बेटे से हुई मा की ताबाद-तोड़ चुदाई की कहानी

रोहित, मैं और नीता रात को जंगल में चुदाई के लिए चले गये थे. रोहित ने हम दोनो को एक-एक बार बहुत मज़े लेकेर छोड़ लिया था. आपको स्टोरी बहुत पसंद आ रही है. आप सब को थॅंक्स. आप सब मोम्स को भी थॅंक्स जो अपने-अपने घर में बिटो को खुश कर रही है.

मिताली: ऑश यार मज़ा तो बहुत आया है. आउटडोर चूड़ने में इतना मज़ा आएगा कभी सोचा भी नही था.

रोहित: तुम दोनो को छोड़ कर मुझे भी बहुत मज़ा आया.

नीता: ह्म, सच में आज मों चुड गयी यार. यार रोहित तू तो अभी का फ्रेंड है. उसको कैसे पटौन बता कुछ. अगर वो ग्रूप में आड हो जाए तो फिर तो हम दोनो मोम्स को तुम दोनो जब मर्ज़ी एक साथ छोड़ सकते हो.

मिताली: रोहित अभी भी सेक्स की बात करता है क्या तेरे साथ?

रोहित: यार आज कल सब करते है. उसको भी आंटी टाइप और भाभी पसंद है. बस उसको नीता की छूट एक बार मिल जाए तो वो माना नही करेगा.

नीता: तो बनाओ यार प्लान कोई. उसकी बॉडी भी ठीक है. काई बार उसके रूम में उसका खड़ा भी देखा है मैने.

रोहित: ह्म उसको पटना होगा. मेरे घर पर बुला कर तुम दोनो में से किसी की छूट दिलवाते है उसको.

नीता: यार बस वो सेट हो जाए. रोहित तुम को अपनी मों छोड़ कर कैसा फील होता है?

रोहित: मुझे तो बहुत मज़ा आता है. मों को देखते ही लंड खड़ा हो जाता है और लंड को बिताने के लिए मों को घोड़ी बना कर छोड़ता हू. चुदाई के बाद तो मों और भी मस्त लगती है. मों कम और पर्सनल वाइफ ज़्यादा लगती है.

नीता: मेरा बेटा मुझे छोड़ेगा तो उसको अछा लगना चाहिए. छोड़ने के बाद उसको फील ना हो की मों छोड़ कर ग़लत किया. यार मेरा मूड तो बनता है, बुत जब उंगली कर लेती हू तो लगता है की बेटे के साथ ये सब ग़लत है. वो क्या सोचेगा अबौट मे?

मिताली: रोहित ने पहली बार छोड़ा तब इसको तोड़ा सा फील हुआ. बुत 10-15 मिनिट्स बाद ही मुझे देख कर इसका मूड बन गया. दूसरी बार छोड़ी तो फिर चुदाई के बाद बहुत देर तक नंगी ही रखी और खूब किस भी किए थे.

नीता: यार तुम दोनो सेट कर लो. तुम कहोगे तो मैं चूड़ने आ जौंगी.

रोहित: अब घर चले या और चूड़ोगी?

मिताली: बोलो नीता क्या प्लान है?

नीता: यार सीधा बोलू तो मैं तो चूड़ने ही आई हू. एक एक रौंद तो यही ठीक रहेगा. फिर घर चलेंगे ये लोकेशन बहुत अची है.

रोहित: अभी तो तोड़ा आराम कर लो यार. बहुत ज़ोर आया आज छोड़ने में. दोनो एक जैसा ही माल हो.

मिताली: तूने नीता को छ्चोढा क्यूँ नही? ये बोल रही थी की अब छ्चोढ़ दो.

रोहित: यार मुझे तब बहुत मज़ा आ रहा था. नीता को छोड़ते टाइम बहुत ही ज़्यादा मज़ा आ रहा था. नीता को तब छ्चोढने का मॅन ही नही किया. ऑश सच में तब तो मॅन कर रहा था की साली को एक घंटे तक छोड़ू. ऑश तब तो इसके पीछे ही पद गया था मैं.

नीता: श तेरी मों ने मेरी इज़्ज़त बचा ली. इसने भी लंड निकाल दिया था.

मिताली: ह्म यार रोहित को तब मज़ा आ रहा था तो बीच में छ्चोढने का मान नही हुआ. बुत मैं आयेज हुई तो मुझे काफ़ी आचे से छोड़ दिया.

रोहित: ह्म यार मज़ा आ रहा हो तब छ्चोढने का मॅन नही होता है.

नीता: यार रोहित ने तो सच में मेरी बजाई है. बहुत मज़ा आया. बूब्स पकड़ कर कभी नही चूड़ी ऐसे. आउटडोर जंगल में तो पहली बार ही चूड़ी हू. बहुत अछा फील हो रहा है.

रोहित: नीता तुझे उल्टी लिटा कर तेरी गांद में डाल कर सोने में मज़ा आता है. यहा भी कुछ बनाओ यार.

नीता: पहले पता होता तो बिछाने के लिए कुछ ले आते.

रोहित: नीता यार तुम दोनो मेरे पैर दब्ाओ. एक रौंद और भी लगाना है. मैं तोड़ा रेस्ट कर लू.

हम दोनो ने रोहित के पैर दबाए. रोहित फिरसे शुरू हो गया.

रोहित: चल मों अब तेरा नंबर है.

मिताली: चलो ठीक है.

रोहित ने मेरी कमर पकड़ ली और मेरी गांद पर थप्पड़ मारा. मुझे कार के बॉनेट के आयेज ले गया.

रोहित: नीता तू भी आजा. तेरे बूब्स देख कर मों को छोड़ना है.

नीता: ऑश यार कितना मज़ा आ रहा है आज. थोड़ी लाइट भी जगा लो ताकि सब आचे से दिख सके. यहा कोई आएगा तो नही ना?

रोहित: कोई नही आएगा. तू कार की लाइट ओं कर ले.

मिताली: चल बेटे अब छोड़ना शुरू कर दे. एक रौंद के बाद बस घर जाएँगे. नीता की छोड़नी हो तो घर पर छोड़ लेना.

बेटे ने मुझे सीधा लिटा लिया, और टाँग उठा कर छूट पर लंड रगड़ने लगा.

मिताली: अब ज़्यादा मत तड़पाव. अपना लोड्‍ा छूट में घुसेध दो. ऑश फिर घर चलेंगे.

नीता ने लाइट ओं कर दी. अब सब कुछ सॉफ-सॉफ दिखने लगा. रोहित ने लंड छूट में डाला और शॉट मारने लगा.

रोहित: ऑश मों क्या मस्त छूट है तेरी. मेरी जान बहुत मज़े देती हो अपने बेटे को. ऑश तेरी जैसी हाउसवाइफ को छोड़ने में बहुत मज़ा आता है.

नीता: हाउसवाइफ को भी तेरे जैसे जवान लड़के छोड़ते है तभी मज़ा डबल आता है. मुझे तो रोहित तूने बहुत मस्त छोड़ा है.

रोहित: अर्रे नीता डार्लिंग, मेरी जान. तेरे बूब्स देख कर ही खड़ा हो जाता है. तेरे बूब्स बड़े मस्त है.

मिताली: तभी तो आज चुड रही है, और मुझे भी छुड़वा दिया इसने.

रोहित: यार तुम दोनो जैसी हाउसवाइफ को छोड़ने में मज़ा बहुत आता है. गड्राई हुई भाभी तो मज़ा भी बहुत देती है. ऑश मों को छोड़ने का मज़ा ही कुछ और है. नीता घर में मेरा मूड बनते ही मों को पकड़ कर अपने रूम में ले जाता हू, और फिर इसको मज़े ले ले कर छोड़ता हू.

मिताली: ऑश यार नीता, दिन में 3-4 बार छोड़ लेता है मुझे. अपने रूम में छाई के बहाने से बुला लेता है और जब रूम में छाई देने जाती हू तो पकड़ कर छोड़नी शुरू कर देता है.

रोहित: यार जब घर में मों जैसा माल हो तो छोड़नी ज़रूरी हो जाती है. श नीता मेरे पास आजा. बहुत देर से बूब्स मटका रही है तू.

नीता: ह्म बूब्स चूसोगे क्या? पहले मों को आचे से छोड़ लो.

मिताली: ऑश रोहित मज़ा आ रहा है. क्या लंड है तेरा. बस इस लंड की वजह से ही तेरे आयेज सब मोम्स को झुकना पड़ता है. ऑश आअहह बेटे तेरी मों को बहुत मज़ा आ रहा है.

रोहित: ऑश मम्मी मुझे भी मों छोड़ कर बहुत मज़ा आ रहा है. चल अब घोड़ी बन जेया. ये घोड़ा तेरे उपर चढ़ेगा.

बेटे ने मुझे खड़ा कर लिया, और घोड़ी बना कर झुका लिया. उसने मेरी कमर पकड़ी, और छोड़ने लगा

नीता: ऑश यार कितनी मस्त चुदाई चल रही है. मुझे भी ऐसे ही छुड़वाना पसंद है. यार कोई एक बॉय होता तो हम दोनो एक साथ छुड़वा लेती.

रोहित: ह्म कोई जुगाड़ करेंगे तेरा. एक लंड जब दो छूट को छोड़ता है तो टाइम भी लगता है यार. तेरा बेटा अभी साथ होता तो दोनो एक साथ चुड जाती. जिसको जो छूट चाहिए वो उसको पकड़ कर आराम से छोड़ लेता. अगर बीच में दूसरी छूट छोड़नी हो तो अदला-बदली करके भी दोनो छूट का मज़ा ले सकते है.

नीता: ऑश यार ये सब सुन कर गीली हो गयी छूट. एक ही छूट पर तुम दोनो एक साथ ट्राइ करो तो और भी मज़ा आएगा.

मिताली: ओह तेरा दोस्त है अभी उसको पत्ता यार. अभी से नीता को छुड़वा सबसे पहले. एक बार मों छोड़ लेगा तो फिर डेली छोड़ेगा. ऑश आअहह मज़ा आ रहा है यार.

रोहित: ऑश मों ऊओ यार आअहह ऑश नीता तुझे भी छोड़ूँगा मेरी रंडी. ऑश पहले मों की छूट छोड़ लेने दे.

नीता: आअहह यार रोहित ऑश क्या लंड है तेरा. ऑश छोड़ अपनी मों को. छोड़ मिताली बहुत मस्त माल है.

रोहित: ऑश तुम दोनो मेरी रखैल हो. रखैल को सिर्फ़ छोड़ने के लिए ही रखते है. ऑश साली रंडी आअहह क्या छूट है तेरी ऑश मिताली आअहह मज़ा दे दे अपने यार को. चल दे दे मज़ा अब तो.

मिताली: ऊहह आने वाला है ज़ोर-ज़ोर से छोड़ बेटे, ऑश याअर. छोड़ मुझे ऑश आअहह चुड रही हू. ऑश रुकना मत यार छोड़ ले अपनी रंडी को.

नीता: ऑश छोड़ो यार आअहह लगता है मिताली चूड़ने वाली है.

मिताली: ऑश बेटे ऑश फक मे यार. रोहित बेटा मज़ा आ रहा है. ऑश छूट मेरी छूट ऑश यार चूड़ने वाली है. ऑश आअहह रोहित बेटे मों चूड़ने वाली है.

रोहित मेरे दोनो बूब्स पकड़ कर छोड़ रहा था. बूब्स पकड़ कर छुड़वाने में बहुत मज़ा आ रहा था. लंड लगातार छूट छोड़ रहा था.

रोहित: ऑश मों योउ अरे आ रियली हॉट हाउसवाइफ. ऑश ई लोवे योउ मों. ई लीके युवर लविंग बूब्स.

मिताली: ऑश फक मे यार. फक मे, छोड़ यार ऑश आअहह मज़ा आ रहा है. चुड रही हू यार ऑश रोहित बेटे आहह छोड़ ले अपनी मम्मी की छूट. ऑश जल्दी से करो रूको मत यार ऊहह चुड गयी यार.

रोहित: ऑश मिताली मेरी जान मज़ा मुझे भी बहुत दे रही हो. ऑश क्या छूट है तेरी ऑश आहह मों अया निकालने वाला है. ऐसे ही मज़े देती रही यार.

नीता: ऑश क्या चुदाई चल रही है. और ज़ोर से छोड़ मिताली को. लंड छूट में जाने दे पूरा.

मिताली: ऑश बेटा ऊहह याअर ऊहह मेरे यार आअहह मज़ा आने वाला है. चूड़ने वाली है तेरी मों.

रोहित: ऑश मों आअहह मज़ा आ रहा है मेरी जान. ऑश साली बहुत मस्त छूट है तू. अया मों श तेरे बूब्स बहुत हिल रहे है. ऑश साली कुटिया बहुत मस्त है तेरी गांद. मेरी रंडी छुड़वा ले अपनी छूट. तेरी जैसी छूट छोड़ कर दिल खुश हो जाता है.

मिताली: आआअनीए आअहह रोहित फक युवर मों आआहह यार ऊहह तेरा लंड ही मेरी छूट की प्यास बुझता है. छोड़ छोड़ यार तेरी मों की छूट छोड़ ले मेरे राजा बेटा.

नीता: ऑश क्या मस्त छूट छुड़वा रही हो. श यार बेटे की वाइफ बन कर बहुत मज़ा आता होगा. काश मेरा बेटा भी मेरे उपर चढ़ कर छोड़े.

मिताली: ऊओह नीता ऊओह चुड रही हू. ऑश तू भी मरवा लिया कर तेरे बेटे से.

रोहित खूब ज़ोर-ज़ोर से छोड़ रहा था. थोड़ी ही देर में दोनो एक साथ झाड़ गये. मुझे आउटडोर चुदाई करवा कर बहुत मज़ा आया. रोहित ने मुझे रग़ाद रग़ाद कर खूब छोड़ी थी थी.

रोहित जब खड़ा हुआ तो वो काफ़ी हाँफ रहा था. नीता पानी लेकर आई तो रोहित ने पानी पिया, और नीता को पकड़ लिया.

रोहित: साली कुटिया, तू भी कोई कम नही है. बहुत गांद हिलती है तेरी. अब तुझे घर तक नंगी ही लेकर जौंगा. तुम दोनो मेरी परसोनल रंडिया हो. बहुत मज़ा देती हो मुझे.

नीता: ह्म मज़े लेने के लिए ही तो लोग शादी करते है. रोज़ चुदाई होती है तभी हाउसवाइफ खुश रहती है.

मिताली: ऑश यार घोड़ी बन कर तक गयी. रोहित ने बहुत ज़ोरदार चुदाई की है. बहुत मज़े लिए है बेटे ने.

रोहित: तुम दोनो के मज़े लेने के लिए ही तो यहा जंगल में लाया हू. तुम दोनो एक से बढ़ कर एक हो. मों को छोड़ कर बहुत मज़ा आया है. नीता तेरे बूब चूसने दे.

मिताली: अब घर चले क्या? बहुत देर हो गयी यार. मैं भी तक गयी हू. तुम नीता को घर में छोड़ लेना.

नीता: ह्म चलो यार घर में ही ठीक रहेगा.

रोहित ने हम दोनो को कार में बिता लिया. नीता एक-दूं नंगी अगली सीट पर बैठ गयी.

रोहित: अभी तुम नंगी ही रहना. अगर सामने से कोई होगा तो ये मेरी जॅकेट पहन लेना. वैसे अब रात को कोई मिलेगा नही. तू मुझे नंगी ही अची लगती है मेरी रंडी नीता.

नीता: जैसा तुम को ठीक लगे यार. आज तुमने मुझे बहुत मस्त छोड़ी है. सच में रोहित तुम बहुत एनर्जेटिक मों फकर हो. क्या छोड़ते हो घोड़ी बना कर.

रोहित हम दोनो को घर ले आया. हम दोनो नंगी ही थी. दोनो को उसने बाहों में पकड़ लिया, और अपने रूम में ले गया.

दोनो के बूब्स देख कर उसका लंड तंन गया था. आप भी अपनी स्टोरी मुझे बता सकते हो. कोई भी हाउसवाइफ घर में मज़े ले रही है, तो ज़रूर बताना.

हाउसवाइफ के बहुत एमाइल्स आ रहे है. बहुत सारी मों बेटे के साथ मज़ा ले रही है. सब को स्टोरी बहुत पसंद आ रही है. मितालिसिंघ609@गमाल.कॉम पर फीडबॅक भेज सकते हो पूरी डीटेल्स के साथ.



यह कहानी भी पड़े  बेटे ने मां की भट्ठी जैसे चूत में लंड डाला


error: Content is protected !!