मेरे पड़ोस की कविता भाभी

हेलो दोस्तो आई एम जय जानी फ्रॉम गुजरात, मेरी एज 25 ईयर है और मैं यहाका रेग्युलर रीडर हू, मेरी हाइट 5 7” है और मेरे लॅंड का साइज़ 6.5” है सेक्स स्टोरी पढ़ने के बाद मैल ज़रूर करे.

मेरी ये कहानी 3 महीने पहले की है, ये कहानी मेरी और मेरे पड़ोस मैं रहने वाली भाभी की है जिसकी एज करीब 32 ईयर है और उनकी फिगर 36-28-34 है, वो दिखने मैं सेक्सी है, उनका रंग गोरा है, वो किसी हीरोइन से कम नही थी, देखते ही नशा चढ़ जाता है.

उनका नाम कविता है, जब वो चलती है तो मैं उनकी गॅंड का दीवाना हो जाता हू और हमेशा उनको चोदने का मौका ढूंढता हू, वो जब भी मेरे सामने आती है तो मैं उनके बूब्स और गॅंड को घूरता हू ये बात उन्होने भी नोटीस की हुई थी, पर मैं कभी उनको कह नही सका.

अब हम स्टोरी पर आते है, कविता का पति एक प्राइवेट कंपनी मैं जॉब करते है तो वो अक्सर किसी ना किसी काम के लिए आउट ऑफ स्टेशन होते है, जब कविता घर पर अकेली होती है तो वो कभी कभी मेरे मम्मी के साथ बाते करने आती रहती है, एक दिन जब मैं अपने रूम मैं पढ़ाई कर रहा था.

तो मैने सुना की कविता मेरी मम्मी से कह रही थी की उनके पति एक वीक के लिए आउट ऑफ स्टेशन गये हुए है तो मैने सोचा की इसको चोदने का यही मौका है, फिर मैं नीचे आया और उनको देखा वो नाइट सूट मैं खड़ी थी तो मैने उनको देखते ही रह गया.

उनके बूब्स का उभार सॉफ नज़र आ रहा था, और उनकी गॅंड भी मस्त दिख रही थी, जैसे ही मैं वाहा से निकला तो भाभी ने बोला अरे जय मेरे घर की लाइट खराब है तो तुम चेक कर लोंगे ??

यह कहानी भी पड़े  कैसे मैने अपनी पड़ोसन को चोदा

मैने कहा हा मैं तुम जाओ मैं आता हू, फिर मैं थोड़ी देर बाद उनके घर पर गया और मैने भाभी को पुछा की कोनसि लाइट चेक करनी है तो भाभी मुझे उनके बेडरूम मैं ले गयी और लाइट दिखाई.

फिर मैं स्टूल लिया और उपर चाड़कर देखने लगा थोड़ी देर बाद लाइट चालू हो गयी और मैं निकलने वाला था की भाभी ने कहा बैठो चाय पीकर जाओ मैने कहा ठीक है और मैं वही पर बैठ गया भाभी थोड़ी देर बाद चाय लेकर आई और हम दोनो चाय पीने लगे.

मैं भाभी के बूब्स को घूर रहा था तो भाभी ने मुझे कहा ऐसे क्या देख रहे हो कभी कोई लड़की नही देखी तो मैने कहा नही भाभी ऐसा कुछ नही है बस आपकी सुंदरता देख रहा हू, तो भाभी शरमाई और पुछने लगी की सच मे मैं सुंदर हू तो मैने कहा हा भाभी अगर आप मॅरीड नही होती तो मैं आपसे शादी कर लेता.

फिर भाभी मेरे पास आई और बोलने लगी की ऐसा क्या है मुज़मे तो मैं तुम्हे पसंद हू? मैने कहा भाभी आपके होट आपकी आँखे और आपके गाल.

फिर थोड़ी देर भाभी चुप हो गयी और मैने पुछा की क्या मैं आपको किस कर सकता हू तो भाभी ने कहा की अगर किसी को पता चल गया तो मैने कहा भाभी किसी को पता नही चलेगा बस सिर्फ़ एक बार करने दो तो भाभी ने कहा ठीक है तो मैने भाभी को अपनी और खींचा और उनके लिप्स पर मेरे लिप्स रखकर स्मूच करने लगा.

भाभी मदहोश हो गयी और मेरा साथ देने लगी फिर मैने अपना हाथ उनके बूब्स पर फिराने लगा भाभी कुछ नही बोली तो मैं समज गया की अब तो भाभी को भी मज़ा आने लगा है फिर मैने भाभी को उठाके उनके बेड पर लेटा दिया और उनके बूब्स को मसलने लगा.

यह कहानी भी पड़े  कनाडा में दोबारा ग्रुप सेक्स की मस्ती-1

भाभी ने भी मेरे लॅंड पैंट के उपर से ही सहलाने लगी और सिसकिया भरने लगी फिर मैने भाभी के कपड़े उतार दिए अब भाभी सिर्फ़ ब्रा और पैंटी मे थी मैं भाभी के बूब्स को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा और उनकी ब्रा खोल दी..

भाभी ने भी मेरा पैंट खोला और अंडरवेर भी उतार कर मेरे लॅंड को हाथ मे पकड़कर घुरने लगी मैने कहा क्या देख रहे हो तो भाभी ने कहा की ये तो बहुत बड़ा है.

मैने कहा कभी देखा नही है तो भाभी ने कहा नही मेरे पति का तो बहुत छोटा है और वो मुझे सॅटिस्फाइड नही कर पाते है तो मैं भूखी रह जाती हू.

फिर मेरे मे जोश आने लगा और मैने भाभी की पैंटी निकाल दी और उनकी चुत चाटने लगा भाभी ने भी मेरे लॅंड को मुहमे लेकर चूसना स्टार्ट किया और सिस्किया लेने लगी.

फिर भाभी की चुत के उपर मेरा लॅंड रखा और तड़पाने लगा, फिर भाभी आअहह आआआहह ष्ह जैसी सिस्किया लेने लगी और बोलने लगी अब मत तड़पाव बहुत दीनो से प्यासी हू तो मैने ज़ोर से शॉट्स मारा तो आधा लॅंड भाभी की चुत मे चला गया और भाभी ज़ोर ज़ोर से चीखने लगी.
मैं थोड़ी देर रुक गया और भाभी को स्लो स्लो शॉट्स मारने लगा और जब भाभी नॉर्मल हुई तो मैने फिर से ज़ोरसे शॉट्स मारा तो पूरा लॅंड उनकी चुत मे चला गया और भाभी को भी मज़ा आने लगा तो भाभी आँख बंद करके मज़ा लेने लगी.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!