सुहानी रात में चुड़क्कड़ मा की चुदाई की स्टोरी

अभी तक अपने पढ़ा था मदर एक्सचेंज वाली लोवे स्टोरी में फ़ैज़न ने मेरी मम्मी को छोड़ा आंड मैने उसकी मम्मी को छोड़ा. फिर काफ़ी रात होने की वजह से रात हम दोनो मुम्मय्ओ को लेके सो गये थे. नाउ कंटिन्यू-

हेलो गाइस, सॉरी लाते हो गया स्टोरी लाने में. कुछ पर्सनल वर्क से आउट ऑफ सिटी जाना पद गया था. नाउ ई’म बॅक, अब स्टोरी कंटिन्यू करते है.

तो लास्ट्ली अपने पढ़ा कैसे फ़ैज़न और मैने एक-दूसरे की मों को छोड़ा. तो नेक्स्ट दे से फ़ैज़न और उसकी अम्मी को हमने देल्ही घुमाया. 3-4 दिन हमने फुल टाइम स्पेंड किया, और एंजाय किया. अब उनके जाने में 2 दिन थे, और फ़ैज़न और मुझे अपनी अपनी मम्मी को छोड़ना था. तो हमने सोचा हमे अकेले-अकेले ट्राइ करना पड़ेगा.

तो फ़ैज़न बोला: भाई मैं अम्मी की लेके अपने मामू के घर जेया रहा हू 2 दीनो के लिए. मैं वाहा ट्राइ करूँगा. तुम अपने घर में ट्राइ करो

मैं: हा ये करेंगे, सही होगा.

नेक्स्ट दे फ़ैज़न और उसकी अम्मी उसके मामा के घर के लिए निकल गये, जो की ओल्ड देल्ही में रहते थे. तो दिन में उनके जाने के बाद पापा भी ऑफीस चले गये. फिर मेरी मम्मी किचन में वर्क कर रही थी. मैं अपने रूम में था, तो मैं अपना ट्रॅक पंत से अंडरवेर निकाल के किचन में गया और मम्मी को हग करने लगा और गालों में किस करने लगा.

मम्मी: क्या बात है बेटा, आज बड़ा प्यार आ रहा है मम्मी के उपर?

मैं: हा मम्मी, आक्च्युयली जब से फ़ैज़न आया है तो आपको प्यार नही किया. एक वीक से आपको हग या किस नही किया. इसलिए सोचा आपको प्यार कर डू.

मम्मी: थॅंक योउ मेरा बच्चा. मेरे लिए इतना सोचने के लिए.

मैं: हा मम्मी, आप हो ही इतनी प्यारी, की आपको प्यार करने का दिल करता है.

मैं मम्मी को पीछे से हग करने लगा, किस करने लगा, और उनके पेट में हाथ फेरने लगा. तो मम्मी थोड़ी अनकंफर्टबल हुई. मैं समझ गया क्यूंकी मैने उनको अपना लंड भी महसूस करवाया था.

तभी मम्मी बोली: चलो बेटा कुछ खा लो. डाइनिंग टेबल में चलो, मैं लेके जाती हू.

मैं अपना खड़ा लंड लेके डाइनिंग टेबल पे आ गया, और वही से किचन में मम्मी को देखने लगा. मम्मी भी मेर्को चोरी से देखने लगी. कुछ देर में मम्मी खाना लाती है, और हम खाते है. खाना खाते हुए मैं मम्मी की क्लीवेज देख रहा था.

फिर हमारा खाना ख़तम हुआ, और मम्मी प्लेट्स उठाने लगी.

वो बोली: जाओ बेटे, रेस्ट कर लो. लास्ट 2-4 दिन बहुत घूमे हो.

मैं बोला: ओक मों. बुत क्या मैं आपके रूम में रेस्ट कर सकता हू?

मम्मी बोली: क्यूँ, तुम्हारा भी तो रूम है ना.

मैं बोला: तो आप मेरे रूम में आ जाओ.

मम्मी: क्या ज़िद है बेटू?

मैं: ज़िद नही मम्मी, बस आपके साथ रहना है.

मम्मी: चलो फिर मैं तुम्हारे रूम में रेस्ट कर लेती हू.

मैं खुश हुआ क्यूंकी मेरे रूम में फ़ैज़न ने मम्मी की छोड़ा था. अब मैं भी छोड़ पौँगा उनको. मैं और मम्मी मेरे रूम में गये. मम्मी बेड में लेट के फोन उसे करने लगी.

मैने पूछा: मम्मी क्या मैं आपको हग करके लेट जौ?

मम्मी ने बोला: आ जाओ, सो जाओ. मुझे भी नींद सी आ रही है. मी बॉडी नीड्स सम रेस्ट.

मैं उनके करीब आ गया, और उनको पकड़ के सोने लगा. हग करते ही उनको किस किया चीक्स पे. देन उनके पेट पे हाथ रख के सहला रहा था. तो थोड़ी देर में मम्मी की आँख लगी, और मम्मी सो गयी.

मम्मी काफ़ी ज़्यादा टाइयर्ड थी, तो वो गहरी नींद में सो गयी. मैने उनके टॉप को तोड़ा उपर किया, और बूब्स को टच करने लगा. धीरे-धीरे ब्रा के उपर से बूब्स तो टच किया तो बूब्स तक पहुँच गया. मेरी उनके निपल्स तक उंगली चली गयी थी.

मम्मी गहरी नींद में थी, तो उनको कुछ खबर नही थी. तो मैं भी बेफिकर हो गया, और तोड़ा ज़्यादा ज़ोर लगाने लगा. ऐसे ही करते-करते, और उनके बूब्स को सहलाते-सहलाते मेरी भी नींद लग गयी. मेरा हाथ उनकी ब्रा के अंदर रख कर मैं सो गया.

मेरी आँख खुली तो शाम हो रही थी. मम्मी बेड में नही थी. मैं उठा, फ्रेश हुआ, तो मम्मी छाई पी रही थी और टीवी देख रही थी. मैं उनकी साइड में जाके बैठ गया चुप-छाप.

फिर मम्मी ने पूछा: छाई लाउ?

मैं कहा: हा प्लीज़ डेडॉ छाई.

फिर मम्मी छाई लेके आई. हम दोनो बैठ के छाई पीने लगे, और टीवी देखने लगे. फिर रात होने वाली थी. पापा भी आ गये, और हमने डिन्नर किया, और सब अपने अपने रूम में गये. मम्मी फिर मेरे लिए दूध का ग्लास लाई और बोली-

मम्मी: पी लेना.

मैं बोला: अर्रे मम्मी आप भी यही मेरे साथ सो जाओ ना. पापा तो सो गये होंगे. मेरे रूम में टीवी देखते है, कुछ मोविए वग़ैरा.

मम्मी बोली: सो जाओ बेटा, रात हो गयी है.

मैं ज़िद करने लगा तो मम्मी बोली: ठीक है वेट. तुम्हारे पापा को देख के आती हू, कुछ ज़रूरत तो नही उनको.

मैं खुश हुआ और वेट करने लगा. 45 मिनिट्स के बाद मम्मी आ गयी निघट्य चेंज करके. मैं डबल खुश हो गया. मम्मी डाइरेक्ट मेरे बेड पे आ गयी और ब्लंकेट में घुस गयी. मैने मम्मी को हग किया और टीवी देखने लगे, और मैं धीरे-धीरे मम्मी से कोज़ी कोज़ी होने लगा. रूम में लाइट बंद थी, और टीवी की रोशनी थी बस. मैं मम्मी के साथ सतत के बैठा था.

मम्मी: बेटा आज कल तुम बड़ी शैतानी करने लगे हो.

मुझे समझ नही आया.

मैं: क्यूँ मम्मी, क्या किया मैने?

मम्मी ( नॉटी स्माइल देके): आफ्टरनून में कैसे सोए हुए थे?

मैं अंजान बन कर: आपको हग करके सोया था. क्यूँ क्या हुआ, आपको अछा नही लगा?

मम्मी को लगा शायद नींद में किया होगा, इसलिए चुप हो गयी.

मैं: बोलो ना मम्मी, क्या हुआ? क्या शैतानी की मैने?

मम्मी: कुछ नही बेटा, बस ऐसे ही.

मैं बोला: बताओ मम्मी आपको मेरी कसम.

मम्मी: बेटा छ्होटी-छ्होटी बात में कसम नही देते.

मैं: तो आप बताओ?

मम्मी हिचकिचाते हुए बोली: बेटा तुमने अपना हाथ मेरे टॉप में घुसा दिया था.

मैं: सॉरी मम्मी, मुझे ध्यान नही था. शायद नींद में किया होगा. ई’म रियली सॉरी.

मम्मी: कोई बात नही बेटू, हो जाता है तुम्हारी आगे में.

फिर हमारी बात वही ख़तम हुई. आज मुझे मम्मी को छोड़ना था, तो मैं प्लॅनिंग करने लगा. फिर चॅनेल्स चेंज कर रहा था, तो एक हॉलीवुड मोविए लगा दी, जिसमे किस्सिंग सीन्स भी थे. हम दोनो देखने लगे.

मम्मी के लिए नॉर्मल था. हम एंजाय कर रहे थे. तभी एक सेक्स सीन आया, जिसमे लड़का लड़की की फ्रेंड के साथ सेक्स कर रहा होता है. वो बेड में करते है. तब मुझे आइडिया आया क्यूँ ना मैं मों को ब्लॅकमेल करके छोड़ू.

फिर मोविए ख़तम हुई, और हम दोनो सोने लगे. मैं मों की गांद में लंड लगा के सोने लगा. मम्मी ने भी खुद को अड्जस्ट किया, और मेरे लंड को लगा के सोने लगी. मैं धीरे-धीरे उनकी कमर तक पहुँच गया, और नाभि को टच करने लगा. करीब एक घंटे में मों सो गयी, और मैं लंड उनकी गांद में रग़ाद रहा था.

मैने अपनी निक्कर निकाल दी, और मम्मी की निघट्य को उपर करने लगा धीरे-धीरे. मम्मी की निघट्य को कमर तक कर दिया मैने. और उनकी छूट को ढूँढने लगा. मैं धीरे-धीरे उनकी छूट को टच करने लगा. फिर मैने एक उंगली उनकी छूट में डाली तो उनकी छूट में मुझे पानी महसूस हुआ. ध्यान आया अगर मम्मी जागी हुई होती, तो मुझे रोक देती.

बुत मैं बिना दर्र के उनकी छूट में उंगली डालने लगा. फिर मैं रज़ाई में घुस गया, और मम्मी की छूट को चाटने लगा. मस्त छूट थी मम्मी की, तो मैने मम्मी को धीरे से सीधा लिटा दिया, ताकि उनकी छूट को ठीक से चाट साकु.

ऐसे ही 20-25 छूट चाटने के बाद मम्मी झाड़ गयी, और मैं उनका पानी पी गया. उनकी छूट अब पूरी गीली थी. फिर मैने उनके पानी को लंड में लगाया, और उनकी छूट में डालने के लिए उनके उपर आया.

मैं धीरे-धीरे सब कर रहा था ताकि मम्मी को प्राब्लम ना हो, और सोते हुए चुड जाए. अगर बीच में नींद खुलेगी तो मैं फ़ैज़न के बारे में बता के छोड़ सकता था. फिर मैने लंड सेट किया, और उनकी छूट में और धीरे-धीरे डालने लगा.

रूम में धीमे लाइट थी, और हल्की रोशनी थी. तो मम्मी का फेस एक्सप्रेशन चेंज होता हुआ भी दिख रहा था. फिर मेरा लंड पूरा अंदर जाने लगा, और मैं रुक गया ताकि मम्मी की नींद ना खुले. जब मम्मी रिलॅक्स हुई तो मैं उनको स्लोली-स्लोली छोड़ने लगा.

मैं फिर मम्मी को किस कर रहा था, तो मम्मी फ़ैज़न-फ़ैज़न बोलने लगी नींद में. मैं समझ गया मम्मी नींद में चूड़ने का एहसास कर रही थी फ़ैज़न से. फिर मेरा दर्र ख़तम हुआ, और मैने तोड़ा प्रेशर दिया छोड़ने में. करीब 15 मिनिट छोड़ने के बाद मम्मी की नींद खुली.

मम्मी: बेटा ये क्या कर रहे हो? मैं तुम्हारी मम्मी हू.

मैं: मी लव्ली मम्मी, मैं जो कर रहा हू, आपको अछा लग रहा है ना?

मम्मी: क्या बकवास कर रहे हो?

मैं: हा मम्मी, मुझे भी लगा शायद आप मेरे रूम में पापा के साथ एंजाय कर रही होंगी. बुत आप मेरे दोस्त फ़ैज़न से चुड रही थी. मुझे लगा शायद वो ज़बरदस्ती कर रहा होगा, तो उसको मारने का मॅन किया. बुत आप उससे चुड के मज़े ले रही थी. और पापा आपको आचे से छोड़ नही पाते, ये भी आपने फ़ैज़न को बोला.

मैं: इसलिए मैं आपको छोड़ के सब खुशी देना चाहता हू, ताकि आपको बाहर मूह ना मारना पड़े, और फ़ैज़न तो कुछ दीनो में चला जाएगा. फिर क्या होगा आपका और आपकी इस मस्त छूट का?

मम्मी: ई’म सॉरी बेटा, मुझसे ग़लती हो गयी. छोड़ दे मुझे.

मैं: कोई बात नही मम्मी, अब से आपको सभी सुख मैं दूँगा.

अब मैं मम्मी को खूब आचे से खुल के छोड़ने लगा. फिर मैने मम्मी को निघट्य निकाल लेने के लिए बोला. मम्मी एंजाय करने लगी थी. मम्मी थोड़ी सी उठी, और मैने उनकी निघट्य निकाल के फेंक दी.

अब मम्मी सरेंडर कर चुकी थी, तो मैं भी ज़ोर-ज़ोर से छोड़ने लगा. मम्मी भी एंजाय करने लगी, और सिसकियाँ लेने लगी. मैं मम्मी के बूब्स चूसने लगा. वो भी मेरे सर को अपने बूब्स में दबाने लगी.

मम्मी: चूसो बेटा चूसो आचे से. मम्मी के बूब्स को चूसो. बहुत मस्त छोड़ रहे हो. थॅंक योउ बेटा मुझे खुश करने के लिए. अब से तुम ही छोड़ोगे मुझे. कभी भी मॅन करे छोड़ लेना.

मैं: थॅंक योउ मम्मी छुड़वाने के लिए. आप बहुत मस्त और सेक्सी हो. आपकी छूट भी बहुत टाइट है, और बूब्स तो पूछो मत इतने आसम है.

मैं: अछा मम्मी ये बताओ कों मस्त छोड़ता है आपको, मैं, फ़ैज़न, या पापा?

मम्मी: पापा की तो बात ना ही करो. फ़ैज़न ने भी आचे से छोड़ा था. बुत उसका लंड तुमसे छ्होटा था. तुम्हारा लंड मेरे अंदर तक लग रहा है. मस्त छोड़ रहे हो छोड़ू बेटू. ज़ोर से छोड़ो.

मुझे जोश आ गया. मैने मम्मी को डॉगी स्टाइल के लिए बोला. मम्मी रेडी हो गयी. बुत मैने मम्मी को लंड का इशारा किया तो मम्मी फटत से मेरा पकड़ के चूसने लगी, और मस्त ब्लोवजोब दिया. वो अपने गले के अंदर तक लंड चूस रही थी.

मम्मी ने मुझे लिटाया, और बोली: मैं तुम्हे बताती हू.

मम्मी कुटिया बन के मेरे लंड को मस्त चूसने लगी. गालुप गालुप की आवाज़ आने लगी. मम्मी जैसे चूस रही थी मुझे लगा मेरा निकल ना जाए. मैने मम्मी को रोका, और हम दोनो एक-दूसरे को देखने लगे, और एक-दूसरे के उपर झपट गये भूखे भेड़िए की तरह.

मैं मम्मी को किस किए जेया रहा था. मम्मी मेरे लंड को मसालने लगी. मैने बूब्स को पागलों की तरह काटने लगा, और चूसने लगा.

मम्मी भी बुरी तरह हवस से भर गयी थी. मम्मी ने फटाफट मेरे उपर आके अपनी छूट को मेरे लंड पे रख के चूड़ना शुरू किया. वो भूखी शेरनी की तरह मेरे लंड पे उछाल रही थी.

मैं भी नीचे से धक्के मार रहा था, और उनके बूब्स चूसने में लगा हुआ था. उनकी गांद में थप्पड़ मार रहा था मैं. मम्मी बुरी तरह से छुड़वा रही थी. 15 मिनिट मेरे लंड पे उछालने के बाद मम्मी फटाफट कुटिया बन गयी. मैं समझ गया मम्मी पीछे से छुड़वाने के लिए बोल रही थी.

मैं भी उठा और मम्मी की छूट को पीछे से चाटने लगा और टंग को छूट में डाल के चूसने लगा. मम्मी पागलों की तरह मेरे सर को छूट में दबा रहे थी. मैने फिर उनको कमर से पकड़ के लंड उनकी छूट में लगाया, और छोड़ना स्टार्ट किया.

छोड़ने की आवाज़ आ रही थी. हमने ब्लंकेट डाल लिया अपने उपर. फिर मैं ज़ोर-ज़ोर से झटके लगाने लगा, और मम्मी को छोड़ने लगा. मम्मी के बड़े-बड़े बूब्स बहुत हिल रहे थे. मैने उनके बूब्स को पकड़ के छोड़ा.

मम्मी बोली: बेटू मेरा निकालने वाला है.

मैं बोला: मेरा भी सेम.

5-7 मिनिट छोड़ने के बाद मम्मी को पूछा: कहा निकालु माल?

मम्मी: मेरे उपर आके छोड़, और मेरी छूट भर दो बेटा.

मम्मी टांगे फैला कर लेट गयी. फिर मैं उनके उपर चढ़ा, और उनकी छूट छोड़ने लगा. मैं ज़ोर-ज़ोर से झटके लगाने लगा, और मम्मी का पानी निकल गया. मेरे भी तेज़-तेज़ छोड़ने से मेरा भी माल सारा उनकी छूट में निकला. फिर मैं मम्मी के उपर गिर गया. मैं उनके बूब्स चूसने लगा, और उनको किस करने लगा.

मम्मी: बेटू तुम बहुत मस्त तरीके से छोड़ते हो.

मैं: ई लोवे योउ मम्मी.

मम्मी: लोवे योउ बेटू.

फिर हम दोनो उठे, बातरूम में एक-दूसरे को सॉफ किया. और बेड में आके रोमॅन्स करने लगा. हम दोनो नंगे बदन एक-दूसरे को खा रहे थे.

आयेज की स्टोरी नेक्स्ट पार्ट में.

सजेशन के लिए गूगले छत करे, मोस्ट्ली मैं वही अवेलबल हू. आशुरानीमों@गमाल.कॉम

देल्ही से कोई मों/ सिस्टर/ भाभी/ आंटी छुड़वाना चाहती है, या बस बातें भी शेर करना चाहती है, तो टेक्स्ट करिए.

लड़के लोग अपनी मम्मी को छोड़ने के बारे डिसकस कर सकते है. मुझे पता है मम्मी क्या चीज़ है. हर लड़का अपनी मम्मी को पाने की तलाश में रहता है.

यह कहानी भी पड़े  बुड्ढे काका से लड़की ने अपनी सील तुडवाय


error: Content is protected !!