सुहानी का पहला सेक्स अनुभव

हाय दोस्तो, मैं सुहानी मैं 24 साल की हूँ मेरा साइज़ 34,30,34 है मैं कोलकाता मे रहती हूँ ये मेरी पहली कहानी है इस लिए अगर कोई ग़लती हो जाए तो माफ़ कर देना प्लीज़, ओके मैं अब पॉइंट पे आती हूँ और कहानी चालू करती हूँ, मैं 12थ मे थी मेरे साथ एक लड़का पढ़ता था उसका नाम अभी था वो दिखने मे बहोत हॅंडसम था सब लड़किया उसपे लाइन मारती थी और मैं भी, पर वो किसी को भाव ही नही देता था क्लास 12थ का लास्ट मंथ था सब लड़कियाँ एक दिन उसे देख के बोल रही थी की काश मैं इससे एक बार चुद जाती, उनकी ये बाते सुन के मैं भी गरम हो रही थी तब मैने मन ही मन मे सोच लिया की मैं अभी से एक बार चुद के रहूंगी तो फिर मैं मोके की तलाश करने लगी और एक दिन मुझे मौका मिल ही गया, मैने मम्मी से कहा मम्मी मैं आज रात फ्रेंड के घर मॅत प्रॅक्टीस के लिए जा रही हूँ मुझे थोड़ी मॅत मे प्राब्लम हो रही है तो मम्मी ने ओके बोला.

और मैने अभी को फोन करके बोल दिया मुझे थोड़ा मॅत मे प्रोब्लेम है मुझे तुम्हारी हेल्प चाहिए तो मैं आज रात तुम्हारे घर आउन्गि, उसने भी ओके बोला तो मैने कॉल कट किया और हासणे लगी क्यूकी मेरा प्लॅन तो कुछ और ही था मैं बहोत खुश हो गयी मैं खाना ख़ाके रात 10 बजे अभी के घर पहुचि और हम उसके रूम मे गये और उसने मुझे बोला तुम बैठो मैं बस खाना ख़ाके आता हूँ, मैने ओके बोला और वो चला गया फिर मैने उसका ध्यान अपनी तरफ करने के लिए जान बुझ कर बिना ब्रा पहने ढीला और स्लीव लेस वाला बड़े गले का टॉप पहना था और हाफ पैंट जो घुटनो के काफ़ी उपर था और वो मुझे ऐसे कपड़ो मे देख कर हैरान हो गया था, वो जब खाना खा के रूम मे वापिस आया तब उसने मुझे बोला तुम बहोत अछी लग रही हो इन कपड़ो मे तो फिर मैने मन ही मन मे खुद से ही कहा सुहानी घड़ी सही जा रही है लगी रहो और उसे कहा थॅंक्स वो गर्मी का मौसम है ना तो मैं ऐसे ही कपड़े पहनती हूँ.

यह कहानी भी पड़े  मेरी पड़ोसन अमिता भाभी – पार्ट 2

तो उसने ग्रेट बोला और मेरे सामने बैठ गया और फिर हम पढ़ाई की बाते करने लगे और मैं उसके सामने जान बुझ के झुक रही थी ताकि वो मेरे बूब्स देखे और मेरे बूब्स 34 साइज़ के होने की वजा से काफ़ी झूल रहे थे और टॉप ढीला होने की वजह से पूरे बूब्स सॉफ सॉफ दिखाई दे रहे थे, थोड़ी देर बाद मैने उसकी तरफ हल्का सा ध्यान दिया ताकि उसे पता ना चले की मेरा ध्यान उसकी तरफ है तो मैने देखा वो मेरे बूब्स की तरफ एक जैसा देख रहा था और अपने दात से होट दबा रहा था और ऐसा करते करते बहोत देर हो गयी और 12 बाज गये थे, मैने मन ही मन मे सोचा अभी कुछ कर नही रहा है अब जो कुछ करना है मुझे ही करना है तो मेरे दिमाग़ मे एक आइडिया आया मैने उसे पीने के लिए पानी माँगा वाहा पानी की बॉटल थी तो वो मुझे पानी ग्लास मे दे रहा था, मैने उसे मना करके बॉटल ही देने के लिए कहा और उसने मुझे बॉटल ही दी मैं बॉटल से उपर से ही पानी पीने लगी एक घुट पानी पीके मैने गले मे अटकने का नाटक किया.

और पूरा पानी अपने टॉप पर गिरा दिया, अब अभी को मेरे टॉप मे से मेरे बूब्स की निप्पल सॉफ सॉफ दिखाई दे रही थी तो मैने छुपाने का नाटक किया और उल्टी घूम गयी तब अभी मुझे पीछे से आके चिपक गया और मेरे बूब्स के उपर हाथ रख कर बोला “अब छुपाने से क्या फ़ायदा मैने सब देख लिया है” और वो मेरे बूब्स ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा, मैने अपनी आँखे बंद कर बस उसके हाथ के उपर हाथ रखे थे और उसके बाद उसने मुझे अपनी तरफ घुमा लिया और किस करने लगा, 5 मिनट तक वो मुझे किस करता रहा और मैं भी पूरे मज़े ले रही थी और फिर उसने मेरा टॉप निकाल दिया और मेरे बूब्स को चूसने लगा और मेरे मूह से सिसकारियाँ निकल रही थी “हमम्म ह्म्म्म्म ह्म न्न्नणणन् न्न्णमम एम्म्म आहह” फिर उसने मेरी हाफ पैंट और पैंटी एक साथ ही निकाल दी और मुझे बेड पे सुला दिया और वो मेरी चुत को चाटने लगा और इतने मे ही मैं झड़ गयी और उसने मेरा पूरा पानी पी लिया और फिर वो मूह मे वो पानी लिए मुझे किस करने लगा तो मैने पहली बार पानी को टेस्ट किया.

यह कहानी भी पड़े  शादीशुदा औरत की चुदाई की

वो मुझे और किस करने लगा मैं और गरम होने लगी और अब मैने उसकी पैंट उतारी और उसने खुद अपनी टी-शर्ट निकाल दी तो मैने उसका लॅंड देखा तो मुझे डर ही लग गया था, उसका लॅंड कम से कम 7 इंच का होगा और कोयले जैसा पूरा काला था तो मैने उसे मूह मे लिया और सहलाने लगी उसके बाद अभी ने मुझे उठाया और सुला दिया पर मुझे डर लग रहा था तो मैने अभी से बोला मैं नही चुदना चाहती इतने बड़े लॅंड से मेरी चुत पूरी फट जाएगी, तो अभी बोला 2 मिनट का दर्द होगा फिर देखना सबसे ज़्यादा मजा तुम्हे ही आएगा तो मैने बहोत मना किया पर फिर भी अभी माना नही आख़िर मुझे ही ओके बोलना पड़ा और उसने मेरी चुत पर अपना लॅंड रखा और सहला रहा था, मुझसे और नही रहा जा रहा था तो मैने उसे जल्दी अंदर डालने के लिए जैसे ही बोला तो उसने एक ज़ोर का धक्का दिया और उसका आधे से ज़्यादा लॅंड मेरे चुत मे चला गया और मुझे बहोत दर्द हुआ और मैं बहोत ज़ोर से चिल्लाई “आहह आब्भीईीईईई”.

Pages: 1 2

error: Content is protected !!