ऑफीस की गफ़ के साथ होटेल में चुदाई शुरू

ही फ्रेंड्स, तीस इस आदि. ई आम हियर अगेन वित अनदर स्टोरी. ई होप की आप सब ने मेरी पहली स्टोरीस पढ़ी होंगी, और मुझे मेरी पिछली स्टोरीस को लेके काफ़ी मेल्स भी आए. जो लोग मेरे बारे में नही जानते मैं उन्हे बता डू, की मेरा नाम आदि है, और मेरी आगे 27 है, और मैं जम्मू से हू.

मैं कोई इतना हॅंडसम और जिम बॉडी वाला इंसान नही हू. ई आम जस्ट आ गुड लुकिंग गाइ. मेरी हाइट 5’9″ है, और मेरे लंड का साइज़ 6+ है. योउ कॅन कॉंटॅक्ट मे अट आडीसायल@गमाल.कॉम. नाउ लेट’स कम तो थे स्टोरी.

ये स्टोरी 2020 की है, आंड 110% रियल है. शुरू में थोड़ी बोर लगेगी, लेकिन बाद में सब की छूट और लंड भीग जाएँगे. मेरे ऑफीस में नयी लड़की शिखा आई जिसने फर्स्ट लॉक्कडोवन् के बाद हमारे ऑफीस को जाय्न किया था. मेरी उससे कभी इतनी बात नही हुई थी स्टार्टिंग में. एक बार हमारे ऑफीस में कोविद टेस्ट हुए, जिसमे कुछ लोग और शिखा भी कोविद पॉज़िटिव आए थे, जो की मुझे शाम को पता चला.

पहले तो मैने अपने ऑफीस के बाकी लोगों का हाल पूछा. लेकिन मेरे पास शिखा का नंबर नही था, तो मैने अपनी ऑफीस की दूसरी लड़की से उसका नंबर लिया, और उसको कॉल किया. फिर उसका हाल पूछा और उसको कुछ प्रिकॉशन टिप्स भी दिए, क्यूंकी मेरे मों-दाद को भी कोविद हुआ था.

ऐसे ही हमारी बात शुरू हुई, और 2-3 महीने चलती रही. हम आचे दोस्त बन चुके थे. फिर मैने उसके बारे में पता किया ( जो दोस्त जम्मू से है उनको पता ही होगा जम्मू जैसी छ्होटी सिटी में किसी की भी सारी इन्फर्मेशन मिलना ईज़ी है).

मुझे पता चला की उसका कोई ब्फ नही था. अभी तक और ये बात उसने भी कन्फर्म की थी की वो सिंगल थी, और रिलेशन्षिप में उसको कोई इंटेरेस्ट नही था. लेकिन मैं उसको मज़ाक में कहता की कोई ब्फ बना लो पार्ट्नर की ज़रूरत होती है सब को आंड ऑल तट स्टफ.

फिर ऐसे ही करते-करते मैने एक दिन उसको पर्पस किया और बोला की ई लीके योउ. उसने कुछ अजीब रिक्ट नही किया, बस इतना बोला की सोच के बतौँगी.

2 दिन बाद उसने मेरा प्रपोज़ल आक्सेप्ट कर लिया. मैं बहुत हॅपी था, और वो भी. लेकिन वो डरती थी कही किसी को पता ना चल जाए. मैने उसको समझाया और कहा की किसी को कुछ पता नही चलेगा, और हम लोग ऑफीस में नॉर्मल ही रहेंगे.

ऐसे ही करते-करते उसका बर्तडे आया जो की एअर एंड में था. हमने मिलने का डिसाइड किया. मैने ऑफीस में लीव रखी और वो ऑफीस में पार्टी देने के बाद हाफ दे लेके आ गयी. मैने उसको वेव माल से पिक किया, और उसको लेके कटरा हाइवे पे लोंग ड्राइव पे निकल पड़ा ( जम्मू वालो को पता है की ये रोड पे कपल्स कितना जाते है).

फिर हमने मॅक’द में खाया-पिया और वापस जम्मू की तरफ निकल पड़े. फिर मैं जैसे हे सिधरा हाइवे पे आया, तो मैने अपनी कार साइड में पार्क की, और उसको उसका ब’दे गिफ्ट दिया, जो की बड़ा सा टेडी था, और कुछ चॉक्लेट्स दिए. वो काफ़ी खुश हुई, और उसने मुझे हग किया. हमारे बीच में पहले ही किस्सिंग वग़ैरा हो चुकी थी.

जैसे ही उसने मुझे हग किया, मैं उसके लिप्स पे अपने लिप्स रख के उसको किस करने लगा, और वो भी साथ देने लगी. ऐसे ही मैने पहली बार उसके बूब्स को प्रेस किया. पहले उसने माना किया, लेकिन मेरे रिक्वेस्ट करने पे उसने करने दिया. मैं उसको कार में ही लिटा के किस करने लगा, और उसके बूब्स प्रेस करने लगा.

लेकिन वो एरिया सेफ नही था, ज़्यादा, तो हम वाहा से निकल चले और अंधेरा भी काफ़ी हो गया था. फिर मैने उसको ड्रॉप किया और घर आ गया. अब हम ऑलमोस्ट रोज़ ही ऑफीस के बाद मेरी कार में मिलते और मैं अपनी कार एक सेफ जगह में पार्क करके बॅक सीट पे उसके साथ आ जाता. फिर हमारी किस्सिंग होती.

मैने उसके अब बूब्स बाहर निकाल के मसालने शुरू कर दिए थे, और उनको सक भी करता था, और पंत के उपर से उसकी छूट भी रब करने लगा था. ये अब डेली का ही हो गया था. अब हम दोनो का कही रूम में मिलने का मॅन कर रहा था, जहा हम बिना दर्र के सब कर सके. लेकिन जम्मू में मिलना बहुत डिफिकल्ट था तब. पर अब इस जिस्म की आग को मिटाना तो था ही.

फिर मैने अपने एक भाई से बात की और उसको बोला की ऐसे-ऐसे एक रूम चाहिए. तो फिर उसने अपने फ्रेंड से बात की और हमारा फॉर्चून होटेल में रूम बुक कर दिया. ये बात जब मैने शिखा को बताई, तो वो भी बहुत खुश हुई. हमने 2 दिन बाद सनडे को मिलने का प्लान किया.

उसका फर्स्ट टाइम था तो वो थोड़ी नर्वस थी की कही कोई देख ना ले. लेकिन मैं तो किसी और ही फीलिंग में था. मैने एक दिन पहले ही उसके लिए एक बेबी डॉल वाली ड्रेस बाइ की, और कॉनडम्स आंड ई-पिल बाइ कर ली.

नेक्स्ट दे मैने उसको उसके एरिया से पिक किया अर्ली मॉर्निंग 9 बजे. उसके बाद हम सीधा होटेल में गये, और अपने रूम में चले गये. वो काफ़ी दर्र रही थी. मैने उसे हग किया, और और किस्सस किए जिससे वो कंफर्टबल हुई. थोड़ी देर बाद जब वो रिलॅक्स हुई, तो मैने उसको वो ड्रेस दी, और उसको चेंज करने को कहा.

वो बातरूम में जाके चेंज करके आई. तब तक मैं बेड पे ही बैठा था. जब वो बाहर आई तो कमाल की लग रही. पिंक कलर की उस छ्होटी ड्रेस में उसके 32″ साइज़ के बूब्स बाहर को आ रहे थे, और उसकी 30″ की कमर और गांद उसमे से सॉफ दिख रही थी. वो आई, और उसने मुझे हग कर लिया.

मैं उसको बेड पे लेके गया, और उसको किस करने लगा. हम पागलों की तरह एक-दूसरे को किस कर रहे थे. कभी वो मेरे लिप्स को बीते करती, तो कभी मैं करता, और कभी वो अपनी जीभ को मेरे मूह में डालती, तो कभी मेरी जीभ को सक करती.

ऐसे ही 15 मिनिट तक चलता रहा. फिर मैं धीरे से अपना एक हाथ उसके बूब्स पे लेके गया, और उसके बूब्स ड्रेस के उपर से प्रेस करने लगा. उसके बाद मैने उसकी ड्रेस का उपर से नाट खोल दिया, और वो ड्रेस उसके बूब्स से नीचे आ गयी.

उसने ब्रा नही पहनी थी. उसके 32″ के बूब्स उछाल के बाहर आ गये. आज वो कुछ ज़्यादा ही बड़े लग रहे थे, और उसपे उसके ब्राउन निपल्स एक-दूं डार्क पायंटर की तरह खड़े थे. मैं कभी उसके एक बूब को सक करता, तो कभी दूसरे को. वो मस्त होके मेरे बालों में हाथ घुमा रही थी.

मैं जब उसके बूब्स या उसके निपल्स पे बीते करता तो ह की आवाज़ निकालती और कहती की धीरे करो दर्द होता है. ऐसे ही 10 मिनिट तक करने के बाद मैने उसके बूब्स को लाल कर दिया था, और उन पर हर जगह लोवे बाइट्स थी. फिर मैं उठा, और अपने सारे कपड़े उतार दिए. मैं सिर्फ़ अंडरवेर में आ गया, और फिर बेड पे आके मैने उसकी वो ड्रेस पूरी उतार दी.

वो अब बस एक ब्लॅक पनटी में थी. मैने जैसे ही उसकी छूट पे हाथ रखा, वो पूरी भीग चुकी थी, मानो जैसे पानी में नहा के आई हो. मैने धीरे से उसकी पनटी उतार दी. वो पहली बार मेरे सामने पूरी नंगी थी. मैं उसे देखता ही जेया रहा था. बड़ी कमाल की लग रही थी. वो शर्मा रही थी, और खुद को ब्लंकेट से कवर रही थी. लेकिन मैने ऐसा होने नही दिया.

इसके आयेज क्या हुआ, ये आपको कहानी के अगले पार्ट में पता चलेगा. [email protected]

यह कहानी भी पड़े  रीडर के साथ मिल कर की चूत गीली


error: Content is protected !!