पॉर्न देखने के बाद दोस्तों में हुआ सेक्स

ही एवेरिवन, मेरा नाम समीर है. मैं 19 साल का कॉलेज स्टूडेंट्स हू. मैं न्यू देल्ही अपने मों दाद के साथ रहता हू. वो दोनो एक मंक में मॅनेजर पोस्ट पर जॉब करते है. ये कहानी मेरी और मेरे दोस्त अभिषेक की है.

हम दोनो स्कूल फ्रेंड्स है. हम दोनो फॅमिली फ्रेंड्स भी है. अभिषेक के दाद एक गवर्नमेंट क्लास वन ऑफीसर है. एक वीकेंड को अभिषेक ने मुझे उसके घर नाइट आउट के लिए इन्वाइट किया. उसके पेरेंट्स रिलेटिव्स की शादी के लिए हरियाणा जेया रहे थे. मैने अपने दाद से पर्मिशन ली और फ्राइडे शाम 7 बजे अभिषेक के घर पहुँच गया. उसके मों दाद ऑलरेडी शादी के लिए जा चुके थे.

मैं आपको अपने बारे में कुछ बता डू. मेरी हाइट 5’7″ और वेट 55 क्ग है. मेरा रंग गोरा और दिखने में पतला-दुबला हू (स्किनी इन फिज़ीक). मैं अभिषेक के घर पहुँचा और डोरबेल बजाई.

अभिषेक ने दरवाज़ा खोला और मुझे वेलकम किया. फिर उसने हम दोनो के लिए कॉफी बनाई. हमने कॉफी पी, और कॉलेज की बातें करने लगे. हमने टीवी पर मॅच देखा. रात को डिन्नर के लिए अभिषेक ने रेस्टोरेंट से चिकन बिरयानी और कोक ऑर्डर की.

दोस्तों मैं आपको अभिषेक के बारे में बताना ही भूल गया. वो भी मेरी ही आगे 19 का है. उसकी हाइट 6 फीट और वेट 65क्ग है. वो आत्लीट फिज़ीक का मलिक है. हमारे कॉलेज की फुटबॉल टीम का कॅप्टन है. वो एक हॅंडसम हंक है. कॉलेज की लड़कियों का क्रश. रात 9 बजे हम दोनो ने डिन्नर किया. अभिषेक ने मैं गाते और मैं डोर लॉक किया. हम दोनो बोर हो गये थे.

अभिषेक: समीर चलो हम दोनो मेरे बेडरूम में जेया कर मेरे लॅपटॉप पर पॉर्न देखते है.

मैं: चलो ठीक है.

फिर हम दोनो अभिषेक के बेडरूम में जेया कर उसके बेड पर लेट गये. अभिषेक ने अपने लॅपटॉप पर एक पॉर्न वीडियो लगाया, और लॅपटॉप हम दोनो के बीच में रख दिया. फिर हम दोनो पॉर्न देखने लगे. वीडियो में आक्ट्रेस बहुत ब्यूटिफुल थी. हम दोनो उत्तेजित हो गये. हम दोनो के भी लंड खड़े हो गये.

अभिषेक पॉर्न देखने में खो गया था. अचानक से मेरा ध्यान अभिषेक के लंड पर गया. उसका 9 इंच का लंड शॉर्ट्स में से सलामी दे रहा था. मेरा ध्यान बार-बार अभिषेक के लंड की और ही जेया रहा था.

इतने में वीडियो ख़तम हो गया. अभिषेक बेड पर से उठ कर वॉशरूम चला गया. थोड़ी देर बाद वो वापस आया.

अभिषेक: चलो समीर अब सो जाते है.

पर मुझे पता नही मेरे मॅन में क्या आया.

मैं: नही अभिषेक, अभी नही, एक और वीडियो देखते है.

अभिषेक: ठीक है.

अभिषेक ने एक और वीडियो लगाया, और हम दोनो वीडियो देखने लगे. पर इस बार मेरा पूरा ध्यान अभिषेक के तनने हुए लंड पर था. मैं अभिषेक को ही देखे जेया रहा था. मैं मॅन ही मॅन में अभिषेक की गर्लफ्रेंड पर जेलस हो रहा था.

थोड़ी देर बाद मुझे ख़याल आया की मैं ये क्या सोच रहा था. ये सब सोचना ठीक नही था. पर फिर भी मेरी नज़र अभिषेक के लंड पर ही जेया रही थी. फिर अचानक से अभिषेक ने मुझे उसके लंड को देखते हुए देख लिया.

अभिषेक: क्या देख रहे हो समीर?

मैं: कुछ नही (तोड़ा घबराते हुए).

अचानक से अभिषेक ने मेरे होंठो पर किस कर दिया. वो 5 मिनिट तक मेरे होंठो को चूमता रहा. 5 मिनिट बाद उसने किस तोड़ी. मैं हैरान हो कर उसे देखता ही रह गया.

अभिषेक: मैं काफ़ी टाइम से देख रहा था की तुम मेरे लंड को ही देख रहे थे. तो मुझे बताओ कैसा लगा किस? (स्माइल)

मैं हड़बड़ी में बेड पर से उठा, और बेडरूम के बाहर जाने लगा. अभिषेक ने भी अपना लॅपटॉप साइड टेबल पर रखा और मेरे पीछे आ गया. मैं दरवाज़ा खोलने ही वाला था की अभिषेक ने पीछे से मेरा हाथ पकड़ लिया, और मुझे पीछे से अपनी और खींच लिया.

अभिषेक ने मेरी कमर को कस्स कर पकड़ लिया, और मुझे अपनी और घुमाया और मेरे गालों पर हर हर जगह चूमने लगा. मैने अभिषेक को ज़ोर का धक्का दिया और अपने आप से डोर किया.

मैं: अभिषेक ये सब ठीक नही है. मैं गे नही हू.

अभिषेक: तो मैं कों सा गे हू. चलो आज एक बार ट्राइ करते है. किसी को कुछ पता नही चलेगा.

मैं: नही.

मैं गुस्से में बेडरूम से बाहर जाने लगा तो अभिषेक ने मुझे बेडरूम के दरवाज़े से लगी हुई दीवार से लगा दिया. मेरे दोनो हाथों को सर के उपर कस्स के पकड़ कर मेरे होंठो को लगातार 15 मिनिट तक चूमता रहा.

मैं अब तक चुका था, और हार भी मान चुका था. अभिषेक के मेरे होंठो को चूमने से मेरे होंठो से तोड़ा ब्लड भी आ गया था. वो एक बीस्ट बन गया था. फिर अभिषेक थोड़ी देर रुका, और मेरी तरफ देखने लगा. मैने उसकी तरफ देखा, और कोई रिक्षन नही दिया. अभिषेक ने मेरे होंठो पर से अपना अंगूठा फेरा. मैं उसको देखता ही रह गया.

फिर अभिषेक ने मेरी त-शर्ट उतरी. मैने कोई रेज़िस्ट नही किया. वो मेरे होंठो पर, गाल पर, गर्दन पर, हर जगह चूम रहा था, और मैं एक स्टॅच्यू की तरह से वाहा खड़ा था. वो मेरे सीने को दबा रहा था. फिर अभिषेक ने मुझे अपनी गोद में उठाया, और उसके बेड पर जेया कर लिटा दिया.

अब अभिषेक बेड पर मेरे उपर आया, और मेरे माथे, गाल, और होंठो पर हल्के से चूमने लगा. अब मुझे वो सब अछा लगने लगा. अभिषेक मेरे सीने को चूमते हुए मेरे निपल्स को चूसने लगा.

मैं: आ आ आ.

अब वो मेरे पेट पर चूमते हुए मेरी नाभि तक पहुँच गया. मैं आँख बंद करके इस सब का मज़ा ले रहा था. अब अभिषेक ने मेरी ट्रॅक पंत उतरी, और मेरी अंडरवेर के उपर से मेरे लंड को चूमने लगा. मेरा लंड अचानक से खड़ा हो गया. मेरी बॉडी में करेंट दौड़ गया.

मैने अपनी आँखें खोली, और अभिषेक को मेरे लंड को चूमते देखा. मैं खुशी से मुस्कुराया. अभिषेक ने मेरी तरफ देखा और वो भी मुस्कुराया. अभिषेक ने फिर मेरी अंडरवेर उतरी और मेरे लंड को ज़ोर-ज़ोर से हिलने लगा. मेरी आँखें खुली की खुली रह गयी. मैने अपने ज़िंदगी में कभी नही सोच था की कोई लड़का मेरे लंड को सहलाएगा.

फिर अभिषेक ने मुझे बेड पर से उठाया. मैने उसकी और देख कर स्माइल दी. अब वो मेरे पीछे आ कर खड़ा हो गया, और पीछे से मेरी गर्दन और पीठ पर किस करने लगा. वो अपने एक हाथ से मेरे लंड को हिलने लगा. मैं खुशी से पागल हो गया और उत्तेजित हो कर 10 मिनिट बाद झाड़ गया. मेरा सारा वीर्या ज़मीन पर गिर गया.

फिर अभिषेक ने मुझे हल्का सा धक्का दिया और मैं बेड पर गिर गया. उसके बाद वो आ कर मेरे बगल में बैठ गया.

अभिषेक: तो कैसा लगा?

मैं: सिर्फ़ स्माइल दी.

नेक्स्ट पार्ट वेरी सून.

यह कहानी भी पड़े  मेरी बीवी पडोसी सेठी साहब से चुदने को बेताब


error: Content is protected !!