ऑफीस की डिवोर्स्ड लड़की के साथ चरम संतुष्टि की कथा

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम पंकज है, और ये मेरी रियल स्टोरी है. ये मेरी सेकेंड स्टोरी है, जो मेरे साथ 5 मंत पहले हुआ था. फ्रेंड्स मैं एक ऑफीस में मॅनेजर की पोस्ट पे लास्ट 2 साल से काम कर रहा हू. मेरे ऑफीस में लगभग 30 लोग काम करते है, जिसमे से 10 लॅडीस है.

हमारे ऑफीस में एक लड़की जाय्न हुई थी, जिसका नाम रेखा था (बदला हुआ नाम). उसकी आगे अराउंड 25 की होगी. लड़की एक-दूं टिप-टॉप थी. मॅचिंग कपड़े, लिपस्टिक, सॅंडल सब कुछ मॅच रहता था. उसकी हाइट 5’2″ फिगर 38-32-38 के आस-पास होगा. एक बार जो देख ले नज़र ना हटे.

उसे काम करते 3 मंत हो गये थे. काम भी अछा करती थी. वो कोलकाता से थी, और अभी मुंबई में काम कर रही थी. हमारी नॉर्मल काम के सिलसिले में बातें होती थी. एक दिन की बात है. हमे ऑफीस के कुछ काम से बाहर जाना था क्लाइंट से मिलने पुणे. हम बस में जेया रहे थे, और हमारा 2 दिन का काम था.

फिर हम निकल गये. फुल एसी बस थी. वो खिड़की की तरफ बैठी थी, और मैं उसकी बगल वाली सीट पे. हम बात कर रहे थे प्रॉजेक्ट के बारे में. फिर 15 मिनिट बाद वो मुझसे अपनी फॅमिली के बारे में बात करने लगी. मैने अपनी मॅरीड लाइफ के बारे में बताया. उसके बारे में पूछा तो वो बोली उसका डाइवोर्स हुआ था 1 साल पहले.

अभी वो एक फ्रेंड के साथ मुंबई में रहती थी. फिर मैने पूछा डाइवोर्स क्यूँ हुआ. तो वो बोली उसके हज़्बेंड बहुत ड्रिंक करते थे, और हमेशा घर में झगड़ा होता था. लाइफ में कुछ नही था, और ये रोज़ की बात हो गयी थी.

फिर मैं बोला: आपको देख के लगता नही की आप के साथ कोई ऐसा भी करेगा.

वो बोली: दुनिया में सब की लाइफ मैं खुशी नही होती. आपको मैं काफ़ी दीनो से देख रही हू. आपसे बात करने का आज मौका मिला.

फिर मैं उसे अपनी फॅमिली पिक दिखाने लगा.

वो बोली: बहुत अची है पिक.

देखते टाइम उसका बूब मेरी साइड में टच हो रहा था. फिर हम इधर-उधर की बातें करने लगे. 1 घंटा बीट चुका था. दोपहर के 2 बाज रहे थे. दूसरे दिन मॉर्निंग में मीटिंग थी. फिर वो सो गयी, और मैं उसके फेस को देख रहा था. कुछ टाइम बाद बस रुकी छाई के लिए. हम बस से उतरे.

छाई पीने के बाद हम बस की तरफ जेया रहे थे, की उसका पैर स्लिप हो गया, और मोच आ गयी. फिर हम किसी तरह बस में वापस गये. मैने अपना हाथ दिया, और वो उसके सहारे बस में आई. बस चलने लगी.

मैने बोल: दिखाओ कहा लगी.

वो बोली: ज़्यादा नही लगा है, बस थोड़ी मोच है.

फिर भी मैं बोला: तोड़ा देखता हू.

वो बोली: ठीक है.

उसके सॅंडल की वजह से मोच आई थी. फिर मैने तोड़ा बाहौत देखा और बोला-

मैं: उतरने के बाद बां ला दूँगा.

वो बोली: कोई बात नही.

मैं बोला: ठीक होगा तो ठीक, नही तो डॉक्टर के पास चलते है.

वो बोली: अर्रे नही, बां से ठीक हो जाएगा.

फिर उसने तोड़ा स्माइल किया, और सो गयी. हम पुणे पहुच गये थे. उसे चलने में नही हो रहा. मैने ऑटो लिया, और होटेल की तरफ निकल गये. रास्ते में मैने पाईं किल्लर और बां ले लिया.

होटेल पहुचने के बाद हम दोनो का रूम अलग बुक था. मैने उसको रूम में ड्रॉप किया और बोला: थोड़े टाइम में आता हू.

वो बोली: ठीक है.

फिर मैं तोड़ा फ्रेश हुआ, और 10 मिनिट बाद उसके रूम में गया. मैने नॉक किया तो वो बोली-

रेखा: मैं चेंज कर रही हू.

फिर मैं बोला: ठीक है.

पहले उसने सलवार सूट पहना था. 5 मिनिट बाद उसने दरवाज़ा ओपन किया. उसने अभी निघट्य में चेंज कर लिया था. उसे चलने में नही बन रहा था.

मैं बोला: आप बैठो, मैं जो भी लगेगा सब देता हू.

वो बोली: ओक.

फिर मैने उसे पाईं किल्लर दिया, और आंटिबयाटिक भी.

मैं बोला: 30 मिनिट में तोड़ा आराम मिलेगा.

फिर मैने बोला: बां लगा देता हू पहले.

पर वो ना बोली. लेकिन फिर मान गयी. मैं उसके फीट में बां लगाने लगा. 5 मिनिट बाद बोली-

रेखा: आप कितने आचे हो ना.

और स्माइल दी.

मैं बोला: थोड़ी देर में ठीक हो जाएगा.

वो बोली: हा.

मैं बोला: 2 घंटे बाद फिर मालिश करूँगा.

वो बोली: ठीक है.

फिर हम बात करने लगे. मैने कुछ खाने को ऑर्डर किया, और हम सोफा पे बैठे थे. फिर वो अपने घर वालो की पिक दिखाने लगी. मैं दूसरे सोफा पे था.

वो बोली: आप इधर बैठ जाओ.

फिर हम पिक्स देखने लगे. कुछ टाइम बाद वो मेरे एक-दूं बगल में थी, और पिक दिखा रही थी. अभी तक मेरे मॅन में कुछ नही था. पर अब होने लगा था. फिर वो अपनी शादी की पिक्स दिखाने लगी. मैं भी अब उसको बहाने से टच करने लगा. वो कुछ नही बोल रही थी, और स्माइल कर रही थी.

मैं बोला: आपके जैसी वाइफ को कोई छ्चोढ़ दे वो पागल ही होगा.

और तभी ऑर्डर आ गया. हमने नाश्ता किया, और मैं और वो बातें कर रहे थे.

तभी मैं बोला: मैं जाता हू.

वो बोली: रूम में जाके क्या करोगे? मुझसे बातें करके अछा नही लग रहा है क्या?

मैं बोला: नही मुझे लगा आप बोर हो रही हो.

और बात करते समय मैं उसको टच कर रहा था.

फिर मैं बोला: आपको बां लगा देता हू.

वो बोली: ठीक है.

और मैं बां लगाने लगा. अब मुझसे रहा नही जेया रहा था.

मैं बोला: आपको उपर तक तोड़ा बां लगा देता हू.

वो कुछ नही बोली, और दूसरे टॉपिक पे बात करने लगी. मैं उसके घुटने तक बां लगाने लगा, और अब वो चुप हो गयी, और कुछ नही बोल रही थी. मेरी हिम्मत और बढ़ी, और मैं उपर गया. मैं पागल हो रहा था. अब मुझसे बर्दाश्त नही हो रहा था.

मैं बोला: आप बेड पर लेट जाओ, आचे से बां लगा देता हू.

वो बोली: नही.

फिर भी मैं बोला: ठीक हो जाएगा.

वो कुछ नही बोली और मैं उसे बेड की तरफ अपने कंधे पे ले गया. फिर मैं मालिश करने लगा. मैने निघट्य को धीरे-धीरे उपर कर दिया, और मालिश कर रहा था. अब उससे भी नही रहा जेया रहा था, और वो मचल रही थी. वो अपने बालों को सहला रही थी. मैं समझ गया अब उसका भी मॅन था.

मैने हिम्मत की, और उसको किस करने लगा होंठो पे. वो भी रेस्पॉन्स देने लगी, और किस करने लगी. मैं उसके बूब्स को दबाने लगा और किस किए जेया रहा था पागलों के जैसे. फिर मैने अपने शर्ट निकली, और उसकी निघट्य को खोलने लगा.

निघट्य खोल दी मैने, और अब वो ब्रा और पनटी में थी. मैं उसके पुर बदन को किस कर रहा था, और वो पागल हो गयी था. फिर मैने उसकी ब्रा उतरी, और उसके बूब्स को बिना ब्रा के देख कर पागल हो रहा था. बूब्स एक-दूं टाइट थे. निपल्स भी टाइट थे. उसके निपल को अपने मैने मूह में लिया और पीने लगा.

5 मिनिट बाद मैं उसके पुर बदन को किस करने लगा, और अपना ट्राउज़र उतार दिया. अब वो भी मुझे किस करने लगी, और उसने मेरे लंड को च्छुआ, और वो मेरा अंडरवेर खोल दी.

वो बोली: काफ़ी बड़ा है आपका.

फिर मूह में लेके चूसने लगी. मैने उसे लिटाया, और उसकी पनटी को खोल दिया. इतनी मस्त छूट आज तक नही देखी थी. मुझसे रहा नही गया, और मैं चाटने लगा. वो और पागल होने लगी. उसकी छूट काफ़ी गीली हो गयी थी. पानी नमकीन लग रहा था. फिर हम 69 पोज़िशन में आ गये.

हम दोनो को बहुत आनंद आ रहा था. उसकी छूट मेरे मूह में थी, और मेरा लंड उसके मूह में. अब उससे रहा नही जेया रहा था. फिर मैने उसको पलताया और लंड छूट में डाला. छूट बहुत टाइट थी.

मैने पूछा: कितने दीनो से आपकी छूट में नही गया है?

वो बोली: 1 साल से.

फिर मैने ज़ोर से धक्का मारा, और मेरा पूरा लंड उसकी छूट मैं घुस गया. वो चीख पड़ी, और आ आ की आवाज़ निकालने लगी. फिर मैने उसकी दोनो टांगे अपने कंधे पर रखी. वो और चिल्ला रही थी, और मुझे मज़ा आ रहा था. मैं 10 मिनिट बाद झाड़ गया, और उसके उपर सो गया.

वो बोली: आज तक मुझे मेरे पति ने कभी ऐसा नही खुश किया.

फिर हम रात भर बातें करते रहे. पूरी रात में मैने उसको 4 बार फिर छोड़ा. दूसरे दिन मैने मीटिंग की, और ईव्निंग को हम मुंबई की तरफ निकल गये. पैर ठीक नही होने की वजह से वो मीटिंग में नही आ पाई.

उस दिन के बाद जब भी हमे मुका मिलता है, हम एक-दूसरे के बिना नही रह पाते. उसको मैने ऑफीस में, उसके घर पे, अपने घर पे, होटेल में सब जगह छोड़ा. लास्ट मंत वो कोलकाता चली गयी. उसकी शादी फिक्स हो गयी है.

स्टोरी कैसी लगी कॉमेंट आंड मैल करके बताओ. किसी भी लड़की या औरत को सेक्स चाहिए तो मुझे मैल करे .@..कॉम

पर.

यह कहानी भी पड़े  ऑफीस गार्ड का लंड भगाए ठंड


error: Content is protected !!