कमर में चोट के बहाने भाभी को चोदा

मेरा नाम सागर है, उम्र 20 साल है।
मैंने भाभी की कमर को गर्म पानी से सेक करवाने के बहाने कैसे चोदा, अपनी यह सेक्स कहानी आज आप सभी के सामने लिख रहा हूँ।

मैं अपने कॉलेज द्वारा उपलब्ध किए हुए हॉस्टल में रहता हूँ।

बात तकरीबन 2 महीने पहले की है।
मैं अपने हॉस्टल के पास रहने वाली भाभी को 2 महीने से नज़र में रख रहा था।

हमारे बाथरूम में एक रोशनदान की खिड़की है.. जिसमें अन्दर से बाहर का देखा जा सकता है.. लेकिन बाहर से अन्दर का नजर कोई नहीं देख पाता।

एक रोज़ की बात है जब मैं सुबह-सुबह अपनी बाल्कनी में अपनी गर्लफ्रेंड से बात कर रहा था, तभी भाभी अपनी छत पर आईं और अपने कपड़े सूखने के लिए डालने लगीं।
उसमें उनकी 3 ब्रा थीं, एक रेड कलर और दो ब्लैक थीं।
जब भाभी अपनी ब्रा सूखने डालने लगीं। तभी भाभी ने मेरी तरफ देखा और इशारे में बोलीं- अन्दर जाओ।

मैं समझ गया कि कुछ गड़बड़ है।
तभी उनकी छोटी लड़की आई और भाभी की नाइटी खींचने लगी।

मैं फिर से बाहर आया और मैंने भाभी को इशारे में कहा- आपकी लड़की बहुत क्यूट है।
इस पर भाभी हँस कर नीचे चली गईं।

जब मैं कॉलेज जाने को तैयार होकर हॉस्टल के गेट से बाहर आया.. तभी मैंने देखा कि भाभी अपने घर के गेट के पास खड़ी हैं।
उस वक्त मैंने भाभी को फिर से एक स्माइल दी.. पर उस वक़्त भाभी ने मेरी तरफ कोई रेस्पॉन्स ही नहीं दिया।
मुझे बहुत बुरा लगा और मैं कॉलेज चला गया।

यह कहानी भी पड़े  मस्त फ़ीगर वाली पड़ोसन भाभी की मस्त चुत चुदाई

मैं जब कॉलेज से वापस आया तो देखा कि भाभी के घर में लॉक लगा हुआ है।
मैंने कुछ देर वेट किया.. पर भाभी के घर का ताला नहीं खुला।

इस तरह 3 दिन बीत चुके थे भाभी घर पर वापस नहीं आईं।
मुझे थोड़ा टेंशन होने लगी और मैंने जानने की कोशिश करने की सोची।
मैं सबके पास से उनका फ़ोन नम्बर ढूंढने लगा, मुझे कहीं से भी नम्बर नहीं मिला।

जब मैं शाम को बाहर जा रहा था.. तभी मैंने देखा कि भाभी के गेट पर उनका नम्बर लिखा हुआ है। नंबर के ऊपर ‘टू-लैट’ का बोर्ड लगा हुआ था।
तो मैंने नम्बर ले लिया।

अब मैंने एक फेक नम्बर से कॉल किया और पूछा- आपके घर में किराए पर देने का बोर्ड लगा हुआ है.. क्या वो पूरा घर आपको रेंट पर देना है?

तब भाभी बोलीं- नहीं.. पूरा नहीं.. सिर्फ़ ऊपर वाला हिस्सा रेंट पर देना है।
मैंने तुरंत कॉल काट दिया।

उसके बाद अगले दिन भाभी अपने घर आ गईं। जब सुबह मैं फिर से अपनी गर्लफ्रेण्ड से बात कर रहा था.. तब भाभी बोलीं- किससे बात कर रहे हो?
मैंने कहा- गर्लफ्रेण्ड से..
भाभी बोलीं- कुछ किया भी है कि बस यूं ही?

मैं कुछ ना बोलते हुए अन्दर चला गया।

उसके बाद मैं सोचने लगा कि भाभी के घर कैसे जाऊँ। तभी दिमाग़ में एक ख्याल आया कि भाभी को बाथरूम से गिरने का बहाना करके उनके घर जाकर अपनी कमर को सेकने के लिए गरम पानी माँग लूँ।

जब मैं नहाने गया, तब मैंने जानबूझ कर बाथरूम में गिरने का बहाना किया और मैंने अपने दोस्तों से कहा कि मैं आज कॉलेज नहीं जाऊँगा।

यह कहानी भी पड़े  भाभी ने सेक्स की गोली खिलाकर चूत चुदवाई

उसके बाद मैं भाभी के घर पहुँचा और दरवाजे पर दस्तक दी।
भाभी आईं और बोलीं- क्या हुआ?

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!