सब्जी वाले से गंद ओर चूत चुदाई पॉर्न कहानी

porn kahani sabji wale se gand mavai मैं शेला, 5.3”. 40-34-40 का पुष्ट जिस्म, पति ज़्यादातर बाहर रहते हैं, पर मेरा हट्टाकट्टा नौकर शामू मेरे घर में ही रहता है, सो मैं अपने नौकर शामू से चुदवाकर मस्त रहती हूँ। आजकल भी पति बाहर गये हुए हैं पर इसी समय इस हरामखोर शामू को भी गाँव जाना था सो शामू गाँव चला गया और मैं घर में अकेली पड़ गयी । सो मैं नाइटी पहनकर अपने कमरे में पड़ी इस दोपहरी में अकेले अपनी चूत में उंगली कर रही थी और मन ही मन शामू को गालियाँ भी दे रही थी कि इसी समय इस हरामखोर को भी गाँव जाना था वरना साला इस समय इसी बिस्तर पर मेरे साथ मजे कर रहा होता। तभी नीचे से भाजी वाले की आवाज़ सुनी,

सो मैंने भाजी लेने के लिए उसे ऊपर ही बुला लिया । मैंने देखा, भाजीवाला 50 साल का पर बड़ा हट्टाकट्टा अधेड़ था और चोरी चोरी मेरे सीने के उभारों को को घूर रहा था. नाइटी के 2 बटन खुले थे जिससे उसे अंदर की ब्रा दिख रही थी तभी मैंने नाइटी ठीक की जिसेसे वो जान गया कि मैं समझ गयी सो उसने नजरे हटा लीं और जब वो जाने के लिए उठा तो मैंने देखा की उसका लण्ड खड़ा हो चुका था । वो चला गया रात भर मुझे यही ख़याल आता रहा कि मैं मौका चूक गई और दूसरे दिन दोपहर में वो फिर भाजी नीचे बेच रहा था. मैने फिर उसे ऊपर बुलाया पर आज मेरी नियत ठीक नही थी और आज मैं मौका नहीं चूकना चाहती थी सो मैने जानबूझकर सारी पहनी थी और फिर जब वो मुझे देख रहा था, मैने पल्लू नीचे गिरा दिया अब उसकी आँखों के सामने मेरे दोनो बड़े बड़े बेल आधे से ज्यादा ब्लाउज से फ़टे पड़ रहे थे ।

मैंने लापरवाही से साड़ी एक बेल ढकते हुए एक साइड मे बाँध ली जिससे एक बेल छिप गया पर दूसरा दिख रहा था अब मैंने काफ़ी ज्यादा भाजी खरीद ली और बोली-
“भाजीवाले चाचा जरा इसे किचन मे रखदें मुझसे उठेगा नहीं ।”
वो अंदर आया तो दरवाजा बन्द करते हुए, मैं भी अंदर आ गयी मैंने उसे बैठाया और पानी दिया। तभी मैं झूठमूठ गिर पड़ी तो जल्दी से मुझे उठाकर वो बेडरूम मे ले आया । मैं बोली-
“चाचा कमर में बड़ा दर्द हो रहा है क्या बाल्म मल दोगे । वो मेरी बगल में बैठ के मेरी कमर में बाल्म मलने लगा । मैंने कनखियों से देखा, उसका लण्ड धोती में खड़ा हो तम्बू बना रहा था, मैंने अपना हाथ नीचे करने के बहाने तम्बू पर रख दिया और चौंकने की एक्टिंग करते हुए पूछा-
अरे चाचा ये क्या डन्डा रखे हो?”
भाजी वाला-“
बेटी ये मेरा लण्ड है । तेरे खूबसूरत बदन के नजदीक होने से इसका ये हाल हो गया है ।”
“क्यों झूठ बोलते हो चाचा ।”
कहते हुए मैंने उसकी धोती खींच ली और अब उसका 10 इंच लम्बा लण्ड मेरे सामने था । मैं चौंकने की एक्टिंग के साथ खुशी से चीख पड़ी-
“ उई माँ ये तो सच में चाचा! इतना मोटा और लम्बा लण्ड । ”
फ़िर उसे सहलाते हुए बोली-
“कितना सूखापन है ।”
ऐसा कहते हुए मैंने ढेर सारी क्रीम उसके लण्ड पर लगायी और सहलाने लगी । वो मेरे ब्लाउज में हाथ डाल के मेरे दोनो बड़े बड़े बेलों को सहलाते हुए बोला-
“आह ये क्या करती है बेटी ।”
मैंने कहा-
“हाय चाचा इतना बड़ा लण्ड कभी नही देखा ।एकबार देदे न ।”
उसने मेरी साड़ी खींच दी और पेटीकोट उलट दिया फ़िर मेरी चॅड्डी और उतार कर मेरी चुदास के मारे बुरी तरह से पनियायई चूत पर हाथ फ़ेरा और बोला-
“अरे बेटी तू तो मारे चुदास के परेशान हो रही है ।”
मैंने उसके लण्ड के सुपाड़े पर क्रीम लगा कर सहलाते हुए कहा-
“हाँ चाचा तेरा लण्ड भी तो चुदासा है बस अब जल्दी से चोद दे न ।”
अब उसने मेरी पावरोटी सी चूत के मुहाने पर ढेर सारी क्रीम लगा कर मेरी चूत के मुहाने पर अपना सुपाड़ा लगाकर दो तीन बार ठोका चुदासी चूत की पुत्तियों ने मुँह खोल दिया ।

चूत के मुहाने पर अपना सुपाड़ा लगाये लगाये ही उसने मेरा ब्लाउज खोला और दोनो हाथों से मेरे दोनो बड़े बड़े बेलों को ज़ोर ज़ोर से दबाते हुए बारी बारी से निपल चूसने लगा। मेरी चुदासी चूत को पहली बार इतना तगड़ा लण्ड मिला था सो चूत की पुत्तियाँ मुँह खोल के लण्ड निगलती जा रहीं थीं और लण्ड अपने आप चूत में घुसता जा रहा था। मारे मजे के मेरी आँखें बन्द थी जब लण्ड घुसना रुक गया पर भाजी वाले चाचा ने लण्ड आगे पीछे कर के चुदाई शुरू नहीं की और चूचियाँ दबाते हुए ज़ोर ज़ोर से निपल चूसना जारी रखा तो मैंने आँखें खोली मेरे आश्चर्य का ठिकाना नहीं रहा अभी भी करीब डेढ़ इन्च लण्ड बाकी था जब्कि मेरी चूत लण्ड से ठसाठस भरी थी। तभी शायद भाजीवाले को भी महसूस हो गया कि लण्ड चूत में आगे जाना रुक गया सो उसने धक्का मार कर लण्ड आगे ठेला और मेरे मुँह से निकला-
“ऊऊऊओह आआआआहह”

एक पल को मुझे ऐसा लगा जैसे मैं पहली बार चुदवा रही हूँ, मेरी कराह सुन कर अनुभवी भाजी वाले चाचा लण्ड रोक कर और ज़ोर ज़ोर से चूचियाँ दबाते हुए निपल चूसने लगे । थोड़ी ही देर में मेरी चूत ने पानी छोड़ा और पूरा लण्ड बर्दास्तकर फ़िर से मस्त हो गई मैंने कमर आगे पीछे हिला कर के भाजी वाले चाचा के लण्ड को चुदाई का सिग्नल दिया और बस फ़िर क्या था भाजी वाले चाचा ने लण्ड आगे पीछे कर के मेरी चूत की वो धुनाई की के मजा आ गया ।
वो ज़ोर ज़ोर से मेरी पवरोटी सी चूत मे अपना हलव्वी लण्ड ठोक रहा था और पूरा रूम चुदाई से गूँज रहा था ।
“धाप धूप धाप धूप धाप “आवाज़ हो रही थी और मैं मजे से ज़ोर ज़ोर से किलकारियाँ भर रही थी और तरह तरह की आवाजें कर रही थी
“उूुुुुुुुुुुुुुुुुुुुुउउ ओउुुुुुुुुुुुुुुुुउउ”
मेरी आवाज़ से उसकी चोदने मे स्पीड आ रही थी और वो पूछ रहा था-
“बेटी कैसी लग रही है चुदाई”
मैं बोली-
“बहुत अच्छी और चोदो चाचा इतना बड़ा लण्ड पहली बार मिल रहा है और चोदो अहह उऊुउउफफफफफफफफफफफफ्फ़ ”
वो बोला-
“साब नही चोद्ते क्या।”
मैं बोली-
“साहब को गोली मारो रहता ही नहीं तो क्या चोदेगा । तू चोद, रोज आ के चोद जाया कर मेरी चूत”
वो बोला-
“हाँ क्यों नहीं बेटी ज़रूर, मैं तेरा पूरा ख्याल रखूँगा आखिर बड़े होते ही बच्चों का ख्याल रखने के लिए हैं ले पूरा ले और ज़ोर से इस्स्सआःाहहहहहहहहह ।”
और इस तरह चुदाते हुए मैं झड़ने लग़ी-
“अहह चाचा लो मेरी झड़गईयहह आज तक इतनी गीली कभी नही हुई चाचा लोलोहह”
और अब वो अपनी स्पीड बढ़ा के बोला-
“शाबाश बेटी झड़ खूब जम के झड़ मेरा भी अब झड़ने वाला है कई दिनों का जमा है ले ले पूरा अंदरअहहहहहहहहहहहहहहहहाहोह ”
और उसका ढेर सारा माल मेरी चूत मे झड़ गया और ऐसा लगा जैसे प्यासे को पानी मिल गया और माल मेरी चूत के अंदर जाते ही मैं बोली-

यह कहानी भी पड़े  तुमने मुझे सॅटिस्फाइ कर दिया

“उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ ओउुुुुुुुुुउउ ऊऊऊऊओह” और इस तरह भाजी वाले चाचा ने मेरी प्यास बुझा दी .
पर उसका मन भरा नहीं था मैं तो उठ गयी पर वो लेटा रहा

मैं बाथरूम में जाकर अपनी चूत धो रही थी तभी पीछे से आकर उसने अपना हलव्वी लण्ड मेरे बड़े बड़े भारी संगमरमरी चूतड़ों की नाली के बीच लगा दिया। उसने अपने दाहिने हाथ से फ़व्वारा मेरे हाथ से ले लिया और मेरे चूतड़ों की नाली मे अपना लण्ड रगड़ते हुए, अपने बायें हाथ से मेरी चूत रगड़ रगड़ के धोने लगा । मैने भी पीछे हाथ ले जा के उसका लण्ड थाम लिया और अपने दूसरे हाथ से उसके लण्ड में साबुन लगाकर से रगड़ने लगी। उसने शावर ऊपर स्टैन्ड पर लगा दिया शावर का पानी मेरे गुलाबी गुदाज बदन को और भी नशीला बना रहा था। फ़िर वो घूम कर सामने आया और शावर रोक कर जीभ से मेरी भीगी चूत चाटने लगा फ़िर मेरी चूत की खड़ी पुत्तियों को चाटने लगा । वो अपनी जीभ चूत में डालकर हिला हिला कर चूत को गीला कर रहा था ।

मुझे बहुत मजा आ रहा था मेरे मुँह से तरह तरह आवाजें निकल रही थी- “उम्म्मओउुुुुुुुुुुुुुुुुुुउउ उउउफफफफफफफ्फ़ ऊऊऊऊऊऊहह ”
और वो पूछ रहा था
“बेटी कैसा लग रहा है अच्छा लग रहा है ना । मैं पहले तुझे नहलाऊँगा, फिर नहाते हुए अपना लण्ड डालूँगा मुझे नहाते हुए चोदने क अच्छा तजुरबा है ।”
कहकर वो फिर चाटने लगा और मैं ऊपर लगा शावर चला के बोली-
“बहुत अच्छा लग रहा है चाचा उफुफुउफुफूफ़फफुफु मैं तो मजे से पागल हो रही हूँ अब चोदो ना मुझे नहाते हुए।”
ऊहोहोूहोो अहहहहह उूुुउउफफफफफफफफफफफफफफ्फ़”वो बोला “जरूर चोदुन्गा बेटी पहले पहले तेरी चूत को और तुझे नहला तो लू । आज तो तुझे 6 बार चोदुन्गा ।”
अच्छा कहकर मैं टब में खड़ी हो गयी, वो मुझे अपने हाथो से मेरे बदन पर और मेरी चूचियों चूत पर साबुन लगा रगड़ रगड़ के नहलाने लगा
और बाथरूम तरह तरह की आवाजों से गूँज रहा था- “उूुुुुउउफफफफफफफ्फ़ अहाआआआआआआआआअ ओह”
मैंने भी बायें हाथ से उसका लण्ड थामा और दाहिने हाथ से साबुन लगाकर उसका लण्ड अपनी चूत पर रगड़ने लगी। शावर का पानी मेरे गुलाबी गुदाज बदन से साबुन धोकर उसे और भी नशीला बना रहा था । मेरे सामने खड़ा हो उसने मेरी शावर के पानी से भीगी चूचियाँ थाम लीं और नीचे झुककर बारी बारी से पानी टपकाते निपल चूसने लगा । फ़िर अपना कड़क काला हलव्वी लण्ड मेरी पावरोटी सी चूत के मुहाने पर लगा के उचकाया ।

“अहहो ओह अहूऊऊऊऊऊऊओह”
जैसे ही पूरा लण्ड अन्दर गया मैं बोली –
“रुकना मत चाचा अब बस चोदे जाओ ।”
बस उसने उचक उचक के चोदना शुरू कर दिया । मारे मजे के मैं तरह तरह की आवाजें निकालते हुए किलकारियाँ भर रही थी- “उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़”उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ ओह नहियीईईईईईईईईईईईईईईईई अहहोह ओउुुुुुुुुुुुुुुुुुुुुुउउ गाययययययययययययीीईई”
मेरी किलकारियाँ सुनकर चाचा बहुत गरम हो गया वो और ज़ोर ज़ोर से मेरी हलव्वी चूचियाँ दबा दबाकर निपल चूसते हुए चूत मे लण्ड ठोक रहा था और कह रहा था – “उम्म्म्म्म्चुम्मअहह क्या चूचियाँ है क्या चूत है तेरी शेला बेटी ले अंदर तक वा लो अहहहहहहहहहोहूऊऊऊऊऊऊऊऊओ लो अहहहहहः
हुउम्महहहहहूहूहूहह हुउम्महहहहहूहूहूअहअहो
अहह ओह म्‍मम्मूऊऊुुुउउम्म्म्मममममय्यययययी”
“अहूऊऊऊउउफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़अहहआआआफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफूऊहिीईईईईईईईईई ” “उूुुुउउफफफफफफफफफफफ्फ़ रहा है पूरा लण्ड अहाहाआआआआआ”
मैं भी अब बोल रही थी ” ठाँस दो अंदर तक चाचा मारो ज़ोर ज़ोर से मेरी चूत, मज़ा आ रहा है पूरा डालो और ज़ोर ज़ोर से अहहहाआआआआआओह ज़ोर से और अहहोह ”
ये सुनकर भाजी वाला और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा अब उसकी स्पीड बढ़ गयी क्योंकि झड़ने के करीब था वो बोल रहा था-
” अहहहहहहाआआआआओह मैं झड़ रहा हूँ तेरी चूत मे ल्ल्लूऊऊ
अहाआआआआआआआआआहूऊऊऊऊऊऊऊ ।”

“बस चाचा दो तीन धक्के और मार दो मैं भी झड़ने वाली हूँ झाड़ दो चाचा अहहहहहाः उफ़्फूफ अहहोड़ूऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ”

भाजीवाले ने कस कस के दो तीन धक्के ही मारे होंगे कि उसके मुँह से निकला-
“उउउफफफफफफफफफफफफफफफफफॉह झअअड़ गया।”
वो हाँफ़ते हुए टब की किनार पर बैठ गया और उसकी गोद में ढेर हो गयी. भाजीवाले ने मेरी पीठ पर हाथ फ़ेरा और बोला-
“बेटी तू तो बड़ी जबर्दस्त चुदक्कड़ है मेरा आशीर्वाद है कि तेरी चूत और फ़ूले फ़ले इसकी चुदास बढे़ इसे लण्डों की कभी कमी न हो। सदा चुदागन हो।
आशीर्वाद दे भाजीवाले चाचा ने अपने कपड़े पहने और चला गया और मैं उसके आशीर्वाद से आज तक मजे कर रही हूँ ।

तो अब वो मेरी गॅंड मे चाटते चाटते चूत मे उंगली डालने लगा और उंगली घूमने लगा मुझे काफ़ी अछा लग अरहा था और मैं बोल रही थी”उूुुुुउउफफफफफफफ्फ़ अहाआआआआआआआआअ ओह”और वो ज़ोर ज़ोर से उंगली दाल रहा था और अब वो जीब से चूत को चाटने लगा काफ़ी मज़ा अरहा था उसकी जीब चूत मे लगकर मुझे जन्नत लग रही थी और वो चट ता रहा और इतने मे मेरा पानी आगेया”अहहो ओह”कर के म चीलाई और उसने सब पानी जीब से चट लिया वो बोला”दो पनीयहहुउऊुुुुउउ बेटी दो”और सब पानी चट लिया इतना मज़ा कभी नही आया था मैं लेट गयी थी बेड मे आँखें बाँध करके आं उसने मुझे उल्टे किया और गांद को दबाने लगा अपने हाथो से और अब वो फिर जीब डालने लगा और चाटने लगा मेरी गॅंड अब उसने किचन से हनी लाया और होल मे डालकर चाटने लगा मैं”अहूऊऊऊऊऊऊओह”कर रही थी और उसकी जीब मेरे होल मे ज़ोर ज़ोर से चट रह था “शेला कैसा लग रहा है

शेल्ल्ल्ल्लाआआआआअ”मैं बोली”बहुत अछा चाचा कााआचााआ
अहहोह”अब वो उट गया और मुझे पैर मे खड़ा रहना बोला और मेरे पेचे वो खड़ा हो गया उसका कला बड़ा लंड एकद्ूम कड़क और टाइट हो चुका था अब वो पेचे से मेरी गन्द मे लंड घुसने लगा मेरी तो पहली बार थी तो जैसे ही उसका थोड़ा लंड मेरे अंदर घुसी तो मैं चिलनि लगी दर्द से”अहह चाचा निकालो हाआआआआओह चााआआआअच्छााआअ
निकालो नहियीईईईईईईईईईईईईईईईई उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़”और वो पेचे से ऐस्ते से लंड घुसा रहा था और बोल रहा था”शेला बेटी तोड़ा दर्द होगा फिर मज़ा आएगा लो मेरे लंड को लो अहह लो ऊऊहह”करके वो पेचए से लंड को अंदर दाल रहा था और धेरे धेरे उसका आधा लंड अंदर जा चुका था मैं दर्द

यह कहानी भी पड़े  मोना भाभी को देवर ने चोदा

से”उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ ओह नहियीईईईईईईईईईईईईईईईई अहहोह
ओउुुुुुुुुुुुुुुुुुुुुुउउ मररर्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्ररर गाययययययययययययीीईई” चिला रही थी पर वो नही सुनरहा था और मेरी चीक सुनकर अब वो ज़ोर ज़ोर से मेरी गॅंड मे लंड घुसा रहा था और बोल रहा था”लो शेला लो मेरे लंड को मज़ा आया क्या टाइट गॅंड है तेरी उूुुुुुुुुुुउउ मज़ा आया गॅंड मारने का मज़ा तो शेला तेरी ही गॅंड मे है लो बेटी मेरे लंड को गॅंड मे लो शेला अहहहहहूहूहूहोोहो”और वो गंद मे लंड घुसा रहा था और मई”उफफफफफफफफफफफफफ्फ़ मररर्रर्र्गायईीईईईईईईईईईईईई कााअहचहाआआआअ नहियीईईईईईईईईईईई अहह ओह म्‍मम्मूऊऊुुुुुुुुुुुुुउउम्म्म्मममममय्यययययी अहहोह निककककककााआाआलूऊऊऊओ प्प्प्प्प्प्प्प्ल्ल्ल्ल्ल्लीीईआास्स्स्सीईईईईईई नहियीईईईईई म्‍म्मय्ययययययययी यह सब सुनकर अब चाचा बहुत गरम हो गया और मुझे ज़ोर ज़ोर से पेचे गॅंड मे लंड से मारकर बोल रहा था “साली शेला तू तो मस्त कुतिया बन गयी ले शील्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्लाआआआआआ लो अपनी मे मेरा लंड

सस्साआआआाअलल्ल्ल्ल्लीइीईईईईईईईई ल्ल्लीीईईई क्या चिला रही है आज तो तेरी गॅंड फाड़ दूँगा गंद मार के गॅंड शुजा दूँगा मेरी कुतिया शेला लो लो अहाहहाहहाहहा ओहोहोूहोहोूहोो “और वो ज़ोर ज़ोर से मेरी गॅंड मार रहे थे और एक ज़ोरदार फाटका दिया की सब लंड अंदर घुस गया मेरी तो जान निकल गयी”अहूऊऊऊऊऊऊओ उउफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ अहह माआररर्र्र्र्ररर गायईीईईईईईईईईईईईईई कााअहहााआआक्ककककााआआआआआ उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफूऊहिीईईईईईईईईई मररर्र्र्र्ररर गाइिईईईईईईई म्‍मम्मूऊऊउनम्म्मममममममममममममय्यययययययययययी”मैं दर्द से चिला रही थी एप्र अब कुछ मिनिट मे जब चाचा यू ही अंदर घुसा रहे थे की अब मुझे भी मज़ा आने लगा उर दर्द चला गया अब उनका पूरा लंड अंदर जा रहा था और वो मोटा लंड का स्वाद अछा लग रहा था चाचा बोले”उूुुुउउफफफफफफफफफफफ्फ़ अहहोह क्या गॅंड है ले मेरा सब लंड अंदर मज़ा आया क्या गॅंड है वा शेला लो

अहहहहहहहहहोहूऊऊऊऊऊऊऊऊओ लो अहहहहहः होहोूह लो शेला लो शेला अंदर जा रहा है पूरा लंड अहाहाआआआआआ”मैं भी अब बोल रही थी”मारो चाचा मारो ज़ोर ज़ोर से मेरी गॅंड मज़ा अरहा है पूरा घुसाओ मारो और ज़ोर ज़ोर से अहहहाआआआआआओह ज़ोर से और अहहोह “अब उस मोटे लंड से गॅंड मरवाना अछा लग रहा था और चाचा भी ज़ोर ज़ोर से मार रहे थे की अब उनका स्पीड बाद गया ब उनका पानी आने वाला था वो बोले”लो शेला अहहहहहहाआआआआओह मेरा पानी लो अपने गॅंड मे ल्ल्लूऊऊ अहाआआआआआआआआआहूऊऊऊऊऊऊऊ लो शेला लो आया आया लोलोलो

अहहोहुउऊुुउउफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़”अब उनका पानी आने वाला था और मई भी बोल रहिति”दो चाचा दो अहह ओह दो पानी मेरे गॅंड मे पहली बार पेचे मिलेगा पानी अहहोह ज़ोर ज़ोर से मारकर दो अहहहहहाः उफ़्फूफ अहहोड़ूऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ”और इतने मे चाचा की पानी बाहर आगाई और सब पानी मेरे गॅंड के खड़े मे चली गयी औरचचा”उउउफफफफफफफफफफफफफफफफफॉह करके बेड मे घिर गये और पानी अंदर जाते हिमान भी”अहहोह करके सब पानी अंदर लेकर ठक्कर बेड मे घिर गयी.
अब हम दोनो बाथरूम मे गये और मैं धो रही थी की चाचा भी अंदर आए अब वो मुझे किस करने लगे और मैं उनको और जैसे मैं किस कर रही थी की उनका लंड फिर से खड़ा हो गया अब वो मुझे उसको मू मे लेने को बोल रहे थे मैने मना किया एप्र वो मेरे बाल पकड़ कर मेरे मू को अपने लंड से चिपकारहे थे मैं हार गयी सो मैने अब उनका लंड को हाथ मे लिया और फिर उसे हिलने अल्गी अब चाचा ने हनी लाया और अपने लंड मे लगा दिया और मैं अब अपने जीब से उनके लंड मे लगे हनी को चट रही थी

अपने जीब को पूरे लंड मे घुमा रही थी और चाचा”अहहूऊऊऊऊऊओ शेलाआआआआआआअ लूऊऊऊओ अहहूऊओस्स्सशीलाआआआआआआआआआआआअ”कर रहे थे अब मैने उनका लंड अपने मू मे लिया और उसको चूस रही थी”चूचुच्कू उप्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्पोचूउऊुुुुुुुुुुुुुउउ”करके मैं उनके लंड को चूम रहिति और वो हनी दाल रहे थे और मैं पूरा हनी चट रही थी चाचा बोले”अहह कय्य्ाआआआआ चुस्ती है शेलाआआआआआआआ अहचुस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सौर्र्रर शीईईईईईईईलाआआचुस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स तू तो नो1 छुउऊुउउस्स्स्स्ससू हाईईईईईईईई शेअलल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्लाआआआआआ हाआआआआआआआ “अन बहुत अछा लग रा था और मैं””चुकुहकुच्चुकूउुुुुुुुुुुउउ करके उनके बड़े लंड को मू मे ले रही थी अब चाचा ने मेरा बाल पकड़ा और मेरे मू मे लंड घुसने लगे मेरे मू को चोद रहे थे उनका लंड मेरे गले तक जा रहा ताओर वो “अहह क्या मू हाईईईईईई शीईईईईईईईईअलल्ल्ल्ल्ल क्या चुस्टिईईईईईई हाईईईईईईईईईईईई मेर्र्ररीई कुट्त्त्टटटटटटत्त्तय्ाआाालल्ल्ल्ल्ल्ल्लीीईईईई आअहह “करके मेरे मू मे लंड दाल रहे थे

अब मैं उनकी निपल को हाथ से हिला रही थी की अब उनका फिर पानी आने वाला था वो बोले”लूऊऊऊऊओ शीलाआ लो मीईराआापाााआआआअनीीईईईईई लूऊऊऊऊ मूऊओीईईमईई अहह मज़ाआआआय्ाआआ लो, शेला अहहूहोो”और अब म भी बोली”डूऊऊचचा डूऊऊआपना पानी मेरे मूऊऊऊ मे दो दो अहहोचूउऊुुुुुुुुुुुुुुुुुुउउप्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प”करके मई कहत रही थी की अब चाचा ने लंड मू से निकाला और हाथ मे लेकर मेरे मू के सामने खड़े हो गये और मुझे मू खोलने कह मई मू खोलकर बैटी थी और चाचा बोल रहरे तेलुँद हिलाए”लो शेला लो मू मे अहहहहहहोह्ा आयेआगगगगगगगगगगगगगगगगगाआआअ लो शेला मू खोल साली खलो ले मू मे पानी शेला ले साली भुजा प्यास ले शेला साली ले मू खोल हाआआआआआआआहूऊऊऊऊऊऊ ले शेलाआा

उउउफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफाआहह”और मई भी उस पानी को मू मे लेने के लिए प्यासी थी और बोल रही तिऊ”दो चाचा दो पानी मूऊऊओमीईईईईई उप्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प दूऊओदूद मेरे मू की प्यास भुजाओ चााआआआआआचााआआआ उउप्प्पुप्पुपुपुप चहुउऊुुुुुुउऊछुउऊुुुुुुुउउ डूऊऊऊऊऊओ अहूऊऊऊओ ओउुुुुुुुुुुुुुउउप्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प दूऊव डूऊऊओ डूऊऊओ आह”अब उनके लंड से पानी की पिचकारी निकली और मेरे मू के अंदर चली गाइपुकचह पुचह पुक्क्ककककककककककककक करके सारा पानी मेरे मू मे था वो गरम अपनी गीला गीला चिप चीफ़ा मेरे मू मे बहा रहा था और मई उमुमूँमुमूँमुमूमूँमुमूमूम्मूऊँ करकर के उसको छत रही थी मैने अब चाचा का लंड मू मे लिया और सारा पानी मू से

छत रही थी उमुमूँमुमूमूमरिईएईएईईएईएईईएएईएईेुमुँमुमूमूं करकर के इमीईईमीमिमिमिमिमिमइईमीमिमिमीिूमुमूमूमूमूऊमुमूँमू मैने चाचा का सारा पानी मू मे पी लिया और चाचा भी सारा पानी निकलते हुए”अहहोह शेलाआा मज़ाआआअ आय्ाआआआआआअ शेअलल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्लुहफह उफफफफफफफफफफफ्फ़ मज़ाआआआआआआआआय्ाआआआ शेला बोलकर अपना सारा पानी मेरे मू मे चुस्वा दिए और मई भी “चाचा मज़ा या उम्म्म्मममममममम तेरा पानी पियकर उम्म्म्ममममममम उप्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प्प अहूऊऊऊऊऊऊओ मेरी प्यास भुज गयी अहूऊऊऊऊओमम्म्मममममममममममममममममम. करके हम दोनो ने साथ मे नाहया और चाचा फिर अपनी कपड़े पहनकर चले गये और मैं उस चुदाई को ज़िंदगी भर नही भूलूंगी


error: Content is protected !!