Tag «beta»

माँ को चोदने कि तमन्ना हुई पूरी

हेलो मेरा नाम यश है मैं कानपूर का रहने वाला हूँ मेरी उम्र 24 साल है। कानपूर कि किसी भी लड़की या लेडीज को किसी भी प्रकार कि जरुरत हो वो मुझे मेल कर सकती है आपका नाम पता गोपनिय रखा जाएगा। ज्यादा टाइम ना लेते हुए मैं सीधा कहानी पे आता हूँ। ये कहानी …

मा और बेटे की प्यार भारी चुदाई

मई – आक़्सु अभी रहने दे मैने कुछ फीना नही है. आक़्सु – मों ढाकी तो हुई है अपने बॉडी और थेरपिस्ट बोल के गयी है की थोड़ी देर मई जूस देना इसलिया लाया हू और वैसे भी बेटा हू आपका मों. मई – ओक ओक. फिर मई चादर लपेटे बेड पे बेत जाती हू …

सेक्सी मम्मी के जिस्म के मज़े लिए

घर आने के बाद मई अपने रूम मई चला गया था दाद फले ही घर आए हुए थे. मई दोस्त के पास जाने के लिए निकल ही रहा था मैने देखा दाद मों के किस कर रहे है और मों की गांद दबा रहे थे. जिससे देख कर मई आंदार ही रुक गया. मैने अपना …

बेटे के सामने हुई पूरी नंगी

आक़्सु – मों आज ई आम सो हॅपी और आप यू पसीने मे किचन मे लगी हुई हो, इधर आओ आप आज कुछ और खाएँगे. मई – ओक जैसा तू कहे. आक़्सु – मों आप इतने दिन से मेरी पसंद का सब कर रही हो आप मेरी बारी. मई – मतलब? आक़्सु – आज हम …

मेरा प्यारा बेटा

आज मई जो कहानी आपको बताना जा रही हू वो सुन कर आपको काफ़ी अछा अनुभव होने वाला है. केसे मेरा और मेरे बेटे की बीच की कहानी ने अलग मोआद लिए. अब आप लोगो का ज़्यादा टाइम ना लेते हुए सीधा कहानी पे आती हू. कहानी आज से कुछ महीने पहले शुरू हुई थे …

गाव के लोगो की हवस मेरी मा के लिए

ब्लॅक सारी पहें कर मा ने यूयेसेस दिन स्टेज पर स्पीच देना शुरू करा. हुमेशा की तरह सब मर्द को देख कर लंड मसल रहे थे. मा स्टेज पर बने पोडियम पर जाने लगी तो उसके गोरे जिस्म और यूयेसेस पर कुछ घाव देख कर स्टेज पर बेते हुए मेंबर ने वो घाव देख लिए. …

मा के मादक जिस्म का भरपूर मज़ा लिया

मा- उउम्म्ममहुहह..हुहह.. ऐसे ही तूने पहली बार मेरे जिस्म को च्छुआ था मेरी जान. कितने सालो बाद टुउने मुझे औरत होने का सुख दिया था..हुहह..हुहह…इतने सालो बाद किसी मर्द ने मेरे जिस्म को ऐसे च्छुआ थाअ..हुहह….उउम्म्म्म.. मई- हुहह..हुहह… (मा का मुलयूं पेट और ज़ोर से जोश मे नोचते हुए)…हुहह… इतने साल हो गये मा तू …

मा को नंगी करके गंगबांग किया

अब तक आपने पढ़ा की मैने वंदना को थ्रीसम के लिए माना लिया था और फिर पीछे से मैने 2 और लोगो को बुला लिया जिससे अब हम 4 और मा अकेली हो गयी. आरिफ़, आनवार और आफताब अब मेरे साथ बैठे थे और रात का 7 भाज चुके थे, अब आयेज… आफताब – जिस …


error: Content is protected !!