मामू से गांद चुडवाई और खाला की चूत चोदी

ही मेरा नाम अरबाब है. सबसे पहले में आपको बता डून की मैं एक दुबला पतला सा लरका हूँ. मेरी गांद काफ़ी बरी है और मेरे बूब्स भी हैं थोरे से.

मेरा जिस्म बिल्कुल एक लर्की जेसा है, ना जिस्म पे बाल ना कुछ. मैं बचपन से लरकिओं जैसा दिखता था. हर जगह लोग मुझे इस बात पे तंग भी करते थे.

मेरी फॅमिली काफ़ी बड़ी है, सब लोग साथ रहते हैं. मेरी फॅमिली और मेरे मामू और खाला की फॅमिली हम सब साथ रहते हैं. मामू सिंगल थे और आगे 30 साल थी और खाला मॅरीड हैं और आगे 26, मेरी आगे 19 साल है.

कहानी की तरफ आता हूँ.

मेरे मामू और मेरा बॉन्ड काफ़ी अछा था. बचपन से हम सब शेर करते थे. मैं घर का सबसे प्यारा था और सब मुझे एक लर्की की तरह ट्रीट करते थे. कोई मुझे लरका समजता ही नही था.

मैं काफ़ी शरीफ था और मुझे सेक्स का पता था तोरा बहुत लेकिन ये सब ग़लत समझाया गया था. मामू ने ही बताया था. लेकिन मुझे गे सेक्स का कुछ नही पता था.

एक दिन घर पे मैं और मामू अकेले थे और मैं नहा रहा था. मैं नहा रहा था अचानक मामू अंदर आए उनको पिशाब करना था.

मैं दर गया लेकिन मुझे शरम नही आई. क्यूंके मामू ने मुझे बचपन में नंगा देखा था और हम दोनो वैसे भी मर्द थे. लेकिन मामू ने मेरा जिसम काफ़ी सालों बाद देखा.

और जैसे की मैने बताया की मैं बिल्कुल लर्की जैसा दिखता था. मेरी क्लीन गांद देख कर मामू की नियत उस दिन से बदल गयी. और मामू वैसे भी कुंवारे थे.

मामू वहीं खरे खरे मूठ मारने लगे. मैने पूछा ये क्या कर रहे हो? वो बोले चलो साथ में नहाते हैं. और वो मेरे साथ शवर में खरे हो गये.

उनका 6.5 इंच का लंबा मोटा लंड मेरी गांद से टच हो रहा था. फिर उन्होने मुझे किस करना शुरू कर दिया. मैं परेशन हो गया.

फिर उन्होने मेरे बूब्स दबाना शुरू कर दिया. मैं उनको रोक ही नही पाया, मुझे भी मज़ा आ रहा था. मेरे मूह से आ आ की आवाज़ आ रही थी.

मामू ने मुझे उठा कर बेड पे ले गये. फिर मेरे पूरे जिस्म को छाता और मैं मज़े में पागल था. मामू ने मेरा लंड चूसना शुरू किया और मैं 2 मिन्स में उनके मूह में फारिघ् हो गया.

फिर मामू उठे मेरे बलों से पाकर कर मेरे मूह में अपना लंड दे दिया और मेरा मूह छोड़ते रहे. मुझे साँस ही नही आ रही थी. लेकिन उनको फराक नही पद रहा था. फिर उन्होने मेरे मूह में पानी चोर दिया.

तकरीबन 2 ग्लास जितना पानी था उनका. मुझे पीना परा और जब तक मुझे साँस आती तब तक मामू बातरूम से तेल लेके आए. मुझे उल्टा लेटया और गांद पे तेल लगा दिया. और तोरा अपने लंड पे.

फिर अपने लंड से मेरे होल पे रब करने लगे. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. अचानक मामू ने मेरी गांद में एक झकता दिया और मेरी आँखों के आयेज अंधेरा आ गया.

एक और झकता और मैं बेहोश हो गया. शाम को मेरी आँख खुली और मैं बेड पे लेता हुआ था. मामू साथ लेते हुए थे और मुझे उठते ही बोले – मैने सबको बोला है तुम बातरूम में गिर गये हो. और मुझे बोला किसी को ना बताना. मामू बोले रात को मेरे रूम में आना.

मुझसे चला नही जेया रहा था. खैर थोरी देर बाद मेरा दर्द कम हुआ. रात को हो गयी और मैं मामू के रूम में गया. सब सो चुके थे.

मामू मुझे देखते उठे और किस करने लग गये. मेरी गांद अभी भी इतनी खुली थी की मेरा हाथ अंदर जेया सकता था. किस्सिंग के बाद उन्होने मुझे फोन पे वीडियो दिखाई जो उन्होने सुबह बनाई थी.

मैं बेहोश था उसमे और वो मुझे छोड़े जेया रहे थे. उन्होने बताया की उन्होने मुझे 2 बार छोड़ा. उस रात फिर से उन्होने मुझे छोड़ा और मुझे बहुत मज़ा आया.

ऐसे मेरा और मामू का रीलेशन शुरू हो गया. मैं रोज़ रात को उनसे चुड़वता था. हम साथ में पॉर्न देखते सब करते. काई बार मुझे अपने दोस्तों के पास भी ले गये और उन सब ने मेरी गांद मारी.

अब कहानी का दोसरि साइड…

एक दिन मैं और मामू घर पे अकेले थे. और हमेशा की तरह मैं उनके पास गया और प्यार करने लगा. हुँने किस्सिंग की और चुदाई स्टार्ट की.

हमे आइडिया नही था की खाला वापस आ गयी है. हम अपनी चुदाई में मगन थे. खाला ने हमे देख लिया और वीडियो बना ली. अब खाला का मैं बता दूं, मॅरीड हैं लेकिन उनका डाइवोर्स हो गया था शादी के कुछ महीनो बाद.

खाला ने मुझे डिन्नर पे म्स्ग किया की आज रात मेरे कमरे में आना. मैं समझा ऐसे ही किसी काम के लिए बुलाया होगा. मैं रूम में गया और खाला बातरूम में थी.

मैने आवाज़ दी तो खाला ने बातरूम से झाँक के देखा और मुज्ज़े कुण्डी लगाने को बोला. जितनी देर में मैने कूडनी लगाई और मुड़ा. तो खाला बिल्कुल नंगी खड़ी थी.

उनका 36-30-38 का जिस्म देख के मेरा लंड खड़ा होने लगा. मैं गांद ज़रूर मरवाता था लेकिन मुझे लरकिओं की तरफ भी अट्रॅक्षन थी.

खाला ने मुझे बताया की उन्होने मुझे मामू से चुड़वते देख लिया और वीडियो बना ली है. और अगर मैं उनकी बात ना मानता तो वो सबको बता देगी.

वो असल में सेक्स की भूकी थी. उन्होने मुझे सब बताया की शादी के बाद भी उनको सही सेक्स ना मिला. और वो हर हफ्ते अपनी ऑफीस में कुछ लोगों से चुड़वति है जिनके साथ उनकी सेट्टिंग है.


लेकिन अब वो घर पे भी किसी को सेट करना चाहती थी और मुझसे बेहतर बकरा उनको कहाँ मिलता.

उन्होने मेरे काप्राय उतारे फिर उन्होने मेरा चूसना शुरू किया. इतना मज़ेदार ब्लोवजोब दिया की मैं 2 ही मिंट में उनके मूह में फारिग हो गया और वो पूरा पी गयी.

फिर उन्होने मुझसे अपनी छूट चटवाई. मैने 15 मिन्स तक छाती और वो मज़े से आ आ कर रही थी. फिर खाला ने मुझे अंदर डालने को बोला.

मेरा लंड भी 8 इंच जितना है लेकिन मामू जितना मोटा नही. उनकी छूट इतनी टाइट थी की क्या बतौन. मैं उनको छोड़ रहा था और बूब्स चूस रहा था.

फिर खाला ने मेरी गांद में एक सेक्स टॉय डाल दिया. मुझे इतना मज़ा कभी नही आया. वो असल में मामू से भी छुड़वा सकती थी. लेकिन मेरा लंड उनसे बड़ा था और मुझे फसाना भी आसान था. ऐसे मैने खाला को सारी रात छोड़ा. फिर मेरा और खाला का रीलेशन भी शुरू हो गया.

मैं एक दिन मामू से गांद मरवाता था और दिन मे खाला की चूत छोड़ता था. [email protected]

यह कहानी भी पड़े  मेरी अन्तर्वासना बौयफ्रैंड के दोस्त ने खंडर में शांत किया

error: Content is protected !!