लंड की प्यासी औरत की आग उगलती चूत

हेलो, गाइस कैसे हो? मैं रोहित कॉल बॉय अपनी स्टोरी का 3र्ड पार्ट लेके आया हू. मुझे आपके बहुत से मेल्स आए है. सभी रीडर्स को स्टोरी पसंद आ रही है. अब ज़्यादा टाइम खराब ना करके हम सीधा स्टोरी पर आते है.

किसी गर्ल, भाभी को सेक्यूर सेक्स चाहिए, या फिर रियल रिलेशन्षिप छाईए, तो आप मुझे मैल करे.

मेरे मैल ईद गम0288580@गमाल.कॉम है. आपकी छत और प्राइवसी सेक्यूर रहेगी. अब तक आपने पढ़ा की मैं सोनिया की छूट चाट रहा था. अब आयेज.

और छूट में घूमने लगा तो वो सिसक गयी.

सोनिया: आह आह ऑश.

सोनिया की सिसकियाँ मुझे और जोश दे रही थी. मैं उसकी छूट को बहुत मज़े से चाटने लगा. उसने मेरा मूह छूट में दबा दिया, और कमर उठा-उठा के साथ देने लगी. 2 मिनिट बाद वो झाड़ गयी. उसकी एक ह निकल गयी.

मेरे मूह में उसने अपना पानी निकाल दिया, और मैं उसे पी गया.

बहुत ही मज़ेदार टेस्ट था. मैं फिरसे छूट चाटने लगा, और दोनो हाथो से उसके बूब्स दबाने लगा. सोनिया फिरसे गरम होने लगी. मैं अपनी ज़ुबान छूट के अंदर तक घूमने लगा. इससे उसकी कमर उछाल जाती. वो बोली-

सोनिया: हा बेबी, चूसो. चूसो और ज़ोर से. प्लीज़ मेरी जान रुकना मत. बहुत मज़ा आ रहा है. इस छूट में तुमने रोहित आग लगा दी है. इस आग को बुझा दो, और मुझे अपना बना लो मेरे राजा.

मैं: बहुत ही मज़ेदार छूट है आपकी. मेरी जान कहा च्छूपा रखी थी?

सोनिया: मैने ये छूट मेरे हब्बी रोहित के लिए ही बनाई है. आह एस एस चूसो बेबी.

करीब 20 मिनिट और छूट चाटने के बाद उसने फिरसे अपना पानी निकाल दिया. मेरा मूह उसने अपने पानी से भर दिया. अब उससे रहा नही जेया रहा था. उसने कहा-

सोनिया: मेरे राजा, प्लीज़ अब डाल दो अपना लंड. और रंडी की तरह छोड़ो मुझे. मेरी जवानी का जोश निकाल दो. इस लंड से खूब ठुकाई करो मेरी.

मैं: हा मेरी रंडी सोनिया. आज तुझे अपने घोड़ी बना कर छोड़ूँगा.

सोनिया: मेरे हब्बी. आह अब रहा नही जेया रहा है. रोहित डाल दो ना अपना ये मोटा लंड.

मैं: बिना कॉंडम के लॉगी क्या बोलो?

सोनिया: नही बेबी. रूको मैं लाती हू कॉंडम, वरना प्राब्लम हो जाएगी.

फिर वो नंगी उठी, और रूम में कॉंडम लेने गयी. वो चॉक्लेट फ्लेवर वाला कॉंडम लेके आई, और उसने मेरे लंड पर कॉंडम सेट किया. फिर सोनिया ने 2 मिनिट मेरे लंड को चूसा, जिससे कॉंडम गीला हो गया. अब वो वापस सीधा लेट गयी. मैने अपना लंड उसकी छूट पर रखा, और छूट के उपर लंड रगड़ने लगा. मैं सोनिया को तड़पाने लगा.

सोनिया: ऑश रोहित, प्लीज़ और मत तड़पाव मेरे पातिदेव. मुझे रंडी बना के छोड़ दो अब.

मैने छूट के च्छेद पर लंड रखा, और एक ज़ोर का झटका मारा. तो मेरा 4 इंच लंड उसकी छूट में समा गया. सोनिया की छूट टाइट थी, जिससे लंड अंदर जाने में प्राब्लम हुई थी. लेकिन मैने ज़ोर से डाल दिया तो उसको दर्द हुआ, और वो ज़ोर से चीखी.

सोनिया इस तरह चिल्लाई, की उसकी चीख से बातरूम गूँज गया.

सोनिया: आहह श हुहह प्लीज़ रोहित, धीरे करो ना. मुझे बहुत दर्द हो रहा है. तेरा ये मूसल लंड मुझे तकलीफ़ दे रहा है. रुक जेया तोड़ा.

मैं 5 मिनिट तक उसके बूब्स को सहलाता रहा. उसके लिप्स को किस किया, और नेक को चाटने लगा. जिससे उसका दर्द कम हो गया. मैं अब नीचे से धीरे से कमर हिलने लगा. सोनिया की छूट बहुत टाइट थी. मैने उससे कहा-

मैं: ऑश मेरी जान. बहुत टाइट छूट की मालकिन हो तुम. छूट ने तो मेरा लंड कस्स के पकड़ लिया है.

सोनिया: हा बेबी, इसमे पिछले 5 साल से लंड नही गया. और अब तुम्हारा बड़ा लंड गया, तो ये छूट से नही पा रही है.

5 मिनिट और स्मूच करने के बाद, मैने लंड अंदर-बाहर करना शुरू किया. वो धीरे-धीरे आहें ले रही थी. मैने अब वापस से एक झटका दिया छूट में. पूरा लंड सोनिया की कमसिन छूट में समा गया. फिरसे उसकी ज़ोरदार आवाज़ निकल गयी.

सोनिया: ह, क्या करते हो तुम यार. मेरी छूट फाड़ दी तुमने.

अब मैं तोड़ा धीरे-धीरे लंड अंदर-बाहर करने लगा, जिससे सोनिया को अछा फील हुआ. वो धीरे से आँखें बंद करके फ्लोर पर पड़ी हुई थी. वो अपने बूब्स खुद ही दबा रही थी. अब सोनिया भी गरम हो गयी.

मैने अब झटके थोड़े तेज़ कर दिए. मेरा लंड अब छूट में आचे से अंदर-बाहर हो रहा था. वो मज़े से छूट में ले रही थी. मैं उसके होंठो को चूस रहा था, और नीचे से ज़ोर-ज़ोर से धक्के दे रहा था. सोनिया भी मेरे लिप्स को चूस रही थी. मेरा एक लिप्स उसने वाइल्ड होके काट दिया.

सोनिया को चूड़ने में अब मज़ा आ रहा था. वो नीचे से कमर हिला-हिला के लंड छूट में ले रही थी. उसने अपने हाथ मेरी बॅक पर रख लिए, और ज़ोर से मुझे अपनी चेस्ट पर दबाने लगी. मैं नीचे से छूट में ज़ोरदार धक्के देने लगा. वो चूड़ते हुए बोली-

सोनिया: आ आ और ज़ोर सा छोड़ो मुझे ऑश, और ज़ोर से छोड़ो. डॉक्टर सोनिया पूरी मस्ती में थी.

सोनिया: तुम बहुत मस्त छोड़ते हो रोहित. तुम मेरे आज से हब्बी हो ओक. अब से मैं हर बार तुमसे ही चुड़वति रहूंगी. आह उफ़फ्फ़ तुम्हारा मोटा लंड मेरी बच्चे-दानी में जेया रहा है.

मैं: मेरी जान, तुम भी बहुत कमसिन औरत हो. मेरे पुर लंड को छूट में ले लिया है.

सोनिया: आह उघह एस बेबी. और ज़ोर से छोड़ो. मेरा निकालने वाला है.

मैं सोनिया के होंठो को और बूब्स को काट-ते हुए उसे ज़ोर-ज़ोर से छोड़ने लगा. वो एक लंबी आह करते हुए झाड़ गयी. सोनिया ने मुझे कस्स के पकड़ लिया. अपनी टांगे मेरी कमर पर कस्स कर पकड़ ली.

मैं भी उसे किस करने में सपोर्ट कर रहा था. वो मुझे बहुत ज़ोर से स्मूच दे रही थी. उसकी सिसकी और आहें निकल रही थी.

सोनिया: उहह ऑश रोहित. एस बेबी, फक मे हार्ड. योउ अरे सो गुड फकर.

छूट के पानी से लंड पूरा गीला हो गया. हमारी इस चुदाई को 30 मिनिट हो गये थे. अब मैने छूट से लंड निकाला, और सोनिया को बात टब के सहारे घोड़ी बनने को बोला. तो उसने दोनो हाथो से टब पकड़ लिया. फिर गांद को मटका कर छूट मेरे सामने कर दी.

उसकी 34″ की गांद बहुत ही सेक्सी लग रही थी. मैने अपना लंड छूट पर रगड़ा, तो उसकी आह श निकल गयी मूह से. वो बोली-

सोनिया: ऑश रोहित हब्बी. डाल दो जल्दी से. और छोड़ो मुझे, आज दबा के छोड़ो.

मैने छूट पर लंड रखा, और एक ज़बरदस्त झटके से लंड छूट में घुसेध दिया. उसकी चीख निकल गयी.

सोनिया: ह.. ऑश… उफफफ्फ़ धीरे-धीरे रोहित. तुम एक दूं वाइल्ड हो जाते हो. प्लीज़ आराम से करो.

मैने उसकी एक नही सुनी, और छूट में ज़ोर-ज़ोर से झटके देने लगा, और गांद पर छानते मारने लगा. सोनिया को भी मज़ा आ रहा था. वो ज़ोर-ज़ोर से सिसकियाँ ले रही र्ही.

सोनिया: या, एस मी हब्बी. ऑश आह उम्म्म छोड़ो. ज़ोर-ज़ोर से छोड़ो. मुझे रंडी बना दे रोहित.

मैं: एस बेबी. मज़ा आ रहा है ना तुम्हे?

सोनिया: मज़े का पूछो मत. बहुत ही ज़्यादा चरमसुख मिल रहा है.

15 मिनिट ज़ोर-ज़ोर से छोड़ा मैने, और गांद पर छानते मारने से गांद लाल हो गयी. हमारी ज़ोरदार चुदाई से उसके बूब्स टब को लग रहे थे. मैने एक हाथ से बूब्स पकड़े, और मसालने लगा. वो बोली-

सोनिया: छोड़ते रहो मेरी जान. मेरा निकालने वाला है. इतने सालो बाद आज मुझे शांति मिली है. तुमने मुझे रंडी बना दिया है. ह… उहह… एस छोड़ो और.

5 मिनिट छोड़ने के बाद उसने अपना पानी निकाल दिया. सोनिया का पानी छूट से बह के उसकी जांघों तक आ रहा था. पानी ने मेरे लंड को गीला कर दिया, जिससे छूट में अब लंड आचे से जेया रहा था. 10 मिनिट मैने उसे इसी पोज़िशन में घोड़ी बना कर छोड़ा. अब मेरा भी निकालने वाला था. तो मैने कहा-

मैं: मेरी जान सोनिया, ऑश अब मेरा भी निकालने वाला है. कहा निकालु बताओ?

सोनिया: ऑश मी हब्बी. अंदर मत डालना. मेरे मूह में निकालो. मुझे इस स्ट्रॉंग लंड का पानी पीना है.

फिर मैने उसके बाल पकड़ के, ज़ोर-ज़ोर से 4 मिनिट और छोड़ा. मेरे ज़ोरदार शॉट से मेरी बॉल्स उसकी छूट पर लग रही थी. जब बॉल्स छूट को टच होती, तो वो ज़ोर से आह उहह करती.

हमने चुदाई में पुर 50 मिनिट लगा दिए थे.

अब मेरा निकालने वाला था. तो मैने लंड निकाला और सोनिया को सीधा किया. मैने जल्दी से अपना लंड उसके मूह में दे दिया. सोनिया लंड को ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगी.

अंदर अपनी ज़ुबान मेरे टोपे पर घुमा-घुमा के पानी निकाल रही थी. अब मेरा एक झटके से पानी उसके मूह में निकल गया. वो मेरी आँखों में कामुकता से देख रही थी. मैने डॉक्टर के मूह में अपना पानी निकाल दिया. वो मुझे देखते हुए बड़े प्यार से मेरा सारा वीर्या निगल गयी, और लंड को चाटने लगी. चाट-चाट के सारा लंड सॉफ कर दिया.

मैं नीचे झुका और उसको किस करने लगा. वो भी मुझे किस में साथ दे रही थी. और बोली-

सोनिया: वाउ रोहित, तुम वाकाई में बहुत सेक्सी हो. मुझे खुश किया आज. और रोमॅन्स तो तुम्हारा ला-जवाब है. आज से तुम मेरे हब्बी हो ओक.

मैं: मेरी सोनिया का मैं हब्बी हू. मुझे अपनी जान को खुश रखना है.

सोनिया: हा, तुम तो मुझे बहुत खुश रखोगे. तुम्हारा लंड सब बता रहा है.

वो मेरे लंड को देखने लगी. और हम दोनो हासणे लगे. वो बहुत खुश थी. फिर वो मेरे लंड को देखने लगी, और हम दोनो हासणे लगे. वो बहुत खुश थी. खुशी से वो मुझे हग करते हुए बोली-

सोनिया: तुमने मुझे आज बहुत खुश किया. ई लोवे योउ मेरी जान रोहित.

मैं: ई लोवे योउ टू मी बेबी.

तो दोस्तों अभी तक स्टोरी यही तक है. इसके नेक्स्ट पार्ट की आप वेट करे. और मुझे अपने सेक्सी और हॉट कॉमेंट्स आंड मेल्स सेंड करे.

थॅंक्स ड्के.

यह कहानी भी पड़े  लड़के ने चाची चोदी, और भाभी को लंड के दर्शन कराए


error: Content is protected !!