती में सब भूल गये थे. वो उपर से लंड पर उछाल रही थी. मैं नीचे से छूट में लंड के झटके दे रहा था. करीब 25 मिनिट बाद मेरा वीर्या सोनिया की रसीली छूट में समा गया.

सोनिया तक कर मेरे उपर लिपट गयी. मैं भी सोनिया से लिपट गया. दोनो आँखें बंद करके एक-दूसरे के होंठो को चूज़ जेया रहे थे. 5 मिनिट रिलॅक्स लेने के बाद हम नॉर्मल हुए थे. फिर वो बोली.

सोनिया: वाह मेरे राजा रोहित. तुमने आज तो बहुत मज़ा दे दिया है. मेरा पूरा बदन अब दर्द कर रहा है.

मैं: मेरे जान, तुम्हारी रसीली चूत है ही ऐसी.

सोनिया: तुम मेरे छूट में आग लगा देते हो छोड़-छोड़ कर. कल मैं तुम्हारे साथ सुहग्रात मनौँगी. तुम मुझे बेदर्दी से छोड़ना. अपनी पत्नी, रंडी, रखैल समझ कर छोड़ोगे ओक. मुझे सेक्स लाइफ का पूरा मज़ा देना. मुझे खा जाना कल मेरे राजा. अपने लंड की दीवानी बना देना बेबी. तुम कल ज़ालिम बन जाना. मेरी एक ना सुनना तुम.

मैं: ओक मेरे रानी. कल आचे से छोड़ूँगा तुझे. और तेरे चीखे निकाल दूगा मेरी रंडी डॉक्टर.

ऐसा मैने बोला तो वो हासणे लगी. हम दोनो एक-दूसरे को चूमते हुए नंगे ही सो गये. हमारी सुबह 7 बजे आँख खुली, और हमने 5 मिनिट एक-दूसरे को स्मूच किया. उसके बाद दोनो ने साथ में न्यूड बात लिया. फिर मैने ब्रेकफास्ट ऑर्डर किया. इस बार सोनिया नंगी ही खुद से नाश्ता लेने गयी. उसने वेटर को एक सेक्सी स्माइल दी. फिर हमने नाश्ता किया, और जल्दी से रेडी हुए.

8:45 बजे तक हम होटेल से निकल गये. सोनिया ने टॅक्सी ली, और उसमे हम दोनो निकल गये गोआ घूमने. पब्लिक पार्क में गये, वाहा मैने सोनिया के कमर में हाथ डाल के अपनी तरफ दबा दिया. जिससे उसकी आ निकल गयी. वो मुझे देख कर स्माइल देने लगी.

अब उसकी शरम निकल गयी थी. वो भी मेरा साथ खुश थी. मैने अपना हाथ कमर से, गांद पर ले गया, और उसे सहलाने लगा. वो चौंक गयी, और मुझे हल्के गुस्से से देखा. मैने स्माइल की, और आँख मार दी. वो हासणे लगी.

उसके बाद हम माल के लिए निकल गये. मैने टॅक्सी में उसे बहुत बार किस किया. उसने भी मेरे लंड को पंत के उपर से चूमा छाता था. ड्राइवर सब देख रहा था. गोआ में मैं और सोनिया एक-दूसरे के साथ एंजाय कर रहे थे.

हम आधे घंटे में माल पहुँच गये. वाहा मैने लिफ्ट में सोनिया के होंठो को खूब चूसा. उसने भी भरपूर साथ दिया. सोनिया की रेड लिपस्टिक मैं चाट गया था. लिफ्ट से बाहर निकले तो उसने जल्दी से अपने पर्स से लिपस्टिक निकली और लगाई. मुझे वो बोली-

सोनिया: रोहित, तुम तो मेरे लिपस्टिक भी नही छ्चोढते हो. सारी खा गये.

मैं: अछा बेबी. जैसे की तुम्हे मज़ा नही आ रहा था. तुमने भी मेरे ज़ुबान चूस-चूस के काट ली.

सोनिया: ह्म, मज़ा आ रहा है. मेरी जान, मैं लाइफ जी रही हू आज. थॅंक योउ बेबी.

उसने मेरा हाथ पकड़ के अपनी कमर में डाल दिया, और हम लॅडीस के कपड़ों की शॉप पर गये. वाहा जाके सोनिया ने कहा-

सोनिया: मुझे अची सी ब्रा पनटी चाहिए.

सेल्समन ने बहुत सारी ब्रास-पॅंटीस दिखाई. मैने सेल्समन के सामने ही सोनिया को एक किस दे दिया. वो शरमाने लगी. सोनिया को मेरे किस से मज़ा आ रहा था. मैं गांद को भी मसल रहा था. वो अपनी सिसकियाँ दबाए जेया रही थी. उसने वाहा से पर्पल कलर की ब्रा-पनटी ली. वाहा से हम आ गये. फिर हमने वही रेस्टोरेंट में खाना खाया.

मैने सोनिया को वाहा पर भी खूब च्चेड़ा. वो मेरी नॉटी हरकटो को से रही थी. खूब मज़े ले रही थी. वो बोली-

सोनिया: तुम्हे ज़रा भी शरम नही आ रही है. यहा तो मत करो. देखो पीछे वाली टेबल पर से सब हमे देख रहे है. तुम बहुत नॉटी हो रोहित.

मैं: देखने दो ना जान. हम तो एक-दूसरे को प्यार करेंगे बस.

फिर मैने वही पर उसकी नेक पर ज़ोरदार किस कर दिया. उसने भी इस बार आँख बंद करके साथ दिया. हमने खाना खाया, और वाहा से सिनिमा हॉल के लिए निकल गये. वाहा पर हमने टिकेट्स ली, और अंदर हॉल में चले गये.

अची बोल्लयऊूद की सेक्सी मोविए लगी हुई थी. हमने वाहा कॉर्नर की सीट पकड़ी. हॉल में ज़्यादा लोग नही थे. करीब 70-80 लोग थे. सोनिया का हाथ पकड़ मैं कॉर्नर सीट पर ले गया. वाहा हम बैठ गये.

मोविए स्टार्ट हुई, तो थोड़ी देर बाद उसमे हॉट सीन आने लगे. हमारे आयेज और पीछे के कपल्स मोविए नही देख रहे थे. वो तो एक-दूसरे के जिस्म की आग देख रहे थे. मैने सोनिया की जाँघ पर हाथ रखा, और मसालने लगा. 5 मिनिट बाद सोनिया मोन करने लगी.

मैने सोनिया का फेस पकड़ा, और अपनी तरफ खींचा. फिर उसके लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए. वो मोविए देख कर वो गरम हो गयी थी. मैने सोनिया की जीन्स में हाथ डाल दिया. छूट ने अपना काम रस्स निकाल दिया था पहले से ही.

मैं सोनिया के होंठो को चूसने लगा. वो भी मेरा साथ दे रही थी. मेरे होंठो को वो चबाने लगी. मैं उसकी ज़ुबान को चूसने लगा. नीचे से हाथ को छूट पर आचे से मसालने लगा. 15 मिनिट की किस के बाद छूट ने काम रस्स मेरे हाथो पर निकाल दिया.

फिर सोनिया ने चेर पर से ही झुक कर मेरी जीन्स की चैन खोल के मेरा 7 इंच का लंड निकाल दिया. उसने जल्दी से लंड अपने मूह में भर लिया. फिर बैठे-बैठे ही मैं उसके मूह की चुदाई करने लगा. हमारी सिसकारियाँ आस-पास गूंजने लगी. हमे देख कर दूसरे कपल भी एक दूसरे में लग गये.

10 मिनिट मैने सोनिया के मूह को दबा-दबा के छोड़ा. सोनिया ने जब मूह हटाया तो वो ज़ोर-ज़ोर से साँसे लेने लगी.

सोनिया: आह उहह उम्म. रोहित तुम तो बहुत अग्रेसिव हो जाते हो.

फिर उसके टॉप के उपर से ही उसके बूब्स चूसने लगा. धीरे से मैने उसका टॉप निकाल दिया, और ब्रा को नीचे करके बूब्स मूह में ले लिए. फिर ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगा. वो बस मोन करने लगी.

सोनिया: ऑश आह रोहित धीरे बेबी धीरे, मज़ा आ रहा है. आराम से करो ना. दर्द होता है जान.

मैं: मेरे रंडी. तू मज़े तो ले रही है ना?

सोनिया: हा बेबी.

मैने 10 मिनिट बूब्स को खूब चूसा. अब वो भी गरम हो गयी. उसने अपनी जीन्स खुद से ही नीचे कर ली, और सीट से उठ कर मेरे लंड को पकड़ कर छूट में घुसा के लंड पर बैठ गयी. मैं दोनो हाथ उसके बूब्स पर रख कर उसे उछालने लगा. सोनिया अपनी कमर उपर-नीचे करने लगी.

सोनिया कमर को उछाल-उछाल कर, लंड को छूट में अंदर तक लेने लगी. मैं भी उसकी गांद पकड़ कर उसे उछालने लगा. वो मोन करने लगी.

सोनिया: उहह आह, एस फक मे, एस रोहित. मज़ा आ रहा है बेबी.

मैने उसके मूह को पकड़ा, और किस करने लगा. वो भी मेरे मूह को चाटने लगी. सोनिया की छूट गरम थी. मेरे लंड को वो उछाल-उछाल कर अंदर तक ले रही थी. करीब 20 मिनिट चूड़ने के बाद उसने अपना पानी निकाल दिया.

मैं उसकी गांद पकड़ कर उससे उछालने लगा. मैने उसकी एक टाँग पकड़ी, और पैर को उठाया जिससे छूट चौड़ी हो गयी. मैं अब आचे से छोड़ पा रहा था. वो भी ज़ोर-ज़ोर से कमर उछाल रही थी. अब वो उठी, और मेरी और मूह करके लंड पर बैठ गयी. वो लंड पर बैठ कर उछालने लगी. दोनो काम वासना में लिप्त थे.

15 मिनिट छोड़ने के बाद अब मेरा पानी निकालने वाला था. वो मोन कर रही थी.

सोनिया: उहह ऑश बेबी. मज़ा आ रहा है. क्या लंड है तुम्हारा रोहित.

मैं: उम्म बेबी, मेरा निकालने को है.

5 मिनिट दोनो की ज़ोरदार झटको भारी चुदाई के बाद झाड़ गये. सोनिया की छूट में पानी निकल गया. वो उठी और अपने रुमाल से छूट पोंछने लगी. उसके बाद उसने मेरा लंड मूह में लेके पानी को सॉफ किया. फिर लंड पंत में करके उसने चैन लगा दी.

इस चुदाई के बाद वो मुझसे गले लग गयी. हमने थोड़ी देर मोविए देखी और वाहा से निकल आए. हम बाहर आए तो मैने उसे एक किस किया. उसने भी इस बार साथ दिया और आचे से मुझे किस दिया. वो मुझसे बोली-

सोनिया: रोहित, मैने आज तक अपने हज़्बेंड के साथ भी ऐसा एंजाय नही किया. हमेशा अपने डॉक्टर की ड्यूटी में बिज़ी रही हू. लाइफ जीने का मज़ा नही लिया.

आज हमारी सुहग्रात है. तुम मुझे अपनी मर्ज़ी से दबा के अपनी रंडी बना कर छोड़ना. हम वाहा से आयेज बढ़े तो, हमे एक टॅटू के शॉप दिखी.

सोनिया बोली: तुम कुछ देर यहा वेट करो. मैं थोड़ी देर में आती हू. वो मुझे किस करके चली गयी. 1 अवर बाद वो आई, और कहा चलो.

हम वाहा से आयेज चले. उसने वाहा आइस्क्रीम ली. वो हमने एक साथ खाई. उसके होंठो पर आइस्क्रीम लग गयी. मैं उसकी आइस्क्रीम को उसके होंठो से चाटने लगा. वो भी साथ देने लगी. वो मेरे मूह की आइस्क्रीम के साथ, मेरे गाल और नाक को चाटने लगी. दोनो खुल कर मस्ती कर रहे थे. हमने पुर दिन खूब एंजाय किया.

मैने सोनिया को माल में खूब चूमा छाता. उसने भी मुझे खूब चूमा था. गोआ की काई जगह पर मैने उसे किस करके गरम किया था. पुर दिन में 5 बार छूट का पानी निकाल दिया. 2 बार उसने टॅक्सी में मेरा लंड चूसा था, और पानी पी गयी थी.

खूब दिन भर मस्ती करने के बाद हम शाम के 7 बजे होटेल आ गये. वाहा हमने खाना खाया. हम रूम में जेया रहे थे, तो सोनिया बोली-

सोनिया: बेबी, तुम यही वेट करो. मुझे सुहग्रात की तैयारी करनी है. मैं आज तुम्हारी दुल्हन बन के चूड़ना चाहती हू. तुम आज मेरे दूल्हे राजा हो.

सोनिया: मेरे राजा जी. आप मेरी यही वेट करो. जब मैं कॉल करूँगी तब आप आ जाना. और हा, आज भूल जाना मैं डॉक्टर हू. मुझे अपनी स्लेव, रखैल या कुटिया समझना ओक.

मैं: ओक मेरे रानी. तुम जाओ रेडी हो जाओ.

नेक्स्ट पार्ट में पढ़िए कैसे सुहग्रात हुई हमारी. किसी भाभी, गर्ल को मुझसे रियल में चूड़ना है, तो मैल करे. आपकी सेक्यूरिटी रखी जाएगी. और आप मुझसे सेक्यूर छत और अपना सीक्रेट शेर कर सकते है. आपकी डीटेल्स सेफ रहेंगी.

अगर मुझसे हेल्प चाहिए, या फिर बात करनी है, तो मैल करे. एक बार सेवा का मौका ज़रूर दे.

यह कहानी भी पड़े  भाई-भाई की शादी और सुहागरात की स्टोरी


error: Content is protected !!