Shuruat Hui Meri Sex Life Ki

सबसे पहले अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार!

हिन्दी सेक्स स्टोरी की बेहतरीन साइट अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है, मैं इस साईट का बहुत बड़ा फैन हूँ। मैंने इसकी लगभग सारी कहानियाँ पढ़ी हुई हैं और ज्यादातर कहानियों को पढ़ कर मैंने मुट्ठ भी मारी है।

मेरा नाम अलफ़ाज़ खान है, मैं राजस्थान के जोधपुर जिले में रहता हूँ, मेरी उम्र 22 साल है और मेरी हाइट 6 फ़ीट है।
मेरी बॉडी सलमान खान जैसी है, मैं दिखने में स्मार्ट हूँ और मेरा लण्ड काफी लम्बा और मोटा है।

इक लड़की ने देखा
एक बार मैं अपने दोस्त की शादी में गया था.. वहाँ बहुत सारी लड़कियाँ थीं। उनमें से एक लड़की बार-बार मुझे ही देख रही थी। मैंने यह बात बहुत बार नोटिस की थी।
उस टाइम मैं लड़कियों से बात करने में बहुत शर्माता था।

मैं बहुत देर तक सोचने के बाद उस लड़की को अकेला देख कर उसके पास गया और उससे उसका नाम पूछा, तो उसने अपना नाम कौसर खान बताया।

वो लड़की बहुत ही गोरी थी, पर उसके मम्मे छोटे-छोटे थे।
उसकी हाइट 5.7 इंच थी और उसकी बॉडी भी बिल्कुल स्लिम थी जिसमें वो बहुत ही मस्त लग रही थी।

मैंने उससे पूछा- आप मुझे बहुत देर से देख रही हो?
तो वो हँसने लगी और कहा- आप भी तो मुझे देख रहे थे।

मस्त लड़की से दोस्ती
फिर मैंने डायरेक्ट उससे दोस्ती करने का कहा और अपना नंबर देकर वापस चला आया।

दूसरे दिन रात में उसका कॉल आया, तो हमने बहुत देर तक बात की और एक-दूसरे से अपनी बातें शेयर करने लगे।

यह कहानी भी पड़े  Bhabhi Ki Saheli Puja Ki Rasili Gand

मैंने उसकी खूबसूरती की भी बहुत तारीफ की और इस तरह हम बहुत अच्छे दोस्त बन गए।
लगभग 4 महीने तक हम रोज़ फोन पर बात करते रहे।

एक दिन मैंने उसे मिलने बुलाया और हम एक गार्डन में मिले।
उधर अच्छा मौका देख कर मैंने उसे ‘आई लव यू’ बोल दिया।

कुछ देर तो वो कुछ नहीं बोली, फिर अचानक ही मेरे सीने से लग गई और मेरे गाल पर चुम्बन किया।
फिर उसने मेरे सीने में अपना सर छुपाते हुए मुझसे ‘आई लव यू टू..’ कहा।

मैं बहुत खुश हो गया था, मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया।

इसके बाद तो हम दोनों अक्सर मिलने लगे।
वो जब भी मिलती.. मैं उसे किस करता था.. उसके मम्मों को दबाता था।
यह सिलसिला तीन महीने तक चला।

मैं जब भी उसे सेक्स का बोलता.. वो इंकार कर देती।

फिर किसी बात को लेकर एक दिन हमारी बहुत ज़ोरदार लड़ाई हुई और मैंने उससे 5 दिन तक बात नहीं की।

अगले दिन वो मुझसे मिलने आई, वो रोने लगी और उसने मुझे ‘सॉरी’ कहा।
उसके आँसू मुझसे सहन नहीं हुए और मैंने उसे गले लगा लिया।

अगले दिन उसके घर वाले किसी शादी में शहर से बाहर गए थे, उसने मुझे मिलने को घर बुलाया।

चुदाई का मौका
मैंने सोचा कि आज तो ये पक्का चुदेगी ही।
पहले सोचा कि कंडोम ले लेता हूँ.. पर मुझे कंडोम से चुदाई अच्छी नहीं लगती है इसलिए मैंने कंडोम नहीं लिया और उसके घर चला गया।

उसने दरवाज़ा खोला, उसने उस दिन काले रंग का सूट पहना हुआ था और वो उसमें बहुत सेक्सी माल लग रही थी।

यह कहानी भी पड़े  चुपके चुपके चूत चोदने का मजा

मैं अन्दर गया.. उसने मुझे चाय पिलाई और मेरे से सटकर बैठ गई.. हम दोनों बात करने लगे।

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!