सेक्सी स्टोरी छत्तीसगढ़ की देसी गर्ल की चूत चुदाई की बेकरारी की

सेक्सी स्टोरी छत्तीसगढ़ की देसी गर्ल की चूत चुदाई की बेकरारी की

(Sexy Story ChhattisGarh Ki Desi Girl Ki Choot Chudai Ki Bekrari Ki)

Sexy Story ChhattisGarh Ki Desi Girl Ki Choot Chudaiमेरा नाम राजकुमार है.. मैं कोरबा, छत्तीसगढ़ से हूँ। मैं अन्तर्वासना का बहुत समय से पाठक हूँ और यह मेरी पहली सेक्स स्टोरी है। आज मैं इसे आप सब से शेयर कर रहा हूँ.. मुझे उम्मीद है कि आपको ये सेक्सी स्टोरी पसंद आएगी।

मैं एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ। मुझे सेक्स करने में बहुत अच्छा लगता है, इसलिए मैं हमेशा लड़कियों की ताक में रहता हूँ। मेरा लंड लंबा और मोटा है.. और ये किसी प्यासी बुर को शांत करने के लिए औसत से बहुत बड़ा है।

मैं अपनी कम्पनी के काम से ज्यादा समय बाहर ही रहता था। एक बार मैं कम्पनी के काम से बाहर ‘सकती’ गया हुआ था, वहाँ एक कस्टमर से मिलने उसके घर गया। उसका घर एक छोटे से गाँव में था।

मैंने उस कस्टमर के घर जा कर उसके बारे में पता किया, तो पता चला कि वो घर से बाहर गया हुआ है। मैं कुछ समय उसके घर के बाहर ही बैठ कर उसका इन्तजार करने लगा।

कुछ समय बाद सामने के नल पर एक काली सी लड़की नहाते हुए नज़र आई, उसका बदन पूरी तरह से पानी से भीगा हुआ था। उसे यूं देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया। मुझे ऐसा लग रहा था कि अभी पकड़ कर साली को वहीं चोद दूँ। लेकिन पराया गाँव होने के कारण मुझे अपने आपको कंट्रोल करना पड़ा।

अब मेरे लंड महाराज को कौन समझाए.. उनको तो बस उसकी चूत का छेद नज़र आ रहा था और किसी भी तरह उस लड़की की चूत में घुसने के लिए मचल रहे थे।
मैंने अपने आप पर काबू पाते हुए उस लड़की की ओर कदम बढ़ा दिए। जैसे-जैसे मैं उसके नज़दीक जा रहा था.. वैसे-वैसे मेरी धड़कनें तेज होती जा रही थीं। मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं पागल होकर उसे खुले आम ही चोद ना डालूँ।

यह कहानी भी पड़े  चाची की बेटी को बहुत मजे से चोदा

मैंने उसके पास जाकर उससे उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम अनिता बताया और कहा- जिसका आप इन्तजार कर रहे हो वो मेरे भैया हैं और कई दिनों से बाहर हैं।

यह सुनकर मेरा चेहरा कुछ खिल गया क्योंकि मुझे उससे बात करने का मौका मिल गया था।

मैं उसे ध्यान से देखने लगा, उसका साइज़ 32-32-34 का रहा होगा। मैंने उससे उसके भाई के बहाने कुछ बात की और उससे उसका नम्बर माँगा तो उसने बताया कि उसके पास मोबाइल नहीं है।

लेकिन फिर भी मैंने उसे अपना नंबर दे कर कॉल करने के लिए बोला और उसके भीगे हुए जिस्म को घूरते हुए वहाँ से चला गया। वो भी कुछ मुस्कुरा रही थी।

मेरे मन में पूर रास्ते बस उसी के ख्याल आते रहे कि कब उसका फोन चुदवाने के लिए आए और मैं उसे चोद कर अपना सपना पूरा करूँ।

अपने ऑफिस में अपने कम में बिज़ी हो गया। शाम को एक अनजान नम्बर से कॉल आया, मैंने बात की तो पता चला कि ये उसी लड़की का फोन है, जिसके सपने मैं सुबह से देख रहा था। मैं तो ख़ुशी के मारे पागल हुए जा रहा था। मैंने उसके बारे में पूछा और अपने बारे में बताया और बाद में पता चला कि ये उसकी सहेली का नम्बर है।

फिर हमारी ऐसे ही बातें चलने लगीं। शायद आग दोनों तरफ लगी थी.. आख़िर कब तक वो अपने आपको रोक पाती। इसी लिए उसने आज अपने प्यार का इज़हार कर ही दिया। मैंने भी तुरंत ही उसे ‘हाँ’ कह दिया और मोबाइल पर ही उसे चूमने लगा। वो गर्म साँसें लेने लगी, जिससे पता चल गया था कि वो चुदासी हो उठी है।

यह कहानी भी पड़े  लैंडलेडी भाभी ने चूत की आग मुझसे बुझवाई

मैंने पूछा- क्या गर्म हो गई हो?
तो उसने कहा- हाँ.. और यदि मुझे गर्म कर रहे तो ठंडी भी तुम्हीं करोगे।

कुछ देर तक सेक्स चैट चलती रही और हम दोनों फोन पर ही अपना अपना पानी निकाल कर शांत हो गए।

अब उसने मुझे 2 दिनों बाद अपने घर बुलाया। मैं तय समय पर उसके घर पहुँच गया। उसके घर में उसकी अंधी दादी के सिवाए कोई नहीं था। जब मैं उसके घर पहुँचा, तो वहाँ एक कमरे में मेरे रुकने का इंतजार कर दिया था।

उसने इस वक्त सलवार सूट पहना हुआ था। मैं उसके पास बैठ गया और उसकी जाँघ पर अपना हाथ रख दिया, वो थोड़ा शर्मा कर साइड में खिसक गई।

मैं भी उसकी तरफ खिसक गया और उसको जोर से पकड़ लिया। मैं उसके जिस्म को अपनी आँखों से चोदने लगा। उस लड़की का जिस्म काला था, लेकिन पूरी तरह से कसा हुआ था। उसकी चुची अपनी जगह पर ऐसी तनी हुई थीं.. देख कर लग रहा था जैसे कि इनको किसी ने दबाने या सहलाने की कोशिश ही ना की हो।

उसके करीब होकर मैंने अपना काबू खो दिया था। मैं जल्दी से अपना लंड उसकी काली सी बुर में घुसा कर उसकी चूत फाड़ना चाहता था।

मैंने धीरे से उसे अपने पास खींचा और अपनी बाँहों में भर लिया। अब मैं उसकी छाती को अपनी छाती से मसलने लगा था, बड़ी शान्ति मिल रही थी।

Pages: 1 2

error: Content is protected !!