मा और बेटे में सेक्स रीलेशन के स्टार्ट की कहानी

हेलो फ्रेंड्स, क्या हाल है सब के? आप सब ने मेरे इस रियल इन्सिडेंट का पिछला पार्ट रेड किया होगा. उसमे मैने बताया जब मेरा बेटा कॉलेज की स्टडी कंप्लीट करके घर वापस आया, तो मैने उसके लंड को देख लिया था पुर तनाव में. फिर मैने मेरे बेटे के लंड को सोच के 2-3 बार फिंगरिंग करी. जिन दोस्तों ने भी ये कहानी नही रेड की हो, तो इसका 1स्ट्रीट पार्ट ज़रूर रेड करो. अब आयेज-

तो उस दिन मैं 2 बार झड़ी, और फिर सो गयी. अगले दिन जल्दी उठ के मैं किचन में ब्रेकफास्ट बनाने गयी. कुछ देर बाद ब्रेकफास्ट रेडी हो गया, तो मैने अपने बेटे को आवाज़ लगाई.

मों: राज, राज.

लेकिन उसका रिप्लाइ नही आया. तो मैं उसको उठाने गयी, और जैसे ही डोर ओपन किया, तो वो खाली अंडरवेर में सो रखा था और उसमे उसका 8 इंच मोटा लंड पुर जोश में था. लंड देख के मैं और पागल हो गयी, और सीधा रूम में चली गयी, और उस दिन पहली बार इतना मोटा और लंबा लंड इतने करीब से देखा.

मैं उसके लंड के बिल्कुल करीब चली गयी, और पता नही उस टाइम मेरे अंदर कहा से हिम्मत आ गयी थी. फिर मैने उसका लंड अंडरवेर के उपर से ही देखा, और वो उसमे ही बहुत तगड़ा लग रहा था. मॅन कर रहा था अभी उसका अंडरवेर उतारू, और लेलू लंड अपनी छूट में. लेकिन दर्र भी था, की अगर ऐसा कर दिया तो कही वो जो मेरी इज़्ज़त करता है, फिर बात भी करना बंद ना कर दे.

इसलिए जैसे-तैसे मैने अपने आप पे कंट्रोल किया, और होश में आई. लेकिन क्या लंड था मेरे बेटे का आआहह. मैने भी एक सेक्सी सी नाइट पहनी हुई थी जिसमे मेरे बूब्स बहुत मोटे और थोड़े झुकने पर क्लियर दिख रहे थे. तो मैने अपने बेटे को उठाया.

मों: उठ जाओ राज. राज मी बेबी उठ जाओ, चलो नाश्ता रेडी है. फिर राज उठा, और सबसे पहले उसकी भी नज़र मेरे बूब्स पर पड़ती है. और ये सब मैं देख रही होती हू. वो भी एक टक्क से मेरे बूब्स को देखे जेया रहा था. इतने में मैने कहा-

मों: उठ जाओ राज, और फ्रेश होके जल्दी नीचे आ जाओ. हम साथ में नाश्ता करेंगे.

और इतना कह के मैं रूपाली के रूम में जाके उसको जगाने लगी. लेकिन वो पहले से ही उठी हुई थी. तो उसको भी मैने नीचे ब्रेकफास्ट के लिए बोल दिया. फिर मैने नीचे ब्रेकफास्ट टेबल पर लगा दिया, और राज के 8 इंच के मोटे और लंबे लंड के बारे में सोचने लगी.

आहह, क्या लंड था दोस्तों मेरे बेटे का, सही में अब रहा नही जेया रहा था. थोड़ी देर में ही मेरे दोनो बच्चे आ गये, और हमने नास्था किया, और फिर रूपाली कॉलेज चली गयी. मैं और राज बातें कर रहे थे वही बैठ के इधर-उदार की, और राज भी बीच-बीच में मेरे बूब्स को देख रहा था.

शायद अब वो भी मुझसे अट्रॅक्ट हो रहा था. फिर हमारी बाते ख़तम हुई, तो मैने राज को बोला-

मों: चलो फ्रेश हो जाओ नहा लो, मुझे भी पार्लर जाना है.

तो ये सुनते ही उसने कहा: क्या मों, आज पार्लर का ऑफ रख दो. वैसे भी हमने ज़्यादा टाइम स्पेंड किया ही कहा है. प्लीज़ मों.

मुझे क्या था. मैं तो बस अपने बेटे को अपना बाय्फ्रेंड बनाना चाहती थी. तो मैं मान गयी और बोली-

मों: चल बेटा कोई नही, तेरे लिए मैं ऑफ रख लेती हू. लेकिन हम करेंगे क्या घर में?

तो उसने बोला: मों चलो आज बाहर चलते है घूमने. मोविए, शॉपिंग सब कर लेंगे. तो मैं बहुत खुश हो गयी, और उसको बोला-

मों: ठीक है बेटा, तुम रेडी हो जाओ, मैं भी रेडी हो जाती हू.

वो बहुत खुश हुआ, और रेडी होने चला गया. इधर मैने भी झट से सारा किचन का काम ख़तम किया, और बातरूम में नहाने चली गयी, और वाहा मैं मेरे बेटे का लंड जो दिमाग़ में घूमे जेया रहा था, उसको इमॅजिन करके 2 बार झड़ी.

फिर जल्दी से नहा के मैने बॅकलेस टॉप पहनी, जिसमे मेरे बूब्स बहुत मोटे और बड़े दिख रहे थे. तोड़ा डीप नेक भी था. और एक टाइट जीन्स पहन ली, जिसमे मेरी आस एक-दूं शेप में दिख रही थी, टाइट और बिग आस. मैं बाहर आई रेडी होके, तो देखा वाहा राज ऑलरेडी मेरी वेट कर रहा था.

मैने उसको बोला: राज, कैसी लग रही हू मैं.

उसने मुझे देखा, और देखता ही रह गया. मैने उसको फिर पूछा-

मों: बताओ ना राज, कैसी लग रही हू? कहा खो गये? अगर अची नही लग रही हू तो बता दो (तोड़ा मूह बना के).

तो वो बोला: अर्रे-अर्रे, मेरी प्यारी और ब्यूटिफुल मों, आप तो बहुत सुंदर लग रही हो. किसी यंग लड़की को भी फैल कर रही हो आप. अगर बुरा ना मानो तो एक बात काहु आप से मों?

मैं बोली: हा-हा बोलो ना राज.

उसने कहा: मों आपका फिगर बहुत अछा है. एक-दूं पर्फेक्ट है. और आप एक-दूं यंग दिख रही हो. कोई नही बता सकता की हम मा बेटे है.

इतना सुनते ही मैं शर्मा गयी और उसको बोली: धात बदमाश. मैं कहा सुंदर हू, मैं तो बुद्धि हो गयी हू.

उसने कहा: नही-नही मों, सच में आप बहुत सुंदर लग रही हो. अगर आप मेरी मों ना होती, तो मैं आपको अभी प्रपोज़ कर देता अपनी गर्लफ्रेंड बनाने के लिए.

मैं आप सब को बता डू, क्यूंकी हम मॉडर्न विचार के थे, और राज और मैने काफ़ी बातें कर ली थी पहले ही, तो हम दोनो एक-दूसरे से ओपन हो गये थे. बॅक तो थे स्टोरी.

तो इतना सुनते ही मैं तोड़ा नाटक करते हुए बोली ताकि उसको ये ना लगे की मैं एक-दूं से रेडी थी.

मैने बोला: क्या बोल रहे हो राज? मैं तुम्हारी मों हू.

उसने बोला: सॉरी मों अगर आपको बुरा लगा हो तो. मैं तो बस आपकी तारीफ कर रहा था.

तो मैने बोला: इट’स ओक बेटा, चलो चलते है अब.

तब तक उसने एक बहुत ही रोमॅंटिक मोविए की टिकेट बुक कर रखी थी, जिसे हम दोनो देखने गये कार में. उस मोविए में बहुत से सीन्स थे किस्सिंग और बहुत ओपन सीन्स थे. उनको देख के मैं सिड्यूस होने लगी, और बीच में राज का हाथ पकड़ लिया. राज ने भी कुछ नही बोला, बस मेरा साथ दे रहा था.

हम दोनो थोड़ी देर के लिए भूल गये थे की हम दोनो मा बेटे थे. एक पूरी मोविए में एक-दूसरे का हाथ पकड़े रहे, और मैने उसके शोल्डर पर सिर रख दिया और हम किसी यंग गर्लफ्रेंड और बाय्फ्रेंड की तरह मोविए एंजाय करने लगे.

लेकिन जब मोविए एंड हुई, और लाइट्स ओपन हुई, तो हम दोनो ने झट से हाथ छ्चोढ़ दिया, और बाहर चले आए हॉल से.

राज ने पूछा: कैसी लगी मोविए मों?

मैने बोला: बहुत अची और रोमॅंटिक थी.

फिर हम शॉपिंग करने चले गये बगल वाले माल में. वाहा हम पहले एक लॅडीस शॉप पर गये, और मैने बहुत सी शॉर्ट ड्रेसस, 1 पीस, और ट्रॅन्स्परेंट सारी ट्राइ करी, और एक-एक करे अपने बेटे को दिखाई. मैने उससे सजेशन लिया की कैसी लग रही थी वो ड्रेसस मुझपे.

पहले मैने शॉर्ट ड्रेस ट्राइ की, जो सिर्फ़ मेरी जांघों तक आ रही थी मेरे घुटने से उपर, और उसमे मेरे बूब्स बहुत मोटे और आस बड़ी नज़र आ रही थी. वो मैने अपने बेटे को दिखाई. पहले तो वो मुझे उपर से नीचे तक देखता रहा, और फिर बोला-

राज: वाउ मों, आप बहुत सुंदर लग रही हो. लेलो ये ड्रेस, एक-दूं सेक्सी लग रही हो यार लेलो.

मैने वो और सारी ड्रेसस एक-एक करके उसको दिखाई, और मैने वो सब ले ली. उसने मेरे लिए एक सर्प्राइज़ गिफ्ट ले लिए था, जिसके बारे में उसने मुझे बाद में बताया और दिया. उसने मेरे लिए एक बहुत खूबसूरत और ट्रॅन्स्परेंट सी निघट्य और ब्रा और पनटी ले ली. वो भी मेरे साइज़ से एक नंबर स्माल और सब ट्रॅन्स्परेंट, और पॅक करवा ली थी.

उसके बाद हमने डिन्नर किया, और वाहा हम बातें करने लगे. और हा, मैने रूपाली को टेक्स्ट कर दिया था की मैं और राज बाहर जेया रहे थे, तो देर हो जाएगी, और वो खाना खा ले.

मों: वाउ राज, आज तो मज़ा ही आ गया. मैने बहुत दीनो के बाद ऐसे एंजाय किया है. तेरे दाद तो बाहर ही रहते है, तो फोन पर भी बहुत कम बात होती है. तो मैं एक-दूं अकेली पद जाती हू.

सोन: मुझे भी आपके साथ घूम के मज़ा आ गया. ऐसा लगा ही नही हम मा बेटे है, और देखा सब लोग हमे ही देख रहे थे. क्यूंकी आप हो ही इतने सुंदर और सेक्सी.

मों: चल हॅट बदमाश, मज़ाक मत कर.

बेटा: सच में मों, आप क़यामत ढा रही हो.

मों: अछा चल तू बोल रहा है तो मान लेती हू. वैसे तू भी कम स्मार्ट नही लग रहा है.

बेटा: अछा मों?

मों: हा बेटा सच में. अछा ये बता, वाहा तेरी कोई गफ़ नही बनी?

बेटा: नही मों, वाहा ज़्यादातर के तो बाय्फ्रेंड थे, और कुछ ओन्ली फ्रेंड्स थी. तो कोई मिली ही नही आपके जैसी खूबसूरत.

मों: अछा. मेरे जैसी कोई नही मिली सच में.

बेटा: हा मों, आपके जैसी कोई खूबसूरत लड़की नही मिली. आप कमाल हो मों. विल योउ बे मी गर्लफ्रेंड मों, प्लीज़?

ये सुनते ही पहले तो मैं बहुत खुश हुई मॅन ही मॅन. बुत पहले उसको बोला-

मों: क्या बू रहे हो बेटा? मैं तुम्हारी मों हू. हम दोनो गफ़ और ब्फ कैसे बन सकते है?

उसने बोला: मों किसी को पता नही चलेगा. हम घर में रूपाली या दाद आएँगे तो उनके सामने मा बेटा ही रहेंगे, और वैसे भी दाद तो बाहर ही रहते है, और रूपाली पूरा दिन कॉलेज और स्टडी. आप भी अकेली रह जाती है और मैं भी. हम फिर बाहर घूमने जाएँगे, तो गफ़ ब्फ रहेंगे.

फिर ये बात सुन के मैने तोड़ा सोचा, और उसको हा बोल दिया.

मों: एस मी बाय्फ्रेंड, ई आम रेडी तो बे युवर गर्लफ्रेंड मी हॅंडसम सोन.

और फिर वो बहुत खुश हुआ, और उसने मुझे वो सर्प्राइज़ गिफ्ट दिया और बोला-

सोन: इसको बाद में घर जाके ओपन करना.

फिर हमने डिन्नर ख़तम किया, और घर जाने लगे, और पार्किंग से कार निकाल के घर जाने लगे. फिर घर जाते-जाते वो मुझसे बोला-

सोन: थॅंक योउ मों, तो बे मी गर्लफ्रेंड. ई आम वेरी लकी. इतनी सुंदर औरत मेरी गफ़ है.

फिर मैने बोला: अकेले में तू मुझे मों नही बोलेगा. या तो मेरा नामे, या तो बेबी, शोना ये कह कर बोलॉगे मुझे तुम. और मैं तुम्हे. तुम कह कर बूलौंगी मेरे बाय्फ्रेंड जी.

ये सुनते ही राज बहुत खुश हुआ और बोला: जैसा तुम कहो मेरी जान सोनिया.

और फिर उसने कार साइड में लगा दी और मेरे करीब आया, और सीधा मुझे लीप किस करने लगा. हालाकी मैं भी यही चाहती थी. लेकिन पहले मैने उसको रोका और बोला-

मों: रूको-रूको मेरे बेबी. अभी टाइम है इन सब में. मैने तुम्हे अपना बाय्फ्रेंड बनाया है तो सब मिलेगा, और पूरा खुल के मिलेगा.

लेकिन वो नही माना और बोला: प्लीज़ मी जान, एक किस तो कर सकते है ना हम?

और फिर मैं मान गयी, और उसको हा बोला. फिर इतना सुनते ही उसने मुझे लीप किस किया एक-दूं फ्रेंच किस. कभी मेरा नीचे वाला होंठ उसके होत के अंदर कभी मेरा उपर वाला होंठ उसके मूह के अंदर. हम दोनो सब कुछ भूल गये और पागलों की तरह किस करने लगे. एक-दूं वाइल्ड किस जनवरो की तरह, और एक हाथ से वो मेरे बूब्स भी दबा रहा था.

इधर मैं भी पागल हो रही थी, तो मेरा भी हाथ उसके लंड पे चला गया, और जीन्स के उपर से ही मैं उसके मोटे लंड को सहलाने लगी. हम दोनो सब कुछ भूल गये थे, की हम कहा थे कों थे, क्यूंकी मैं भी बहुत दीनो से प्यासी थी, और मेरा बेटा तो था ही यंग. तो उसका तो पागल होना बनता था.

तो हम सब कुछ भूल गये, और करीब 15 मिनिट तक हमारी किस चलती रही. उसी बीच वो मेरे बूब्स दबाता रहा, और मैं उसका लंड. फिर वो अपना हाथ मेरी छूट में ले जाने लगा, और लगा भी दिया, जिससे मैं पूरी हिल गयी, और उसको वही रोका.

फिर उसको रोकते हुए बोला: जान प्लीज़ अभी यहा नही, यहा सड़क पर नही. ईज़ घर जेया कर आराम से करेंगे बेड पर. आज तुम्हे जन्नत की सैर कार्ओौनगी.

और वो मान गया. फिर उसने जल्दी से एक लास्ट किस की, और कार स्टार्ट की और घर की तरफ चल दिया. घर 15-20 मिनिट डोर ही था तो उस बीच वो मुझसे बोला-

सोन: आज मैं तुम्हे खुल के छोड़ूँगा, और तुम्हे चरम सुख दूँगा.

इधर मैं तो पहले से ही पागल थी उससे चूड़ने के लिए, और अब तो और पागल हो रही थी.

तो मैने भी बोला: मैं भी तुम्हे आज जन्नत की सैर कार्ओौनगी. तुम्हे भी पता लगे की एक औरत को छोड़ने में कितना मज़ा है. कितना मज़ा देती है औरत. और तू मेरा ही बेटा है. तुझसे तो आज मैं आचे से चुड़ूँगी मेरे राज.

सोन: ई लोवे योउ मेरी जान सोनिया

मों: ई लोवे योउ सो मच मेरी जान मेरे राज.

इसके आयेज क्या हुआ, वो आपको अगले पार्ट में पता चलेगा.

यह कहानी भी पड़े  चाची की चूत मे मेरा लंड


error: Content is protected !!