कॉलेज फ्रेंड की चूत ओर गॅंड मारी

हेलो दोस्तों, मेरा नाम अभी शर्मा है और मैं अहमदाबाद से हु. मैं अभी बी.कोम कर रहा हूं, और पिछले साल ही मैंने ग्रेजुएशन कंप्लीट किया है.

यह स्टोरी मेरी और मेरी कॉलेज की फ्रेंड सोनी की है वह भी बी.कॉम में मेरे साथ पढ़ती थी.

वैसे तो कॉलेज में मेरी बहुत सी गर्लफ्रेंड थी क्योंकि मैं गोरा हूं और मुझे १२वीं स्टैंडर्ड से जिम का शौक है तो मेरी पर्सनैलिटी भी ऐसी ही बनी है कि कोई भी लड़की मुझ पर फिदा हो जाए. एक बार तो दिल्ली की एक लड़की ने मुझे वहां बुला कर सेक्स किया और मेरे 6 इंच के लंड की दीवानी बन गई.

और मैं अब सोनी के बारे में बता दूं, वह एक ब्लैक ब्यूटी है जिसका फिगर ३६-३०-३८ है उसकी गांड पता नहीं कैसे लेकिन बहुत ज्यादा बड़ी और टाइट है, पीछे से एकदम बाहर की तरफ निकली हुई.

हमारी मुलाकात सेकंड ईयर में हुई थी, लेकिन तब मेरी एक गर्लफ्रेंड थी, तो मैं उस पर ज्यादा ध्यान नहीं देता था, लेकिन फिर मेरा उसके साथ ब्रेकअप हो जाने के बाद मैं क्लास में पूरा दिन दुखी बैठा रहता था, तो एक दिन सोनी ने मुझसे कहा कि ऐसे दुखी क्यों बैठे रहते हो पूरा दिन?

फिर मैंने बताया कि मेरा गर्लफ्रेंड से ब्रेकअप हो गया है.

तो उसने कहा ओह्ह सो सेड.. फिर मेरा हाथ पकड़ कर बोली अच्छा चलो मुझे आइसक्रीम खिलाने ले चलो.

मैं भी स्माइल करते हुए उसके साथ आ गया और हम दोनों रिवरफ्रंट जाकर आइसक्रीम खा कर थोड़ी देर बैठे और बातें करते रहे.

और फिर हम रोज ऐसे ही साथ साथ घूमने लगे और कुछ ही टाइम में हम बेस्ट फ्रेंड बन गए, लेकिन मेरे माइंड में उसके लिए सेक्स की कोई भावना नहीं थी.

यह कहानी भी पड़े  जवान देसी लड़की की चूत की पूरी रात चुदाई

फिर ऐसे ही कुछ टाइम बाद संडे को उसका कॉल आया कि कहीं बाहर घूमने जाना है, तो मैं उसे लेकर गांधीनगर ले गया और वहां पूरा दिन हम घुमे और शाम को ७ बजे हम वस्त्रापुर गार्डन आकर बैठ गए, वहां सब ज्यादा तर कपल्स ही बैठे थे, और एक दूसरे को किस कर रहे थे. और कोई तो फिंगरिंग भी कर रहा था, वह देखकर मैं उन सब को ध्यान से देखने लगा तो सोनी ने मेरे मुंह को अपनी साइड करके बोला हेलो इधर में बैठी हूं.. आप यहां अकेले नहीं बैठे हो..

फिर मैंने उसको देखा और कहा काश मेरी कोई गर्लफ्रेंड होती, तो आज मैं भी उसको इधर बैठ के किस कर रहा होता.

फिर उसने बोला अच्छा तुम्हें किस करने का मन हो रहा है?

मैंने बोला – हां यार.

फिर उसने बोला अच्छा तो किस तो हम दोनों भी कर सकते हैं ना, हम दोस्त हैं और अगर हम एक दूसरे की खुशी के लिए इतना तो कर ही सकते हैं..

मैंने बोला – अच्छा.

फिर उसने बोला हां मैं तुम्हारी हर विश पूरी कर दूंगी.

और वह मेरे नज़दीक आकर मेरे होठों पर किस कर दिया और कहा अब तो खुश हो ना? मैं हंसने लगा और कहा इसे थोड़ी ना किस कहते हैं, यह तो पप्पी है, कीस तो थोड़े लॉन्ग टाइम के लिए करते है. फिर उसने बोला

वह – यह सब मुझे नहीं आता है.

फिर मैंने बोला नहीं आता तो मैं सिखा दूंगा.

फिर उसने शर्मा के कहा फिर सिखा दो ना.

यह कहानी भी पड़े  आंटी की मक्खन लगाकर चुदाई दिवाली में

मैंने उसको अपने पास खींचकर एक हाथ उसके कमर पर रखा और उसके होठ पकड़कर उसके ऊपर के होंठ को चूम लिया.

और फिर मैं उसको किस करता रहा, उसकी सांसे बढ़ने लगी और वह भी मेरे को पागलों की तरह किस करने लगी.

हमने लगभग ५ मिनट तक किस किया और तभी उसका कॉल आ गया और उसकी मां ने बोला वह और उसका भाई को गांव जाना है, तो तुम घर आकर सामने के घर से चाबी ले लेना.. वह लोग ६ दिन के बाद वापस आ जाएंगे..

तब तक घर पर रहना और घर का ख्याल रखना और उसके राहुल भैया जो की उसके कजिन है उनको रहने के लिए बुला लेना और फिर फोन कट हो गया.

फिर उसने मुझे वही सारी बातें बताई और बोली कि मुझे घर छोड़ दोगे प्लीज..

मैंने बोला क्यों छोड़ दूं?? तुम्हें तो आज मेरी हर विश पूरी करनी है ना..

तो वह बोली फिर कभी कर लेंगे, लेकिन आज तो घर जाना पड़ेगा.

मैंने बोला फिर मैं चलूं तुम्हारे घर साथ पर?

वह बोली – हां चलो.

मैं बोला – रात तेरे साथ बीताऊंगा..

वह हंसकर बोली है क्या हमारी सुहागरात है जो मेरे साथ बितानी है रात और घर पर क्या बोलोगे?

मैंने बोला वह तो मैं बोल दूंगा कि फ्रेंड के घर पढ़ने जा रहा हूं, सुबह आ जाऊंगा तो वह बोली अच्छा रात बिताने के बाद सुबह मुझे छोड़कर चले जाओगे??

मैंने बोला – अरे बाबा मैं तुम्हें क्यों छोडूंगा, मन तो करता है कि…

वह बोली रुक को क्यों गए? बोलो ना क्या मन करता है आपका?

Pages: 1 2 3

Comments 1

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!