कार में गरमा-गर्मी वाले मज़े की कहानी

हेलो फ्रेंड्स, ई आम किंजल (बॉय) फ्रॉम आमेडबॅड, गुजरात. हाउ अरे योउ ऑल? ई विश आप सब हेल्ती आंड हॅपी होंगे. मेरी लास्ट स्टोरी को आप लोगों का बहुत प्यार मिला. मुझे बहुत सारे मेल्स मिले. आपका प्यार ही मुझे अपने नये-नये एक्सपीरियेन्स शेर करने के लिए एनकरेज करता है. और एक बात बताना चाहता हू. मैं बॉय हू, तो सिर्फ़ नामे पढ़ के मैल मत कीजिए.

ई लीके ओपन माइंडेड लॅडीस आंड कपल्स. ई रेस्पेक्ट एवेरिवन’स प्राइवसी. सो गुजरात से किसी भी आगे की लेडी या कपल मुझे बिंडसस मैल कर सकता है. मेरी मैल ईद स्टोरी के लास्ट में दी है.

बहुत टाइम से मैं स्टोरी नही लिख पाया बिकॉज़ ऑफ सम पर्सनल रीज़न्स. बुत ये मंत में ही मेरे साथ एक एग्ज़ाइटिंग थिंग हुई, जो मैं आप सब के साथ शेर करना चाहता हू.

तो बात ये औग मंत की है. एक दिन मैं अपनी मैल चेक कर रहा था, तो उसमे मुझे एक मैल दिखा जिसमे लिखा था-

मैल: ही ब्रो, आपकी स्टोरी पढ़ी. हम कपल है, और आपकी स्टोरी पढ़ के हम दोनो बहुत एग्ज़ाइटेड हो गये. हमने पहले कभी ऐसा कुछ किया नही है. लेकिन अभी लाइफ में कुछ अड्वेंचर करना चाहते है.

उनका मैल पढ़ के मैने गेंट्ली उनको रिप्लाइ दिया, और फिर मैने उन्हे अपनी इंस्था ईद दी. वाहा पे वो हज़्बेंड और मैं रेग्युलर वाय्स कॉल पे बात करने लगे, उनकी फॅंटेसी के बारे में, उन दोनो को क्या-क्या पसंद है.

और हा एक और बात, मैं कभी किसी का मोबाइल नंबर नही लेता फॉर प्राइवसी रीज़न्स. मैं किसी से से भी फ्ब या इंस्था पे वाय्स ओर वीडियो कॉल में टच में रहता हू. ताकि आपकी प्राइवसी सेफ रहे.

3-4 दिन हमने वाय्स कॉल में बात की. बातों-बातों में मुझे पता चला की वो कपल की आगे 38 हज़्बेंड, और 34 वाइफ थी. उनके 2 बच्चे है, और वो राजकोट के रहने वाले है. एक दिन उन्होने दोपहर में मुझे कॉल किया, और अपनी वाइफ से मेरी वाय्स कॉल में बात करवाई तब मैने उनसे थोड़ी नॉटी बातें भी की. इससे वो खुश हो गयी.

वो रात अपने हज़्बेंड से मस्त चुडवाई. ये उसके हज़्बेंड ने दूसरे दिन बताया. फिर हमने कुछ दिन फोन सेक्स भी किया, और उनको मेरे साथ कंफर्टबल फील होने लगा. फिर वो दोनो मुझसे बातें करके इतना एग्ज़ाइटेड हो गये की उन्होने 2 दिन के लिए अबू में घूमने का प्लान बनाया, और मुझे वाहा आने को बोला.

हम लोगो प्लान करके डिसाइडेड दे अर्ली मॉर्निंग 4 बजे निकले. वो लोग कार लेके निकले थे. उनकी बताई जगह पे मैं उनके साथ कार में बैठ गया. तब मैने फर्स्ट टाइम वो भाभी को देखा.

आहा, क्या खूबसूरत माल थी. एक-दूं गोरी-चित्ति और हेल्ती, ह्यूज बूब्स, ह्यूज टिट्स. आप लोग इमॅजिन के लिए हुमा करिशी को इमॅजिन कर सकते हो. वैसी ही दिखती थी वो साइज़ में.

उन्होने ब्लू सारी, ब्लॅक स्लीव्ले ब्लाउस पहना था. उसका हज़्बेंड ड्राइव कर रहा था. भाभी आयेज बैठी थी, और बच्चे पीछे थे. उनके 2 बच्चे 5 साल से नीचे थे. मैं भी पीछे बैठ गया, और शुरू हुआ हमारा सुहाना सफ़र.

हम धीरे-धीरे थोड़ी सेक्सी बातें करने लगे तीनो डबल मीनिंग में. उनके बच्चे सो गये थे, और रोड पे भी इतना ट्रॅफिक नही था. तो मैने धीरे से अपना हाथ लेके भाभी के पेट पे रख दिया, और उनकी नेवेल सहलाने लगा. वो भी स्लोली-स्लोली मूड में आ रही थी, और हल्की-हल्की सिसकारियाँ ले रही थी. इतने में उनका हज़्बेंड बोला-

हज़्बेंड: यही शुरू हो गये तुम दोनो.

वाइफ: देखो ना जी, ये किंजल है की अभी से मूड बनाने लगा. रूको मेरे प्यारे देवर जी. अभी तो 2 दिन मैं आपकी ही हू.

मैं तो उसके पेट पे हाथ सहलाता रहा, और स्लोली-स्लोली हाथ ब्लाउस पे घूमने लगा. उन्होने स्लीव्ले ब्लाउस पहना था, तो उनकी अंडरआर्म को भी टच करने लगा. इससे उनको गुदगुदी होने लगी, और वो पीछे मूड गयी.

मेरा तो लंड अब तक फुल टाइट हो गया था. उन्होने अपना हाथ सीधे मेरे लंड पे रख दिया, और उनका जोश देख के मैने अपना हाथ सारी के अंदर से ही ब्लाउस में डाल दिया. सर्प्राइज़िंग्ली उन्होने ब्रा भी नही पहनी थी. तो सीधे उनके मुलायम बूब्स मेरे हाथ में आ गये. शायद वो ये पहले से प्लान करके आई थी.

फिर उन्होने बच्चो पे एक नज़र डाल के मेरी पंत की ज़िप ओपन की, और अंदर से मेरा बड़ा लंड बाहर निकाल के देखने लगी. मेरा हाथ उनके निपल पे गोल-गोल चल रहा था. वो अपने से बोली-

वाइफ: हाए देखो जी, कितना बड़ा है इसका. 2 दिन मैं तो ये लंड पे बहुत उछालने वाली हू.

हज़्बेंड: हा मेरी जान. तेरी खुशी के लिए तो जेया रहे है. जितना चाहे एंजाय करना.

हम दोनो का ये सीन देख के उसके हज़्बेंड का भी खड़ा हो गया. ये सब रन्निंग कार में हो रहा था. फिर वो भाभी ने अपने हज़्बेंड की ज़िप खोल के उनका भी लंड बाहर निकाला. उसका लंड भी ठीक था, लेकिन ऐसी गड्राई घोड़ी को काबू कर सके ऐसा नही लगा.

वो भाभी हम दोनो के लंड पकड़ के सहलाने लगी. मैं उनके बूब्स मसालने लगा, और फिर तो उनसे रहा नही गया, तो मुझे लीप किस करने लगी. मैं भी भरपूर साथ देने लगा. उसके जिस्म पे हाथ घूमने लगा.

चान्स देखते ही मैं उनका पेटिकोट उपर खींचने लगा और किस्सिंग के साथ उनकी जाँघ सहलाने लगा. आहह, क्या स्मूद जाँघ थी यारों, हम लोगों का रोमॅन्स देख के उसके हज़्बेंड का तो निकल गया.

फिर उसने अची सेफ जगह देख के कार को साइड में पार्क कर दिया. हम दोनो तो फुल लगे हुए थे. अब मेरा हाथ जाँघ से होते हुए उसकी पनटी पे चलने लगा, और उसकी पनटी बहुत गीली हो चुकी थी. मैने पनटी को तोड़ा खिसका के छूट में उंगली करना चालू कर दिया. इससे वो और एग्ज़ाइटेड हो गयी और मेरा लंड बहुत ज़ोरो से हिलने लगी.

मैं बोला: भाभी ये आपके मूह का वेट कर रहा है.

वाइफ: अछा मेरे जानू, तो ये लो मूह में ले लेती हू. अब 2 दिन ये मेरा ही है.

और वो आयेज की सीट से पीछे झुक कर मेरा लंड मूह में लेने लगी. क्या चूसा था यार, जन्नत फील हो रही थी मुझे. मैने उनके ब्लाउस के बटन खोल दिए, और उनके बूब्स को मसालते हुए उनका मूह छोड़ने लगा.

उसका हज़्बेंड ये सीन देख रहा था. करीब 20 मिनिट उसने मेरा लंड चूसा, छाता, और जब मेरा निकालने को हुआ, तो मैने उनको बोला की आने वाला है.

तो वो और डीप लेने लगी मेरे लंड को. 5 मिनिट में मेरा पूरा क्रीम उनके मूह में निकल गया. वो ज़्यादातर क्रीम पी गयी, और मेरी क्रीम से उसकी सारी, ब्लाउस, बूब्स, सब भीग गये. वो एक-दूं सेक्सी रंडी की तरह मेरे सामने दिख रही थी.

फिर मैने उनको सब पोंछने में हेल्प की, और उनको पीछे आने का इशारा किया. उसके हज़्बेंड ने एक छ्होटे बच्चे को उठा के आयेज ले लिया, और दूसरे को एक साइड कोने में सुला दिया. अब मैं बीच में और एक साइड भाभी थी.

अभी उसके हज़्बेंड ने फिरसे कार स्टार्ट की, और मैं भाभी की जाँघ फिरसे सहलाने लगा. अब तोड़ा-तोड़ा उजाला होने लगा था. लेकिन रोड खुला था. तो कोई दिक्कत नही थी. मैं फिर चूत में उंगली डालने लगा, और इस बार मैने उनकी पनटी खींच के निकाल दी. उसका हज़्बेंड हमारा सीन देख रहा था आयेज से.

फिर मैं उसकी पूरी सारी और पेटिकोट उठा के नीचे बैठ गया, और उसकी छूट में मूह लगा दिया. मेरी जीभ से उसकी छूट का दाना रब करने लगा. वो स्लोली-स्लोली मोनिंग करने लगी, और मेरा हेड छूट में दबाने लगी. मैं उसकी गांद दबा के छूट चाट रहा था. वो एक्सट्रीम्ली एग्ज़ाइटेड हो गयी थी, और उसकी छूट ने 10 मिनिट में ही पानी छ्चोढ़ दिया.

वो पूरी सीट गीली हो गयी थी, और उसके चेहरे पे संतुष्टि दिख रही थी. फिर उसने मुझे बहुत लोंग लीप किस किया, और थॅंक योउ बोला.

वाइफ: ऐसा अड्वेंचर लाइफ में फर्स्ट टाइम किया है. अभी तो 2 दिन फुल्ली मज़ा चाहिए मुझे. जो करना है कर लेना, 2 दिन मैं सिर्फ़ तुम्हारी हू.

फिर हमने कपड़े ठीक किए, और आचे से बैठ गये. ऐसे ही सेक्सी बातें करते-करते हम लोग अबू पहुँच गये. वाहा हमने 2 अलग-अलग रूम लिए होटेल में, और फिर रूम में जाके फ्रेश हुए. वाहा पता नही भाभी को क्या हुआ, तो वो मेरे रूम में फ्रेश होने आ गयी.

फिर 2 दिन क्या-क्या हुआ वो सब अगले पार्ट में बतौँगा. तब तक आप मेरी स्टोरीस पढ़ के एंजाय कीजिए, और स्पेशली गुजरात से मेच्यूर अनसॅटिस्फाइड हाउसवाइफ आंड फन लविंग कपल मुझे बेफिकर मैल कर सकते है. मेरी मैल ईद है किंजलपटेल260@गमाल.कॉम

स्टोरी पढ़ने के लिए धन्यवाद, और स्पेशल थॅंक्स तो ड्के. आपके और सिर्फ़ आपके मैल का इंतेज़ार रहेगा सेक्सी लॅडीस.

यह कहानी भी पड़े  कहानी जिसमे लड़के ने अपने दोस्त की मा के साथ किए मज़े


error: Content is protected !!