रात मे मामी को नंगी देखा ओर फिर चुदाई

तो दोस्तो जैसा की मैने बोला था हुमलोग वाहा से पीछे के ओर जाने लगे. मामी मेरे आयेज आयेज और मैं उनके पीछे पीछे. जैसा की आप सब जानते ही है की धनबाद कैसा जगह है. और यूयेसेस टाइम रात के 2 बजने जेया रहे थे और काफ़ी दर भी लग रा था.

आक्च्युयली हुमलोग को भूतो से ज़्यादा यहा के बदमस और चोरो से लग रहा था. जो चोरी करने के लिए मर्डर तक कर सकते है.

स्टोरी पे आते है, मामी और मैं घर के पीछे की और पहुच गये. तभी मामी बोली एक बार बातरूम की तरफ टॉर्च कर के दिखा. तो मैने बातरूम के तरफ टॉर्च किया.

देखा वाहा काफ़ी शांत था और मामी के फेस से लग रहा था उनको भी अंदर ही अंदर तोड़ा बोहुत दर लग ही रहा था, फिर भी हम आयेज बढ़े.

दोस्तो यहा मैं बातरूम बता डू वो कैसे बना हुआ है. आक्च्युयली बातरूम के चारो और बोम्बो वॉल से गुआर्द किया हुआ है. अंदर काफ़ी अछा स्पेस है लीके 250 ज़्क फ्ट के आस पास का. तो होगा यह बातरूम एमर्जेन्सी के लिए था और काफ़ी पुराना भी. अंदर हंदपुं है और एक टाय्लेट बना हुआ है और नीचे में फ्लोर को सेमेंट से बना दिया गया है. और उपर आलबॅसटरर से ढाका हुआ है ताकि घर की च्चत पे से कोई देखे ना.

तो हम अंदर तो आ गये थे मुझे देख कर लगा की यहा टॉर्च से काम नही होने वाला है लाइट काम आएगा.

तो मामी बोली कॅंडल है? उसको दी और बोली जला कर साइड मे लगा देने के लिए. और मैने वैसा ही किया. फिर मैं मामी को बोला की अब मैं जौ? मामी बोली की अर्रे रुकिये हम अकेले कैसे जाएँगे.

फिर मैं बोला की मामी तो आप नहाएगा तो मैं बाहर में कहा बैठू? वाहा तो बैठने की जगह भी नही है उपर से रात है.

तो मामी बोली बाहर क्यू जाएँगे, वाहा… टाय्लेट की सीधी पे बैठने का इशारा की. वैसे तो टाय्लेट थोड़ी हाइट मे था मीन्स 3 सीधी. तो मुझे थोड़ी अजीब लगा क्यूकी मामी मेरे सामने नाहेंगे. और दूसरी बात यह भी दिमाग़ में चल रहा था की फिर से बूब्स देखने मिलेगा. जो आज तक ब्लूएफील्म में देखा हू.

यह मेरा हवस नही था यह सयद जवानी का आसार था जो हलकी में 18 का इसी साल हुआ हू. मगर पॉर्न मोविए और कॉमिक्स यह सब स्कूल में नॉर्मल हो गया था. तब यह यूयेसेस टाइम काफीे चल रहा था और मेरा एक दोस्त ने मुझे एक वेबसाइट बताया था. जहा से डाउनलोड कर के देख सकते थे.

मगर फिर भी सेक्स करने का बारे में नही सोचा था वो भी मामी के साथ. और मामी भी इसलिए मेरे सामने रेडी हो गये नहाने के लिए की उनके नज़र में मई अभी भी बचा ही हू.

हलकी जब वो शादी कर के आए थी तब मैं और छोटा था. और काफीे बार वो मुझे नहलाए भी है, मेरा सामने नहाए भी है. मगर नोट लीके न्यूड होके, पेटीकोत को अपने चेस्ट तक बाँध के नहाना. यह आप सबको पता होगा जो जो गाओ यह थोड़ी गाओ जैसा जगह में गये है. तो वाहा की औरत ऐसे ही नहाती है और आज भी मामी मुझे बचा ही समझती है.

तो मैने देखा की मामी हॅंड पंप चला रही थी. जो देख कर लग रहा था जाम है शायद काफीे दीनो से कम उसे के कारण शायद ऐसा हो गया है.

फिर मामी मुझे बोली और मैं गया उनके पास. तो मामी थोड़ी बकेट में पानी भरने को बोली. मैं जब चला स्टार्ट किया तो पता चला कितना मेहनत लग रहा है आचे से जाम हुआ परा है. पानी का फ्लो स्लो आ रहा था.

तभी मामी बोली मुझे की बाबू आपको नहाना है तो नहा लीजिए. मैं तब तक बातरूम से हो आती हू.

मैने बोला नही मामी अब सुबह में नहुँगा क्यूकी अभी नाहया तो ठंड लग जाएगा. वैसे भी पानी ठंडा आ रहा है.

तो मामी बोली तुम रूको मैं बातरूम से आती हू. तब मैने मामी से पूछा की मामी आप अपना फोन लेकर आए है? तो मामी हन बोली. मैने उनसे माँगा तो वो दे दी.

उनका फोन यूयेसेस टाइम का स्मार्ट फोन था नोकिया का 5233. मैने मामी से पूछा नेट है? तो मामी बोली होगा देखो स्वाती चलती है. उसके बाद मामी इतना नही सोची क्या करना क्या नही और वो मुझे फोन दी और अंदर चली गये.

मई साइड में बैठा हुआ और वो वेबसाइट ओपन किया तो देखा कुछ कुछ नया वीडियो आया हुआ था. काफीे टाइम वेबसाइट नही देखा था. तब 2ग चलता था और यूयेसेस टाइम वीडियो सब 3जीपी क्वालिटी का आता था तो क.ब में हुआ करता था या फिर ज़्यादा से ज़्यादा 2 म्ब.

ऐसे ही छोटा छोटा दो टीन वीडियो डाउनलोड कर के में देख रहा था साउंड ऑफ कर के. और मेरा ढयन नही गया पानी का आवाज़ पे. या कोई चीज़ से जिससे लगे की मामी निकालने वाली है.

मैं वीडियो देखने में मस्त हो गया था. और बोहुत टाइम बाद मिला था देखने को इसलिए. तभी मामी बाहर निकली और मैं ढयन नही दिया और मामी शायद देख ली मैं ब्लूएफील्म देख रहा हू.

वीडियो 1 मीं का था जिसमे लड़का लड़की को ज़ोर का पेल रहा था.

तभी मामी बोली बाबू फोन दीजिए…

मेरी गांद फट गयी अचानक से आवाज़ सुन्न कर. मेरा हार्ट तो मेरा मूह में आ गया था और जोरो से बीट कर रहा था. मई कुछ बोला नही और मामी को फोन दिया. मुझे लगा मामी आज मेरा वॉट लगेंगे.

मगर वो बोली यह सब खराब चीज़ है कहा से मिला?

मैं कुछ बोला ही नही तभी मामी बोली स्वाती का ही काम होगा वही मेरा फोन उसे करती है. और मामी अपना फोन चेक करने लगे. तो यूयेसेस मे और 3 से 4 देखी जो मामी देख कर बंद कर दी और कुछ बोली नही.

मेरा जो लंड था वो खड़ा होकर फिर से सो गया था मामी के वजह से. फिर भी मैने मामी को सॉरी बोला. तो मामी मेरे तरफ देखी और बोली अर्रे कोई बात नही. यह आपका ग़लती नही है फोन मे था इसलिए.

मगर फिर मामी लेक्चर देने लगी यह सब देखना ग़लत है. अछा घर का लड़का सब यह नही करता है, ये वो…

मामी को यह नही पता था की ये मैने डाउनलोड किया है. वैसे ये बता डू मेरी मामी अपने घर में तो बड़ी है ही साथ ही साथ सब उनसे डरते भी है. पढ़ाई को लेकर काफीे सीरीयस रहती है. और उनके घर के पास में जो कज़िन सब भी रहते है वो सब भी डरते है. की मामी देखेंगे तो बोलना स्टार्ट कर देंगे की पढ़ाई करने के लिए.

तो वो मुझे भी पता था मगर हन आज तक मुझे ऐसा कुछ नही बोला है. हन और ना ही कभी दांती है. आज फर्स्ट टाइम मामी मुझे किसी चीज़ पे लेक्चर दी. और अगर पता चल गया की ये मैने किया है तो मामी खा ही जाएँगे.

फिर मैं चुप छाप बैठा रहा उसके साइवा और कुछ करने को था ही नही. इसलिए मैं सिर नीचे कर के सोया हुआ था और हॅंडपंप चलने का आवाज़ आ रहा था.

तोधी देर बाद मैने सर उपर किया तो देखा की मामी सिर्फ़ पेटीकोत मे है. और बैठ कर बॉडी पे पानी दल रही है और नहा रही है. और पेटीकोत भीग जाने से बॉडी से चिपक गया है.

यार क्या बोलू आप इमेज कीजिए अगर आप मेरे जगह पे होते तो. और मामी की पीठ मेरी तरफ थी और कॅंडल का हल्का लाइट पूरा मूड बना रहा था.

मैं वैसे ही बैठ कर देख रहा था. ज़्यादा सर उपर भी नही किया और ना ही नीचे, बस देखे जेया रहा था. और नीचे मेरे पंत मे लंड का बुरा हाल था.

इससे पहले मैने ऐसा कभी फील नही किया था. और लंड तो मानो जैसे अभी फट जाएगा इतना दर्द और हार्ड हो गया था देख कर. फिर मामी थोड़ी खड़े हुए हॅंडपंप चलाने. तो पीछे से उनका बॅक हाफ न्यूड था और पेटीकोत तो गांद मे घुस्सा हुआ था.

तब मैने सर नीचे कर लिया क्यूकी लगा मामी पीछे मूर के देखेंगे. और वो शायद सोच रही है की मैं सो गया हू.

पानी भरने के बाद मामी थोड़ी थोड़ी पानी लेकर नहा रही थी. और फिर मैं ये सब देखने लगा. अचानक देखा मामी उठी और टवल ली और पूछने लगी बॉडी को और घूम घूम के देख रही थी इधेर उधेर.

तो मैं समाज गया की मामी यहा भी देखेगी और मैने सर नीचे कर लिया. फिर थोड़ी देर 1 मीं बाद सर उपर किया. तो मामी पेटीकोत को कमर तक कर ली थी. और उनकी पीठ मेरी तरफ थी और बूब्स साइड से दिख रहे थे.

मेरी तो हालत खराब हो गयी और मेरी पंत के अंदर साइड पानी निकालने लगा.

तभी सीधी के तरफ देखा एक पिन था. मेरे दिमाग़ मे पता नही कहा से एक आइडिया आया की पुरानी मोविए मे स्नेक काटने से लोग वाहा मूह लगा कर चूस्ते है.

ये ही सोच कर मैने पिन उठा लिया और वेट करने लगा मामी का ड्रेस चेंज करने के लिए. ताकि मामी मूह वाहा पे रखेगी और मैं अपना काम करूँगा.

दोस्तो अब आप बोल सकते है मेरे उपर हवस बोहुत ज़ोर का चढ़ा हुआ था. मेरा दिमाग़ काम नही कर रहा था. और कुछ देर पहले ब्लूएफील्म देखा और मूठ तो मारा ही नही था. तो आप समाज सकते है मेरा हालत क्या था.

तभी मैने पिन लिया और ठीक उसको अपनी जाँघ पे खोब लिया. मगर रेअलीस हुआ पिन काफीे मोटा था और मैने जिस जगह पे खोबा था वो ठीक लंड के लिफ्ट साइड वाला जाँघ मैं खोब लिया.

मैने सोचा अब मामी को आवाज़ डू. तो देखा मामी पूरा न्यूड थी और पाठीकोत को बकेट मे दल रही थी बॉडी पूछने के बाद. वो जैसे ही सिर पीछे की मैने नीचे कर लिया.

फ्री उपर कर के देखा तो मामी हाथ मई पनटी ले हुए थी. और कॅंडल को मूह से फुक कर बंद कर दी. मैने सोचा यही सही टाइम है नही तो मामी भी कपड़े पहें लगे.

मैने थोड़ी ज़ोर से आवाज़ दी और डरते हुए इधर उधर घूम रहा था. और सीधा जेया कर मामी के पास टकरा गया. पूछा मामी आप है क्या?

तो मामी बोली हन बाबू. मैने बोला मामी लगता है कुछ काट लिया है मेरा जाँघ पे. मामी बोली बाबू थोड़ी दूर जाओ मई कडपे नही पहनी हू, पहें कर देखती हू.

मैने बोला मामी ज़ोर से कटा है दर्द दे रहा है. मामी दर गये क्या काट लिया और सोची की अंधेरा है तो सयद कोई प्राब्लम नही होगा. मुझे दर्द तो दे रहा था मगर वो हवस के चाकर मे कम हो पता चल रहा था.

मामी पूछी अछा बैठ वाहा सीधी पे और कहा कटा है?

तो मैने बोला जाँघ पे. मामी बोली कौँसे वेल? मैने बोला लेफ्ट वेल पे. तो मामी बोली देखाए. मई जीन्स पहना हुआ था तो मामी बोली जीन्स खोलना परेगा.

मई बोला हन और बोला उपर कटा है, दिखा दिया. तो मामी टॉर्च ओं की तो देखा वाहा ब्लड का हल्का निशान आ गया था. मामी यह देख कर दर गये की क्या हुआ. और फिर उनसे सब क्वेस्चन भी करेंगे की इतना रात को मेरे साथ इश्स बातरूम मे क्या कर रही थी.

मामी भी दर से पूछा कुछ हो तो नही रहा है ना?

मैने कहा नही मामी बस दर्द दे रहा है.

फिर मामी बोली अछा जीन्स खोलो.

मैने कमर उठाई और जीन्स और अंडरवेर एक साथ नीचे कर दिया. ताकि पता ना चले की मई अंडरवेर पहना हू. मामी तब टॉर्च ऑफ की थी मगर टॉर्च का लाइट के बिना भी मामी का बॉडी देखे जेया रहा था और बूब्स भी जिसके वजह से मेरा लंड खड़ा ही था.

तो बे कंटिन्यूड…

यह कहानी भी पड़े  जेठ जी के साथ सुहागरात के बाद देवर से चुदी

error: Content is protected !!