बस मे भाभी की चुदाई स्टोरी

ही फ्रेंड्स, मेरा नाम हर्षिता र्म है, मई 22 साल की हू. मेरी साअरी स्टोरीस रियल है जो मेरे साथ हुई है या मेरी फॅमिली मे किसी के साथ या मेरी फ्रेंड्स मे से किसी के साथ.

इफ़ आपको मेरी स्टोरी पसंद तो आए आप मुझे मेरी एमाइल ईद –  पर मैल कर सकते है आंड मई आपका रिप्लाइ देने के कोशिश कृंगी.

अब आते है स्टोरी पर, ये स्टोरी है मेरे भाभी के जिनका नाम सुरभि र्म है (र्म शादी के बाद हुआ), उनकी आगे 28 है, रंग गेहुआ, हाइट 5’4, हेर्स हिप्स तक आते है ब्राउन आंड ब्लॅक कलर के, बूब्स साइज़ 34ब, कमर 30 आंड हिप्स/पनटी साइज़ 35 (पनटी 34 की पहनती है भाभी.)

हुमारे घर मे बहुएें शादी बाद सारी पहनती है, भाभी भी सारी पहनती है, ब्रा नों पॅडेड पहनती है ब्लाउस आंड सारी के वजा से आंड पनटी ब्रीफ पहनती है.

चलिए आते है स्टोरी पर, ये स्टोरी जब भाभी शादी हो कर आई थी आंड शादी को 6 मंत्स हुए थे तब के है. तब मेरी आयेज 20 आंड भाभी के 26 थी आंड हम दोनो फर्स्ट टाइम मार्केट गये थे अकेले.

शॉपिंग करते करते काफ़ी सारे बॅग्स हो गये थे आंड शाम हो गयी थी. तो भैया ने कॉल किया के मई आ जौ क्या लेने? तो भाभी ने कहा के हम सिटी बस मई आ जाएँगे आप रेस्ट करो, हम बस निकल गये है.

यूयेसेस दिन भाभी ने पिंक फ्लॉरल सारी, ब्लाउस प्लैइन पिंक आंड पेटिकोट उपर पिंक आंड नीचे वाला पेटिकोट क्रीम कलर का था. हाथ मे चूड़ा, सिंदूर सिर पर, मंगलसूत्रा गले मे. ब्लाउस के अंदर ब्रा मे बूब्स के बीच मे रेस्ट करता हुआ आंड हाथ मे अंगूठी आंड पैरो मे पायल थी.

मैने त-शर्ट ग्रीन, साथ मे ब्लू जीन्स, ब्रा वाइट स्पोर्ट्स आंड पनटी ग्रीन.

हम शॉपिंग बॅग्स के साथ बस मई चढ़ गये. तब बस मई सीट्स पर लोग बैठे आंड काफ़ी खड़े होने के जगह थी सो ह्यूम लगा लाते ना हो जाए सो हम लोग खड़े हो कर ही जाना ठीक समझा, लगा की बाद मे सीट मिल जाएगी.

हुँने शॉपिंग बॅग्स आधे आधे बाँट लिए आंड एक हाथ मे बॅग्स आंड एक हाथ से बस का हॅंडल पकड़ा.

नेक्स्ट स्टॉप पर सडन इतने लोग चढ़े शाम का टाइम था. सो ऑफीस वालो से ले कर नॉर्मल डेली वर्कर्स सभी आंड क्राउड. मई भाभी के साइड से हट कर पीछे आ गयी तोड़ा. बुत भाभी मुझे दिख रही थी उनका बॅक दिख रहा था. हॅंडल पकड़ने के वजह से भाभी का ब्लाउस उपर हो रहा था आंड उनके ब्रा के हुक्स दिख रहे थे.

मैने भाभी को इशारा किया. भाभी ने ट्राइ भी किया उसे हाइड करने का बुत ब्लाउस आयेज से आंड पीछे से स्क्वेर कट था. जिससे नेक आंड बॅक दोनो रिवील होती है. सो वो बार बार उपर हो रहा था तो भाभी ने इग्नोर किया.

मई ने देखा के भाभी के पीछे एक 6 फ्ट अराउंड काला सा मर्द खड़ा है. जो भाभी से ऑलमोस्ट सात कर खड़ा है आंड हर एक ब्रेक लगने पर उसकी बॉडी भाभी से टच होती है. आंड भाभी अनकंफर्टबल तो हो रही थी बुत भीड़ के वजह से कुछ नही कह रही थी.

इसके बाद बस चल रही थी. तब 15 मिनिट बाद मैने देखा के उसने एक हाथ भाभी के सारी मई आस का निकला हुआ उभर पर रखा आंड आस पर घुमा रहा था. आंड भाभी चुप छाप खड़ी थी.

तो मैने इग्नोर किया के शायद ग़लती से हो गया होगा. इसके बाद अगले स्टेशन पर जीतने लोग चढ़े उससे बोहोट कम लोग उतरे. आंड अब यूयेसेस आदमी और भाभी के बीच मे बिल्कुल भी जगह नही थी. उसकी पेंट के नीचे का पार्ट आंड भाभी के कमर के नीचे का पार्ट दोनो एकद्ूम सतत कर लगे हुए जैसे जुड़े हुए. आंड उसकी ब्रीद्स भाभी के नेक पर लग रही थी.

भाभी अभी भी चुप छाप हॅंडल पकड़ कर खड़ी थी. इसके बाद अगेन उसने अपना हाथ भाभी के आस पर फेरा आंड भाभी के आइज़ ओपन हुई. आंड भाभी ने इस बार नोटीस किया.

बुत उन्होने फिर से इग्नोर किया क्राउड के वजह से. इससे यूयेसेस आदमी के हिम्मत बढ़ने लगी और उसने अपना हाथ भाभी के बॅक ब्लाउस के नीचे पीछे वाला पार्ट जो के नंगा था यूयेसेस पर हाथ फेरा. आंड उनके ब्रा हुक तक टच किया.

इसके बाद भाभी के फेस पर सिर्फ़ पसीना. आंड ऐसा लग रहा था के जैसे वो आक्सेप्ट कर र्ही है जो हो रहा है. भाभी के चुप्पी के वजह से मैने भी इग्नोर किया आंड कुछ नही कहा. बुत इससे यूयेसेस आदमी के हिम्मत बढ़ती गयी.

भाभी ने मेरी तरफ देखा. तो मैने उन्हे ब्रा हुक का इशारा किया. उन्होने अपने हेर्स जो के उनकी आस तक आते है उससे हाइड कर लिया. बुत हम दोनो को नही पता था के ये हुमारी सबसे वर्स्ट मिस्टेक थी. बिकॉज़ हेर्स आयेज भाभी के ब्रेस्ट का पसीना आंड चेस्ट को छुपा रहे थे.

आंड सडन्ली इसके बाद यूयेसेस आदमी ने हेर्स के नीचे से बॅक टच करते हुए भाभी के क्रीम कलर के ब्रा के हुक्स खोल दिए. जैसे ही हुक्स खुले भाभी के बूब्स जो ब्रा मई हॅंडल पकड़ने के वजह से टाइट उपर हो रखते थे, वो एकद्ूम नीचे गिरे. आंड जिसने भी देखा उन्हे लगा होगी के इन्होने ब्रा नही पहनी.

अब भाभी के बूब्स साइड एकद्ूम सॉफ्ट से लूस सारी मे आइज़ से फील हो रहे थे. भाभी पूरी स्वेट मे आंड उन्होने अपनी आइज़ क्लोज़ कर ली. आंड मई यही सोच रही थी के भाभी ये सब क्यू होने दे रही है.

इसके बाद बस कंडक्टर जैसे ही टिकेट काटने के लिए आयेज बढ़ रहा था. तो लोग स्पेस देने के चक्कर मई पीछे खिसक रहे थे. इसके यूयेसेस आदमी का डिक वाला पार्ट भाभी के आस के उभर पर लग रहा था. आंड जैसे ही नॉर्मल होता तो ऐसा लगता के भाभी के आस मई उसका डिक चला गया हो.

उधर भाभी आइज़ क्लोज़ कर के चुप छाप खड़ी थी आंड उनकी पूरी बॉडी स्वेट हो रही थी. जिससे उनके ब्लाउस आर्म पिट्स के वजह से गीला हो गया था.

इसके बाद यूयेसेस आदमी ने भाभी के दूसरे हाथ जिसमे बॅग्स थे. उसे हेल्प करने के बहाने बॅग्स को उपर उठाने के मदद करने के बहाने उनकी नेवेल जो पेटिकोट के अंदर थोड़ी सी बाहर आ गयी थी उसे टच किया. आंड भाभी के पनटी पर जैसे उसने अपनी फिंगर आंड थंब से प्रेशर कर के नॉर्मल हो गया.

इसके बाद भाभी के हालत देखते तो किसी को भी पता चल जाए के वो तड़प रही. उनकी पूरी बॉडी स्वेट मई बॅक से ब्लाउस भी गीला हो गया था, आयेज से भी. ब्लाउस के हुक्स हेर्स के वजा से ढके हुए थे बुत खुले हुए थे. ये उनके बूब्स देख कर कोई भी बता सकता था.

फिर यूयेसेस आदमी ने अपना डिक भाभी के आस पर लगाया आंड एक हाथ से भाभी के आस पकड़ी. इश्स बार उसने सहलाया नही. आस को जैसे पकड़ लिया हो सारी मई से आंड उसे पकड़ के रखा.

अब बस के हर एक ब्रेक लगने पर ऐसा लग रहा था जैसे उसने भाभी के अंदर डिक डाल दिया हो. भाभी पूरी स्वेट मई आइज़ क्लोज़ आंड उनके होंठ ऐसे लग रहे थे जैसे रियल मई उनकी चुदाई हो रही है.

आंड मई साइड मई खड़े हो कर देख रही थी. इसके बाद उसने आस से हाथ हटाया आंड हेर्स के नीचे बॅक को पकड़ कर भाभी के आस एकद्ूम अपने डिक पर जैसे दबा ली हो.

अब भाभी ऐसे खड़ी थी जैसे उनकी आस उन्होने पीछे बेंड कर रखी हो. आंड ये सब हो रहा था आंड कुछ लोग नोटीस कर रहे थे. बुत मैने देखा के जो नोटीस कर रहे थे वो यूयेसेस आदमी को जानते थे. बिकॉज़ वो आदमी भाभी को ऐसे पोज़ मई ला कर आँख मार रहा था.

बस के हर एक ब्रेक पर वो भाभी के अंदर जैसे पुश कर रहा हो. नेक्स्ट 15 मिनिट तक भाभी ऐसे ही अपनी आस पीछे धकेल कर अपनी कमर उसके हाथों मे पकड़ा कर कपड़ों के उपर से जैसे सेक्स करवा रही हो, होता रहा.

उसके बाद एक ब्रेक पर मैने फील किया के उसने ज़िप खोल रखी है. आंड भाभी उसका डिक अपनी आस लाइन पर फील भी कर रही है. सडन्ली मैने फील किया भाभी के सारी पर पीछे कुछ चिप छिपा सा है.

वो आदमी पूरा पसीने मे हो गया आंड भाभी अभी भी पसीने मे थी. आंड आइज़ क्लोज़ वैसे ही खड़ी थी. उसने धीरे से भाभी के कमर चोरी आंड भाभी ने आइज़ खोली.

उन्होने रियलाइज़ किया के वो कहा है. आंड जल्दी से सीधा खड़ी हुई आंड मेरी तरफ देखा भाभी ने. उनकी हालत आंड ये सब देख कर वो जान चुकी थी मैने सब देखा है.

भाभी ने अपने हॅंकी से पीछे सारी पर चिप चिप सा यूयेसेस आदमी का पता नही क्या सॉफ किया. बुत उनके हुक्स अभी भी खुले थे आंड वो पुर स्वेट मे थी.

यूयेसेस आदमी ने अभी भी भाभी के आस पर हाथ फेर रहा था. आंड उसके दोस्तों को इशारा कर के दिखा रहा था. मुझे गुस्सा आ रहा था बुत भाभी के खामोशी के वजा से मई भी चुप थी.

इसके बाद हुमारा स्टेशन आया आंड हम जैसे तैसे उतरे. उसमे भी यूयेसेस आदमी ने आंड उनके दोस्तों ने भाभी को जगह देने के बहाने उनके ब्रेस्ट आंड आस, थाइस, शोल्डर, कमर जहा टच हो सके वहाँ प्रेस किया आंड जैसे तैसे हम लोग उतार गये.

इश्स चीज़ मे भाभी के सारी का शोल्डर हुक खुल कर गिर चुका था कहीं आंड उनका पल्लू गिरा रहा था. वो पूरी स्वेट मे थी आंड उनके हुक्स खुले थे. वो एकद्ूम ऐसे लग रही थी जैसे तक गयी हो.

मैने भाभी के तरफ देखा, भाभी ने मेरी आंड मई समझ गयी के वो उनके हुक्स बंद करने को कह रही है, जो मैने किए. भाभी ने सामान ज़मीन पर रखा आंड सारी ठीक कर हम घर के तरफ जाने लगे.

भाभी आंड मेरे बीच मे एक खामोशी थी. तभी भैया वहाँ स्टॅंड पर आ गये थे. उन्होने सामान पकड़ा आंड हुंसे हास के बात कर के घर के और चलने लगे.

मुझे इतना अजीब लग रहा था के अभी अभी मेरे ब्रदर के न्यूली मॅरीड वाइफ किसी गैर मर्द और उसके दोस्तों से बुरी तरह अपनी बॉडी मसलवा कर और एक तरह से चुदाई करवा के आ रही है. आंड भाभी एक दूं नॉर्मल हो कर बात कर रही थी.

मुझे बोहोट अजीब लगा बुत मई चुप थी. भैया ने मुझे टोका आंड मैने भाभी के तरफ देखा. भाभी के आइज़ मे एक सॉरी जैसा रिक्षन आया. तो मैने स्माइल दी भैया को और नॉर्मल हो कर घर के और चल दिए.

नेक्स्ट स्टोरी मे बतौँगी के कैसे भाभी ने बस मे होने वेल एनकाउंटर के बारे मई ज्ञान दिया. आंड कैसे मेरे साथ बस मई एनकाउंटर हुआ. आंड और भी स्टोरीस.

इफ़ आपको स्टोरीस अची लगी हो, या आपका कोई सजेशन, डाउट क्वेस्चन हो, आप मुझे मैल (र्ावहरषिता[email protected]गमाल.कॉम) पर लिख सकते है, मई रिप्लाइ ज़रूर करूँगी.

अगर स्टोरी को अछा प्यार मिलेगा तब ही नेक्स्ट स्टोरी मई पोस्ट करूँगी. मेरी एमाइल ईद – 

थॅंक योउ ऑल, हर्षिता र्म, आगे 22

यह कहानी भी पड़े  आफरीन की मस्त चुदाई-1

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!