भाई का माल पीने के पहले एक्सपीरियेन्स की कहानी

हेलो फ्रेंड्स, शुरू करने से पहले आपको अपने बारे में बता डू. मेरा नाम आलिया है. मेरी आगे अभी 21 है, मेरी हाइट 5’1″ है, और फिगर 34-30-36 है. और अब मैं आपको अपने कज़िन भाई के बारे में बता देती हू.

उसका नाम रेहान है. उसकी आगे फिलहाल 27 है. उसकी बॉडी बहुत अची है, क्यूंकी वो जिम जाता है. उसका लंड गोरा है, और करीब 7 इंच का है. चलिए अब कहानी पर आते है-

ये बात 2 साल पहले की है जब मेरी खाला (मों’स सिस्टर) के लड़के की शादी थी. फंक्षन्स 5 दिन के थे. ये कहानी शुरू होती है शादी के फंक्षन के पहली रात पे, मतलब फर्स्ट नाइट पे.

डॅन्स चल रहा था, और रात के 10 बाज गये थे. हम सब कज़िन भाई बेहन बैठे हुए थे और बातें कर रहे थे. मेरी नज़र रेहान पे गयी. उसने ब्लॅक सूट पहना हुआ था, और वो बहुत हॉट लग रहा था. मैं उसको देखे जेया रही थी, तो उसने भी नोटीस कर ली ये बात. फिर थोड़ी देर हमने एक-दूसरे को देखा. उसके बाद वो मेरी तरफ आया और बोला-

रेहान: आलिया बेहन, तेरा नंबर दे तो मुझे, कुछ काम है.

मैं: हा रेहान भाई लो.

मैने उसको नंबर दिया, और वो चला गया. फिर मैने उसको इधर-उधर देखा, लेकिन वो नही था. उतने में मेरे फोन पे मेसेज आया. मैने देखा, तो वो मेसेज रेहान का था.

रेहान: आलिया तू गेस्ट रूम्स साइड आजा. स्टेर्स के पास वाला जो रूम है, उसमे वेट कर मेरा. मैं आता हू

मैं मेसेज पढ़ के समझ गयी थी उसके इरादे. लेकिन मेरा फर्स्ट टाइम था, इसलिए दर्र लग रहा था. तो सोचते-सोचते 10-15 मिनिट्स निकल गये. उतने में वो पीछे से आया, और मेरे कंधे पर हाथ रख के बोला-

रेहान: आलिया मेरी मा, तुझे तेरी मम्मी कब से बुला रही है. तू गयी नही, इसलिए उन्होने मुझे भेजा.

अब उसने ये सब सारे कज़िन्स के सामने बोला था, तो मुझे जाना पड़ा. मुझे पता था वो झूठ बोल रहा था. फिर वो मुझे गेस्ट रूम लेकर गया जो उसका था. उसके मों दाद नही आए थे, तो वो अकेला था.

जैसे ही हम अंदर गये, रेहान ने दरवाज़ा लॉक कर दिया. फिर मेरी तरफ मुड़ा, और अपना ब्लेज़र निकाल दिया, और मुझे उठा लिया अपनी गोद में, और दीवार पे रख के किस करने लगा. मैं भी उसका साथ दे रही थी पूरा. मैने सारी पहनी हुई थी बॅकलेस वाली, तो उसने पल्लू उतार दिया. फिर मैं बस ब्लाउस और पेटिकोट में थी. तभी उसने बोला-

रेहान: तेरा ब्लाउस निकाला रहा हू आलिया, रेडी हो जेया. अब इसके बाद मेरी मर्ज़ी चलेगी.

मैने बस हा में मंडी हिला दी. अब मैने जो सारी पहनी थी, वो बॅकलेस थी, तो उसमे लेस होती है. उसने लेस खींची, और ब्लाउस खुल गया. फिर उसने बूब्स से ब्लाउस पकड़ा, और निकाल दिया और बोला-

रेहान: आलिया अब तेरी ब्रा उतार के तेरे बूब्स के डेदार करता हू.

फिर उसने ब्रा का हुक खोला, और ब्रा बाहर आ गयी. और फिर उसने मेरी तरफ देखा और बोला-

रेहान: बहना टेन्षन मत ले, तेरा ये भाई तेरे बड़े कर देगा.

और फिर वो चूसने लगा मेरे बूब्स. थोड़ी देर बाद उसने मूह नीचे उतरा, और किस करते हुए एक हाथ मेरी गांद पर रख के गांद दबाने लगा. दूसरे हाथ से उसने पेटिकोट का नाडा खोल दिया, और पेटिकोट नीचे गिर गया. फिर मैं बस पनटी में थी.

मुझे तोंग (पनटी का टाइप होता है) पहनने की आदत थी, क्यूंकी वो कंफर्टबल रहती है. तो मैने ब्लॅक तोंग पहनी थी. वो बहुत पतली थी. उसने पनटी देखी और बोला-

रेहान: आलिया तू तो पूरी तरह से तैयार हो कर आई थी, की लंड लेना है? वाह, तू तो पूरी रॅंड निकली.

इतना बोल कर उसने मुझे फिरसे उठा लिया गोद में, और किस करने लगा. मुझे उसका लंड पंत में से फील हो रहा था आचे से अपनी छूट पे, क्यूंकी तोंग बहुत पतली होती है. फिर उसने मुझे बेड पे पटक दिया, और टांगे फैला कर पनटी साइड करके चाटने लगा.

मैं भी जोश में आ गयी, और मज़े लेने लगी. मैं अपनी आवाज़ रोक रही थी, ताकि कोई सुन ना ले. लेकिन अचानक भाई अपनी जीभ अंदर-बाहर करने लगा, और मेरे से अपनी आवाज़ कंट्रोल नही हुई, और मैं आ आ करने लगी. फिर मैने बोला-

मैं: रेहान भाई, आराम से करो. आवाज़ बाहर चली जाएगी.

रेहान: तू अपनी आवाज़ कम रख. मैं तो अपना काम कर रहा हू.

मैं: लेकिन भाई आराम से करो ना.

वो उठा, मेरी ब्रा ली, और मूह में डाल दी मेरे, और बोला-

रेहान: ले अब तेरी आवाज़ नही आएगी. अब आराम से मज़े ले, और मुझे भी लेने दे.

फिर उसने चाटना शुरू कर दिया फिरसे, और थोड़ी देर बाद मैं झाड़ गयी. उसके बाद उसने मुझे उठाया, और नीचे बिता दिया, और बेल्ट खोलने लगा. फिर उसने पंत उतार दी, और बस अंडरवेर रहने दिया. उसके बाद वो बोला-

रेहान: देख क्या रही है बेहन. चल इसको बाहर निकाल और मूह में डाल.

मैं: नही रेहान भाई, मूह में नही लेना मुझे.

रेहान: ठीक है मत ले. मैं तुझे ऐसे ही उठा कर बाहर लेकर चलता हू फिर तेरे रूम तक.

मैं दर्र गयी, इसलिए मैने उससे बोला: ठीक है, समझ गयी भाई.

मैने अंडरवेर नीचे किया, और उसका लंड उछाल कर बाहर आ गया. मैने अंडरवेर पूरा उतार दिया. फिर उसने कहा-

रेहान: आलिया देख क्या रही है, मूह में ले.

मैं: भाई मैने पहले कभी किया नही है.

रेहान: तू तो कुलफी भी लंड समझ के चूस्टी है, वैसे ही चूस.

मैं: ठीक है भाई.

मैने चूसना शुरू किया, और आधा ही जेया रहा था मूह में. क्यूंकी 7 इंच छ्होटा नही होता. फिर उसने बोला-

रेहान: तेरे से नही होगा ऐसे. मुझे ही करना पड़ेगा. वाहा से ब्रा दे तेरी.

मैं: जी भाई लो.

उसने ब्रा से मेरे हाथ पीछे बाँध दिए और वो खड़ा हुआ. उसकी हाइट ज़्यादा थी, इसलिए मैं अपने घुटनो पे बैठी और उसने बोला-

रेहान: चल मेरी रॅंड, मूह खोल अपना, और अब तुझे एक-एक इंच महसूस होगा तेरे गले तक.

इतना कह कर उसने मूह में डाल दिया, और अंदर-बाहर करने लगा. उसने काफ़ी देर तक मेरे गले को छोड़ा. फिर उसने कहा

रेहान: आह, मेरा निकालने वाला है बेहन. पूरा पी जाना वरना फिर सोच ले.

मैं तो अंदर से खुश थी. फिर उसने मेरे मूह में निकाला अपना माल. बहुत सारा माल था, पता नही कितने दीनो या महीनो का था. उसके बाद उसने दिखाने को कहा. मैने मूह खोल के उसको दिखाया, और फिर उसने कहा-

रेहान: चल अब प्यारी रॅंड बेहन की तरह इसको पी जा.

फिर मैने मूह बंद किया, और पी गयी सारा. माल का टेस्ट अजीब था. ऐसा टेस्ट मैने आज तक टेस्ट नही किया था. फिर मैने उसे मूह खोल कर दिखाया. उसने बोला-

रेहान: वाह, तू तो पूरी रंडी है. इतना सारा माल पी गयी. तू पैदा ही रंडी बनने के लिए हुई थी. चल अब इसको सॉफ कर पूरा माल वाला हो गया है.

मैं: जी भाई.

मैने उसके लंड को चाटना शुरू कर दिया. उसका लंड माल निकालने की वजह से नरम हो गया था. तो मैं पूरा मूह में लेकर चाट रही थी. थोड़े सेकेंड्स में उसका लंड वापस कड़क हो गया, और मैं चूस रही थी फिर, और गले तक ले रही थी.

रेहान: बस कर रंडी, जानता हू तुझे लंड पसंद है. बस खड़ा हो गया, अब आजा उपर.

उसने मुझे उठाया गोद में, और बेड पे रखा. मेरा फेस उपर की तरफ था, और फिर 2 पिल्लो लिए, और मेरे नीचे लगाए. लेकिन उसकी हाइट ज़्यादा थी, तो उसने पिल्लो हटाए, और उसकी बाग ली, और मेरे नीचे रखी.

फिर भी इतना फराक नही पड़ा, तो उसने एक पिल्लो लगाया, और फिर बराबर लेवेल हो गया. उसके बाद उसने छूट पे थूक लगाया, और लंड रखा, और मुझे बोला-

रेहान: आलिया अब तू लड़की से औरत बनने वाली है. जैसे ही ये अंदर जाएगा, तू औरत बन जाएगी, और मेरी रॅंड.

आयेज की स्टोरी अगले पार्ट में बतौँगी. आप लोग कॉमेंट करके, या फिर मुझे एमाइल करके बताए की आपको ये पार्ट कैसा लगा.

एमाइल:आलियसीद्दीक़ुए2111@गमाल.कॉम

मैने फर्स्ट टाइम स्टोरी लिखी है, तो अगर कुछ ग़लती होती है तो माफी चाहती हू. आप मुझे कॉमेंट करके बताना अगर कुछ सजेशन्स हो तो.

यह कहानी भी पड़े  गीता भाभी की चूत को लंड खिलाया


error: Content is protected !!