सौतेले भाइयों को रंडी बनके सुख दिया-2

मेरी पिछली स्टोरी मई अपने पढ़ा कैसे मेरे सबसे बढ़े सौतेले भैया ने मेरी गांद मारी. आज मई उस कहानी को तोरा ओर आयेज बताता हूँ.

तो अगर उपने मेरी पचली कहानी पढ़ी है तो उपको पता होगा कैसे मैने मेरे बारे सौतेले भैया मनोज से अप्नी गांद चुडवाई ओर कैसे मेरे ट्विन्स सौतेले भाइयों मे से एक ने मुझे देख लिया था.

मई अब भी बहुत दर्रा हुवा था. मुझे लगा मनोज को ब्ताना चाहिए पर उसके पास जो वीडियो है उसके दर्र से मई चुप रहा.

रात हो गयी थी सबभाई घर आ गये टे. मई अभी भी कन्फ्यूज़ था की कॉन्सा ट्विन्स ने मुझे देखा था. क्या वो तरुण था या वरुण. दोनो एक दूसरे की आइयीरॉक्स कॉपी तीस. कापरे भी हमेशा ऑलमोस्ट सेम पहेनटे टे.

सबने डिन्नर किया ओर उपने उपने कमरे मई चले गये. मनोज भैइता ने मुझे बुलाया ओर बोला “आज आराम करो बेबी मैने तुम्हे शायद कुछ ज़्यादा ही रफ से छोड़ दिया”.

यह कहकर वो उपने रूम मई चले गये ओर मई भी उपने रूम मई आस गया. थोड़े देर बाद मैने उपने कमरे के दरवाजे पे एक नॉक सुनी. मुझे लगा शाया मनोज होगा, मई खुश हो गया क्यूकी मई अभी भी आज की चुदाई केबारे मई सोच रहा था ओर मई बहुत हॉर्नी फील कर रहा था.

जैसे ही मैने दरवाजा खोला, जो भी था उसने मेरे मूह पर हाथ रखा ओर मुझे अंधर्बटेलते हुवे दरवाज़ा बाँध कर दिया. जब मैने अच्छे से देखा तो वो ट्विन्स मई से एक था. मुझे रीयलाइज़ हुवा यह वोही ह्पगा जो मुझे आज देखा था वो सब करते हुवे.

“चुप” उसने कहा.

“कों हो तुम वरुण या तरुण?” मैने धीरे से पूछा.

“तरुण” उसने रिप्लाइ दिया.

फिर उसने मुझे बेड पे ले गये ओर उपना मोबाइल निकालने लगा. उसने उपना फोन अनलॉक किया ओर मुझे वो वीडियो दिखाने लगा जिसमे मनोज मुझे छोड़ रहे टे ओर मई न्ही मज़े ले रहे टे. मैने उसके तरफ़ देखकर पूछा “क्या चाहिए तुम्हे?”.

“वोही जो मनोज ने किया तुम्हारे साथ” तरुण ने कहा.

मई कुछ बोलने ही वाला था की उसने उपना लिप्स मेरे लजपस पे रख दिया. वो मूज़े जनवरो जैसा किस करने लगा. किस करता ओर कटता जैसे की बरसो का बुखा हो. मई नही चाहता था करना पर मई इतना हॉर्नी था आज सुबह के बारे मई सोचके की मई खुद को रोख ही नही पाया. मैने भी उससे किस करना शुरू कर दिया.

“सौमित तुम बोहुत सेक्सी हो” तरुण ने कहा. “मई काब्से चाहता था की मई तुम्हे चूड़ू” यह कहके वो मुझे ओर व मस्त किस करने लगा.

थोरे देर बाद उसने उपना हाथ मेरे त शर्ट के अंधार डाला ओर मेरे चूचो को दबाने लगा. फिर उसने मेरे टशहिर्त फार दिया ओर मुझे उपर से नंगा कर दिया. वो एक हाथ से मेरे एक चूचो को दबाता वही मेरे दूसरे चूच को उपने मूह मई लेकेर चूस रहा. मुझे हाढ़ से ज़्यादा मज़ा आ रह था.

मई हल्की हल्की सीस्क्रिया लेने लगा. उसने मुझे खरा किया ओर किस करते करते मेरे पंत खोल दिया. उसने मुझे घुमा दिया ओर मेरे गांद के दोनो चीक्स ऑफ पाकर कर अलग करने लगा ताकि मेरे होल को देख सके. “इस छेड़ को तो आज भैया ने फार दिया” उसने कहा ओर मेरे चीक्स पर किस किया.

“काश मई होता जो इसको फर्था” उसने कहा ओर मुझे बेंड कर दिया. “वा बेबी तुम्हारे गांद बरा ही प्यारा ओर सेक्सी है. ओर क्या खुसबू है” उसने कहा ओर चाटने लगा.

मुझे मनोज भैया की बात याद आ रही थी. मैने माना किया तरुण को पर रुखने का नाम ही नही ले रहा ट्ग. मैने उससे ढाका देके दूर किया तो वो गुस्सा हो गया. वो गुस्से मेी रूम से बाहर गया. मई वोही बेड पर समझने की कॉसिश कर रहा था की अभी अभी क्या हो गया. जब मई दरवाज़े के तरफ जेया ही रहा उससे बाँध करने की

तरुण वापस आ गया. इसबार उनके हातो मई एक बॅक पॅक था. मई दर्र गया ओर वही रुख़ गया. तरुण ने रूम का दरवाज़ा लॉक किया ओर मेरे पास आ खरा हुवा. उसने बाग बेड पर फेका ओर मुझे किस करने लगा. फिर तरुण ने मुझे बेड पर धक्का देकर लैयता दिया.

“तरुण यह क्या कर रहे हो” मैने पूछा. उसने एक स्मर्क किया ओर बाग को खोलने लगा. उसने बाग से दो हॅंड्कफ निकले.

मैं समझ गया वो क्या करने वाला था. मई उठकर जाने ही वाला था उसने उपना पूरा वजन मेरे उपर डाल दिया ओर मुझे क़ास्सके पाकारके उल्टा कर कीड़ा. मई उपने पेट के बाल अभी लेता था ओर वफ मेरे उपर. फिर उसने मेरे दोनो हाथो पर हॅंडकफ्स लगा दी ओर बेड के रेलिंग पर लॉक कर दिया.

“तरुण प्लीज़ चोर दो” मैने उनसे कहा. उसने मुझे किस किया ओर कहने लगे की आज वो मुझे रंडी बनाक्र छोड़ेगा. मई सहम गया. उसने उपना हाथ बाग मई डाला ओर कुउच स्ट्रॅप जैसा निकाला जिसके बीच मई एक बॉल था.

तरुण उससे मेरे मूह पर बाँध दिया. मई समझ गया की यह इसिसलिए ताकि मई चीक या आवाज़ ना कर साखू. फिर वो मुझे किस करते हुवे मेरे गांद पर उपने टंग से चाटने लगा. वो आल्टेरनटीवे चट्टा ओर उपने उंगलिया घुसा था.

कुछ देर यह करने के बाद उसने एक वाइब्रटर निकाला ओर मेरे गांद मई दल दिया. उसने अभी मेरे मूह पे से वो स्ट्रॅप खोल दी ओर मुझे उल्टा घुमा दिया ओर हॅंडकफ्स को भी अड्जस्ट कर दिया. फिर वो मेरे सामने के टेबल र्राइव चेर लेकर आया ओर बेड के सामने रख दिया ई बैठ गया. मुझे समझ नही आ रहा था की वो क्या करने की कॉसिश कर रहा है.

फिर उसने स्प्ना फोन निकाला ओर अचानक से मेरे गांद मई हुलचूल होने लगी. वो मुझे स्माइल करता हुवा देख रहा था. वो वाइब्रटर वाइब्रट करना शुरू हो गया था. फिर उसकी स्पीड बार्न लगी.

“बेबी अभी मई तब तक तुम्हे नही चुऊन्गा जब तक तुम मुझे खुद नही कहते” यह कहकर उसने ओर तेज़ करदी.

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था पर मुझे ओर चाहिए था. मई आवाज़े ना निकालने की पूरी कॉसिश कर रहा था ताकि बाकी ब्रपतेर्स ना उठ जाए. ओर तो ओर अगर मनोज को पता चल गया तो, यह सोचके मई पूरी कॉसिश कर रहा था फिर भी धीमी सिसकारियाँ मेरे मूह से छूट रही. मेरा लंड पूरा टन गया था. ओर उसका भी मई उनके पंत मेी से देख पा रहा था.

वो स्माइल करते मुझे देखे जेया रहा था. मेरे क्लुंड से प्रेकुं निकल रहे टे. मुझसे ओर रहा नही गया. धेमे आवाज़ मई मैने तरुण से कहा “प्लीज़ तरुण छुओ मुझे प्लीज़”

वो खुश हुवा फिर भी चेर से नही उठे ओर बोले, “सिर्फ़ चुना ओर कुछ नही बेबी” उसने हसके कहा.

“नही तरुण तुम्हे जो भी करना है वो करो प्लीज़ प्लीज़” मई ऑलमोस्ट बेग करने लगा.
“बताओ बेबी क्या करू मई तुम्हारे साथ”उसने कहा.

“तुम चाहिए मुझे तरुण. प्लीज़ चूड़ो मुझे प्लीज़” मई बेग करता रहा पर वो तोरा सा व नही हिला. “तरुण मुझे तेरा लंड चाहिए. तुम जो कहोगे मई वो करूँगा. प्लीज़” मैने फिर से कहा बीच बीच मई आह आह की आवाज़ें निकल रहे टे मेरे मूह से.

वो संत्ुस्त हो गया ओर उसने वाइब्रटर ऑफ कार्डिया. वो बेड पर आए ओर मुझे किस किया ओर हॅंडकफ्स खोले ओर मुझे गोदी मई उठाया ओर खरा कर दिया. फिर उसने मुझे बेड के किनारे हाथ रखने को कहा ओर बेंड करने को कहा.

मैने वैसे ही किया जैसे उसने कहा. फिर उसने वाइब्रटर निकल दिया. फिर उसने बाग मई ओर एक बार हाथ डाला ओर इस बार एक डिल्डो निकाला.

यह सब देखकर मई हैरान था. मुझे पता था की ट्विन्स थोरे हरामी नॉटी है पर इतना यह मुझे नही पता था. मैने उसके तरफ देखा तो उसने हसके मुझे फोर्हेड पर किस किया.

“मुझे यह सब तेरे साथ ट्राइ करना है. मुझे पता था किसी दिन मई करूँगा पर इतनी जल्दी यह नही पता था. मेरे गर्लफ्रेंड्स इससे उसे नही करने देते सो बेबी यह सब तेरे लिए है”.

फिर उसने उस डिल्डो के उपर लूबे लगाया जो उसके बाग मई थी ओर फिर एक झटके मे मेरे गांद के अंधार दल दी. मेरी मूह से आह की चरेक निकल गयी. उसने मुझे ष्ह का इशारा किया ओर मुझे घुटनो के बाल बैठने को कहा. फिर वो जा चेर पर बैठ गया ओर मुझे उसका पंत उतरने को कहा.

मैने उसका पंत खोला तो वो कलविंस पहने हुवे टे. उसका लंड उभर कर आ रहा था. कलविंस के अंधार ही इतना बरा दिख रहा था. उसने मेरे सिर को पकरा ओर कलविंस के उपर से ही मुझे रगड़ने लगा. उसने मुझे उसके लंड को किस करने को कहा. उनका स्मेल इतना मर्दानी था जैसे की वो उससी अंडरवेर मई मूठ मारा हो.

थोरे देर बाद मैने उनका उंदेटवेअर सदका दिया तो उनका लंड ताना ओर खरा मेरे नज़रो के सामने था. जब मैने देखा तो मई दर्र गया. उसका लंड बिल्कुल मनोज जितना बरा था. मैने देखा की उनके टोप्पो के उपर तोरा पानी है मैने उससे चटा तो वो आह की सिसकारिया भरने लगे.

“चूस मेरे लॉड को बेबी” उसने कहा. “मूह खोलो. आज मई टर मूह पहले छोड़ूँगा फिर तेरे गांद की लूँगा” उसने कहा.

मैने उपना मूह खोला ओर उसने उपना पूरा लंड मेरे अंधार गुसा दिया. उनका लंड पूरा नही जेया रहा था तो उसने मुझे मेरे बालो के बाल पकरा ओर ज़ोर से उपने लंड पर ढाका देने लगा. उनका लंड मेरे थ्रोट पे लगने लगा. मई चोक करने लगा.

कुछ सेकेंड्स बाद उसने रलएसए किया तो मुझे सांस आई. मैने फिर उनका लंड मेरे मूह मई लिया ओर उपर नीचे करने लगा. वो आह आह की आवाज़ें निकल रहा टे पर धंमे धंमे ताकि किसी को सुनाई ना दे.

करीब 20 मिनिट मई उनका लंड चूस्ता रहा ओर वो मेरे मूह मई ही झाड़ गया. जब मैने उनका मलाई बाहर चोरना चाहा तो उसने मेरे मूह पर उपना हाथ राक दिया ओर मुझे पींव को कहने लगे. मई करना नही चाहता था पर वो मुझे चॉर्ने का नाम ही नही ले रहा था. मैने मजबूरी मई पी ली पर साच्च बताओ तो मुझे पीकर बरा मज़ा आया.

फिर वो मुझे उठाया ओर बेड पर उल्टा मेरे पेट के बाल लेटने को कहा. वो डिल्डो से अब मेरे गांद को छोड़ने लगा.

“बेबी ज़्यादा आवाज़ मत करो. बाकी लोग उठ गये तो तेरी खैर नही” उसने हेस्ट हुवे कहा.

वो डिल्डो को बाहर निकल ओर उपने मूह मेरे गांद के होल पर रखकर उपने टंग से चाटने लगा. कुछ समाई चाटने के बाद उसने मुझे मनोज के चुदाई के बारे मई पूछा.

उसने पूछा की मुझे कैसा लगा उपने बारे भैया का लंड उपने गांद मई लेके. उनके बातो से मई ओर हॉर्नी हो रहा था. मैने जवाब दिया की उनका लंड ने मुझे बहोट मज़ा दिया. अब वोही मज़ा तुम भी दो.

“ओफ़फकौरसे बेबी. मई तुम्हे उससे भी मज़ा दीउंगा. तुम बार बार मेरे लंड से छुड़वाना चाहोगी” उसने रिप्लाइ किया ओर फिर मेरे गांद को चाटने लगा. वो मेरे गांद के गालो को स्पॅंक करता ओर दबाता.

कुछ देर बाद उसने मुझे पलटा ओर मेरे चूचो को दबाने लगा. उसने मेरे निपल्स को उपने मूह मई लिया ओर चूसने लगे. मुझे इतना मज़ा आ रहा थी मई बता नही सकता. वो मेरे निपल्स को उपने दाट्टो से कटता ओर सक करता. ओर दूसरे हाथ से मेरे दूसरे चूचे को दबाता.

कुछ 10 मिनूत्व बाद उसने मुझे डॉगी पोज़िशन मई जाने को कहा. मई खुद को पोज़िशन मई रख लिया. उसने उपने लंड पर लूबे लगाया ओर मेरे छेड़ मई रख दिया. वो वोही मुझे टीज़ लार्न लगा.

मई बेसबर हो रहा था तरुण के लंड लो मेरे गांद मई लेने के लिए. मैने उपना गणन्ड़ पीछे के तरफ देखेला तो उनका लंड तोरा मेरे अंधार गुस्सा.

“बेबी क्या चाहिए तुम्हे” उसने मुझे टीज़ करते हुवे उपना लंड फिर बाहर निकल दिया.

“तरुण प्लीज़. चूड़ो मुझे प्लीज़. मुझे तेरा लंड कहाइए प्लीज़. अब रला नही जाता. प्लएआसए” मई बेग करने लगा.

“तोज़फ़ यह लो बेबी” उसने एक धक्के मई उपने पूरा लंड मेरे अंधार गुस्सा दिया. मुझे दर्द हुवा पर तोरा कम हुवा. वो तपरे ढेर रूखे ओर झुक कर मेरे मूह मई उपना हाथ रहकहा ताकि मई आवाज़ें ना निकल साखू ओर अप्नी स्पीड बाराने लगा. धीरे धीरे कर वो स्पीड बदाता गया. मेरे मूह से सिसकारिया निकालने लगी ओर उनके मूह से भी धीमे सिसकारिया आह आह के आवाज़ निकल रहे टे.

पूरे रूम मई ठप ठप की आवाज़ आने लगे. वो मुझे ज़ोर ज़ोर से छोड़ने लगा. करीब 10 मिनूत्व छोड़ने के बाद उसने उपना लंड निकाला ओर मुझे पलट दिया.

फिर उसने मेरे टॅंगो को हवा मई उठाया ताकि मेरे गंद की छेड़ उससे दिखाई दे फिर उसने उपना लंड थोक दिया मेरे गांद मई. फिर वो छोड़ते छोड़ते मेरे चूचियाँ दबाता ओर उन प्स्र सक करता. वो गंदी गंदी बातें करके मुझे छोड़ते गये.

कुछ टाइम बाद उसने उपना स्प्पेड हद से ज़्यादा भरा दिया मिझे पता था की एप्फ छोड़ने वाला है. उसेन पूछा कहा लोगे तो मैने मेरे गांद मई ही छोड़ने को कहा ओर उसने छोड़ दी. फिर वो मेरे उपर ही लायत गये.

थोरी देर बाद उनका लंड सीकुर गया ओर मेरे गांद से निकल गया. वो मुझे किस किया ओर बोले. “मेरी गर्लफ्रेंड भी मिझे इतना सॅटिस्फाइ नही कर पाएगी जितना तूने किया आज मुझे सौमित”.

“सच्ची सच्ची तरुण”मैने स्माइल करके पूछा.

मैने उसको किस किया. फिर वो मुझे हग करके मेरे फोर्हेड पर एक किस किया.

“आज से तू मेरी गर्लफ्रेंड. मई तुम्हे रोज़ छोड़ूँगा”उसने कहा. यह सुनते ही मुझे मनोज भैया की बात याद आ गयी.

“नही”मई झट सेबोला.

“क्यू. तुझेमज़ा नही आया क्या”

“नही वो बात नही है. मनोज भैया ने कहा है किसी ओर से गांद ना मरवाने को. सिर्फ़ उससे मरवाने को कहा है.

अगर उससे पता चल गया तो आच्छा नही होगा” मैने कहा.

“डॉन’त वरी बेबी. और सीक्रेट” उसने कहा ओर मुझे किस किया. किस सेओेरते होते ही मैने देखा की उसका लंड फिर से खरा हो गया. उसने मुझे उनके लंड को देखते देखा ओर कहने लगे “रौंद टू”

फिर तरुण ने मुझे रात भर छोड़ा. करीब 5 बार छोड़ा. मई हैरान रह गया उसका स्टॅमिना देख कर. जब हम छोड़के हो गये मैने देखा की टाइम ऑलमोस्ट मॉर्निंग होने को आया है.

मैने तरुण को उपने रूम जाने को कहा ताकि किसी को कुछ साख ना हो. वो मुझे लक़्स्ट एक बार किस किया ओर उपने रूम चले गये. मई बःउत तक गया था अप्नी ठुकाई से सो मई सो गया.

आयेज क्या हुवा जानने के लिए मेरे नेक्स्ट अपडेट का इंतेज़ार करे. अगले पार्ट मई उपको मेरे ग्विंस ब्रदर के शरारत के बारे मई ब्टौँगा ओर कैसे मई दोनो भैयप से चूड़ गया.

हे गाइस! उपको कैसे लगी मेरी कहा. प्लीज़ मुझे एमाइल करके बताना

यह कहानी भी पड़े  हसीना को चुदाई के दर्द की तलाश

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!