दया, अंजलि, और जग्गू भाई के ग्रूप सेक्स की स्टोरी

अपने पिछले पार्ट में पढ़ा कैसे दया और अंजलि जग्गू भाई को सिड्यूस कर रही होती है, और दया अपनी अदा दिखा के जग्गू भाई को अपना दीवाना बना लेती है. अब आयेज-

दया ने ब्लू कलर की सेक्सी ब्रा पनटी पहनी हुई थी. उसके 36″ साइज़ बूब्स पर्फेक्ट शेप में दिख रहे थे. पनटी में उसकी गांद बहुत सेक्सी लग रही थी. कोई देख ले तो लंड हिलने बैठ जाए.

दया ने अपनी गांद जग्गू भाई को दिखाई. 28″ की कमर और 36″ इंच के हिप देख कर जग्गू पागल हो रहा था. अंजलि रेड कलर की ब्रा पनटी में थी. उसके 34″ साइज़ बूब्स मस्त दिख रहे थे. दया को देख कर अंजलि भी अपनी अदाए जग्गू को दिखाने लगी.

जग्गू दोनो के बूब्स देख के मूह में पानी आ रहा था. दोनो की गांद मारने को उसका लंड फुदाक रहा था. मीनाक्षी पतली औरत थी, पर दया और अंजलि पर्फेक्ट कर्व फिगर वाली थी.

दया और अंजलि उसको नॉटी स्माइल पास करते अपनी गांद मतकते हुए स्विम्मिंग पूल में उतार गयी. जग्गू ये देख कर सिंगल शॉट में पेग ख़तम कर देता है, और अपने कपड़े उतारने लगता है. दया उसको रोकते हुए बोलती है-

दया: जग्गू अभी इतनी भी जल्द-बाज़ी मत करो. अभी हम आपका एक टेस्ट लेंगे. अगर आप पास होंगे, तो आप हमारे साथ स्विम्मिंग पूल में आ सकते है. टेस्ट ये रहेगा की आप अपना हाथ आपके उस हथियार को टच नही कर सकते.

जग्गू का लंड तो पंत में फटने जैसा हो गया था. लेकिन दया की बात सुन कर दूसरा पेग बनता है. अब दया और अंजलि एक-दूसरे पे पानी डालती है, और जग्गू को एक रोमॅंटिक म्यूज़िक चलाने को बोल देती है. दया के बूब्स ब्रा को भीग जाने से थोड़े ज़्यादा हार्ड हो गये थे.

उसका गोरा पेट पानी की बूँदो से चमक रहा था. अंजलि भी कुछ कम नही थी. रेड ब्रा में उसके बूब्स शाइन कर रहे थे. पानी की बूंदे उसके गीले बालों से उसके बूब्स की गहराई में जेया रही थी. दया जग्गू को सेडक्टिव नज़र से देख रही थी. जग्गू भाई अपने दाँत से अपने लिप्स चबता है. दया वो देख के और एक स्माइल पास करती है.

ये देख के जग्गू भाई बहुत ही खुश हो जाता है. वो सोच रहा होता है ये उसकी लाइफ का बेस्ट दे था. अंजलि और दया जग्गू को देखते हुए एक-दूसरे के बॉडी पार्ट से खेलती है.

दया अब अंजलि को अपनी तरफ खींच लेती है, और उसकी गांद पे एक थप्पड़ मार्टी है. पानी की ज़ोर से आवाज़ आती है, और साथ में अंजलि की आ निकल जाती है. अब वो अंजलि की गांद और शोल्डर को टच करते हुए अपने लिप्स अंजलि के लिप्स के पास ले जाती है. अंजलि से अब कंट्रोल नही होता, तो वो खुद से दया के लिप्स चूसने लगती है.

5 मिनिट के किस के बाद दोनो जग्गू भाई की और देखते है. वो बेचारा कुत्ते की तरह उन दोनो को देख रहा होता है. ये देख कर दोनो की हस्सी निकल जाती है. अब दया अंजलि के बूब्स को हाथ में पकड़ लेती है, और उसको प्रेस करने लगती है. स्विम्मिंग पूल का ठंडा पानी और दया की ऐसी हरकत से अंजलि गरम हो जाती है वो दया से चिपक जाती है.

अब अंजलि दया के बूब्स दोनो हाथ से पकड़ लेती है, और दबाने लगती है. दया की आ निकल जाती है. अंजलि ब्रा के उपर से बूब्स पे किस करती है, और बूब्स से होती हुई पेट पर किस करती है और जग्गू की और देखती है. फिर वो उसको आँख मार्टी है. दया को अंजलि के साथ शरारत सूझती है, तो वो अंजलि की पनटी में हाथ डाल कर उसकी छूट सहला देती है.

उससे अंजलि के फेस के एक्सप्रेशन्स चेंज हो जाते है, और दया उसकी छूट में उंगली डाल देती है. पानी में क्या हो रहा है जग्गू को कुछ समझ में नही आता. वो तो अंजलि के एक्सप्रेशन देख के उसको छोड़ने के लिए रेडी हो जाता है.

जग्गू भाई: अर्रे तुम दोनो मुझे मार डालगी. ये मैं अब से नही पा रहा हू. मुझे प्लीज़ आपके पास आने दो.

दया: ठीक है, पर एक शर्त पे.

जग्गू: अब कैसी शर्त? आप जो बोलॉगी, मैं वो करूँगा. आपका गुलाम बन जौंगा.

दया: सॅकी? तो ठीक है.

जग्गू अपने कपड़े निकालने जाता है, तो अंजलि टोकती है. और तोड़ा सेक्सी स्माइल पास करके कहती है-

अंजलि: जग्गू आप रुकिये. मैं अपने हाथो से आपके कपड़े उतारना चाहती हू.

फिर अंजलि पूल के बाहर आती है, और जग्गू के पास जाके उसके साथ चिपक जाती है. अंजलि उसके दोनो हाथ जग्गू भाई की चेस्ट पे घुमा रही होती है. जग्गू का लंड तो पंत में फटने जैसा हो गया था. एक-दूं टाइट लोहे की रोड जैसा हो गया था. अंजलि भी पहली बार लंबे चौड़े आदमी के साथ ये सब कर रही थी.

अंजलि के दोनो हाथ जग्गू भाई के मज़बूत दॉलों को सहला रहे थे. वो जग्गू भाई की आँखों में देखती है, और अंजलि की आँखों में आँसू आ जाते है. जग्गू भाई अंजलि की आँखों में आँसू देख के तोड़ा एमोशनल हो जाता है.

अंजलि: जग्गू मैने आज तक तारक को चीट करने के बारे में नही सोचा. लेकिन आप क्या हो मुझे नही पता. मैं आपका प्यार पाना चाहती हू. मैं आपसे हर एक सुख लेना चाहती हू. क्या आप मुझे पसंद करते है?
( जग्गू भाई अपना सर हा में हिलता है)

अंजलि: जग्गू तुम हो कों? क्या है आप में? मैं आपकी और खीची चली आई हू. मैं आपकी रंडी बन कर आपकी सेवा करूँगी. मुझे बस आपका प्यार चाहिए.

अंजलि के ये बात सुन कर जग्गू शर्मा जाता है. वो अंजलि को पकड़ के किस करता है. अंजलि भी पूरा रेस्पॉन्स करती है. अंजलि उसकी जीभ जग्गू के मूह में डाल देती है, और जग्गू भाई के मूह का रस्स-पॅयन करती है. वो दोनो एक-दूसरे के प्यार में खो चुके थे.

10 मिनिट की लंबी किस के बाद वो दोनो अलग होते है. जग्गू अंजलि के पीछे जाके उसके बूब्स हाथ में पकड़ लेता है, और उसे दबाने लगता है. अंजलि अपनी आँखें बंद करके वो पल एंजाय करती है. धीरे से जग्गू उसकी नेक पर किस करता है, और एक हाथ अंजलि की पनटी में डाल देता है. छूट छूटे ही अंजलि में करेंट आ जाता है.

वो आँखें बंद करके आ उ जैसी आवाज़े निकालती है. अंजलि अपना एक हाथ पीछे करके जग्गू का लंड हाथ में पकड़ लेती है, और उसको दबाने लगती है. जग्गू भी उसकी गांद में फिर लंड टच करके उसका फील लेता है, और साथ में उसके बूब्स दबाता रहता है. पूल में से दया आवाज़ लगती है.

दया: अंजलि भाभी मैं भी यहा पर हू. मुझे भी तोड़ा मज़ा करने दो (और तीनो हस्स पड़ते है.)

अंजलि: जग्गू चलो पूल में, आपकी एक और रंडी आपका इंतेज़ार कर रही है.

नेक्स्ट पार्ट में आपको पता चलेगा पूल में क्या-क्या धमाल होता है.

यह कहानी भी पड़े  पति और पड़ोसी के साथ थ्रीसम सेक्स की


error: Content is protected !!