सेक्सी लड़की की अधूरे प्यार की

नमस्कार दोस्तों, ई होप आप सब बढ़िया होंगे, और बिना सेक्स के लाइफ में कुछ मज़ा नही आ रहा होगा. इसलिए तो आप सब यहा इस कहानी को पढ़ के अपने अंदर के सेक्स फॅंटेसी फील करने आए है. अगर कोई लड़की और आंटी चेन्नई या तमिल नाडु से है, तो प्लीज़ कॉंटॅक्ट मे ओवर एमाइल (ब्लाककनषॉरतबॉय@गमाल.कॉम) फॉर रियल फन वित सीक्रेट.

चले मेरी स्टोरी में आयेज चलते है. और हा, जिसने भी इस कहानी का फर्स्ट पार्ट नही रेड किया है, प्लीज़ जाके रेड कर ले. तभी आपको समझ आएगी कहानी.

अनिता: यॅ इट’स ओक बुत फ्यई, ई दो हद आ लोवे फेल्यूर.

मैं: सच में? कैसे?

अनिता: रिलॅक्स हीरो, बतौँगी, लेकिन अभी सो जाओ. बाइ.

मैं: बाइ डियर, सी योउ टुमॉरो.

दूसरे दिन हम ऑफीस में मिले आंड कॉज़ल कॉन्वर्सेशन किया. क्यूंकी ऑफीस में अनिता के उपर ही सब की नज़र थी, तो हम दोनो इतना खुल कर बात नही कर सकते थे. फिर मैने अनिता को पूछा-

मैं: ऑफीस के बाद क्या कर रही हो आज?

अनिता: कुछ ख़ास नही. तुम बोलो क्या प्लान है तुम्हारा?

मैं: मेरा भी कुछ ख़ास नही है. चले कही?


अनिता: ओक, चलते है.

मैं: ठीक है.

फिर हम दोनो अपने-अपने रोज़ के काम कम करने में लग गये. बुत जब भी मैं अनिता के फ्लोर पे जाता, तो मेरी नज़र ऑटोमॅटिकली अनिता को ही देखती है. वैसे आपको मैं अनिता के फिगर का कॉनफिगरेशन बता देता हू. हाइट 5’4″ आंड फिगर 34-32-34 का है.

अनिता बहुत गोरी आंड हॉट लड़की है. फुल मेनटेन करके रखी है खुद को. इसलिए ऑफीस में जब भी वो कही से गुज़रती है, तो सब उसे ही डेक्ते रहते है. एस्पेशली अनिता का बूम क्या बतौ यार. इतनी सेक्सी शेप में है उसका बूम. उफ़फ्फ़, दिल करता है पकड़ कर दबा डू और छोड़ डू.

फिर शाम के 7 बाज चुके थे, तो अनिता ने व्हातसपप में मुझे पूछा-

अनिता: कहा हो हीरो?

मैं: बस निकालने ही वाला हू.

अनिता: मेरी बिके पे चलते है.

मैं: ओक.

अनिता: मैं तुम्हारी वेट आयेज की टी शॉप पे करूँगी, जल्दी आ जाना.

मैं: ओक.

फिर हम दोनो मरीना बीच के लिए निकल गये. बिके पे पीछे मैं पहली बार अनिता के इतना करीब बैठा था आंड उसकी खुश्बू, उफफफ्फ़ क्या बतौ यार, दिल गार्डेन-गार्डेन हो रहा था. मेरा हाथ उसकी बॅक साइड थाइ में टच भी हो रहा था, ड्यूरिंग बिके राइड. फिर हम दोनो मरीना बीच पहुँच गये, आंड एक टी शॉप थी वाहा बैठ गये, आंड बात करने लगे.

मैं: अब बोलो, हू वाज़ युवर एक्स?

अनिता: तुम तो बहुत क्यूरियस हो. इसलिए आज बाहर के लिया पूछा?

मैं: ऑफ कोर्स यार, वांटेड तो नो कों है वो पागल जो आपको छ्चोढ़ के चला गया.

अनिता: है एक, मेरी फर्स्ट कंपनी में. हम दोनो एक ही कॅब में जाते थे, तो जान-पहचान हुई. फिर फोन नंबर एक्सचेंज हुए. देन उसने प्रपोज़ किया, और मैने 2 दिन के बाद हा बोल दी.

मैं: नाइस, फिर डेटिंग, चाटिंग आंड वो सब?

अनिता: हा डेटिंग आंड चाटिंग तो नॉर्मल था डेली.

मैं: और रोमॅन्स?

अनिता: वो इतना भी रोमॅंटिक नही था. वो मोस्ट्ली फूड़ीए था. वो घर भी आ जाता था मिलने.

मैं: फिर तो घर पर बहुत कुछ डेली होता होगा आप दोनो के बीच.

अनिता: अर्रे नही यार, इतना भी नही. उसे तो अछा वाला घर का खाना पसंद था. तो मैं उसके लिया खाना बनती थी.

मैं: एक नंबर का पागल है आपका एक्स ब्फ. इतनी खूबसूरत गफ़ थी और उसे खाने की पड़ी थी.

अनिता: हा वो ऐसे ही था.

मैं: तो आप दोनो हगिंग आंड किस्सिंग करते थे की वो भी नही?

अनिता: इनिशियली करते थे बुत इतना भी नही. उस टाइम पे वो म्बा कर रहा था ओपन यूनिवर्सिटी में, तो ज़्यादातर बिज़ी रहता था. जब भी भूख लगती थी, तो घर आता था नॉर्थ इंडियन फुड के लिए.

मैं: मुझे तो लगता है वो आपसे काम और फुड से ज़्यादा प्यार करता था.

अनिता: शायद.

मैं: फिर आप दोनो ने और कुछ नही किया हगिंग आंड किस्सिंग के अलावा?

अनिता: क्या सुनना चाहते हो?

मैं: सवाल का जवाब, सेक्स नही किया आप दोनो ने.

अनिता: ट्राइ किया था, बुत मुझे बहुत दर्द होता था, तो मैने इतना अलो नही किया.

मैं: मालतब आप अबी भी वर्जिन हो?

अनिता: हा, कह सकते हो.

मैं: ऑम्ग, रियली? आपका ब्फ तो एक नंबर का चूतिया निकला. इतनी हॉट आंड खूबसूरत लड़की उसकी गफ़ थी, आंड कुछ नही किया?

अनिता: छ्चोढ़ यार उसकी बात. तुम सूनाओ तुम्हारी कोई गफ़?

मैं: अर्रे नही, ई आम आ शाइ टाइप बॉय. स्कूल आंड कॉलेज में भी मैं लड़कियों से बात तक नही करता था. बस दोस्तों के साथ मस्ती आंड नॉटिने.

अनिता: ओह हो, क्यूँ कभी कोई पसंद भी नही आई तुम्हे?

मैं: पसंद तो बहुत आई, बुत हिम्मत नही हुई बात करने के लिए

अनिता: क्यूँ?

मैं: रिजेक्षन से दर्र लगता था आंड रिजेक्षन वाली फीलिंग मुझे अची नही लगती, शाएेद इसलिए.

अनिता: जब तक तुम जिस लड़की को पसंद करते हो, उससे बोलॉगे नही, तो वो मिलेगी कैसे?

मैं: करेक्ट बात है, बुत मैं ऐसा ही हू.

अनिता: अछा ऑफीस में कों सी लड़की तुम्हे पसंद है बोलो? ई विल हेल्प योउ.

मैं: ऑफीस में जो मुझे पसंद है. वो सब रिलेशन्षिप में है.

अनिता: वो तुम कैसे जानते हो?

मैं: अर्रे मैं इट गाइ हू. ऑफीस में अंदर सब एक-दूसरे से रिलेशन्षिप में है, आंड कुछ मॅरीड लोगों का तो सीक्रेट अफेर भी चल रहा है. मैं रोज़ सब की छत देखता हू.

अनिता: रियली? तब तो मेरी भी छत तुम देख सकते हो?

मैं: हा, बुत आपका तो सब से प्रोफेशनल चाटिंग ही होता है ना.

अनिता: हा.

मैं: वैसे ऑफीस में सब आपको पसंद करते है, योउ नो?

अनिता: एस ई नो, बुत ई आम नोट इंट्रेस्टेड.

मैं: अर्रे क्यूँ? योउ लुक सो ब्यूटिफुल. योउ कॅन ट्राइ ना.

अनिता: नो, मुझे शादी नही करनी.

मैं: तो आप भी सीक्रेट रिलेशन्षिप रख लो किसी के साथ.

अनिता: सीक्रेट रिलेशन्षिप, नो वे. प्यार सब में मुझे नही पड़ना है. बहुत टेन्षन होती है.

मैं: अर्रे अनिता, कोई ऐसे लड़के को पसंद करो जो तुम्हे समझता हो.

अनिता: ह्म, विल सी.

मैं: वैसे तुमने बताया नही, तुम्हारा और एक्स जा ब्रेकप कैसे हुआ?

अनिता: अर्रे उसकी मॅरेज फिक्स हो गयी थी.

मैं: तो वो कभी आपसे मॅरेज नही करना चाहता था?

अनिता: पता नही, शायद.

मैं: और आप?

अनिता: मैं तो चाहती थी. बुत वो अपने पेरेंट्स से डरता था.

मैं: जब शादी करनी ही नही थी, तो प्यार क्यूँ किया उसने आपसे?

अनिता: आगे ही ऐसी थी की सब प्रेज़ेंट को देखते है, कल को नही

मैं: करेक्ट, बुत ई बेट उसने एक प्रेशियस लड़की को खो दिया.

अनिता: ह्म, अछा तुम क्यूँ इतना शाइ हो लड़कियों से?

मैं: बस बचपन से ही ऐसा ही हू.

अनिता: लेकिन जिसको तुम पसंद करते हो, उससे पूछना ज़रूर चाहिए.

मैं: अर्रे इतनी हिम्मत नही है मुझमे. मैने तो आज तक कोई लड़की का हाथ तक नही पकड़ा है.

अनिता: क्यूँ?

मैं: बस ऐसे ही.

अनिता: अर्रे इसमे क्या है. अगर लड़की दोस्त है तो पकड़ ही सकते हो.

मैं: अछा तो क्या मैं आपका हाथ पकड़ सकता हू.

अनिता: बिल्कुल, क्यूँ नही. चलो हाथ पकड़ कर चलते है.

फिर हमने दोनो एक-दूसरे का हाथ पकड़ के कुछ देर वॉक की. मेरा लंड फुल ओं स्टॅंडिंग पोज़िशन में था. अनिता का हाथ वेरी सॉफ्ट और मुलायम था. क्या बोलू यार, मैं तो सातवे आसमान में था. हम दोनो ब्फ आंड गफ़ की तरह एक-दूसरे का हाथ पकड़ के चल रहे थे. फिर अनिता ने पूछा-

अनिता: अगर तुम्हे कोई लड़की पसंद आती है तो प्रपोज़ तो हेर. क्या पता वो हा बोल दे.

मैं: मैं इतना भी स्मार्ट लुकिंग नही हू, की मोविए के हीरो के जैसे लड़की हा बोल दे.

अनिता: अर्रे स्मार्टनेस सब कुछ नही होता. गुड आंड केरिंग पर्सन होना चाहिए.

मैं: ह्म विल सी.

फिर हम अपने-अपने घर चले गये. रात को अनिता ने व्हातसपप में मेसेज किया-

अनिता: हे, क्या कर रहे हो?

मैं: कुछ नही बस लेता हू.

अनिता: थॅंक योउ.

मैं: किस बात का थॅंक्स?

अनिता: अची कॉन्वर्सेशन के लिए. मैने भी बहुत दीनो के बात किसी से इतनी ओपन टॉक करी. अछा लग रहा है.

मैं: इट’स ओक यार, योउ कॅन शेर वित मे एनितिंग.

अनिता: देन कैसा लगा हाथ पकड़ कर?

मैं: सच बोलू तो बहुत अछा. मुझे तुम्हे थॅंक्स बोलना चाहिए आक्च्युयली.

अनिता: तो बोलो ना.

मैं: थॅंक्स अनिता हाथ पकड़ने के लिए.

अनिता: युवर वेलकम!

मैं: क्या ये वेलकम सिर्फ़ आज के लिया था की कभी भी ई कॅन?

अनिता: कभी भी योउ कॅन, अगर आस-पास कोई ना हो तो.

मैं: बिल्कुल.

अनिता: ओक. फीलिंग स्लीपी, गुड नाइट.

मैं: गुड नाइट डियर.

अब नेक्स्ट पार्ट में आपको बतौँगा की कैसा अनिता और मैं रिलेशन्षिप में आए, आंड देन बेड में एक साथ, एक-दूसरे के साथ सेक्स करा फुल ओं, वो भी सीक्रेट्ली. ई होप आपको मेरी स्टोरी पसंद आ रहा है. प्लीज़ एमाइल करे मुझे तो नो अबौट आयेज की स्टोरी.

यह कहानी भी पड़े  लड़की को आडिशन के लिए बुलाया गया


error: Content is protected !!