बेटे ने मा को दिया बेस्ट एक्सपीरियेन्स

पार्ट 4 में आपका स्वागत है. मैं आपका प्यारा रघु साथ लाया हू एक रसीली छूट की कहानी. अब तक आपने पढ़ा की कैसे मा को सिड्यूस किया, और उनसे कंट्रोल नही हुआ, और वो मेरा पकड़ के हिलने लगी थी. अब आयेज-

मा से रहा नही गया मेरा लंड और टीवी पर चल रहे पॉर्न को देख के. वो मेरा पकड़ के हिलने लगी. आहह क्या मज़ा आ रहा था क्या बतौ दोस्तों. मुझे जन्नत का मज़ा मा के हाथो से मिल रहा था. मैं आँखें बंद करके मज़ा ले रहा था.

20-25 मिनिट हिलने के बाद मेरा माल निकालने ही वाला था, की मैने उन्हे रोक दिया, और वाहा से रूम में चला गया. फिर चॉक्लेट फ्लेवर कॉंडम और वो एक्सट्रा टाइमिंग लोशन लेके आया. वो जैसे ही कॉंडम देखी, वो उठ के सोफे पे बैठी और कहा-

शालिनी: ये क्या है (बड़ी-बड़ी आँखों से)?

मैने कुछ नही कहा.

शालिनी: मैं मास्टरबेट कर सकती हू. लेकिन सेक्स नही कर सकती तेरे साथ.

मैं रिक्वेस्ट करने लगा.

शालिनी: नही, अगर करना है तो करो ये, नही तो कुछ भी नही.

मैने उनके पैर पकड़ लिए.

शालिनी: ज़्यादा से ज़्यादा छूने दे सकती हू, और कुछ नही.

मैने ओके कहा और मायूस हो कर उनके पास गया. फिर उनको लोशन दिया, तो वो पूछी-

शालिनी: ये क्या है?

मैं: इससे ज़्यादा टाइम खड़ा रहता है.

शालिनी: तो फिर ये मेरे लिए भी एक ले आना, तेरे पापा के लिए.

मैं: ठीक है, पहले मेरा तो हो जाए.

शालिनी (मुस्कुराते हुए): हा, रुक.

अभी वो मेरे लंड पे मसाज देने लगी लोशन लगा के 5 मिनिट. फिर दोनो हाथ से पकड़ के हिलने लगी. लोशन का असर होने लगा था. मेरा तोड़ा और बड़ा और मोटा होने लगा था. पूरा खड़ा होने के बाद वो बोली-

शालिनी: ये तो पहले से भी बड़ा लग रहा है.

मैं बोला: क्या आपको पसंद नही आया?

तो वो बोली: हा बहुत ज़्यादा (और मुझे आँख मार दी).

फिर वो अंदर जाके एक टेप लेके आई.

मैने पूछा: ये क्या करोगी?

वो नीचे बैठ के नापने लगे तो देखा 7.3 इंच लंबा और 3.2 इंच मोटा था. फिर उन्होने अपने मूह पे हाथ दे दिए और सर्प्राइज़ होके बोली-

शालिनी: बाप रे, तेरा कितना तगड़ा है.

मैने शरमाते हुए सिर झुका दिया. फिर वो मेरा पकड़ के हिलने लगी. 15 मिनिट बाद उनके हाथ दुखने लगे, और बोली-

शालिनी: तेरा निकल क्यूँ नही रहा?

मैं हस्स के बोला: लोशन तो इसलिए ही लगा है.

फिर उनको उठाया गोदी में, और सोफे पर लिटा दिया, और उन्हे किस करने लगा.

तो उन्होने धक्का देके हटा दिया और बोली: ये नही, बस चूना है तो चू लो.

मैं फिर उनके होंठ को अपनी उंगली से दबाने लगा, और धीरे-धीरे हाथ नीचे लेते गया, और गले से नीचे लेते हुए उनके बूब्स को च्छुआ और दबाने लगा. फिर जीभ निकाल कर निपल चाटने लगा, तो वो मोन करने लगी आँखें बंद करके.

वो मूह उपर करके “आ आह आह ह आह एस्स एस्स और ज़ोर से चूस बेटा, पूरा दूध पी ले” कर रही थी, और मेरे सिर पर हाथ फेरने लगी. मेरा सिर वो अपने बूब्स पर दबाने लगी. मैने 30 मिनिट तक दोनो बूब्स को बारी-बारी से चूसा और दबाया. बीच-बीच में निपल भी काट रहा था हल्का-हल्का. वो जैसे तड़प रही थी, और उछाल रही थी, और बोली-

शालिनी: वाह क्या मस्त चूस्टा है यार, कहा से सीखा?

मैं बोला: पॉर्न से.

शालिनी: एक तू इतना प्यार से कर रहा है, और एक तेरे पापा है, जो 2 मिनिट में ही चूस के छ्चोढ़ देते है.

मैने चूस्टे-चूस्टे उंगली उनके मूह में डाली, और चाटने को कहा. तो वो उंगली गीली कर दी. फिर वो गीली उंगली उनके मूह से लेके बदन पे फेरते हुए उनकी नेवेल तक ली, और फिर उनकी छूट की पंखुड़ी के पास लेते ही वो जैसे तड़प उठी. वो ज़ोर से मोन करने लगी आ ऑश ऑश ऑश ऑश य्ाआ याय्ाआ. मुझे जैसे जोश चढ़ गया, और मुझसे रहा नही गया.

मैने सीधा जीभ निकाल के उनके पैर पकड़ के फैला दिए, और वो उठ के देखने लगी, की मैं क्या कर रहा था. अब मैं जाके उनकी छूट के पास पहुँच चुका था. वो माना करने लगी, लेकिन मैने सुना नही, और छूट पे जीभ लगा के चाटने लगा. वो तड़प उठी आह आह करके.

मैं लगातार चूस्टा और चाट-ता रहा. बीच-बीच में उनकी पंखुड़ी को दाँत से काट के खीचने लगा प्यार से. वो तड़पति रही और मोन करती रही. 12-15 मिनिट्स बाद वो मेरा सिर दबाने लगी और बोली-

शालिनी: ज़ोर-ज़ोर से चूस, और ज़ोर से.

वो आ आ करती रही. फिर वो अकड़ने लगी, और छूट का पानी छ्चोढ़ दिया. और मैं पूरा पी गया, और चाट-चाट के पूरी छूट सॉफ की. फिर वो 2 मिनिट वैसे ही पड़ी रही, और फिर उठी और बोली-

शालिनी: कहा से सीखा ये सब?

मैं बोला: मज़ा आया की नही?

शालिनी: मज़ा तो बहुत आया. पहली बार किसी ने मेरी छूट छाती है

मा के मूह से छूट सुन के मुझे अछा लगा.

शालिनी: तेरे पापा आज तक कभी नही चूज़ थे. मेरा बहुत मॅन था कोई चूज़ मेरी भी छूट. पॉर्न देख-देख के बड़ा मॅन था. आज तूने तमन्ना पूरी कर दी. थॅंक योउ बेटा.

मैं: आपका तो हो गया, लेकिन मेरा क्या?

शालिनी: इधर आ, मैं हिला देती हू.

मैं: नही.

शालिनी: तो?

मैं: मेरा भी चूसो ना.

शालिनी: नही मैं नही कर पौँगी. आज तक कभी किया नही है. मेरी उल्टी हो जाएगी.

मैं: कुछ नही होगा, ट्राइ तो करिए.

शालिनी मेरा लंड पकड़ कर मूह के पास लिया, और नाक उपर करके (जैसे बदबू में करते है) जीभ निकली. फिर एक बार बस चाट दिया और बोली हो गया.

मैं: क्या हो गया मैने पूरा किया.

शालिनी: मुझसे नही होगा.

मैं: सब होगा, आप बस बिना कुछ सोचे लेलो, मज़ा आएगा. जब वो झुक के मूह खोल के चाटने को थी, तब मैने उनके बाल पकड़ के पूरा लंड डाल दिया, और आगे-पीछे करने लगा. वो मेरे पैर पे हाथ मारने लगी और अग्घ अग्घ होने लगी. क्या एहसास था यार, मैं आँखें बंद करके एंजाय करने लगा. थोड़ी देर बाद वो खुद करने लगी हाथ में पकड़ के, जैसे पॉर्न में करते है.

उनके मूह से लार बाहर गिरने लगी, और उनके गले और बूब्स पे पड़ने लगी. क्या मस्त लग रहा था, क्या ही बतौ, लफ़ज़ो में बयान नही कर सकता मैं. लगभग 40 मिनिट बाद मेरा कम निकालने वाला था.

मैने पूछा: मेरा निकालने वाला है, कहा निकालु?

मा बोली: नूः में दे, मुझे तेरा टेस्ट करना है कैसा है, मेरे लाल का सफेद काम-रस्स.

फिर 5 मिनिट के अंदर-अंदर मेरा कम निकल गया. छाई कप के जितना निकला, और उनका मूह फुल होके बाहर टपकने लगा. क्या मस्त लग रही थी तब वो क्या ही बतौ. आप इमॅजिन कर सकते हो एक सेक्सी गोरी औरत नीचे बैठी हुई, खुले बाल, बिना कपड़ो के, बूब्स पे लार, मूह से काम-रस्स टपकता हुआ, आँखें उपर करके देख रही हो, तो क्या लगती होगी.

फिर वो पूरा माल पी गयी और बोली: बड़ा टेस्टी है यार तेरे काम-रस्स तो.

बेटा प्रॉमिस कर ये बात हमारे बीच ही रहेगी, और किसी को भी नही बताएगा तू.

मैं बोला: शुवर, मैं किसी को भी नही बतौँगा.

मैं: क्या मैं आपसे कुछ मांगू?

शालिनी: क्या माँगना है माँगो?

मैं: पहले ये बताओ माना तो नही करोगी?

शालिनी: देखती हू. तू पहले ये बता बात क्या है?

तो मैं बोला: क्या मैं ये रोज़ कर सकता हू, प्लीज़?

पहले गुस्से से देखा, फिर कुछ देर सोचा, और फिर ओके कहा. तो मैं खुश होके हग करने लगा, और उनके गाल पे किस करके ई लोवे योउ मों बोला. वो भी मुझे हग करके लोवे योउ टू बोली और कहा-

शालिनी: आज तुमने फिरसे मुझे जवानी याद दिला दी. मैं तो भूल ही गयी थी. थॅंक योउ बेटा. और ये नया एक्सपीरियेन्स देने के लिए भी.

फिर दोनो फ्रेश हुए, और सोने चले गये अपने-अपने रूम में. जब उठा तो देखा शाम के 6:30 बाज रहे थे. तो मैं बाहर घूमने चला गया, और दोस्तों के साथ मज़े किए. 7:30 बजे मैने मा को कॉल की, और पूछा-

मैं: क्या कर रही हो शोना?

वो बोली: अपनी मा को शोन बुलाता है बदमाश!

मैं: और क्या, आप मेरे शोना, और मैं आपका बाबू.

मा: ठीक है. अभी मैं टीवी देख रही हू. बोल क्या बोल रहा है?

मैं: आज रात खाना मत बनाना. हम बाहर जाएँगे.

मा: ओके.

मैं: लोवे योउ शोना.

मा: लोवे योउ तो बाबू.

मैं 8:30 बजे घर में पहुँचा, और मा तैयार हो रही थी. बिना नॉक किए मैं अंदर चला गया, तो वो वॉशरूम में थी, और अपने कपड़े सारे निकाल के बेड पर रख दिए थे.

मैं उनकी पुश उप ब्रा और नेटेड पनटी उठा के सूंघने लगा. क्या ग़ज़ब की खुसबु थी. करीब 2 मिनिट बाद वो रूम में आई एक टवल लपेटे हुए और मुझे कमरे में देख के चौंक गयी और बोली-

मा: तू कब आया?

मैं: अभी-अभी.

जब मेरे हाथ में उनके अंडरगार्मेंट्स देखे, तो वो चीन के लेने को बढ़ी ही थी, की मैने उनकी टवल खींच दी, और वो बिल्कुल नंगी हो गयी. क्या खूब लगती थी वो उस वक़्त. गीला बदन, मखमली त्वचा, गीले बाल, ऑम्ग आप सोच भी नही सकते इतनी हॉट लग रही थी वो.

मैं योउ अरे सो हॉट शोना बोला. वो मुझे झूते-मूत्े डाँटने लगी –

मा: हॅट बदमाश! ये क्या कर रहा है?

ये बोल के मेरे हाथ से अपने अंडरगार्मेंट्स ले गयी (टवल को लपेट-ते हुए)

मैं: क्या मा, आपको मैं पहले भी बिना कपड़ों के देख चुका हू. अब क्या शरमाना?

मा: तो क्या मैं घर में बिना कपड़ों के घूमू.

मैं: ये तो बढ़िया होगा.

मा: हॅट नॉटी!

मुझे वो धक्का देके निकालने लगी, और बोली: बाहर जेया, मैं कपड़े पहन के आती हू. तू भी रेडी हो जेया. फिर हम बाहर जाएँगे

और मैं फ्रेश होके रेडी होने को अपने रूम में गया. फिर दोनो तैयार होने लगे, और…

बस इस स्टोरी में इतना ही. बाकी की स्टोरी के लिए अगले एपिसोड का इंतेज़ार करो. लोवे योउ मी डियर. रिव्यू देना ज़रूर

कोई अगर सेक्स छत करना चाहते हो तो मेसेज करो.

यह कहानी भी पड़े  चुड़क्कड़ मा के लिए बेटे की हवस की कहानी


error: Content is protected !!