दहाकति चूत की आग को शांत करने की कहानी

कहानी अब आयेज:-

मैं: और तू तो मेरे रंडी है ना साली.

नीतू: हा, बना लो ना रंडी अपनी. मैं तो हमेशा से रेडी हू. मुझे बस तुमसे ही सेक्स करना है.

उसके हाथो पर आता लगा हुआ था. उसने वो मेरे गालों पर लगा दिया, और हेस्ट हुए मुझे चूमने लगी. मैं भी उसके मुलायम होंठो को ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगा. एक हाथ से उसकी मोटी गांद दबाने लगा. नीतू की आगे 43 थी, लेकिन वो लगती 30-35 की. बहुत मस्त बदन था.

उसने मुझसे कहा: अछा बाबा, कर लो बस. मुझे हाथ तो ढोने दो.

मैने उसकी नही सुनी, और उसे उठा के बाहर सोफे पर ले आया. फिर एक बार में ही सारी उतार दी. ब्लाउस भी निकाल फेंका. मैने भी अपनी शर्ट और जीन्स निकाल दी.

नीतू मेरे सामने पेटिकोट और ब्रा में थी. मैने झट से पेटिकोट भी निकाल दिया. अब मैं उसके हॉट बदन को चाटने लगा. वो बस मेरे बालों को सहला रही थी. गरम-गरम मोन भरने लगी. मैं उसके बूब्स को ब्लॅक ब्रा के उपर से ही चाटने लगा. नीतू की सिसकियाँ निकल गयी.

नीतू: श आह उहह एस. क्या मस्त चाट-ते हो यार. तुम पूरा मज़ा दे देते हो. मेरी छूट को गीला कर दिया.

मैने उसकी ब्रा नीचे की, और उसके बूब्स बाहर आ गये. दोनो को बारी-बारी से चूसने लगा. 20 मिनिट मैने बूब्स दबा के चूज़, जिससे उसके शरीर की गर्मी उबलने लगी. वो मुझसे बोली-

नीतू: उम्म्म रोहित, अब रहा नही जेया रहा है. तुमने मुझे बहुत गरम कर दिया है. करो ना कुछ बेबी.

मैने उसकी पनटी निकाल दी, और अपना कक्चा उतार कर 7 इंच का लंड उसके मूह के सामने रखा. फिर उसको बोला-

मैं: चल रंडी. इसे चूस के गीला कर दे.

नीतू ने अपना मूह खोला, और लोड्‍ा चूसने लगी. चूस्टे हुए मुझे देखने लगी. मैने उसे होंठो पे किस दिया तो वो शर्मा के लोड्‍ा चूसने लगी. 10 मिनिट नीतू ने मेरा लंड चूसा. अब मैं सोफे पर बैठ गया, और उसे खड़ा किया.

मैने उससे कहा: नीतू जान, अब तू मेरे लंड को छूट में घुसा और चुड जेया.

उसने लंड पकड़ा और छूट के च्छेद पर रखा. धीरे-धीरे वो लंड पर बैठने लगी. आधा लंड अंदर गया तो उसकी चीख निकल गयी.

नीतू: आह मा आह उहह. बहुत बड़ा है यार ये तो.

मैने कहा: साली रंडी. नाटक मत छोड़. पहली बार नही चुड रही है. चल अब पूरा ले अंदर.

उसने बात मानी और गांद का ज़ोर लगा के छूट में लंड लेने लगी. उसने पूरा लंड छूट में ले लिया. नीतू के आँसू निकालने लगे थे. अब वो मज़े लेने के लिए धीरे-धीरे उपर-नीचे होने लगी. उसके मूह से धीमी-धीमी सिसकियाँ भी आ रही थी, जो हॉल के माहौल को गरम बना रही थी.

नीतू: उहह आह उफ़फ्फ़ श.

उसकी छूट में खुजली हो रही थी. तो अब उसने भी सब दर्द भुला के चूड़ना चाहा. अब नीतू ज़ोर ज़ोर से लंड पर उछाल रही थी. उसकी चुदाई से मुझे मज़ा आ रहा था. मेरे भी सिसकी निकल गयी.

मैं: उहह श मेरी जान. मज़ा आ गया साली.

नीतू मेरी चेस्ट पर हाथ रख कर, मुझे किस करते हुए मेरा लोड्‍ा छूट में अंदर-बाहर कर रही थी. टाइट छूट में लंड जेया रहा था, तो लंड और टाइट हो जाता. छूट की झिल्ली लंड को पकड़ लेती थी. नीतू भी पुर जोश में सिसकियाँ लेके लंड पर उछाल रही थी.

10 मिनिट बाद उसकी छूट ने अपना लावा छ्चोढ़ दिया. नीतू फिर भी 2 मिनिट और उछली. उसके बाद वो तक के लंड पर बैठ गयी. मैने उसे सीधा किया, और लंड छूट में घुसा के उसकी टांगे अपनी कमर से पकड़वा कर उसे छोड़ने लगा.

नीतू बस आँखें बंद करके मेरी नाक में मूह दबा के चुड रही थी. मैं ज़ोर-ज़ोर के झटके दे रहा था, जिससे नीतू का बदन उछाल जाता और उसकी चीख निकल जाती.

नीतू: आह आह श बहुत बेरेहमी से छोड़ते हो यार. लेकिन तुमसे चूड़ने में मज़ा बहुत आ रहा है. क्या एक्सपीरियेन्स देते हो तुम. आह ऑश हा छोड़ो मुझे.

15 मिनिट मैने नीतू को खूब दबा के छोड़ा. अब मेरा भी रस्स निकालने वाला था, तो मैने कहा-

मैं: उहह आह. बोल रंडी कहा लेगी मेरा रस्स?

नीतू: मेरे बाबू, सारा अमृत छूट में निकाल दो. बहुत प्यासी है बेबी.

मैने ज़ोर-ज़ोर के धक्के दिए. नीतू के बूब्स और बाल हवा में झुकने लगे थे. वो भी मस्ती में छूट मरवा रही थी. 2 मिनिट बाद ज़ोर के धक्के के साथ मेरे मूह से आह निकल गयी, और छूट में मेरा गरम वीर्या निकल गया.

मैं नीतू को किस करने लगा. नीतू भी पसीने में भर के मुझे चूमने लगी. नीतू मुझसे 5 मिनिट तक चिपकी रही. मैने भी छूट में लंड दबा के उसे चिपका लिया. मैने उससे कहा-

मैं: क्यूँ मेरी जान, आया ना मज़ा?

नीतू: हा मेरे राजा, तुम बहुत आचे हो, और बदमाश भी. मुझे काम नही करने देते हो. बहुत सारा काम बाकी है.

नीतू: तुमने मेरी छूट ठंडी कर दी. सुबह से तुम्हारे नाम से बहुत बार गीली हुई थी. अब जाके थोड़ी शांति मिली. अब मुझे जाने दो.

मैं: रुक ना, तुझे अभी रात भर छोड़ना है रंडी.

नीतू: मैने कब माना किया है बाबा? लेकिन अभी खाना भी बनाना है. देखो 8 बजने आए है. मुझे कपड़े भी न्यू पहनने है. मेरी ये सारी खराब कर दी तुमने. चलो बाबा अब जाने दो मुझे. राज आता ही होगा.

नीतू ने मेरे लंड को चाट के सॉफ किया, और मुझे एक स्मूच देके हेस्ट हुए कमरे में चली गयी. वाहा से वो निघट्य पहन के आई, जो उसके घुटनो तक थी. फिरसे छोड़ने का मॅन हो रहा था.

मैने उसे देख कर आँखों से लंड की तरफ आने को इशारा किया. उसने हेस्ट हुए आँखों से चुप रहने का इशारा किया. फिर वो मुस्कुराते हुए किचन में चली गयी. अब थोड़ी देर बाद ही अनिल भी आ गया और बोला-

अनिल: क्या भाई, कैसा है? कुछ हुआ क्या अभी?

मैं: हा, तेरे मा को अभी छोड़ा है यहा.

वो हेस्ट हुए बोला: ग्रेट ब्रो. ऐसे छोड़ते रहो. खुश रखो मा को. बहुत उदास रहती है. पापा भी मा से ठीक से बात नही करते है. तुम ही संभलो अब मा को.

मैं: हा भाई, मैं देख लूँगा. तेरी मा अब खुश है.

हम फिर थोड़ी देर ऐसे ही बातें करने लगे. इतने में 9 बाज गये और नीतू ने खाना रेडी कर दिया. हमने खाना खाया. नीतू को मैने अपनी गोद में बिता लिया, और अपने हाथो से खिलाने लगा. नीतू भी हेस्ट हुए मुझे खिला रही थी.

अनिल भी खुश हो रहा था. नीतू के चेहरे पर आज खुशी और एक अलग सा निखार था. अनिल बोला-

अनिल: मम्मी आप खुश हो ना अब?

नीतू: हा बेटा, मैं बहुत खुश हू. तुझे दिख नही रहा?

हमने रोमॅंटिक तरीके से आधे घंटे में खाना खाया, और सोफे पर मैं और अनिल आ गये. नीतू रेडी होने अपने रूम में चली गयी. 10:30 का टाइम हो गया था. अनिल ने पहले से ही हॉल में डेकोरेशन करवाया हुआ था न्यू एअर पार्टी के लिए. उसने केक और म्यूज़िक का इंतेज़ाम करवा रखा था.

देखते ही देखते 11 बजे गये. नीतू भी अब रेडी हो गयी थी. वो रेडी होके हॉल में आई. उसे देख के तो मेरा लंड फुल टाइट हो गया था. नीतू ने गोलडेन सारी और ब्लाउस पहना हुआ था. उसके बूब्स ब्लाउस में से देख रहे थे.

सारी में उसकी टाइट मोटी गांद दिख रही थी. मैने देखा था उसने अंदर ब्रा नही पहनी थी. इसलिए बूब्स बाहर आने को मचल रहे थे. फेस पर बहुत ग़ज़ब का दुल्हन जैसा मेक उप किया था. होंठो पर लिपस्टिक, आँखों में काजल. हेर स्टाइल चाहे सब कुछ ब्रिलियेंट लग रहा था.

अनिल भी अपनी मा को देख कर लंड मसल रहा था. नीतू मुझे देख कर स्माइल करने लगी. मैने कहा-

अब कहानी 3र्ड पार्ट में मिलेगी. बहुत मज़ा आने वाला है. असली और रियल चुदाई की कहानी पढ़ने के लिए बने रहना दोस्तों. किसी गर्ल, हाउसवाइफ, लेडी, भाभी, विधवा वाइफ को मुझसे रियल और सेक्यूर सेक्स चाहिए. तो मुझे मेसेज करे. आपको पूरा हज़्बेंड वाला फील और अची सेक्स लाइफ मिलेगी. आप मुझे गम0288580@गमाल.कॉम पर मैल करे.

आपकी सभी डीटेल्स प्राइवेट और गुप्त रखी जाएगी. थॅंक्स ड्के.

यह कहानी भी पड़े  पड़ोसी से चुडवाई चूत और गांद


error: Content is protected !!