पड़ोसी अंकल ने लड़के की गांद फाड़ दी

हेलो दोस्तों, मैं गाज़ियाबाद का रहने वाला हू. मेरी उमर 21 साल है. गोरा बदन, 6 फीट हाइट, और पतला शरीर है.

तो आइए आपको अब कहानी बताता हू. ये कहानी है 2020 की जब मैं 18 साल का हुआ करता था. तो एक बआउन्सर अंकल आगे 42 और बहुत गोरे हमारी गली में रहते थे. मैं वाहा किसी काम से उनके घर गया था, क्यूंकी हमारा आना जाना भी काफ़ी था एक-दूसरे के घर.

मुझे ये थोड़ी ही पता था की एक दिन वो ही मुझे पत्नी बना कर छोड़ने पर उतारू हो जाएँगे. उन्होने मुझे किसी काम से उनके घर बुलाया, और मैं चला गया. फिर पीछे से आके उन्होने रूम की कुण्डी लगा दी, और मेरा हाथ पकड़ के मुझे बिता दिया.

मैने सोचा ऐसे ही कर रहे होंगे. भारी गर्मी में वो अपने कपड़े उतारने लगे. 6 फीट का आदमी चौड़ी छाती और बिल्कुल जिम वाली बॉडी, बस चड्डी में बैठ गया मेरे पास.

फिर वो बोले: अब तू उतार.

मैं बोला: क्या है ये सब?

वो बोले: मुझे तू बहुत पसंद है, और मैं तेरी लेना चाहता हू.

मैने बोला: क्या?

वो बोला: गांद.

मैने कहा: नही, मैं नही करता ये सब.

वो बोले: आज तो करना पड़ेगा.

फिर मैं अपने घर जाने को उठा, तो उसने मुझे खींच लिया अपनी तरफ, और बिता लिया. मैं घबरा गया, और वो मुझे किस करने लगा.

फिर वो बोला: अगर तू नही करेगा तो मैं बता दूँगा सब को.

तो मैने बोला: प्लीज़ किसी को मत बोलना.

फिर उसने मेरे कपड़े उतार दिए. फिर मैने बोला: मैं नही करूँगा कुछ भी.

तो उसने मुझे बोला: आज तुझे सब करना पड़ेगा.

वैसे तो वो बहुत ही शांत स्वाभाव के थे. क्यूंकी आप जानते ही हो की जिम जाने वाला इंसान बहुत ही कम किसी से बात करता है. लेकिन वो तो इतना सुंदर और इतने बाल चेस्ट पर थे, ऐसा लग रहा था की एक गार्डेन उनकी चेस्ट पर ही था.

फिर वो बोले: कुछ ड्रिंक करते हो? मैने बोला: नही, मैं नही करता.

तो वो बोले: मैं तो करता हू.

फिर उन्होने एक विस्की की बॉटल निकली, और 2 या 3 पेग लगा लिए. अब उन्हे बहुत दारू चढ़ गयी थी, लेकिन तब भी वो मुझे किस कर रहे थे. मैं सोच रहा था की वो पीक आ गये थे, और मुझे पीने वाले लोग पसंद नही. तो अब मैं क्या करता.

फिर उन्होने मुझे उठाया अपनी गोद में, और बेड पर पटक दिया. वैसे मुझे भी ऐसा लग रहा था की आज तो मैं गया. क्यूंकी वो इतना बड़ा आदमी मेरे अंदर अपना मूसल जैसा लंड देगा, तो मैं तो पागल ही हो जौंगा.

अब वो मेरी तरफ आ रहा था, और मुझे बहुत दर्र लग रहा था. वो 6 फीट का आदमी मेरे उपर लेट रहा था, तो मेरा दूं निकल रहा था. मेरी खिल्ली निकल आई उसके मेरे उपर लेट-ते ही.

फिर वो बोले: आज तुम्हे ऐसा छोड़ूँगा की तुम बोलॉगे की हमेशा आपसे ही चुड़ूँगा. मुझे बहुत दर्र लग रहा था, क्यूंकी उन्होने दारू भी पी हुई थी, और पीने से पहले भी वो मेरे उपर लट्तू थे.

फिर वो स्टार्ट हो गये, और दोबारा बोलने लगे: अब तुम मेरी चड्डी में से लंड निकालो.

मैने माना कर दिया. उनका लंड चड्डी में से भी बहुत बड़ा दिख रहा था. मैं तो सोच-सोच के पागल हो रहा था की आज मेरे साथ क्या ही होगा भगवान जाने. उसका लंड बहुत मोटा और बहुत बड़ा लग रहा था, की कोई खाए पिए घर के आदमी के साथ मैं कर रहा था.

फिर वो बोला: इसको बाहर निकाल.

मैने कहा: मैं नही निकालता, खुद निकाल लो.

फिर उसने अपनी चड्डी उतरी, तो मैने देखा इतने बालों में च्छूपा वो मोटा और बड़ा लंड. वो बोला: इसकी किस ले.

मैने माना कर दिया, तो वो बोला: ले ना.

और उसने लंड मेरे मूह में दे दिया. उसने बहुत देर तक लंड मेरे मूह में ही रखा. उसका लंड बहुत खट्टा लग रहा था, तो मुझे साँस नही आई. फिर मैने झटके से लंड बाहर निकाल लिया.

फिर वो बोला: चल आज तेरी और मेरी सुहग्रात होगी.

मैं दर्र गया की ऐसा क्या होगा. क्यूंकी उससे पहले मैने ऐसा कुछ नही किया था. उसको इतना पसीना आ रहा था की मैं बता भी नही सकता, और वो मुझे अपनी बीवी बनाने वाला था उस रात.

वो कहने लगा: आज तू यही सोजा, क्यूंकी भार बहुत बारिश थी.

घर में मेरे कोई था भी नही, सब बाहर गये थे.

तो मैने बोला: ठीक है, मैं आज यही रुक जौंगा.

मुझे क्या पता था आज की पूरी रात ही वो सच में सुहग्रात बना देगा. वो आए मेरे उपर, और मुझे चूमने लगे. मुझे बहुत लोवे बाइट्स दिए, और मेरी चूची को बहुत काटा. उन्होने मेरे बहुत किस्सस दी गर्दन पर हर जगह.

फिर उसने बोला: आज तुझे दुनिया भर की खुशी दूँगा, जो तुझे किसी ने नही दी होगी.

उसकी इतनी बड़ी चेस्ट पर मैं तो किस कर दिया दो या टीन बार.

वो बोला: दर्रा मत कर. तेरा ही हू मैं, और मेरा है तू. तुझे कोई और देखेगा तो मैं उसको जान से मार दूँगा.

फिर वो बोले: उल्टा हो, अब तेरे अंदर दूँगा.

मैने कहा: नही मैं तो मॅर जौंगा.

वो बोले: कुछ नही होगा.

फिर उन्होने क्रीम लगाई मेरी गांद पर, और अपने लंड पर भी. फिर उन्होने झटके से मेरे अंदर अपना लंड दे दिया एक-दूं से. खून निकालने लगा था, क्यूंकी आज से पहले ऐसा कुछ नही हुआ था.

फिर उन्होने बहुत तेज़-तेज़ धक्के मारे तो मुझे बहुत दर्द हुआ. उसके बाद उसने बड़े प्यार से मुझे किस की, और अपने लंड से धक्के मारता गया. वो किस भी लगातार करता गया. लेकिन मुझे मज़ा नही आ रहा था.

फिर मैने बोला: रुक जाओ, मुझे साँस नही आ रही.

तो वो रुक गया. फिर 2 मिनिट बाद दोबारा से उसने मेरे पैर अपने कंधो पर रखे, और मेरी गांद में अपना 7 इंच का लंड घुसा दिया. लंड बहुत मोटा था, और सूपड़ा बहुत दर्द दे रहा था.

पहले तो बहुत दर्द हुआ. लेकिन फिर मुझे मज़ा आने लगा था. क्यूंकी बहुत देर हो गयी थी चूड़ते-चूड़ते, तो वो बहुत मीठा दर्द हो गया था. खून निकल रहा था, तो वो बोला-

वो: क्या हो गया? मेरी जान का खून है. सील मैने तोड़ी है, तो मैं इसको देख-देख के खुश हो जया करूँगा डेली.

फिर उसने मुझे बहुत छोड़ा. उन्होने वो चुदाई 16 मिनिट तक की. फिर उनका झाड़ गया, और वो आँखें बंद करने लगे और जल्दी-जल्दी करते-करते रुक गये.

उसके बाद मुझे एहसास हुआ की कुछ गरम-गरम बाहर आ रहा था मेरी गांद से. फिर वो मेरे उपर ही लेट गये. उन्होने बहुत धक्के बजाए अलग-अलग पोज़िशन में. बल्कि मैं बेहोश भी हो गया था.

चलो ये कहानी अभी बहुत बाकी है. दूसरे पार्ट में सुनीएगा, की 2 रौंद में क्या-क्या हुआ. क्यूंकी अगर सारा राज़ आज ही खोल दूँगा, तो बाद के लिए क्या बचेगा.

ये भी तो बताना है पूरी रात कितनी बार किया उसने, और कैसे-कैसे किया. क्यूंकी वो देसी मर्द है.

बाइ-बाइ, अब मिलेंगे दूसरी कहानी में. ये मेरी पहली कहानी है, जो की सच है.

यह कहानी भी पड़े  डिवोर्सड आंटी ने लंड चूसा मेरा


error: Content is protected !!