सोनाली मामी के सेक्सी जिस्म का दीवाना

pichla part नेक्स्ट दे मैं जब भी सोनाली मामी को देखता था तब मुझे कानो मे उनकी सिसकारियाँ और सेक्सी आवाज़े सुनाई दे रही थी. अब तक जो मैं उनकी तरफ सिर्फ़ आकर्षित हो रहा था अब वो मेरा टारगेट बन गयी थी.

मामी दिन मे जब भी मेरे आसपास होती मैं उन्हे घूर्ने लगा था. उनके जिस्म को मैं हर जगह से देखने लगा. उनका खूबसूरत सा चेहरा, नाज़ुक से गुलाबी होंठ, कोमल कोमल गाल, गोरी और पतली कमर, जब वो चलती तब उच्छलने वाली उनकी गांद को देखकर मेरा दिल बार बार कह रहा था के मुझे उन्हे छोड़ना है. क्यू छोड़ना है पता नही लेकिन उनका जिस्म और उनकी हवस देखकर मुझे ऐसा लगा जैसे वो मुझसे चूड़ना चाहती थी.

मैने दीपाली मामी को इसके बारे मे कुछ नही बताया और हुमारा अफेर जारी रखा. मैं उन्हे जब भी छोड़ता था मेरी आँखों के सामने सोनाली मामी ही दिखाई देती थी. उफ़फ्फ़ उन्हे इमॅजिन करके मैं दीपाली मामी को बहुत छोड़ता था. बस उसके बाद मैने जिम जाय्न कर ली थी. वो दीनो मे मैं फिटनेस और वर्काउट करने लगा.

कॉलेज, जिम और दीपाली मामी की चुदाई की वजह से मैं 2 – 3 साल तक सोनाली से नही मिला और ना उनके घर गया. ये 3 साल मैने डाइयेट और जिम की हेल्प से सिक्स पॅक बॉडी बना ली जिससे मेरी पर्सनॅलिटी बहुत आक्ची बन गयी थी.

धीरे धीरे करके दिन गुज़र रहे थे. एक दिन किसी रिलेटिव्स की शादी मे जाना था इसलिए मैं भी चला गया. मेरी दोनो मामी आने वाली थी. मैं पहले ही वहाँ अपनी फॅमिली के साथ पहुँच चुका था और सारे रिश्तेदारो से मिला. कुछ देर बाद मेरी दोनो मामी आ गयी.

दीपाली मामी ने पर्पल कलर की सारी डाली हुई थी जिसमे वो बहुत हॉट लग रही थी. बहुत साज धज के आने की वजह से हर मर्द उन्हे देख रहा था. उन्होने स्लीवलेशस ब्लाउस पहना था जिसकी वजह से वो और भी बोल्ड लग रही थी. मामी ने आते ही हम सब से बात की और स्माइल करते हुए मुझे हग किया. मैने भी उनकी कमर मे हाथ डाल के उन्हे कस के गले लगाया. उनके बड़े बड़े बूब्स को मैं अकचे से फील कर रहा था.

दीपाली मामी (नॉटी स्माइल के साथ मेरे कान मे): बहुत हॉट लग रहे हो नील… पहले ही इतने हॅंडसम हो तुम्हे देखकर मेरी छूट मे कुछ कुछ हो रहा है.

नील (स्माइल करते हुए): आप भी कुछ कम नही लग रही. दुल्हन को हटा के आपको वहाँ बिता देंगे तो हर कोई समझेगा के आपकी ही शादी है. इतनी सेक्सी लग रही हो के आस पास के सारे मर्द आपको ही देख रहे है

मेरी बात सुनकर मामी ने आजू बाजू देखा तब उन्हे साँझ आया के सच मे सारे मर्द उन्हे ही देख रहे थे. हम सब साथ मे बैठ गये और मेरे साइड मे दीपाली मामी थी. हम दोनो की बातें चल रही थी लेकिन मेरी नज़र सोनाली को ढूँढ रही थी. इतने सालो के बाद जो मैं उन्हे देखने वाला था. आख़िर खुद को कंट्रोल ना करते हुए मैने मामी से पूछ ही डाला.

नील: सोनाली मामी भी आने वाली थी ना? वो कहा है?

दीपाली: हन वो आ चुकी है उसकी कोई फ्रेंड मिल गयी उससे बात कर रही थी. अभी आ जाएगी. तब तक मैं हूँ ना मुझसे बात करो

इतना बोल के उन्होने मेरा हाथ पकड़ लिए और हम दोनो मस्ती करते हुए एक दूसरे को च्छेदने लगे.

थोड़ी देर के बाद सोनाली मामी भी आ गयी. उन्हे देखते ही मैं खड़ा हो गया. अफ आज वो क्या लग रही थी येल्लो कलर की सारी मे. चेहरे पर हल्का सा मेकप और जिससे वो और ज़्यादा खूबसूरत लग रही थी. उन्होने अपने बालो को बाँध के रखा था. 3 सालो मे उनकी फिगर और निखार गयी थी. पहले जैसे वो स्लिम हुआ करती थी अब उनका बदन भरा हुआ दिखने लगा था जो अक्सर किसी भाभी का होता है.

सोनाली ने बाकी सब से बातें करने के बाद वो मेरे पास आई. उन्होने मुझे उपर से लेकर नीचे तक खुश होते हुए दिखा और कहने लगी.

सोनाली: नील… 3 साल बाद मिल रही हू आज तुमसे. और तुम कितना बदल गये हो है ना दीदी?

दीपाली (मेरा कान खीचते हुए): हन. देख ना पहले बाकछे जैसा था और अब जिम जाय्न कर के कैसी बॉडी बनाई है.

सोनाली: हन वही तो. मुझे बिलीव ही नही हो रहा के तुम वही नील हो जिसे मैं बाकचा समझती थी.

नील: मामी और कितने दीनो तक बाकचा रहूँगा? कभी तो बड़ा हो ही जौंगा ना

सोनाली: हन बुत ये चेंज मुझे बहुत पसंद आया. लुक अट हिं दीदी कितना हॉट लग रहा है.

सोनाली मामी के मूह से पहली बार हॉट जैसा वर्ड सुनकर मैं डांग रह गया था. मैने जितना एक्सपेक्ट किया था मामी उससे काई ज़्यादा खुश लग रही थी. ये खुशी उनके चेहरे पर सॉफ दिखाई दे रही थी.

हम तीनो मेरी फॅमिली से तोड़ा दूर थे और हुमारी बातें शुरू थी.

दीपाली: ह्म इसने आज कल नया चालू किया है. जवान लड़कियों को छ्चोड़ के अपनी दोनो ममियों को ही पता रहे हो.

दीपाली मामी की बात सुनकर एक बात के लिए मुझे लगा के सोनाली बुरा मान जाएगी. लेकिन वो एक दूसरे को ताली देते हुए हासणे लगी. तो आज मैं उनका दूसरा रूप देख रहा था जो मुझे बहुत कुछ कह रहा था.

नील: क्या मामी आप दोनो मुझे च्छेद रहे हो

सोनाली (मेरे कंधे पर हाथ रख के): अरे क्यू ना च्छेदे तुम्हे? जवान हो, इतने हॉट लग रहे हो और अब तो बड़े भी हो चुके हो.

सोनाली मेरे एकदम करीब थी. उनके चेहरे को मैं बहुत ज़्यादा करीब से देख रहा था. अफ उनके चेहरा देखकर मुझे कुछ कुछ हो रहा था.

नील (मज़ाक मे): हन आप दोनो जैसी खूबसूरत लड़कियाँ सामने से पाट जाए तो कौन माना करेगा.

दीपाली मामी ने मुझे देखकर आँख मारी और वो मुझे फ्लर्ट करने के लिए इशारा कर रही थी.

नील (सोनाली मामी से): मामी आप भी कुछ कम नही हो. पहले जितनी खूबसूरत थी आज उससे काई ज़्यादा सेक्सी लग रही हो.

नील (सोनाली के तोड़ा करीब जाकर): और आपकी फिगर पहले से काफ़ी निखार के और भी सेक्सी लग रही है.

सोनाली: अक्चा जी. तो अब हुंसे ही फ्लर्ट करना शुरू कर दिया? चलो कोई नही तुमने खुल के बोला तो मुझे बहुत अक्चा लगा. कोई होना चाहिए ऐसा जो खुल के तारीफ करे.

इतना बोल के मामी मुझे हग करने लगी. मैं पहली बार सोनाली को हग कर रहा था तो मैने भी सोचा के अगर वो इतना फ्लर्ट कर रही है तो मैं भी ऐसा मौका क्यू छ्चोड़ू? मैने उनकी नाज़ुक सी कमर मे हाथ डाल के उन्हे अपने करीब खीचा और ज़ोर से गले लगाया. उनके बूब्स को मैने लगभग मसल ही दिया था जो पहले से बहुत बड़े हो चुके थे.

मैने 3 सेकेंड के लिए उन्हे किया और उनकी गर्दन पर एक किस करते हुए कहा “आप बहुत हॉट लग रही हो”. उन्होने भी मुझे “थॅंक योउ” बोला.

फिर हम अलग हो गये और बैठकर बातें करने लगे. मैं बीच मे बैठा हुआ था. मेरे लेफ्ट साइड मे दीपाली मामी थी और रिघ्त साइड मे सोनाली थी. दोनो ही पूरी तरहा से मेरे साथ फ्लर्ट कर रही थी इसलिए मुझे बड़ा मज़ा आने लगा था. दीपाली मामी को तो बस मौका चाहिए होता है मुझे सिड्यूस करने का, वो मुझे थाइस और यहाँ वहाँ हाथ रख के सहला रही थी जिसका असर अब मुझपर होने लगा था.

अंदर से मुझे कुछ कुछ हो रहा था और मेरे लंड मे तनाव आने लगा था. सोनाली मामी ये सब ध्यान से देख रही थी. वो पहले ही मुझसे इतना इंप्रेस थी के अब वो मुझे घूर्ने लगी थी.

मैने दीपाली मामी के करीब जाकर उनके कान मे बोला

नील: प्लीज़ मुझे यहाँ सिड्यूस मत करो… मेरा लंड खड़ा हो रहा है

दीपाली मामी: ये तो और अक्चा है तुम्हे बहुत मज़ा आएगा

नील: मज़ा तो आ रहा है लेकिन बाजू मे सोनाली मामी बैठी है. वो क्या सोचेगी मेरे बारे मे

दीपाली मामी: वो पहले ही तुमसे बहुत इंप्रेस है और आज तुमसे मिलकर ऐसा लग रहा है के तुम्हारी तरफ वो अट्रॅक्ट हो रही है.

नील: मतलब आप अपनी ही बहें को मेरे साथ सेट करवाना चाहती हो?

दीपाली मामी: लिसन मेरा ऐसा कोई इंटेन्षन नही था. तुझे अगर वो पसंद है तो अभी बताओ मुझे.

मैं तोड़ा सोचने लगा के दीपाली मामी को बतौ या नही. अगर उन्हे बताया तो वो मेरी हेल्प कर सकती है. मैं तोड़ा सा कन्फ्यूज़ था और सोच रहा था तभी सोनाली ने कहा

सोनाली: क्या बात है नील दीदी से इतनी क्या पर्सनल बातें कर रहे हो जो मुझसे शेर नही करना चाहते?

नील: मामी ऐसा कुछ नही है

फिर मैने दीपाली मामी के करीब जाकर उन्हे बताया

नील: मैं सोनाली मामी को बहुत पहले से पसंद करता हूँ. जब आपको छोड़ रहा था तब से उनकी तरफ अट्रॅक्ट हो चुका हूँ. प्लीज़ कुछ करो ना आप

मेरी बात सुनकर दीपाली मामी ने तोड़ा सोचा और कहा

दीपाली मामी: तुम चिंता मत करो मैं तुम्हारे साथ हूँ. जल्द ही सोनाली तुम्हे मिल जाएगी लेकिन मेरी एक शर्त है

नील: क्या?

दीपाली मामी: मुझे तुम्हारे साथ अभी एक फॅंटेसी ट्राइ करनी है

नील (शॉक होते हुए): क्या? अभी?

दीपाली मामी: हन अभी. आज तुम बहुत हॉट लग रहे हो और तुम्हे देखकर कब से मेरी छूट पानी छ्चोड़ रही है.

मैं उनसे तोड़ा दूर हुआ और सोचने लगा. मामी की बात सुनकर मुझे बड़ी खुशी हो रही थी के वो ऐसे मौके पर सामने से मुझसे छुड़वाना चाहती है.

नील: वैसे आपने मुझे सिड्यूस किया है तब से मेरा भी कुछ यही हाल है.

दीपाली मामी: श तो फिर देर किस बात की? चलो अभी चलते है.

नील: अभी नही… शादी के बाद. अभी मुझे सोनाली मामी के साथ तोड़ा टाइम स्पेंड करने दो ना.

दीपाली मामी: नू मुझे तुमसे अभी छुड़वाना है.

नील: मामी लेकिन अभी शादी जस्ट स्टार्ट होने वाली है

दीपाली मामी: यही तो फॅंटेसी है… यहाँ नीचे शादी चलती रहेगी तुम मुझे वॉशरूम मे अकचे से छोड़ोगे

मैने थोड़ी देर सोचा और कहा

नील: ठीक है लेकिन शादी के बाद मामी चली जाएगी ना फिर पता नही उनसे कब बात कर पौँगा

दीपाली मामी: बस इतनी सी बात? तुम्हे उसके साथ इतनी रहने की इक्च्छा है तो मैं उसे कुछ दिन के लिए अपने घर ले जाती हूँ और तुम भी आ जाना. तेरे मामा तो अपने दोस्तो के साथ कुछ दीनो के लिए बाहर गये है तो तुम्हे रोकने वाला भी कोई नही होगा और मैं भी हेल्प करूँगी तुम्हारी.

नील: डन

तभी दीपाली मामी ने मेरा हाथ पकड़ा और हम दोनो जाने लगे के सोनाली मामी ने पुचछा

सोनाली मामी: अरे आप दोनो कहा जेया रहे हो? शादी अभी शुरू होने वाली है.

दीपाली मामी: तोड़ा कम है इसलिए जाना पड़ेगा. हम दोनो थोड़ी देर मे आते है

सोनाली मामी: लेकिन शादी हो जाने दो उसके बाद चले जाना

दीपाली मामी: नो डियर… तोड़ा अर्जेंट है

सोनाली मामी: कुछ इंपॉर्टेंट हो तो मैं अभी चालू साथ मे?

मैं मॅन मे बोलने लगा के कुछ दिन और वेट कार्लो मामी जब आपको पता लूँगा तो आप भी मुझे ऐसे ही लेकर जाओगी छुड़वाने के लिए.

दीपाली मामी: कोई ज़रूरत नही है तुम यही रहो. हम दोनो थोड़ी देर मे आते है.

सोनाली मामी (मुझे स्माइल देते हुए): ठीक है.

दोस्तो आपको ये पार्ट और मेरी दोनो मामी के साथ केमिस्ट्री कैसी लगी मुझे मैल करके ज़रूर बताना. आपको जो रोमॅन्स चाहिए वो नेक्स्ट पार्ट मे आने वाला है तब तक वेट करना.

लड़कियाँ और मॅरीड लॅडीस नॉटी चाटिंग करने के लिए या फिर अपनी फॅंटेसी मेरे साथ शेर करने के लिए मुझे मैल करे आपकी प्राइवसी का ख़याल रखा जाएगा.

तो बे कंटिन्यूड…
[email protected]

यह कहानी भी पड़े  बर्थ-डे पर दोस्त ने बहन की चुदाई की

error: Content is protected !!