मोविए थियेटर मे चुदाई

दोस्तो जिनको मेरे बारे मई नही पता उनको ज़रा मेरे इंट्रो देता हू तो मेरा नाम सचिन है, और मैं हयदेराबाद से हूँ. मैं एक कंपनी मई जॉब कर रहा हूँ, मेरी उमर 24 साल है और मेरे लंड का साइज़ 6.5 इंच लंबा और 2 इंच मोटा है.

तो ये था मेरा इंट्रो अब शुरू करते है स्टोरी जेससा की लास्ट स्टोरी मई आपने पढ़ा था. की मैने ज़ोया को बाहर लेके जाता और हू सारा को एक टास्क दिया था तो चलिए शुरू करते है न्यू पार्ट.

ज़ोरा रेडी होके बाहर आई वो बॅक लेस ब्लॅक ड्रेस मई मस्त माल लग रही थी. और उसकी उफ़फ्फ़ मज़ा आ गया उसको देके और हम लोग निकल गये. मैने अपनी कार निकली और हम लोग चले गये कार मई ड्राइव करा था. ज़ोया मेरे बाजू मे थी, वो बार बार पूछ रही थी कहा जेया रहे है बोलो ना मलिक.

में बोला तोड़ा रुक पता चलेगा मे एक माल पूछने. वाहा से मैने एक कॉर्नर सीट ले सोफा टाइप आती है वो सीट लो थियेटर मॅग्ज़िमम खाली तो जेसे मोविए स्टार्ट हुई मैने ज़ोया को बोला की मुझे थियेटर मई सेक्स करना पसनड़ है मेरी फॅंटेसी है. ये सुनके वो खुश होगी. उसने अपना काम शुरू कर दिया मेरी जीन्स खोल कर लंड को शेला रही थी. मई अपने नशे मई था.

ज़ोया पूछ रही थी केसे लग्रा है मई अपने नशे मई कुछ बोल ही नही रहा था. वो लंड बाहर निकल के मूह मई लेके चुस्स्सन लगी. मई तो अननके बंद करके मज़े ले रहा था और एक हाट से उसके मुम्मो को मआसाआल रहा था. उसको चुस्सना बहोट पसनड़ था मेरा लंड साअली आधे गाँते तक लंड चुस्स चुस्स्स कर मेरा पानी निकल दी. और तोड़ा रेआलक्ष हुए 5-10 मीं एक दूसरे को किस किए.

में ने उसकी ड्रेस को उपर करके उसकी पेंटी निकल के उसको दे दी और छूट को मसाल रहा था. और छूट मई दो उंगलिया दल रहा था. हम दोनो कूब माज़े मई थे हुमको याद भी नही था की हम थियेटर में है.

वो आहे बाहर थी जेया रही थी मैने उसको अपने उपर भुला लिया. हम सोफा का उपर उसे करे थे थियेटर मई 69 लूज़ ट्राइ किए. उसकी आहा बादती जेया रही थी. हम अपनी ढूँ मई थे हुमको पता नही था सामने एक लेडी बेटी है. फिर उसका पानी निकल गया और मेरा भी एक बार निकल गया. फिर सही हुई क्यू की इंटर्वल होने वाला था हुँने एक दूसरो को सही किया.

जान इंटर्वल हुआ तो हम बाहर गये पॉपकॉर्न और ड्रिंक लेने तो उधर वो लेडी हमारे पास आई. बोली तुम लोग को शर्मा नही आती ऐसा थियेटर मे करते हुए?!

तबी ज़ोया बोली शर्मा तो आपको भी नही आती इसलिए हम को देके अपने बूब्स और छूट को मसाल रही थी. ये सुनते ही वो लेडी चुप होगी और हम उंद्र चले. और जाते ही फेले पोकोनो कतम किया फिर हम शुरू हो गये सियादा.

मैने ज़ोया को नंगी ही कर दिया और उसको सिडा छोड़ने लगा. ज़ोया और माज़े से मुजसे छुड़वा रही थी और उसको छोड़े जेया रहा था. उसने जान भुजा कर अपनी पेंटी निकली और वो लेडी के पास फेक दी और हम माज़े से सेक्स करे थे.

वो लेडी हुमरे पास और वो पेंटी ज़ोया को डेडी और उसको गुस्सा करने ही वाली. तो ज़ोया उसको किचन लिया किस करदी और साथ मई उसके मुम्मो को ज़ोर से मसाल दी.

मुझे क्या मई तो माज़े थे चलो एक और छूट का बंदोबस्त हो गया. 5 मीं बाद वो लगा हुई तो वो लेडी की आइज़ मई एक दूं हवस बार थी और उसने अपना शर्ट के बटन खोल मुझे अपने बूब्स चुस्सवा रही थी.

मैने ज़ोया को सोफा पे घोड़ी बना दिया और उसको बुरी तारा छोड़ रहा था. और वो लेडी मुझे किस कार्री थी. मैने उसको टॉप लेस कर दिया उसके पिंक निपल्स उफफफफ्फ़ साअली मस्स्ट कमाल लग रही थी. मैने उसके निपल्स को पिंच किया और ज़ोर ज़ोर से मसाल रहा था.

उसको बर्दाश नही हुआ उसने अपनी फेंट खोल नीचे कर दी और ज़ोया धक्का दे दी. इससे ज़ोया को गुस्सा और उसने एक थप्पड़ मार दी. जिससे वो लेडी का फेस लाल हो गया था.

वो मुझे क़िस्स्स करना स्टार्ट की और ज़ोया का हो गया तो वो हाट गयी और अपने कडपे पहन ली. वो लेडी आके सिडा मेरा लंड अपनी छूट मई लेके कॉवगिरल पोज़ मे मुझसे छुड़वा रही थी. ज़ोया उधर नाइट मोड मे वीडियो लेना शुरू की. वो लेडी के छूट के पे बाल थे. मेने वो बाल को पकड़ पकड़ के छोड़ा जिससे वो लेडी को और मज़ा आरा था. अब हुमरे पास सिर्फ़ 10 मीं बचे थे.

वो दार रही थी बोल थी बस करो बाकी का हम बाहर खि कर लेते है. मई नही सुना उसको बुरी तारा छोड़ रहा था. उसकी छूट पानी छोड़ रही थी.

मेरा भी होना वाला था मई उसको और ज़ोया नीचिए बेटा दिया दोनो पे अपना पानी निकल दिया. वो लेडी जल्दी मई कपड़े पहें के हमारे बाजू मई बैठ गयी. हम भी सही हुए फिर मोविए ख़त्म हुई फिर जब लाइट ओं हुई तो दोनो के फेस पे मेरा माल था. में ने वेसए ही सेल्फ़िएस ली और फिर वो एक दूसरे को जल्दी से किस किए और मेरा माल सॉफ किया.

हम तीनो बाहर रेस्टोरेंट मई गये वाहा ह्यूम पता चला की वो लेडी एक डॉक्टर है. हुमरे कॉलोनी के पास हॉस्पिटल मई काम करती है. उसका नाम सबिहा है, साली मस्त माल है. फिर हुँने खाना खाया, वो लेडी मुजसे नंबर लेकर चली गयी.

अब आपको बताता हू की मैने सारा को मैने क्या टास्क दिया था. उसकी एक दोस्त थी साली बहोट अमीर और आटिट्यूड लड़की थी. एक बार उसने मुझे बहोट गलिया सुनयी थी पैसे को रुवब धिका रही थी.

मैने सारा को बोला था उसके साथ लेज़्बीयन रोमॅन्स करे जिससे मई उसको मज़ा चका साकु. ये टास्क था सारा का अबी डेक्ते है क्या सारा मेरा टास्क पूरा कर पति है या नही. ये हम नेक्स्ट पार्ट मई पढ़ेंगे और हन दोस्तो आप लोगो के बहोट सारे मेल्स मिले है मुझे फीडबॅक के लिए, थॅंक योउ सो मच गाइस फॉर लोवे आंड सपोर्ट.

नेक्स्ट पार्ट बहोट जल्दी ही उपलोआड करूँगा दोस्तो बस इस साइट मई उपलोआड होने के लिए बहोट टाइम होता.

थॅंक योउ मुझे मेरी स्टोरी के बहोट फीडबॅक्स मिले, ऐसे ही अपना प्यार देते रहिएगा. प्लीज़ अपना फीडबॅक देना ना भूले. तब तक पढ़ते रहे मेरी स्टोरी और अपनी फीडबॅक और कॉमेंट्स मुझे मेरी एमाइल ईद पे सेंड करे. मी ईद इस: सचिनसस[email protected]गमाल.कॉम

और कोई आंटी या कोई लड़की मुझसे सेक्स करना चाहती है, या सेक्स छत करना चाहती है, तो भी मुझे मैल करे.

यह कहानी भी पड़े  एक बिल्डर से चुदाई कहानी

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!