मेरी बहेन की कची चूत

हाई फ्रेंड्स, माय नेम इझ सोनू एंड आई एम फ्रॉम पुणे, मैं आपको आज मेरी पहेली इंडियन सेक्स स्टोरीस बताने वाला हू जो की मेरी और मेरी सग़ी बहन अंकिता के बीच मे हुई है.

मेरे फॅमिली मे मेरे पापा, मम्मी, मेरी बड़ी बहन अंकिता और एक छोटी बहन रहते है, माय मदर इझ हाउसवाइफ एंड पापा गवर्नमेंट बॅंक मे जॉब करते है, मैं फॅमिली मे ज़्यादा फ्रेंड्ली नही रहता.

मैं पहले से ही शाइ टाइप का लड़का हू, मेरी हाइट 5”8 फीट है, वेट 51 केजी है, लंड का साइज़ मैने कभी शेयर नही किया पर हर किसी को सॅटिस्फाइड कर सकता है इतनी मेरी ग्यारंटि है.

अगर आपको मेरी ये कहानी पसंद आए तो आप मुझे मैल कर सकते हो, पुणे मे कोई भी लड़की, आंटी अगर मुज़से चुदना चाहती हो तो प्लीज़ मैल करे, प्राइवसी का ख़यला रखा जाएगा, अब आप का ज़्यादा समय ना लेते हुए मैं डाइरेक्ट स्टोरी पर आता हू.

मैं बीई मे लास्ट ईयर का स्टूडेंट हू, पुणे मे हॉस्टिल मे रहता हू, हॉस्टिल के लड़के रूम छोड़के चले गये तो मैं अकेला ही रह गया था, तो मुझे कोई पार्ट्नर ना मिलने के कारण मैने हॉस्टिल छोड़ दिया और गाओं चला आया.

गाओं मे 4-5 दिन रहने के बाद मैं वापिस पूना चला गया, मेरी सग़ी बहन अंकिता पूने मे ही जॉब करती है एक प्राइवेट कंपनी मे, उसकी एज 25 है अनमॅरीड और मैं 24 साल का हू, तो घरवालोने हमे एक रूम मे रहने को बोल दिया.

हमने एक वन रूम किचन की रूम देख ली, टाय्लेट बाथरूम अटॅच्ड था, बहन की फिगर 32 28 30 है और गोरा कलर है, जब चलती है तो गॅंड लटक पटक के चलती है जिससे किसिका भी लंड खड़ा हो जाए.

रूम मे रहने के बाद हम एक दूसरे से बहोत क्लोज़ रहने लगे, काफ़ी सारी बातें शेयर करते थे, सोने के वक्त वो टी शर्ट और नाइट पैंट पर सोती थी, हम दोनो का अलग बिस्तर था और नीचे सोते थे, मुझे पहले से ही बहन को चोदने का मन था, जब वो नहाने चली जाती थी तो बाद मे मैं जाकर उसेके ब्रा पैंटी को सूँघता था और मूठ मारता था.

यह कहानी भी पड़े  बॉस ने माँ को खड़ा किया और जमकर चुदाई की

एक दिन रात के 2 बजे मैं पानी पीने उठ गया, बहन गहरी नींद मे थी, मुझे नींद नही आ रही थी, उसका टी शर्ट उपर अपने पेट तक आया था जिसके कारण उसका पेट पूरा दिखाई देता था, मैं देखकर हैरान हो गया, मैने धिरेसे जाकर उसके पास मे सो गया, वो पूरी नींद मे थी.

मैने हिम्मत करके उसके बूब्स के उपर हाथ डाल दिया और धीरे धीरे बूब्स दबाने लग गया, वो सोई हुई थी तो मेरा हौसला और बढ़ गया मैने धीरे से एक हाथ उसके पैंटी मे डाल दिया और चुत को उपर से सहलाने लगा.

मैने इससे पहले किसी लड़की को नही चोदा था तो बहुत मज़ा आ रहा था, मेरा लंड एकदम टाइट हो गया, मैने लॅंड को बहन के गॅंड पे रखा और धीरे धीरे से रगड़ने लगा.

अचानक बहन की नींद खुल गयी, मैं बहुत घबरा गया, बहन उठ गयी और मुझे चिल्लाने लगी, अपनी बहन के साथ ऐसा कर रहा है?शरम नही आती?और बोहोत सारी बाते बोलने लगी और घरवालों को बताने की धमकी दी, मेरी हालत बहोत खराब हो गई.

कुछ देर मैने सोच लिया ऐसा भी बहन को पता चल ही गया है, अब रुकने से क्या फ़ायदा?, मैं बहन के पास गया और उसको मनाने लग गया पर वो नही मान रही थी, मैने उसके कमर को पकड़ लिया और ओठोंपर किस करने लगा.

वो छूटने की कोशिश कर रही थी पर नाकामयाब रही, 5 मीं तक मैं किस करता रहा, बहन का प्रतिकार कम हुआ और वो ठंडी पड़ गयी, मैने उसका टी शर्ट निकाल दिया अब वो वाइट स्लिप मे थी, स्लिप के अंदर ब्लॅक कलर की ब्रा थी.

यह कहानी भी पड़े  दोस्त की बहन को चोदा

एकदम माल लग रही थी, मैने नाइट पैंट उतार दी और उसको सिर्फ़ ब्रा और पैंटी मे देखता रहा, वो भी मेरा साथ देने लगी, चुत पर घने बाल थे, ब्लॅक कलर की चुत थी और वो अभी तक वर्जिन थी, मैने चुत मे हाथ डाल दिया तो वो अया, उउउउउउ, मुआह्ह्ह्हा की सिसकारिया लेने लगी, मुझे भी बहोत मज़ा आने लगा.

हम दोनो पूरे नंगे हो गये थे, मैं चुत को सहला रहा था और बूब्स को चूस रहा था, बूब्स एकदम कड़क होगये थे और चुत अंदर से गीली हो गयी थी, बहन भी बड़े जोश मे मेरा साथ दे रही थी, मैने लंड निकालकर उसके हात मे दे दिया.

वो आगे पीछे करने लगी बाद मे उसने लंड मूह मे ले लिया पर पहली बार थी तो उसको वो पसंद नही आया और उसने मूह से लंड को बाहर निकाल दिया, मैने लंड को हाथ मे लेकर चुत के पास सेट किया और ज़ोर का ज़टका दिया, आधा लंड अंदर किया और वो आआअ, बस करो बोलने लगी.
मैने और एक झटका दिया तो लंड लगभग पूरा अंदर चला गया था और वो चिल्ला रही थी, सिल्पॅक होने के कारण ब्लड निकलने लगा तो वो घबरा गई, मैने उसे समझा दिया, रातभर हम चुदाई कर रहे थे और मैने 3 शॉट मारे, सुबह 6 बजे उठने के बाद और एक शॉट हो गया, विदाउट कॉंडम सेक्स किया था तो एक आई पिल लेकर उसको दे दी.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!