लड़कियों ने वॉर्डन को दिया चरमसुख

ही दोस्तों, मैं हू नीलम. अपनी कहानी का अगला पार्ट लेके मैं फिरसे आप सब के सामने हाज़िर हू. ई होप आप सब ने पिछले पार्ट का भरपूर मज़ा लिया होगा, और अगले पार्ट का इंतेज़ार कर रहे होंगे.

पिछले पार्ट में आपने पढ़ा था, की मैं दूसरे कॉलेज की लड़की रीना मिली, और हमारी दोस्ती हो गयी. फिर रीना के कपड़े खराब हो गये, और वो मेरे रूम में सॉफ करने आ गयी. उसके बाद हम दोनो के बीच में सेक्स हुआ. अब आयेज बढ़ते है.

सेक्स के बाद हम दोनो बेड पर लेते हुए थे. हमारे बदन नंगे थे, और हम दोनो एक-दूसरे की बाहों में बाहें डाल कर लेते थे. कुछ देर हमने बातें की, और फिर मेरा मूड दोबारा से बन गया. मैं फिरसे उसके उपर आ गयी, और हम दोनो ने एक-दूसरे के होंठ चूसने शुरू कर दिए.

ये सब करते हुए एक बात की तरफ हम दोनो ने ध्यान नही दिया, की जब हम रूम के अंदर आए थे, तब हमने दरवाज़ा सिर्फ़ बंद किया था, और उसको लॉक नही किया था. और ये चीज़ हमने अभी तक नोटीस नही करी थी.

अब हम दोनो मज़े से स्मूच कर रहे थे, और बेड पर कड्ड्ल कर रहे थे. तभी दरवाज़ा नॉक हुआ, और बाहर से वॉर्डन मेडम की आवाज़ आई. उसकी आवाज़ सुन कर हम दोनो घबरा गये, और इससे पहले की मैं जाके दरवाज़ा बंद कर पाती, मेडम अंदर आ गयी.

मेडम ने अंदर आके जो सीन देखा, उसको देख कर मेडम हक्की-बक्की रह गयी. मैं बेड के पास खड़ी थी, क्यूंकी मैं दरवाज़े की तरफ जाने लगी थी. और रीना बेड पर पड़ी थी. हम दोनो बिल्कुल नंगे थे.

अब मुझे समझ नही आ रहा था की मैं क्या करू. हम तीनो में से कोई कुछ भी बोल नही रहा था. मेडम हम दोनो की तरफ देखे जेया रही थी, और मैं और रीना मेडम की तरफ देख रही थी. फिर मैं बोली-

मैं: मेडम, मैं, वो, हम दोनो, बस, ग़लती से.

तभी मेडम बोली: ग़लती से! तुम दोनो मेरे सामने नंगी हो. दोनो की छूट गीली है, और दोनो हाँफ रही हो. चेहरे पर चाटने के निशान बने है. और तुम कह रही हो ग़लती से. कॉलेज में ये सब करने पर क्या होता है तुम जानती हो ना?

मैं ये सुन कर घबरा गयी, और रोने लगी. फिर मैने मेडम से कहा-

मैं: ई आम सॉरी माँ. मुझसे ग़लती हो गयी. आप जो चाहे सज़ा देलो, लेकिन मुझे कॉलेज से रेस्तिकते मत करवाना प्लीज़. मैं एक अची स्टूडेंट हू, मेरा कॅरियर खराब हो जाएगा.

आयेज बढ़ने से पहले मैं आपको वॉर्डन मेडम के बारे में बता देती हू. हमारी वॉर्डन मेडम एक 47 साल की सिंगल औरत है. सिंगल का मतलब यहा विधवा से है. उनकी एक बेटी है जिसकी शादी हो चुकी है, और वो कॅंपस में ही रहती है.

मेडम का रंग गोरा है, और फिगर 42-37-44 है. वो कॉलेज में फुल स्लीव फ्रॉक ही पहनती है. उस दिन भी उन्होने फ्रॉक ही पहनी थी. अब स्टोरी पे आते है.

मेरी रिक्वेस्ट सुन कर मेडम चेर पर बैठ गयी, और सोचने लगी. फिर वो बोली-

मेडम: हा अची स्टूडेंट तो तुम हो. और अगर कॉलेज से निकाल दी गयी, तो तुम्हारा कॅरियर खराब भी हो जाएगा. लेकिन मेरी सज़ा तुम दोनो के लिए आसान नही होगी.

मैं: मेडम मैं कोई भी सज़ा के लिए रेडी हू ( रीना ने भी मेरी हामी भारी).

मेरी ये बात सुनते ही मेडम चेर से खड़ी हो गयी. फिर उन्होने अपनी फ्रॉक उठाई, और अपनी पनटी निकाल दी. उसके बाद वो बोली-

मेडम: आओ मुझे खुश करो पहले.

उनकी ये बात सुन कर मैं और रीना हैरान हो गये, और एक-दूसरे की तरफ देखने लगे. तभी मेडम बोली-

मेडम: ऐसे एक-दूसरे को क्या देख रही हो? शुरू करोगी या मैं जाके कंप्लेंट करू?

हम जल्दी से आयेज बढ़े, और मेडम की फ्रॉक उठाई. उनकी छूट बालों से भारी हुई थी, और स्मेल मार रही थी. लेकिन हमे हर हालत में उनको खुश करना था. मैने जल्दी से मेडम की छूट पर अपनी जीभ लगाई, और उसको चाटना शुरू कर दिया.

मुझे उल्टी आ रही थी. लेकिन बचने के लिए ये सब करना ज़रूरी था. रीना ने तब तक मेडम की फ्रॉक को पूरा खोल कर उतार दिया, और अब वो सिर्फ़ ब्रा में थी.

फिर रीना ने मेडम के फेस को पकड़ा, और उनके होंठो से अपने होंठ मिला दिए. मेडम भी उसके होंठ चूसने का मज़ा लेने लगी. मैने छूट चूस्टे हुए मेडम का एक बूब दबाना शुरू कर दिया, और रीना दूसरा बूब्स दबाने लग गयी.

मेडम गरम हो रही थी, और उनकी छूट से पानी बहने लगा था. फिर रीना ने मेडम की ब्रा खोल दी, और उनके होंठ छ्चोढ़ कर उनके बूब्स का निपल चूसने लगी. अब मुझे भी उनकी बदबूदार छूट चूसने में मज़ा आ रहा था.

फिर हम तीनो उठे, और मैं और रीना मेडम को बेड पर ले गये. वाहा बेड पे जाके मेडम की छूट चूसने लगी, और रीना मेडम के फेस पर बैठ कर उन्हे अपनी छूट चुसवाने लगी. अब मेडम पागल हो रही थी, और उनकी छूट से माल बह गया. माल बहने के बाद वो बोली-

मेडम: आज सालों बाद मेरा माल निकला है. मुझे बहुत मज़ा आया.

ये बोल कर मेडम ने मुझे नीचे लिटाया, और मेरी छूट पर अपना मूह लगा लिया. अब रीना मुझे किस कर रही थी, और मेरे बूब्स दबा रही थी. मेडम छूट चाटने में एक्सपर्ट थी, और मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था. मैने उनका सर अपनी छूट में दबा लिया, और अपनी गांद हिला कर मूह को छूट पर रगड़ने लगी.

कुछ देर में मैं भी झाड़ गयी, और मेडम मेरा सारा पानी पी गयी. उसके बाद मैने और रीना ने स्ट्रॅप-ओं डिल्डो पहन लिए. रीना मेडम की जांघों ने बीच आ गयी, और मैं उनके मूह की तरफ.

फिर रीना ने लंड मेडम की छूट पर सेट किया, और अंदर डाल दिया. उसने एक ही झटके में लंड डाल कर मेडम की चीख निकलवा दी. मैने भी लंड मेडम के मूह में डाल दिया, और उनका मूह छोड़ने लगी. मेडम ह्म ह्म कर रही थी, और गांद हिला-हिला कर चुड रही थी.

मैं मेडम का मूह छोड़ते हुए उनके बूब्स दबाने लग गयी. हम दोनो ऐसे ही 20 मिनिट मेडम को छोड़ते रहे. फिर मेडम झाड़ गयी, और बस करने को बोली. जब रीना ने मेडम की छूट से लंड निकाला, तो उनकी छूट से बहुत सारा माल निकला. फिर हम तीनो नंगे ही बेड पर लेते रहे.

दोस्तों कहानी का मज़ा आया हो, तो इसको लीके और कॉमेंट ज़रूर करना.

यह कहानी भी पड़े  लेज़्बीयन लड़कियों का वेटर के साथ थ्रीसम


error: Content is protected !!