स्टूडेंट के मन में टीचर के लिए जगी हवस

हेलो दोस्तों मेरा नाम अरुण है और मैं २३ साल का हु. मेरा लुंड ६ इंच का है और किसी भी औरत को बड़ी ख़ुशी से संतुस्ट कर सकता है.

पिछले पार्ट में हमने पढ़ा की कैसे मेरी स्कूल टीचर हमारी बिल्डिंग में रहने आयी. फिर हम शॉपिंग करने गए जहा सेल्स गर्ल चेप हो गयी. वो मम को ब्रा एंड पैंतीस दिखने लगी जो हॉट टाइप की थी. अब आगे की कहानी-

फिर सलेसगिरल बोली: सर आप तो बोर हो गए. कहे तो थोड़ी सेक्सी वाली दिखा दू कुछ मम को आपके मतलब की.

मुझे बड़ा मज़ा आ रहा होता है ये सब देखने में. तो मैं सलेसगिरल से बोल देता हु-

में: है दिखा तो दो पर मम को मत बोलना. बोल दो की अब यही है बाकी सब दिखा दी मैंने.

फिर सलेसगिरल थोड़ी सेक्सी वाली आइटम्स दिखने लगती है.

मम: अरे ये सब नहीं चाहिए.

सलेसगिरल: अरे मम बहुत हॉट लगोगी आप. आपके रंग और फिगर पे फुल सूट करेगा. क्यों सर?

में: जैसे मम को ाचा लगे.( और अनजान बनाने की एक्टिंग करता हु

मम: नहीं बस काफी चीज़े ले ली है. उसी को टोटल कर दो.

सलेसगिरल: मम एक ले जाओ बहुत सेक्सी लगोगी. और आपके हुब्बी को भी बहुत सेक्सी लगोगी. खूब एन्जॉय करोगे आप लोग. आप जैसे नई जोड़े खूब लेके जाते है ये पीेछे.

ये सब सुन कर मम एक-दम से थोड़ा इमोशनल हो जाती है और सलेसगिरल को चुप बोल के कहती है-

मम: ये मेरे हुब्बी नहीं है.

और ये बोल कर मम बाहर आ जाती है. मैं मम का सारा सामान लेता हु और बिल करवा के बाहर आता हु. फिर मैं उनसे पूछता हु-

में: मम क्या हुआ?

मम: कुछ नहीं अरुण.

में: ी कैन अंडरस्टैंड मम. हमें उसकी बातो में आना ही नहीं चाइये था.

मम: सही कहा.

में: अब आप शांत हो जाओ और मैं मम को थोड़ा शांत करता हु और साइड हुग देता हु

मम: थैंक यू अरुण तुम बहुत अचे हो.

में: अरे मम अब आप प्लीज स्माइल कीजिये. फिर हम आपका फवौरीते पिज़्ज़ा खाएंगे.

मम को मैं थोड़ा खुश करता हु और फिर हम मस्त पिज़्ज़ा खाते है और घर को निकलते है. हमारी बॉन्डिंग और अछि हो जाती है और अब हम और रेगुलर हो जाते है मिलने में. हम शॉपिंग भी चले जाते है कुछ बार.

ऐसे ही कुछ मोनथस और निकल जाते है. अब मैं मम के घर कभी भी चला जाता हु और बाते करते है हम. मैं मम की कोई भी हेल्प कर देता हु. यु ही एक दिन जब मैं मम के घर गया.

में: हेलो मम.

मम: अरे अरुण बड़े सही टाइम पे आये हो. आओ बैठो मैं टीवी पे मूवी स्टार्ट ही करने वाली थी. पॉपकॉर्न और स्नैक्स भी रेडी है. आज बीटा भी नहीं है तो मैं अकेले ही देखने वाली थी. अब तुम साथ दे दो.

में: अरे मम ज़रूर. बड़ा मज़ा आएगा.

फिर मैं भी पॉपकॉर्न जूस और स्नैक लेके मम के साथ सोफे पे बैठ जाता हु. वो एक इंग्लिश मूवी होती है जिसमे कुछ सेक्सी सीन्स भी थे.

में: मम आपने काफी अछि प्रिपरेशन करि है टीवी पर मूवी देखने के लिए.

मम: बस यु ही अकेली थी तो सोचा कोई मूवी ही लगा लू नई सी. फिर पॉपकॉर्न वगैरा रखे थे तो बना लिए.

में: बहुत ाचा मम मज़ा आएगा.हम मस्त मूवी देख रहे होते है और मम ने साड़ी पहनी हुई होती है. बीच में कुछ सेक्सी सीन्स भी आ रहे होते है बीच वगैरा के और एक-दो बीएड रूम सैक्स सन भी.

जब वो सन आता तो मैं थोड़ा उनकंफर्टबले हो जाता हु मम की वजह से.

मम: अरे इतना सोचने की ज़रुरत नहीं है अरुण. आराम से मूवी एन्जॉय करो.

में: जी मम बस वो थोड़ा सा. बाकी ठीक हु मैं.

मम: अरे ी कैन अंडरस्टैंड. बूत अब मूवी ही तो है और अब मुझसे इतना भी फॉर्मल मत रहो. तुम्हारी टीचर बहुत पहले थी मैं. अब थोड़ी हु.

में: जी मम सही कहा आपने. ी’लल तरय तो रिलैक्स.

मम: गुड नाउ एन्जॉय इन ा रिलैक्स्ड मन्नेर.

फिर हम मूवी देखना कंटिन्यू करते है और मूवी काफी अछि होती है. मुझे बहुत मज़ा आ रहा होता है. तभी अचानक मम का जूस मम के ऊपर गिर जाता है.

मम: ओह सहित! और मम एक दम से अपना पल्लू हटती है.

में: क्या हुआ मम? मम के पल्लू हटाने से उनकी क्लीवेज मुझे मस्त दिखाई देती है और उनका ब्लाउज गीला भी हो गया होता है. तो और ज़्यादा नज़ारा दिख रहा होता है

मम: जूस गिर गया मेरे पे.

में: ओह तेरी! और मैं मम की हेल्प करने लगता हु. मैं कपडे से उनके ऊपर से जूस हटा रहा होता हु.

मम: थैंक यू अरुण. ज़्यादा गिर गया है और सब चिप-चिप हो गया है. मुझे नाहा कर चेंज ही करना पड़ेगा अब.

में: है मम ये ठीक रहेगा. आप नाहा लीजिये फिर कंटिन्यू करते है मूवी.

मूवी के सीन्स और फिर मम को यु देख कर मैं काफी फील में आ जाता हु. और मेरा लुंड भी थोड़ा खड़ा हो जाता है जीन्स में.

मम: अरे तुम कंटिन्यू कर लो. तुम काफी एन्जॉय कर रहे थे. मुझे तो काफी टाइम लग जायेगा दोबारा आने में.

में: अरे मम कोई नहीं. ी विल वेट.

मम: ओके मैं जल्दी आती हु.

फिर मम जल्दी से बाथरूम में घुस जाती है और कपडे उतार कर नहाने लगती है. मैं यु ही उनका वेट कर रहा होता हु और इधर-उधर घूम रहा होता हु.

मम की सेक्सी क्लीवेज का ख़याल आ रहा होता है मुझे. फिर थोड़ी देर बाद मम भी वापस आ जाती है. वो काफी फ्रेश होती है और गीले बालो के साथ बहुत सेक्सी लग रही होती है. अब वो निघ्त्य पहन कर आती है और उसने ब्रा नहीं पहनी होती.

में: काफी फ्रेश एंड ब्यूटीफुल लग रही हो मम आप.

मम: थैंक यू अरुण. वो शाम हो गयी थी तो मैंने सोचा यही पहन लू. कहा फिरसे बदलती फिरंगी.

में: हां मम बिलकुल सही करा आपने. पहली बार आपको साड़ी के अलावा किसी चीज़ में देखा है मैंने. बहुत अछि लग रही हो आप सच्ची. और ये पिंक सिल्क टाइप की आप पर जांच भी बहुत रही है.

मम: ओह थैंक यू अगेन बीटा.

मैंने कुछ दिन पहले ही ली थी ये.

में: ओह ाचा बहुत अछि पसंद है आपकी. वैसे मम एक बात है. आप इतने सालो में बिलकुल नहीं बदली. बिलकुल पहले जैसी लगती हो आप. काफी अचे से मेन्टेन किया है अपने आप को.

मम: ाचा जी? ऐसा क्या?

में: जी मम और क्या. झूठ क्यों बोलूंगा. वैसे मम एक बात पूछू आप बुरा न माने तो?

मम: हां बोलो न.

में: जब भी मैं या कोई आपकी तारीफ करता है तो आप बाकी औरतो की तरह रिप्लाई नहीं देती. मैंने देखा है कई बार आप काफी दौब्त्फुल रिप्लाई देती हो.

जैसे की झूठी तारीफ कर रहा हो कोई.

मम: अरे नहीं-नहीं ऐसा नहीं है अरुण. वो बस यु ही. अब क्या तारीफ. इतनी भी कुछ ख़ास नहीं हु मैं. मेरे से बहुत ज़्यादा सुन्दर लेडीज है दुनिया में.

में: हां मम होंगी पर आप किसी से कम नहीं है. आप इतना लौ कॉन्फिडेंस क्यों रखती हो.आईने कई बार नोटिस किया है.

मम: अरे नहीं अरुण ऐसा नहीं है. बस यु ही लगा होगा तुम्हे. औरत की तारीफ तो हर कोई करता है. उसमे क्या है अछि हो या बुरी हो वो.

में: अरे पर मम आप तो इतनी अछि और ब्यूटीफुल हो. आपकी झूठी थोड़ी होती है.

मम: अब क्या फ़ायदा किसी चीज़ का? ये तो चले गए और थोड़ा रोने लगती है में: ी ऍम सॉरी मम. मैं आपको रुलाना नहीं चाहता था.

मम: अरे तुम क्यों सॉरी बोल रहे हो? तुमने नहीं रुलाया मुझे.

फिर मैं मम को सोफे से उठता हु और उनको पानी देता हु. उसके बाद मैं एक ज़ोर की हुग देता हु मम को.

में: मम अब जो हो गया उसको तो मैं नहीं बदल सकता. पर एक बात ज़रूर कहूंगा. आप बहुत ज़्यादा ब्यूटीफुल है. और इस बात को कोई नहीं बदल सकता.

मम: थैंक यू अरुण.

फिर कुछ दिन बाद मम का बर्थडे आने वाला होता है और मैं उनका बेस्ट सरप्राइज देने का मैं बनता हु. उनका बी’डे गर्मी की छुट्टी में आता है तो उनका बीटा मां के घर गया हुआ होता है.

मैं रात १२ बजे मम के घर केक लेके पहुँच जाता हु.

में: हैप्पी बर्थडे मम.

मम: थैंक यू सो मच अरुण.

फिर हम केक कट करते है और मैं थोड़ा केक मम के मुँह पे लगाने लगता हु. मम मुझे रोकती है और न न करने लगती है.

इसके आगे क्या हुआ वो आपको अगले पार्ट में पता चलेगा. स्टोरी पढ़ने के लिए थैंक यू.

आपको मेरी स्टोरी कैसी लगी प्लीज कमेंट सेक्शन में ज़रूर बताये. और अगर आप नैना मम या मुझसे बात करना चाहते है तो हमें मेल कर सकते है. मेरी मेल ईद है: [email protected]

यह कहानी भी पड़े  न्यू सेक्स स्टोरी मेरी सुहागरात की

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!