नीग्रोस से चूड़ने के लिए औरत कॉल गर्ल बनी

मैने राजवीर से बोला: क्या अब सो जाए प्लीज़?

राज: नही मुझे एक बार और करना है.

मे: मैं बहुत तक गयी हू, और अभी तो और 4 दिन हू यहा, कर लेना आप कल.

राज: नही अभी मेरा मॅन नही भरा.

मे: अछा ठीक है, मैं आपको ओरल कर देती हू.

राज मान गया और बेड से उठ कर खड़ा हो गया. मैं जानती थी क्या करना था. मैं घुटनो पे आ गयी, और पूरी मदहोश होके लंड गले की गहराइयों तक लेके चूसने लगी. राज मेरे बालों को दोनो हाथो से कस्स के पकड़ लिया, और पूरा लंड लगे तक भर दिया.

मैं रोकना चाहती थी पर कोई मतलब नही था. ये नही करूँगी तो गांद मर्वानी पड़ेगी, जो की अभी बहुत दर्द कर रही थी. इसलिए जो हो रहा था उसी को सहने में फ़ायदा था. राज पूरा लाल पद गया था. मैं अपनी आँखें उपर करके उसे आहह ऊओ मेरी जान कहते हुए देख रही थी. फिर लगभग 20 मिनिट बाद.

राज: सुन मेरी जान, मेरा होने वाला है. एक भी बूँद बाहर नही आनी चाहिए.

और मैं ज़ोर से आयेज-पीछे करके चूसने लगी. राज ने अचानक पूरा लंड गले में भर दिया, और पिचकारी छ्चोढ़ दी. बहुत सारा वीरया निकला. पूरा लंड गले के अंदर तक होने के कारण वीरया सीधा पेट में उतार गया.

मेरा दूं घुटने लगा. मैने राज को धक्का देके डोर किया, और उसका मूसल मेरे गले से निकाला. फिर मैने राहत की साँस ली, और जैसे ही पीछे मूडी देखा शिवम मेरे सामने खड़ा था. मैने शरम से आँखें झुका ली, और दोनो हाथो से अपने बूब्स कवर करके वैसे ही चुप बैठी रही.

शिवम: क्या हुआ मेरी जान? शरमाओ मत, मुझे बहुत अछा लगा तुमने राज का इतना मोटा लंड मूह में लिया. मैं बहुत देर से देख रहा था कैसे राज तुम्हारे मूह को छोड़ रहा है. यही सब देखने के लिए तुम्हे यहा लाया था मैं.

और शिवम मेरे करीब आया, और मेरे लिप्स पे लगे राज के वीरया को अपनी उंगलियों से सॉफ करते हुए बोला-

शिवम: मूह खोलो.

मैने जैसे ही मूह खोला, और उसने उंगली मेरे मूह में डाल दी.

मे: क्या करू?

शिवम: चूसो इसे, सुना नही राज भाई ने क्या बोला की एक भी बूँद वेस्ट नही होनी चाहिए.

मैने मॅन के संकोच को डोर करते हुए उंगली चूस ली.

मे: अब खुश हो?

शिवम: तुझसे तो मैं बहुत खुश हू मेरी जान. सोचा नही था तू इतना से लेगी, और इसमे तुझे इतना मज़ा आएगा.

शिवम मुझसे कभी तू करके नही बोलता था. उसकी ऐसी बातें सुन के तोड़ा अजीब लगा, पर अब इतना सब अजीब मैं कर चुकी थी, की कुछ भी सुनने के लिए तैयार थी. फिर उसी टाइम डोर ओपन हुआ, और लखन भी रूम मैं आ गया.

मे: अर्रे आप, प्लीज़ डोर लॉक कर लो पहले, कोई और नया आ गया तो मेरे बारह बाजवा दोगे. अभी 4 हुए हो, पता नही कितने और मर्दों से छुड़वाना पद जाएगा

मेरी बात सुन के सब हासणे लगे. फिर लखन बोला-

लखन: तो क्या हुआ मेरी जान? मज़ा तो उतना ही आएगा. मैं तो चाहता हू तुझपे एक के बाद 1 नया मर्द चढ़ाई करे. उपर वाले ने तुझ जैसी बहुत कम बनाई है मेरी जान. तुझे देख कर सब का मॅन करता होगा तुझे छोड़ने का.

मे: अछा तो क्या मैं सब के साथ सो जौ?

लखन: हा तो सबसे ज़्यादा पुण्या मिलेगा तुझे.

मे: नही मुझे नही करना अब. तुम चार ही काफ़ी हो. तुम चारो को झेल लू, वही बहुत है. और मैं शिवम की गोद में जेया कर बैठ गयी. राज और राजवीर आस-पास बैठ गये. लखन ने टीवी में पॉर्न वीडियो स्टार्ट कर दी, जिसमे 1 बहुत ब्यूटिफुल लड़की को 3 काले नीग्रो छोड़ रहे थे.

मे: ओह मी गोद, क्या हो रहा होगा. बेचारी इतनी सी दिख रही है, और ये लोग एक के बाद एक उसे ठोके जेया रहे है.

मैं और इंटेरेस्ट के साथ देखने लगी, और देखते-देखते मुझे मज़ा आने लगा. मैने शिवम का हाथ पकड़ा, और मेरी छूट पे रख दिया. फिर धीरे से शिवम के कान में बोली-

मे: जान मेरी छूट में उंगली करो ना.

शिवम: क्यूँ क्या हुआ?

मे: मोविए देख के कुछ हो रहा है.

शिवम: तुझे भी करना है क्या?

और उंगली मेरी छूट में डाल के आयेज-पीछे करना शुरू कर दिया. 5 मिनिट में ही मैं पूरी मदहोश सी हो गयी, और ग़लती से शिवम से बोल दिया मुझे भी ऐसे करना है. शिवम चौंक गया.

शिवम: क्या?

मे: हा मुझे भी करना है ऐसे.

शिवम: पागल वो नीग्रोस है, ये यहा कैसे मिलेंगे? और मिल भी गये तो तुम झेल लॉगी क्या?

मे (पूरी बेशर्मी से ): हा झेल लूँगी, और है यहा होटेल में मैने देखा था.

लखन: हा भाई है आज सुबा ही 3 नीग्रोस ने चेक इन किया है होटेल में.

शिवम: अर्रे तू चुप कर. वो लोग बेरहम होते है. बहुत बुरा हाल कर देंगे इसका.

मे: हा मैं चाहती हू तोड़ा रफ सेक्स करना, और तुम लोगों ने कों सा कम बुरा हाल किया है. प्लीज़ शिवम मैने तुम्हारी हर बात मानी है. तुम्हे भी माननी पड़ेगी.

राज: अर्रे मान जेया ना शिवम. 2-3 घंटो की तो बात है.

राजवीर: हा भाई, भाभी का मॅन है तो कर लेने दे.

लखन: वाह, क्या किस्मत है. देख सेयेल नीग्रोस ने इंडियन कॉल गर्ल की डिमॅंड की है. नीचे डेस्क पे रिसेप्षन से मेसेज आया है.

शिवम: तो क्या मेरी बीवी तुझे कॉल गर्ल दिख रही है?

राज: सुन भाई, किसी कॉल गर्ल को भी नही छोड़ते होंगे ऐसे, जैसे छोड़ा है हम तीनो ने तेरी बीवी को. क्या फराक पड़ता है उसका मॅन है करने का, तो कर लेने दे. मौका भी है, और दस्तूर भी. क्यूँ पूजा, चुड लेगी ना, रॅंड बना के भेजेंगे तुझे तो?

मे: हा बस छुड़वा दो लखन, कॉल गर्ल भी बन जौंगी आज रात के लिए.

राजवीर: एक बार फिर सोच लो पूजा, ये पॉर्न नही है, रियल लाइफ है. एक बार तुम रूम में गयी, तो तुम्हे 3 घंटे पूरा छोड़ेगे नही, वो लोग पूरा पैसा वसूल करेंगे.

मे: हा मैं चाहती हू यहा हू जब तक, सारे अरमान पुर कर लू मेरे मॅन के.

शिवम: ठीक है भाई, कर दे डन. पुर 5 लाख माँगना 3 घंटे के. उसी पैसों से पूजा को शॉपिंग करवा देंगे.

मैं मॅन ही मॅन बहुत खुश थी. मुझे दोनो हाथ में लड्डू मिल गये थे, पैसा और मज़ा एक साथ. लखन ने रिसेप्षन पे कॉल किया, और बोला-

लखन: उन लोगों को बोल दो 30 मिनिट में इंडियन गर्ल मिल जाएगी. 3 अवर्स के लिए 5 लाख चार्ज होगा.

रिसेप्षनिस्ट: ओक सिर, बुत वो 3 लोग है, और उन्होने बोला है की हम 3 लोग एक साथ छोड़ेंगे. और मॅन नही भरा तो टाइम बढ़ा भी सकते है.

लखन: ओक 3 अवर्स से 1 मिनिट भी उपर हुआ तो चार्ज 10 लाख लगेगा, और अमाउंट पहले ट्रान्स्फर करवा लेना.

रिसेप्षनिस्ट: ओक सिर.

लखन: लो मेडम हो गया आपका काम. अब रेडी हो जाओ नहा-धो के. आज की रात तुम्हारी किस्मत में सोना नही चूड़ना लिखा है.

मे: सो तो पूरी लाइफ लूँगी, पर ये मौका फिर पता नही मिले या ना मिले. अब तो बस करना है बहुत सारा सेक्स.

शिवम: ओक तुम नहा लो, और ये रेड सारी पहन के जाओ उन लोगों के सामने. और हा ये पर्स ठीक सामने टाँग देना, इसमे कॅमरा है, इससे हम तुम्हे देखते रहेंगे.

लखन: कोई ज़रूरत नही भाई कॅमरा से लैस है अपना होटेल. भाभी की चुदाई का हर एंजल दिखाई देगा हमे.

और सब हासणे लगे. मैं नहा कर और रेड सारी पहन के बाहर आई. चारो मुझे देखते रह गये.

मे: क्या हुआ?

शिवम: कयामत लग रही हो. आज तुम्हे ये काले पूरा नोच लेंगे. फिर से सोच लो एक बार, बहुत बुरी हालत कर देंगे.

मे: शिवम मेरी जान मैं चाहती हू वो मेरे साथ रफ सेक्स करे.

सब हैरान थे मेरी बातें सुन कर. शिवम तोड़ा उदास था. मैने उसे गले लगाया, और बेड की और ले गयी, और उसे लिटा दिया. फिर उसका लंड बड़े प्यार से चूमने लगी. मैं शिवम के टोपे पर ज़ुबान घुमा रही थी, और बहुत टाइट सक कर रही थी. थोड़ी देर करने के बाद मैं रुकी और बोली-

मे: कैसा लगा मेरी जान को?

शिवम: पागल कर दिया है तुमने तो.

मे: ऐसा ही सुख रोज़ दूँगी तुम्हे. आस आप आज उदास मत हो प्लीज़.

शिवम: ओक मेरी जान, कर लो आपने अरमान पुर

लखन: ओक भाभी, अब आप जाओ. 10 मिनिट में रूम में एंटर होना है आपको.

और मैं रूम की और चल दी. आयेज की स्टोरी शिवम सुनाएँगे, आपको नेक्स्ट पार्ट के लिए कॉमेंट करिए और बताइए कैसी लगी आपको स्टोरी.

यह कहानी भी पड़े  बीमार पति के लिए रंडी बन कर चुदी


error: Content is protected !!