Tag «xxx hindi kahani»

माया की चूत मे जेठ का लंड

चोदते हुए वह माया की निप्पलोँ को मुंह में रख कर उसे चूसना और काटना भी नहीं चूकते। धीरे धीरे जैसे जैसे माया को चुदाई का दर्द कम महसूस होने लगा वैसे वैसे माया भी जेठजी को अपनी कमर के साथ अपनी चूत ऊपर की और उछाल कर उनकी चुदाइ की लय में लय मिलाती …

नयी नवेली भाभी की चूत मे अपना लंड पेला

फिर मैंने सबसे पहले उनके लाल लाल लिप्स पर किस्स कि, पर वह लिप्स नहीं खोल रही थी। मैंने बोला प्लीज़ होठ खोलो, फिर हमने एक दूसरे को किस्स किया। फिर मैंने उनका हरा रंग का कमीज़ निकाल दिया वोह बी मेरे सामने सिर्फ लाल ब्रा में थी। फिर मैंने उनकी ब्रा भी निकाल दी …

मेरी मा की चुदाई के राज़

मेरे प्यारे पाठकों का स्वागत है, मेरी कहानी के चौथे भाग में कहानी के पहले 3 भागों को पढ़ना सुनिश्चित करें क्योंकि इसे वहीं से जारी रखा गया है। धन्यवाद, अब शुरू करते हैं… फिर हमने अपने लिए एक बड़ी टैक्सी बुक की और अपने घर जाने की योजना बनाई क्योंकि अंकल घायल हो गए …

गर्लफ्रेंड और उसकी सिस्टर के साथ थ्रीसम

ही दोस्तो मे सौरभ फ्रॉम मुंबई. ये मेरी पहली स्टोरी है जिसे मे उपलोआड करने जा रहा हू इस साइट पे, हा मे इस साइट का पुराना रीडर हू ऑलमोस्ट डेली पढ़ता हू स्टोरीस तो सोचा आज अपनी एक रियल लाइफ की स्टोरी पोस्ट कर डू. पहले मे अपने बारे मे बता डू मे मुंबई …

पड़ोसी की बीवी बनी मेरी रखेल

मैंने एक हल्का सा धक्का दे कर मेरे लण्ड को सुषमाकी चूत में घुसेड़ दिया। सुषमाके मुंह से एक हलकी सिसकारी निकल गयी। काफी समय से उपयोग में ना आने के कारण शायद सुषमा की चूत का छिद्र कुछ सकुचा सा गया होगा। मेरे लण्ड ने घुसने के लिए जब जगह बनानी चाही तो कुछ …

देवरो के बाद अब पति ने लिए मेरे मज़े

कब तक मेरे निपल का दूध नवीन ने चूस कर निचोड़ा मुझे कुछ खबर नही थी.. लेकिन 1 घन्ते बाद जब मई उठी तो नवीन मेरे साइड मे सो रहा था और मेरा ब्लाउस साइड मे पड़ा हुआ था. मेरी छ्चाटी से निपल नवीन ने निचोड़ दिए थे. मुसाकुराते हुए शर्मा कर मैने झत्ट से …

सेठी साहब का मोटा लंड मेरी छोटी सी चूत मे

मैंने बैठ कर उनका हाथ पकड़ा और कहा, “अगर आप कंडोम ढूंढ रहें हैं तो मत ढूंढिए। वैसे तो इस वक्त मेरा फर्टिलिटी पीरियड हैं नहीं, पर अगर मुझे आपसे गर्भ रह गया तो मैं आपके बच्चे को जरूर जनम देना चाहूंगी। मैं ना सिर्फ आपकी बीबी बनना चाहती हूँ, मैं आपके बच्चे की माँ …

पड़ोसी मर्द के बिस्तर पर हुई नंगी

मैंने सेठी साहब के बालों में उंगलियां फिराते हुए कहा, “कोई बात नहीं सेठी साहब। मुझे पता है। सुषमाजी ने भी मुझे इशारों इशारों में यह बात कही थी। मैं समझ सकती हूँ। आप मेरी सिसकारियां और चीखों की परवाह मत करो। यह दर्द मेरे लिए दुःखद नहीं सुख के अतिरेक के कारण होगा। सेठी …


error: Content is protected !!