दोस्त के साथ मिल कर हाईफाई औरत की चूत गांड की चुदाई की-3

दोस्त के साथ मिल कर हाईफाई औरत की चूत गांड की चुदाई की-3

(Dost Ke Sath Mil Kar Hi Fi Aurat Ki Choot Gaand Chudai Ki- Part 3)

Aurat Ki Choot Gaand Chudai Ki- Part 3अब तक आपने पढ़ा..
सारिका के संग चूत चुदाई का खेल जारी था और हम दोनों एक-एक बार ‘मुँह चोदन’ से स्खलित हो चुके थे। इसके बाद मैंने सारिका की गांड के छेद में उंगली कर दी थी।
अब आगे..

सारिक अपनी गांड के छेद में उंगली पाकर एक प्रश्नवाचक अंदाज़ से मेरी आँखों में देखने लगी।
मैंने कहा- बहन की लौड़ी, अभी तो मैं इसको चैक कर रहा हूँ, इस फूल के लिए तो मैंने ख़ास इंतजाम किया है।
वो खिलखिला कर हंसती हुई बोली- हहह्हा ख़ास इंतजाम.. वो क्या मेरे चोदू राजा?

मैंने उसे छोड़ा और थोड़ी दूर पड़े अपने बैग को उठा कर बिस्तर पर रख लिया। वो एकटक मेरी तरफ देख रही थी, तो मैंने अपना बैग खोला और उसमें से एक स्पेशल सेक्स के लिए बना हुआ तेल निकाल कर पास रख लिया और साथ ही एक बैटरी पर चलने वाला वाईब्रेटर निकाल कर पास रख लिया और फिर एक बिजली पर चलने वाली सेक्स मशीन भी निकाल ली।

इतना सब देख कर सारिका का मुँह खुला रह गया और वो ये सब देखती हुई बोली- आज तो मेरी जान लेने का इरादा है क्या?
मैंने सेक्स मशीन को बिस्तर पर फिट करते हुए कहा- जान तो नहीं.. परन्तु जान की गांड जरूर लूँगा।

अब तक सारिका भी मेरे पास आकर मेरे इन औजारों को देखने लगी थी, फिर सारिका ने कहा- ऐसी मशीनों और लंडों के बारे में मैंने पहले सुना बहुत था, परन्तु देखा आज पहली बार है।
मैंने उससे कहा- फिर तो तू बहुत भाग्यशाली है, जिसने पहली बार ही देखा है। वो भी आज तुम खुद अपने अन्दर लेकर और महसूस करके देखने वाली हो। बहुत सी औरतें और लड़कियां ऐसी हैं, जिन्होंने देखा तो बहुत है.. परन्तु अन्दर लेने का उन्हें कभी सौभाग्य नहीं मिला

यह कहानी भी पड़े  सेक्सी आंटी की गन्दी चुदाई की

हम ऐसे ही बातें कर रहे थे कि बातों-बातों में मैंने मशीन को फिट कर दिया। अब मैंने उसके होंठों पर एक चुम्बन लिया और फिर उसको कुतिया की पोजिशन लेने को कहा।

वो तुरंत कुतिया बन गई और मैंने पीछे आकर पहले उसकी चूत पर एक चुम्बन लिया और उसकी गीली हो चुकी चूत के अन्दर पहले अपनी जीभ डाल कर चैक किया.. चूत काफी गर्म थी।

इसके बाद मैंने अपनी एक उंगली को उसकी चूत के अन्दर डाल कर अन्दर-बाहर किया। फिर मैंने पास पड़ी तेल की शीशी से थोड़ा सा तेल लिया और कुछ उसकी चूत और बाकी काफी सारा उसकी गांड के छेद पर लगा दिया। फिर अपनी उंगलियों को उसकी गांड के अन्दर करके अच्छी तरह से उसकी गांड तेल से तर कर दी। इस प्रकार मैंने उसकी गांड के अन्दर हर हिस्से तक तेल पहुंचा दिया।

फिर मैंने उससे कहा- अब बोल मेरी कुतिया, कहाँ तक झेल सकती है साली रांड..!
वो बोली- साले तुम्हारी इस घड़ी का इंतज़ार तो मैं कितने महीनों से कर रही हूँ। तुम तो बस करते जाओ.. जहाँ मुझे लगेगा, मैं इशारा कर दूंगी तब तुम खेल रोक देना। आज तो तू मेरी माँ चोद दे साले, मेरा हर अंग तेरी चुदाई का बेसब्री से इंतज़ार कर रहा है।
मैंने कहा- तो ले फिर सम्भाल साली कुतिया.. ले मेरा पहला वार झेल भैन की लौड़ी।

यह कहते हुए मैंने बन्द वाईब्रेटर उसकी चूत में डाल दिया। वो पहले तो थोड़ा कसमसाई और उसने एक सिसकी ली।

तभी मैंने वाईब्रेटर के स्विच से उसको आन कर दिया और वो थोड़ा स्पीड से उसकी चूत के अन्दर वाइब्रेशन देने लगा।
अब तो सारिका एकदम से उचक गई और जोर-जोर से सिसकारने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…
मैंने वाईब्रेटर की एक नम्बर स्पीड और बढ़ा दी। सारिका जोर-जोर से सिसकने लगी और वो मस्त होकर वाईब्रेटर से चूत चुदवाने लगी।

यह कहानी भी पड़े  Mameri Bhabhi Ki Jismani Bhukh

तभी मैंने उसके पीछे जाकर सेक्स मशीन को उसकी गांड पर फिट कर दिया और उसकी गांड पकड़ कर सारिका को सेक्स मशीन पर धीरे से बिठा दिया।

अब मैंने सेक्स मशीन के लंड को उसकी गांड के हल्का सा अन्दर डाला और फिर उसे चालू कर दिया।

सारिका के शरीर पर मैंने सेक्स मशीन की बैल्ट बांध दी थी, इसलिए वो अगर हिलती भी तो सेक्स मशीन का लंड उसकी गांड से बाहर नहीं निकल सकता था।

सारिका की चूत और गांड दोनों मशीनी लंडों से चुद रही थीं। वो अब मजा लेकर जोर जोर से अपनी चूत और गांड को चुदवाते हुए सिसक रही थी।

मैंने उसके चूचे मसलते हुए कहा- क्यों साली.. कैसा लग रहा है?
सारिका बोलने लगी- उई आह साले.. तूने तो माँ चोद दी मेरी.. आह उई.. चुद गई रे, साले अपना लौड़ा मेरे मुँह में डाल.. कुतिया बना मुझे अपनी.. आह.. चुद गई मेरी गांड.. साली गांड भी इलेक्ट्रोनिक हो गई.. आह सी सी.. उई उई.. हां आह्ह.. हां अह..

तभी मैंने उसके आगे खड़ा होकर अपना लंड उसके मुँह में दे दिया। सारिका अब एक साथ तीन लंडों का मज़ा ले रही थी। मैं भी उसे गालियाँ दिए जा रहा था।

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2

error: Content is protected !!