सेक्सी मा और हॉट बेटी के साथ थ्रीसम

तो दोस्तो ये कहानी का 3र्ड पार्ट है और यदि अपने पहले 2 पार्ट नही पढ़े है तो वो पढ़ लीजिए ताकि इस कहानी का पूरा लुफ्ट उठा पाए.

तो आपके पिछले पार्ट में देखा की कैसे मैने और नेहा आंटी ने काफ़ी किकी पोज़िशन्स और फॅंटसीस पूरी की रात में और क्विक शवर लेकर हम सो गये थे.

अब अगली सुबह.

सुबह सुबह जब हम उठे तो फ्रेश होकर नेहा आंटी ने कहा की क्या हम स्विम्मिंग पूल में थोड़ी देर जा सकते है. आफ्टर ऑल अपना प्राइवेट ही था. मैने भी कहा हन क्यू नही चलते है.

फिर नेहा आंटी ने एक्सट्रा कपड़े तो लाए नही थे, तो वही रात वाली पर्पल ब्रा और पनटी पहनी और मैने अपने बाग से बॉक्सर्स निकले और हम पूल में थोड़ी देर एंजाय करने लगे. वहीं थोड़ी देर में मेरी मों भी कमरे से बाहर आई और ह्यूम ऐसे देख कर उनका भी मॅन हुआ की वो पूल में आए. तो कुछ ही देर में मों ने एक वन पीस डार्क ब्लू कलर का स्विम्मिंग कॉस्ट्यूम पहना और अंदर आ गयी.

दीप्ति – तो बेटा, कैसी थी कल की रात?

नेहा – वैसे दीप्ति जी, आपका बेटा कमाल का है. हुँने तो काफ़ी मज़े किए.

राहुल – मम्मी आपकी रात कैसी थी? और वो लड़का अब तक सोया है?

दीप्ति – ठीक तक ही थी. आक्च्युयली वो आधी रात को ही चला गया था अपने होटेल में. उसे उसके फ्रेंड्स का कॉल आया था. एनीवेस, नेहा जी तो आप अकेली आई है गोआ?

नेहा – आक्च्युयली मैं अपने बचो के साथ आई हू. वो पास ही के होटेल में है.

राहुल – लेकिन नेहा जी हमारी कुछ बात अधूरी रह गयी थी कल रात में.

इसी दौरान नेहा आंटी मेरे पास आई और मैं पूल के एक कॉर्नर पर सपोर्ट लेकर खड़ा था तो नेहा आंटी सीधे मेरे आगे आ गयी और जैसे एक कपल की तरह उन्होने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी कमर पे रख दिया और मानो की मैं उनको पीछे से हग कर रहा था.

नेहा – देखो मैं अब जो भी कहूँगी प्लीज़ मेरी बात समजने की कोशिश करिएगा. दरअसल मेरी बेटी अनुष्का जो अभी 24 की है, उसका रीसेंट्ली ब्रेक उप हुआ है. तो मैं ज़बरदस्ती उसे इस ट्रिप पर ले आई ताकि उसका माइंड डिसट्रॅक्ट हो सके आंड तोड़ा लाइफ को एक्सप्लोर कर सके.

राहुल – ओह ई आम सो सॉरी आंटी

नेहा – तट’स ओके. आंड दीप्ति जी आप समाज सकती है ब्रेक उप के बाद ऑल वन नीड इस वन केरिंग पर्सन जिसपे वो ट्रस्ट कर सके. आंड जब से राहुल से मिली हू हे इस ट्रूली केरिंग बाइ नेचर आंड हॅंडसम भी है. सो ई वाज़ जस्ट थिंकिंग की इफ़ योउ कुड स्पेंड सम टाइम वित मी डॉटर?

राहुल – लेकिन मैं कोई रीलेशन में अभी नही पड़ना चाहता ई मीन बुरा मत मानीएगा आंटी. लेकिन आप समाज सकती है ना?

नेहा – हन ई नो. नो रीलेशन. जस्ट बे वित हेर, हॅव सेक्स वित हेर जैसे उसको कुछ वक़्त उसके एक्स की याद ना आए. आंड बिलीव में शी इस रियली वाइल्ड इन बेड. जैसे कल मैं थी बिल्कुल वैसी ही है. जस्ट मेक हेर फील बेटर. आंड मैं क्लब ही इसलिए आई की मेरी डॉटर के लिए कोई केरिंग लड़का ढूंड साकु. थोड़े टाइम के लिए ही सही.

दीप्ति – आप चिंता ना करे नेहा जी, आज शाम का प्लान करते है? राहुल ख़याल रखेगा. आप दोनो आ जाइएएगा.

नेहा – नही आक्च्युयली मैं उसे भेज दूँगी. क्यू की मेरा बेटा भी है जो राहुल से 4 साल छोटा है. आंड उसे अकेला नही छोड़ सकती.

दीप्ति – डॉन’त वरी उसे भी ले आइए. और आप अकेली अनुष्का को यहा भेजेंगी तो उसे भी अनकंफर्टबल लगेगा.

राहुल – आक्च्युयली आंटी ई हॅव आन आइडिया, आप ने बताया था की आप की डॉटर के साथ बाइसेक्षुयल रीलेशन में है. ई मीन, क्यू ना आप हमारे साथ ही रहे? इससे शी विल हॅव सम कंपनी. इट वुड बे आ नाइस थ्रीसम. आंड कुछ ज़्यादा एमोशनल हुई तो आप रहेंगी तो अछा रहेगा.

दीप्ति – और रही बात आपके बेटे की, तो वो मेरे साथ रात गुज़र लेगा. सब सॉर्टेड.

नेहा – अरे योउ शुवर? मेरा बेटा भी काफ़ी इनोसेंट है आंड शाइ टाइप का है. डाइरेक्ट्ली ओपन नही होता किसी के सामने. इंट्रोवर्ट टाइप का है.

दीप्ति – आप चिंता ना करे. आफ्टर ऑल हमारे रूम्स कितने दूर है. हम सभी बहोट एंजाय करेंगे.

नेहा – हन लेकिन एक रिक्वेस्ट है. मैने अपने बेटे को मेरे और मेरी बेटी के बाइसेक्षुयल रीलेशन के बारें में कुछ नही बताया है. एक बार तोड़ा समजने लायक बन जाएगा तो उसे भी बता देंगे. तब तक आप दोनो भी मत बताईएएगा.

तो इस तरह हमारे शाम का प्लान बना और सारा दिन मैने और मों ने बीचस और क्लब्स में एंजाय किया. फाइनली शाम का वक़्त हुआ और नेहा आंटी उनके बचो के साथ हमारे विला में आ गयी.

कसम से नेहा आंटी जितनी खूबसूरत थी, उससे कई ज़्यादा सेक्सी उनकी बेटी थी. मतलब बिल्कुल मॉडर्न कपड़े खुले बाल. अनुष्का ने ब्लॅक लो वेस्ट जीन्स पहनी थी और उपर वाइट क्रॉप टॉप. उसकी कमर इतनी सॉफ्ट लग रही थी जैसे कोई माखन हो. और नाभि इतनी सेक्सी लग रही की क्या बतौ.

सबसे बेस्ट था उसके कमर पे वो कला धागा, और गले में एक गोल्ड चैन. बहोट खूबसूरत थी वो. और मुझसे रहा नही जा रहा था की कब मैं नेहा आंटी और अनुष्का के साथ अपने कमरे में जौ और सेक्स का थ्रीसम एंजाय करू.

खैर आते है उनके बेटे कुणाल पर, जो काफ़ी यंग और इंट्रोवर्ट जैसा उन्होने कहा था. वो काफ़ी शांत लग रहा था नेचर से और मेरी मों उसके साथ काफ़ी बातें करने की कोशिश कर रही थी. लेकिन वो बस क्वेस्चन्स का आन्सर देता और चुप बैठ जाता.

हुँने डाइनिंग टेबल पर काफ़ी बातें की , डिन्नर किया और फाइनली आइस क्रीम खाकर हम रिलॅक्स होकर बैठ गये.

नेहा – तो कुणाल, आज ह्यूम यहीं सोना है. ठीक है ना?

कुणाल – ओके मम्मी, लेकिन हमारा रूम?
दीप्ति – वो देखो सामने वाला रूम कुणाल. उसमे तुम और मैं रहेंगे, और ये रिघ्त साइड वेल में मेरा बेटा राहुल, तुम्हारी मों और प्यारी दीदी अनुष्का रहेंगे. डॉन’त वरी मैं तुम्हे कुछ मज़ेदार चीज़े दिखौँगी.

नेहा – हन कुणाल. जा और एंजाय कर आज की रात. ऐसे मौके बार बार नही मिलते.

इस तरह हम अपने अपने रूम्स में चले गये. और अनुष्का ऐसे सब के सामने बातें तो कर रही थी लेकिन थोड़ी नर्वस तो थी. फिर हुँने मूड बनाने के लिए मैने लाइट्स दीं कर दी, और बाहर से बियर की बॉटल्स लेकर आया. म्यूज़िक लगा कर अनुष्का पहले तो बेड पर बैठ गयी अपनी बॉटल लेकर.

फिर मैने और नेहा आंटी ने धीरे धीरे स्ट्रीप टीज़ करना शुरू किया जैसे अनुष्का हमारी क्लाइंट हो. हुँने तोड़ा एरॉटिक स्ट्रीप टीज़ किया एक दूसरे के कपड़े उतरते उतरते हम इननेर्स में आ चुके थे.

उसके बाद कल की तरह मैने नेहा आंटी को अपनी गोद में उठाया और हम अनुष्का के सामने स्मूच करने लगे. वो भी देख कर काफ़ी स्माइल कर रही थी. फिर मैने नेहा आंटी को अनुष्का के ठीक सामने लेटया और उसके उपर चढ़ के किस करने लगा. तो उन्होने मुझे रोक कर कहा.

नेहा – बेटा राहुल, आज तुम्हारी टारगेट मैं नही, मेरी बेटी अनुष्का है. अनुष्का, बिलीव मे ये बिल्कुल हम दोनो की फॅंटेसी जैसा लड़का ही है. कल रात हुँने जो एंजाय किया ना वो आज तुम एक्सपीरियेन्स करो. और साथ में मैं भी.

अनुष्का – मम्मी इन सब की क्या ज़रूरत है?

राहुल – अनुष्का दीदी, आप मुझसे काफ़ी बड़ी उमर में, लेकिन सच काहु तो आपकी मों को आपकी काफ़ी चिंता थी. अगर आपको नही पसंद तो हम नही करेंगे.

अनुष्का – नही ऐसी बात नही है. योउ अरे अट्रॅक्टिव. आंड ऐसा नही है की…

इसके पहले की वो कुछ आगे कंटिन्यू करती, नेहा आंटी उसके पास जाकर उसे स्मूच करने लगी. दोनो एक दूसरे के गालों पर हाथ रख कर स्मूच करने लगे. आंड मैं ये अपने आखों से देख रहा था की एक मा और बेटी स्मूच कर रहे थे, इससे ज़्यादा और अछा क्या हो सकता था.

फिर नेहा आंटी ने एक हाथ से मुझे बुलाया और मेरी पीठ पर हाथ घूमते हुए, मुझे भी अपने स्मूच में शामिल कर लिया. कुछ सेकेंड्स तो हम तीनो ही किस कर रहे थे फिर नेहा आंटी थोड़ी पीछे हट गयी और मुझे और अनुष्का को स्मूच करने दिया.

अनुष्का काफ़ी टेंप्टिंग थी, जैसे वो कह रही हो की मैं उसे बस छोड़ू. ब्रेक उप के बाद अगर आपको कोई पार्ट्नर मिल जाए तो आपको बस अपना सारा गुस्सा निकलना होता है और उसके लिए आप कुछ भी कर सकते हो ये मैने तब जाना. ऐसा महसूस हो रहा था की अनुष्का ही मूज़े किस करे जा रही थी डॉमिनेट करते हुए. वो पूरा मेरे उपर चढ़ चुकी थी किस करते हुए और मेरे चेस्ट पर अपने कोमल हाथ घूमने लगी.

कुछ देर बाद हम किस करते करते फिर शांत हुए और नेहा आंटी बीच में आकर अनुष्का की क्रॉप टॉप उतार दी. अनुष्का दीदी ने अंदर ग्रे कलर की कॅलविन क्लाइन वाली ब्रा पहनी थी जिसमे से उसके निपल्स सॉफ नज़र आ रहे थे.

आयेज की कहानी अगले पार्ट मे जल्द ही.

तो दोस्तो आपको ये कहानी कैसी लगी मुझे कॉमेंट्स द्वारा और नीचे दिए गये मैल द्वारा ज़रूर बताए.

यह कहानी भी पड़े  मम्मी की गांड मारने की फेंटसी पूरी हुई

error: Content is protected !!