प्यासी लड़की के साथ लेज़्बीयन सेक्स की हॉट कहानी

हेलो एवेरिवन, मेरा नामे ऋषिका है. मैं आमेडबॅड की रहने वाली हू. यहा कोई भी आमेडबॅड से है, तो मुझे मैल कर सकता है लवबर्ड्स070709@गमाल.कॉम पर. मैं एक लेज़्बीयन गर्ल हू. बुत घर वालो को बता नही पाई थी. तो मेरी शादी आज से 2 साल पहले कर दी गयी थी. अब और बोर ना करते हुए आयेज की स्टोरी पे आते है.

मेरी आगे 26 है, आंड मेरा फिगर 36-30-38 है. मैं आमेडबॅड में रहती हू. मेरा घर एक फ्लॅट में है, तो बाजू के घर में 3 गर्ल्स रहती है रेंट पे. कभी बात नही हुई थी उनसे, बुत ओन्ली स्माइल पास होती रहती थी.

उसमे जो 3 गर्ल्स थी उसमे से एक थी सोनिया, जो मेरी सबसे फेवोवरिट थी. वो दिशा पाटनी जैसी दिखती थी. वो मुझे हमेशा स्माइल देती रहती थी. एक दिन वो अपने घर पे अकेली थी, और बाकी की 2 गर्ल्स अपने-अपने ब्फ से मिलने गयी थी. वो गर्ल बाहर अपने रूम की बाल्कनी में खड़ी थी. मैं भी बाल्कनी में खड़ी थी, तो वैसे ही हमारी बात शुरू हो गयी.

वो बताने लगी: पूरा दिन मैं अकेली रहती हू. मेरे हब्बी जॉब पे है, आंड वो आते रहते है मुझसे मिलने के लिए.

फिर एक दिन मैं फोन में लेज़्बीयन सेक्स देख रही थी, आंड वो आई मुझे मिलने के लिए. मैं वीडियो देख कर बहुत गरम हो रही थी. फिर वो आई आंड जब रूम के बाहर खड़ी थी, तब मेरे मोबाइल में पॉर्न चल रही थी. वो बड़े ध्यान से पॉर्न वीडियो देख रही थी. मेरा ध्यान जैसे ही उस पर पड़ा, हड़बड़ाहट में मैने तुरंत ही मोबाइल बंद करके रख दिया.

उस दिन वो कुछ नही बोली, और वाहा से चुप-छाप चली गयी घर पे. बुत अब मुझे इस बात का पता चल गया था, की उसे भी तोड़ा बहुत इंटेरेस्ट तो था ही लेज़्बीयन पॉर्न में. मेरा काम अब था उसके अंदर की लेज़्बीयन गर्ल को जगाना.

अब मैं हर रोज़ उसे सोशियल मीडीया पे वैसी ही वीडियोस भेजने लग गयी, और वो भी मज़े से देखती आंड मुझे बताती की ये बहुत मस्त थी आंड ऑल. अब अगर कुछ चाहिए था, तो वो था बस एक मौका, की कब वो मेरे घर पे आए. फिर एक वीक बाद उसकी छुट्टी थी. वो मेरे घर आई, तो मेरे पास ये अछा मौका था मेरा काम करने का.

मैं उसे वीडियोस के बाअरे में पूछने लगी. वो भी बड़े मज़े से मुझे आन्सर देने लगी थी. वो भी गरम हो रही थी, और मैं भी गरम हो गयी थी. फिर उसने मुझे कहा-

सोनिया: मुझे देख के आज आपका इरादा नेक नही लग रहा है.

मे: इरादा नेक हो या ना हो, आज बहुत कुछ होने वाला है.

बस इतना बोलते ही हमने किस करना स्टार्ट किया. बहुत ही लंबा किस किया हमने. अब हमको अंदाज़ा नही था, की पीछे क्या हो रहा था. हम बस एक-दूसरे के बूब्स दबा रहे थे, आंड किस कर रहे थे.

सोनिया (लिप्स को अलग करते हुए बोली): इतने दीनो की प्यास मेरे अंदर भारी पड़ी है. प्लीज़ बुझा दो ऋषिका. बहुत तडपया है आपने मुझे.

मे: आज का दिन तू पूरी ज़िंदगी याद रखेगी मेरी जान.

फिर तो हम दोनो ही एक-दूसरे के क्लोद्स निकालने लगे. एक ही मिनिट में हम दोनो न्यूड हो गये, आंड एस उसकी आंड मेरी आगे में 3 एअर का डिफरेन्स था. वो मेरे से 3 एअर छ्होटी थी. उसकी छूट एक-दूं स्लिम लिप्स वाली थी. क्या कमाल दिख रही थी. मैने उसे कुछ भी बोले बिना लिटा दिया. उसका ये पहला एक्सपीरियेन्स था. वो शॉक में थी की क्या करना है अब.

मे: सोनिया आज मैं तुझे वो मज़ा दूँगी, की तू हर रोज़ मेरे पास आया करेगी दोबारा-दोबारा मज़ा करने.

सोनिया: मुझे पता नही आज कुछ हो रहा है अंदर. प्लीज़ कुछ तो करो मुझे.

मैने कुछ भी सोचे बिना डाइरेक्ट उसकी छूट पे मूह रख दिया, और बहुत ही तेज़ी से उसे लीक करने लगी. वो आहें भरने लगी.

सोनिया: ऋषिका आ, बहुत मज़ा आ रहा है. प्लीज़ और करो, और करो. अब नही रहा जेया रहा है. रुकना मत प्लीज़.

मैं बस लीक करे जेया रही थी मेरी ज़ुबान की नोक से, आंड वो बस चिल्ला रही थी. पुर रूम में उसकी सिसकारियाँ गूँज रही थी. फिर वो बोली-

सोनिया: ओह ऋषिका, आज से पहले ऐसा कभी फील नही हुआ है मुझे. आज प्लीज़ मुझे जन्नत की सैर करवाना बंद ना करना.

मैने उसके बूब्स दबाने बंद नही किए आंड वो भी पानी 3 बार छ्चोढ़ चुकी थी. फिर मैं सडन्ली खड़ी हो गयी, आंड उसके मूह पे बैठ गयी. मेरी छूट का पानी उसके लिप्स पे लगते ही उसकी पूरी बॉडी में करेंट जैसा दौड़ गया. वो कुछ भी बोले बिना लीक करना चालू की, आंड मैने सिसकारियाँ लेना स्टार्ट किया.

अब तो मुझे भी वो बरसो पुराना मज़ा आ रहा था, जिसे मैं भूल चुकी थी. अब दोनो में आग लगी थी, तो बहुत ही मज़ा आना बाकी था. फिर मैं उठ के किचन में से एक लंबा खीरा लेके आई, आंड कुछ भी बोले बिना उसकी छूट में डाल दिया. उसके बाद मैने इतना तेज़ हिलना चालू किया था, की वो कुछ भी बोल नही पा रही थी, और बस चिल्ला रही थी.

सोनिया: ओह ऋषिका, ये कुछ अलग ही हो रहा है मेरे साथ. प्लीज़ और करो, और करो. अब तो आज से तुम ही हो मेरे लिए जो मुझे ये सुख दे सकती है.

मे: अभी ये तो शुरुआत है हमारी एंजाय्मेंट की. अभी तो और बहुत कुछ होगा.

जब वो और 2 बार झाड़ गयी, तो उसने खीरा मेरे हाथ से ले लिया, आंड उसने वो खीरा मेरी छूट में डाल दिया.

मे: ओह सोनिया, क्या मज़ा आ रहा है. आज तेरे साथ लेज़्बीयन सेक्स करके बहुत ही मज़ा आ रहा है.

उसने भी मुझे सेम एंजाय्मेंट दिया, जो उसने लिया था मेरे से. फिर ये सब करके हम फ्रेश हुए. तब हमे लगा की हमने डोर तो बंद किया था, तो ओपन कैसे हो गया.

ये मैं नेक्स्ट पार्ट में बतौँगी. वो सबसे बड़ा ट्विस्ट है हमारे इस लेज़्बीयन सेक्स में, की वो डोर में से हमे कों देख के गया था. अगर किसी को जल्दी हो जानने की आयेज क्या हुआ, तो प्लीज़ कॉंटॅक्ट मे ओं मी मैल.

तब तक आमेडबॅड, बरोडा आंड नियर्बाइ सिटीस से कोई और लेज़्बीयन है तो प्लीज़ मैल मे. हम और भी फन आक्टिविटीस कर सकते है. सब बातें पूरी सेक्यूर रहेंगी. सो डॉन’त वरी.

मेरी मैल ईद लवबर्ड्स070709@गमाल.कॉम है. और कोई मेरे जैसा एंजाय्मेंट चाहता हो तो प्लीज़ कॉंटॅक्ट मे. हम ज़रूर एंजाय करेंगे. आप सभी की मेल्स का इंतेज़ार रहेगा.

यह कहानी भी पड़े  रूमेट के साथ चूत की गर्मी निकली


error: Content is protected !!