स्टोरी हॉर्नी ह्र को ऑफीस टेबल पर चोदने की

अगर आप ये स्टोरी पहले से पढ़ रहे है, तो आप मेरी ह्र राधिका को जानते होंगे. आप ये भी जानते होंगे, की कैसे मैं उसको ऑफीस में छोड़ रहा था, और एक सेक्सी लड़की रूमी भी ऑनलाइन हमारे साथ शामिल थी. ऑफीस में ये सब करना बहुत मज़ेदार था. और अब हमे ये सब सेफ भी लगने लगा था. अब हम दोनो को कुछ ख़तरनाक करना था. काई शाम चुदाई करने के बाद हमने रिस्क लेने का डिसाइड किया.

कंपनी ने सारे सीनियर मॅनेजर्स की एक कान्फरेन्स बुक की थी. वो सब शहर से बाहर थे. सिर्फ़ बेचारे जूनियर्स, मेरे जैसे छूतिए पीछे छ्चोढ़ दिए गये थे. लेकिन ये हमारे लिए अछा था. सब लोग ऑफीस अवर्स के दौरान चिल कर रहे थे. लेकिन मैं नही. मेरा काम का लोड लगातार बढ़ रहा था. लेकिन मैं रिलॅक्स्ड था. पूचु क्यूँ?

ह्र की वजह से, जो की मेरी टाँगो के बीच थी, और मेरा सख़्त लंड चूस रही थी. मैं तोड़ा झुका, और उसके सर को अपने लंड पर दबा कर उसको चोक करने लगा. राधिका खुली हवा में साँस लेने के लिए स्ट्रगल कर रही थी. उसके होंठ प्यार से मेरा टोपा चूस रहे थे. लकिली मेरे डिपार्टमेंट के सब लोग रिट्रीट के लिए जेया चुके थे. वैसे भी मेरी फर्म ज़्यादा बड़ी नही थी स्यबेर्सेकुइरटी.

फिर मैने डस्क्गिलर्स.लिव वेबसाइट ओपन की जब मेरी ह्र मेरा लंड चूस रही थी. मैने आ भारी, और फिरसे राधिका का सर लंड पर दबा दिया. वो चोक हो गयी, और मोन करने लगी.

ह्र (तेज़ साँस लेते हुए): तुम रूमी को कॉल कर रहे हो?

मे: बिल्कुल, मुझे चुदाई करनी है, और मुझे अछा लगता है जब वो साथ में अपनी छूट में उंगली करती है.

ह्र: तुम उसका बहुत इस्तेमाल करते हो. याद रखो तुमसे पहले वो मेरी थी.

फिर मैं नीचे हुआ, और राधिका को उसकी छूट से पकड़ लिया. उसकी आँखों ने मुझे हैरानी से देखा, और मैने उसको किस किया.

मे: शुरू में वो तुम्हारी हो सकती है. लेकिन अब तुम दोनो मेरी हो.

ह्र: ओह, मैं बह रही हू (मोनिंग)!

मे: मैं तुम्हारी छूट को अपनी उंगली से छोड़ूँगा.

ह्र: ओह एस! अपना बना लो मुझे!

राधिका फर्श पर कूद गयी, और अपनी ड्रेस उठाई. उसने पनटी नही पहनी थी. उसने अपनी उंगलियाँ छाती, और उनसे अपनी क्लिट को रगड़ा, और मुझे अपनी शेव्ड छूट का बहुत ंसफ्व दृश्या दिखाया. उसे देख कर मैं अपना लंड हिलने लगा, और मेरी नज़र लॅपटॉप पे भी थी.

तभी सेक्सी इंडियन लड़की रूमी ने वीडियो कॉल जाय्न की. वो राधिका को छूट रगड़ते, और मुझे लंड हिलाते देख पा रही थी.

रूमी: अवव, तुम दोनो बहुत नॉटी हो. मेरा इंतेज़ार कर रहे थे?

रूमी ने स्माइल की, और अपनी तंग टॉप का स्ट्रॅप अपने कंधे से नीचे गिरा दिया. उसने अपने बूब्स बाहर निकाल लिए, और अपने निपल्स को मसालने लगी हमे देखते हुए. ह्र उसकी तरफ मूडी, और उसको सेम व्यू ऑफर किया. उसने अपनी फिंगर्स अपनी छूट में डाली, और गहराई में ले गयी. उसकी छूट पूरी गीली थी, और रूमी को ये बहुत अची लगी. रूमी बेड पर टेक लगा कर बैठी, और अपनी शॉर्ट्स निकली. उसकी छूट भी भीगी हुई थी, और वो तो तैयार थी.

रूमी ने भी अपनी छूट में उंगलियाँ डाल ली, और मोन करने लगी. मैने लंड हिलना बंद किया, और अपनी ह्र को पीछे से पकड़ा. उसने अपना हाथ पीछे करके मेरी गर्दन पर रखा, और आ भरते हुए मेरी पॅंट्स गिरती महसूस की. फिर उसने अपनी टाँग उठा कर मेरे डेस्क पर रखी, और चूतड़ खोल कर मेरे लंड का छूट में जाने का इंतेज़ार करने लगी. मैने अब परवाह नही की.

मैं झुक कर उसके खुले हुए छूतदों के पास गया, और उसकी गांद के च्छेद को अपनी जीभ से चाटने लगा. उसने हैरान होके आहह भारी कॅमरा में. अब मैं पूरा उसकी सनड्रेस के अंदर था, जिसे उसने मेरे फेस पर छ्चोढ़ दिया.

ह्र: ओह मी गोद रूमी! वो ड्रेस के नीचे मेरी गांद को खा रहा है. फक! बहुत नॉटी है ये.

रूमी (तेज़ी से रब करते हुए): फक! ओह! छातो उसकी गांद को बेबी! बहुत हॉट है ये, लगता है मेरा जल्दी निकल जायगा.

फिर मैने गांद चाटना बंद कर दिया, तो ह्र ने मेरी तरफ डिसपायंट होके देखा, और अपनी छूट में उंगली करती रही. रूमी ने ये देखते हुए 2 उंगलिया गीली छूट के गिर्द घुमाई, और मेरे अगले मूव की वेट करने लगी.

मैने उठा, और राधिका की ड्रेस उपर कर दी. उसकी छूट उसके पानी से पूरी गीली थी, क्यूंकी उसने फिंगरिंग की थी. मैने उसकी टाँग उठाई, और अपने डेस्क कर रखी. वो खुद को टच करते हुए आहें भारती रही, और मैं उसकी बॉडी को सेट कर रहा था. रूमी भी ये देख कर की मैने चार्ज ले लिया था, मोन कर रही थी.

मे: रूमी, घूम जाओ, और अपनी इस छूट में कुछ घुसा दो. बहने दो इसको.

ह्र: ओह फक! उसके बाद क्या?

रूमी: हा! बताओ हमे ( वो घूमी, और अपनी गांद को हवा में टीका कर अपनी छूट को डिल्डो से टीज़ करने लगी).

मैने राधिका के चूतड़ पकड़े, और उन्हे खोला. वो आ भरते हुए डेस्क पर लेट गयी, जब मैने अपना लंड उसकी छूट में पेल दिया. उसने टेबल को पकड़ लिया, और चूड़ते हुए अपने मूह से अपनी ड्रेस के कोने को खींचने लगी. उसके बाल नीचे हो गयी, और वो जुंगली लग रही थी चूड़ते हुए. फिर उसने रूमी की तरफ देखा, और रूमी भी उसी स्पीड और रिदम से खुद को छोड़ रही थी.

मैने ह्र को किस करने के लिए घुमाया, और उसने मेरी जीभ को खींचते हुए चूसा. उसको मैने ऐसे ही पकड़ कर बुरे तरीके से छोड़ा. मेरे टेबल पर जो शीशे के पॅनल्स थे, वो धक्को की वजह से हिल रहे थे. वो हिलते हुए शीशे के साथ चूड़ते हुए मोन कर रही थी. उसकी आँखें उपर की तरफ घूम गयी, और उसने अपना होंठ काटा.

ह्र (मज़ा लेते हुए): ओह रूमी, क्या तुमने देखा जो ये, ओह फक!

रूमी (रंडी जैसी मोन करती हुई): ह्म हा, ऐसे ही छोड़ो इसको बेबी!

मैं करीब आ रहा था, और उनकी आहें मुझे पागल बना रही थी. फिर मुझे एक नॉटी आइडिया आया. मेरा लंड फदाक रहा था, और मैं जानता था मेरे होने वाला था. उसने मेरा लंड पकड़ा, और अपने अंदर डाल लिया. लेकिन मैने उसको चोक किया, क्यूंकी वो वासना में मुझे देख रही थी.

उसने टेबल पकड़ा, और अपनी गांद को पीछे करने लगी ज़ोर-ज़ोर से. मैने परवाह नही की. मैने उसको फिरसे चोक किया, और उसने मोन करते हुए मेरा लंड बाहर निकाल दिया.

फिर जब मैं अपना लंड उसकी छूट से रगड़ने लगा, तो वो मुझे देखने लगी. मैने अपना सारा माल ह्र की ड्रेस पर डाल दिया. राधिका ने अपनी खराब हुई ड्रेस, और अपने पसीने वाले जिस्म को देखा, और सारा माल हाथ में ले लिया. फिर उसने सारा माल निगल लिया, और धीरे से मुझे एक थप्पड़ मारा.

ह्र: तुम बहुत नॉटी हो, तुम्हे पता है?

मे: तुम अब क्या करोगी?

उसने मेरा लंड पकड़ा, और धीरे से उसको हिलाया. रूमी भी धीरे-धीरे अपनी छूट रग़ाद रही थी. वो खुद की छूट का रस्स टेस्ट करके हमारी तरफ स्माइल कर रही थी.

रूमी: तुम लोगों का मज़ा कुछ ना कुछ मज़ा हमेशा चलता रहता है! मेरा दूसरा क्लाइंट भी है, तो मुझे जाना पड़ेगा.

हम हास्से और उसको गुड बाइ बोला.

ह्र: हमे कुछ घंटो बाद उसको फिरसे कॉल करनी चाहिए. (कान में फुसफुसते हुए) जब सब चले जाएँगे!

मे: तुम इस माल से सन्नी ड्रेस में रहोगी सारा दिन?

राधिका ने ड्रेस उतरी, और मुझ पर फेंक दी. मैने उसको दीवार से लगाया, और ग्लास पेनाल्स से लगा कर उसको छोड़ा. इस बार मैं उसके अंदर झाड़ गया. उसने मेरी तरफ देखा और स्माइल करी. फिर वो साइड में गयी, कुछ टिश्यूस निकाले, और एक फ्रेसस सनड्रेस भी. उसके बाद राधिका मेरी तरफ आई, और मुझे लास्ट बार किस करके अपनी ड्रेस पहन ली.

ह्र: मैं पहले से तैयारी करके आई थी. मुझे लगा ही था की ऐसा कुछ होगा.

मे: मुझे तुम्हारे अंदर और तुम्हारे उपर हर जगह निकालना है फिरसे.

ह्र (मुझे किस करते हुए): कुछ घंटे इंतेज़ार करो, और फिर मेरी गांद में भी डाल देना.

मुझे ये वर्चुयल थ्रीसम सेटप बहुत पसंद आया. ये एक अद्भुत अनुभव है.

अगर आप लोग भी इस चीज़ का मज़ा लेना चाहते है हॉर्नी इंडियन गर्ल्स के साथ, तो यहा पर क्लिक करे.

यह कहानी भी पड़े  ऑफीस कोलीग के साथ चुदाई की हॉट कहानी


error: Content is protected !!